Up Mnrega Ground Report, Up Lockdown Impact, Sonbhadra Mnrega Job Work, यूपी मनरेगा, सोनभद्र मनरेगा जॉब वर्क, कोरोना लॉकडाउन

Up Mnrega Ground Report, Up Lockdown Impact

लॉकडाउन में मनरेगा के तहत काम न मिलने से ग्रामीणों की माली हालत खराब, NDTV ने यूपी के सोनभद्र जिले की हकीकत दिखाई

लॉकडाउन में मनरेगा के तहत काम न मिलने से ग्रामीणों की माली हालत खराब, NDTV ने यूपी के सोनभद्र जिले की हकीकत दिखाई

20-05-2021 15:55:00

लॉकडाउन में मनरेगा के तहत काम न मिलने से ग्रामीणों की माली हालत खराब, NDTV ने यूपी के सोनभद्र जिले की हकीकत दिखाई

UP MNREGA Ground Report : \u0917\u094d\u0930\u093e\u092e\u0940\u0923 \u0915\u093e\u092e \u0928 \u092e\u093f\u0932\u0928\u0947 \u0938\u0947 \u092a\u0930\u0947\u0936\u093e\u0928 (\u092a\u094d\u0930\u0924\u0940\u0915\u093e\u0924\u094d\u092e\u0915)

लखनऊ: देश की सबसे बड़ी रोज़गार योजना मनरेगा पर लाकडाउन का असर ( MNREGA work in lockdown) गहराता जा रहा है.यूपी के सोनभद्र ज़िले में ग्रामीण मनरेगा के तहत काम रोके जाने से आर्थिक संकट झेल रहे हैं. खेतों में काम कम है. इस मुश्किल घड़ी में मनरेगा जीने का एक अहम सहारा हो सकता था. सोनभद्र (Sonbhadra) ज़िले के केवाल गांव से एनडीटीवी की ग्राउंड रिपोर्ट यही हकीकत सामने लाती है. लॉकडाउन लगने के बाद से ही मनरेगा के तहत काम मिलना बंद हो गया है. इस पिछड़े गांव में 737 लोगों के पास मनरेगा के जॉब कार्ड हैं. लेकिन प्रशासन ने काम रोक दिया है, जिससे आर्थिक संकट बढ़ता जा रहा है.

राजस्व में कमी की भरपाई के लिए दूसरी छमाही में 5.03 लाख करोड़ रुपये का कर्ज लेगी सरकार यूपी : CM योगी ने नवनियुक्त मंत्रियों को बांटे विभाग, जानें- किसको क्या मिला? भारत बंद की वजह से 50 ट्रेनों की सर्विस पर असर पड़ा: रेलवे - BBC Hindi

 केवाल गांव के 42 वर्षीय  इंद्रदेव प्रवासी मजदूर हैं, वह गोरखपुर में एक निजी कंपनी में ऑपरेटर पद पर कार्य करते हैं. लॉकडाउन में किसी तरह जब वह अपने गांव पहुंचे तब मनरेगा में उन्होंने 50 दिनों तक गांव के एक तालाब में काम किया, जिससे उनको काफी मदद मिली, लेकिन इस साल लॉकडाउन में मनरेगा का  काम गांव में बिल्कुल बंद है जिससे हम को काफी परेशानी हो रही है.

रोज़गार सेवक रामचंद्र ने NDTV से कहा,"28 अप्रैल से पहले 120 से 130 लोगों को मनरेगा के तहत काम दिया जा रहा था जो अब रुक गया है. इस लॉकडाउन में हमारे पास कोई सिक्योरिटी नहीं है. अभी मनरेगा में कोई काम नहीं हो रहा है.गौरतलब है कि यूपी में कोरोना पर काबू पाने के लिए लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लगाई गई हैं. केवाल गांव की ही 30 वर्षीय उर्मिला ने पति के साथ जनवरी-फरवरी में मनरेगा के तहत गांव में बावली की खुदाई के दौरान 40 दिन काम किया लेकिन पेमेंट अभी तक नहीं मिला है. headtopics.com

उर्मिला देवी ने NDTV से कहा,"नरेगा में काम किए हैं, लेकिन पैसा नहीं मिला है. मुंशी कहते हैं खाता चेक करो. लेकिन मेरे खाता में अभी तक पैसा नहीं आया है. हम लोग परेशान हैं".  केवाल गांव के कई प्रवासी मजदूर लॉकडाउन की वजह से रोज़गार खोने पर गांव वापस लौटे हैं. लेकिन यहां भी मनरेगा में काम बंद होने की वजह से आर्थिक संकट झेल रहे हैं.

ग्राम प्रधान दिनेश यादव ने कहा कि जो प्रवासी मज़दूर बाहर से आये हैं, उनके पास कोई काम नहीं है. अगर सरकार मनरेगा में काम शुरू कर देती तो लोग आर्थिक तंगी से बच जाते.पिछड़े गावों में रोज़गार के बढ़ते संकट के बीच ग्रामीण विकास मंत्रालय ने आकड़े जारी कर दावा किया है कोविड महामारी के बावजूद महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम के तहत मई 2021 में 1.85 करोड़ लोगों को ज़ॉब वर्क मिला है. जो मई, 2019 में इसी अवधि के दौरान की गई काम की पेशकश की तुलना में 52% अधिक है. फ्रंट लाइन सहित सभी स्तरों पर ऑपरेटिंग स्टाफ के बीच मौत या संक्रमण के माध्यम से हताहतों की संख्या के बावजूद उपलब्धि हासिल की गई है.

गौरतलब है कि बड़े पैमाने पर रोजगार छिनने से कोरोना संकट के दौरान काम की मांग तेज़ी से बढ़ी है. सरकारी आकड़ों में हुई बढ़ोतरी ये दर्शाती है.  लेकिन लॉकडाउन की वजह से बेरोज़गार हुए लोगों की तरफ से काम की मांगे बढ़ती जा रही है और सरकार को इस चुनौती से निपटने के लिए और बड़े स्तर पर पहल करना होगा.

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराए जाने से न तो सरकारी कर्मचारी काम पर लौट पा रहे हैं और न ही ग्रामीणों को मनरेगा के तहत काम मिल पा रहा है. हालिया पंचायत चुनाव के कारण भी ज्यादातर पंचायतों के विकास कार्य ठप हैं. (सोनभद्र से प्रभात कुमार और लखनऊ से अलोक पांडेय के इनपुट के साथ) headtopics.com

नए राजपथ पर होगी अगले साल गंणतंत्र दिवस की परेड, तैयारियां जोरों पर पाकिस्तान: जिन्ना की मूर्ति पर बम हमला, बलोच संगठन ने ली ज़िम्मेदारी - BBC News हिंदी यूपी : कैबिनेट मंत्री जितिन प्रसाद के साथ छह मंत्रियों को मिली जिम्मेदारी, जानिए किसे कौन-कौन सा मिला मंत्रालय

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.comUP MNREGA Ground ReportUP Lockdown ImpactSonbhadra MNREGA Job Workटिप्पणियां पढ़ें देश-विदेश की ख़बरें अब हिन्दी में (Hindi News) | कोरोनावायरस के लाइव अपडेट के लिए हमें फॉलो करें |लाइव खबर देखें: और पढो: NDTVIndia »

टेम्पो ड्राइवर की बेटी बनीं ओपनर बल्लेबाज: नागौर की संध्या 7 साल पहले पिता के साथ पहुंची हैदराबाद, स्टेडियम में मैच देखा तो क्रिकेट खेलना शुरू किया, अब हैदराबाद टीम के लिए खेलेगी

नागौर जिले के छोटे से गांव तामड़ोली की 14 साल की संध्या गौरा का बीसीसीआई के अंडर-19 विमन वनडे टूर्नामेंट में चयन हुआ है। संध्या हैदराबाद टीम के लिए खेलेगी। 3 सितंबर को हैदराबाद स्थित राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में हुए ट्रायल में संध्या का सिलेक्शन बतौर ओपनर बल्लेबाज किया गया। | Nagaur's evening reached Hyderabad with father 7 years ago, sat in the auto and watched the match, only then I would play in Thana too; Now the 28th match will land on the pitch

Beijing tv ke pravasi patrakaaron ko to khoob kaam mil raha hai gyan banchne ka Inho ne BJP ko jitaia tha ab bhogo ... phir b taras to aw raha hai सर हम 108 102 एएलएस एम्बुलेन्स कर्मचारी सरकार के सौतेले रवैये से परेशान है हमारे लिए कोई योजना नही बनाई जा रही सरकार के उदासीन रवैये को ध्यान मे रखते हुए 25 मई को काली पट्टी बाधकर कार्य किया जायेगा। आपका सहयोग अपेक्षित है।

Corrupted modi govt. शायद अन्य कामो की भारत जैसे देश मे कमी नही है। यूपी फिर मांगे योगी सरकार क्योंकि योगी आदित्यनाथ सरकार को वोट देने वाले भक्तों को योगी ही अक्ल ठिकाने लगाएगा यह सड़क मात्र 15 दिन पहले बनी, कल रात्रि थोड़ी सी बारिश ने इस सड़क का देहांत कर दिया।आगरा में यह स्थिति हर जगह की है।भ्रष्टाचार खुलकर हो रहा है।कोई कार्यवाही नहीं होगी किसी पर। बताता चलूँ कि आगरा में सारे जनप्रतिनिधि भाजपा के हैं। जनता हिंदू मुस्लिम तक व्यस्त है।OfficeOfDMAgra

NDTV और इसके biased वामपंथी पत्रकार कभी UP से बाहर निकलेगे देश सिर्फ UP नहीं है!! हर जगह mismanagement है ! कहीं ज्यादा कहीं थोड़ा बहुत कम!!बस इतना ही फर्क!! ऐसे भी मनरेगा से रोजगार मिलने की बात 85% फ़र्जी होता है। कागजों में काम है। जमीन पर नहीं। जनप्रतिनिधियों-अधिकारियों के आपसी मिलीभगत से आवंटित राशि का बंदरबांट हो जाता है। मनरेगा कर्मी के खातों में पैसा भेंज, कुछ राशि देकर या डराकर पैसे ले लेते है। यही सच्चाई है।

Pure desh ki mali halat kharab hai ameeron or politicians ko chod ke...

राजस्थान: अजमेर के गांव में 34 दिनों के अंदर 44 लोगों की मौत, कोरोना की आशंकाराजस्थान: अजमेर के गांव में 34 दिनों के अंदर 44 लोगों की मौत, कोरोना की आशंका Rajasthan CoronaSecondWave CoronaVirusUpdates CoronaPandemic Kabhi uttar pradesh ki bhi haqeeqat bolne ki himmat krlo...😡😡

कभी कभार हमारे राजस्थान की भी ग्राउंड रिपोर्ट दिखाया करो पता तो चले हमे जिन्हें चुना है वो सही है या नहीं 😢 Rndtv ke hisaab se hindustan me bs up hi hai राजस्थान की रिपोर्टिंग कब कर रहे हैं

'केंद्र को Singapore की चिंता, बच्चों की नहीं', Kejriwal के बचाव में Manish Sisodia का पलटवारकोरोना के सिंगापुर स्ट्रेन पर राजनीतिक घमासान शुरू हो गया है. सिंगापुर स्ट्रेन मामले पर दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने बुधवार को कहा कि सिंगापुर के शिक्षा मंत्री ने बच्चों पर खतरे की बात कही थी, आज बीजेपी घटिया राजनीति कर रही है, केजरीवाल को बच्चों की चिंता है और केंद्र सरकार को सिंगापुर की चिंता है. दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि इससे पहले लंदन में स्ट्रेन आया था तब भारत सरकार की लापरवाही की वजह से हजारों लोगों की जान चली गयी, आज दुनिया भर में डॉक्टर चेतावनी दे रहे हैं कि बच्चों पर ख़तरा है, लेकिन समझने की बजाय अलर्ट होने की बजाय सिंगापुर को मुद्दा बनाया जा रहा है. देखें और क्या बोले सिसोदिया. खाजतक केजरी का टूलकिट बन गया है। थू है जो पैसे के लिए कुछ भी कर सकता है। केजरीवाल और नीतीश कुमार की बात धोड़ा की पाद इसलिए दोनों को जनता सिरियस नहीं लेती Bhaag be takle

दिल्ली पुलिस के इस जवान की तस्वीर के पीछे की पूरी कहानी - BBC News हिंदीहो सकता है सोशल मीडिया पर आपने भी वो तस्वीर देखी हो जिसमें दिल्ली पुलिस का एक जवान एक बुज़ुर्ग महिला को गोद में उठाये वैक्सीनेशन सेंटर की ओर बढ़ा जा रहा है. JusticeForSaharaIndiaInvestors PMOIndia rashtrapatibhvn HMOIndia RahulGandhi ArvindKejriwal NationalCrimeI1 INCIndia BJP4India nstomar anjanaomkashyap BBCBreaking ChouhanShivraj drnarottammisra सहारा इंडिया से भुगतान दिलाने में हमारी सहायता करें 🙏 ऐसा हमारे राजस्थान वोभी बीकानेर संभाग का ही कर सकता । कुलदीप को बधाई हो । हमारे संभाग का नाम रोशन किया । थैंक्यू बीबीसी इस न्यूज के लिए । भाई को दिल से आभार व्यक्त करता हूं

भारी पड़ा मई, 24 घंटों में 4529 की मौत, 19 दिन में गई 74,920 की जाननई दिल्ली। देश में कोरोनावायस का कहर अब तेजी से घटता दिखाई दे रहा है। लगातार तीसरे दिन 3 लाख से कम मामले दर्ज किए गए। रिकवर हुए मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। हालांकि बढ़ती मृतकों की संख्‍या ने सभी को हैरान कर दिया है। पिछले 24 घंटों में इस महामारी ने 4529 की जान ले ली। यह एक दिन में कोरोना से मौतों का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। मई में अब तक कोरोना से 74,920 लोग मारे जा चुके हैं।

पानी की किल्लत में भूल गए महामारी, टैंकर से भरने की जल्दी में नहीं लगाए मास्कवजीराबाद विधानसभा क्षेत्र के कुछ इलाकों में जलापूर्ति नहीं होने से स्थानीय निवासियों को पानी की कमी से दो-चार होना पड़ रहा है। कोरोना महामारी के बीच पानी का संकट नई मुसीबत बनकर आया

Cyclone Tauktae: पीएम मोदी ने गुजरात के लिये 1000 करोड़ की तत्काल सहायता की घोषणा कीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने बुधवार को चक्रवात ताउते (Cyclone Tauktae) से प्रभावित गुजरात (Gujarat) के लिये 1000 करोड़ रुपये की तत्काल आर्थिक सहायता की घोषणा की. एक आधिकारिक विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई. उन्होंने ‘ताउते’ से प्रभावित सभी राज्यों में चक्रवात संबंधी घटनाओं में मारे गए लोगों के परिजनों के लिये दो लाख रुपये तथा घायलों के लिये 50 हजार रुपये के मुआवजे की भी घोषणा की. माँ भारती के लाल, तूने कर दिया कमाल! आपदा को अवसर में बदलते हुए RSS के सदस्य। ये महाशय Remdesivir की कालाबाज़ारी करते हुए धराये हैं। महाराष्ट्र को किया दिये आसिफ_को_इंसाफ_दो .आसिफ_को_इंसाफ_दो आसिफ_को_इंसाफ_दो आसिफ_को_इंसाफ_दो आसिफ_को_इंसाफ_दो आसिफ_को_इंसाफ_दो आसिफ_को_इंसाफ_दो .आसिफ_को_इंसाफ_दो आसिफ_को_इंसाफ_दो आसिफ_को_इंसाफ_दो आसिफ_को_इंसाफ_दो आसिफ_को_इंसाफ_दो आसिफ_को_इंसाफ_दो