Ladydon, Anuradha, Delhi News, Delhi Police, Kala Jatheri, Lady Don Anuradha İn Rajasthan, Exclusive, दिल्ली समाचार, Delhi News İn Hindi, Latest Delhi News İn Hindi, Delhi Hindi Samachar

Ladydon, Anuradha

लेडी डॉन अनुराधा की कुंडली : फर्राटेदार अंग्रेजी बोलती है 'रिवॉल्वर रानी', करती थी एके-47 से फायरिंग

लेडी डॉन अनुराधा चौधरी फर्राटेदार अंग्रेजी बोलती है।

01-08-2021 03:30:00

लेडी डॉन अनुराधा की कुंडली : फर्राटेदार अंग्रेजी बोलती है 'रिवॉल्वर रानी', करती थी एके-47 से फायरिंग LadyDon Anuradha

लेडी डॉन अनुराधा चौधरी फर्राटेदार अंग्रेजी बोलती है।

लेकिन 2017 में राजस्थान पुलिस ने आनंद पाल को मुठभेड़ में ढेर कर दिया। इसके बाद पूरी तरह से लेडी डॉन ने गैंग की कमान संभाल ली। अकेला पड़ने के कारण उसने करीब एक साल पहले भारत के नामी गैंगस्टर काला जठेड़ी से हाथ मिला लिया। दोनों लिवइन में साथ रहने लगे। काला ने भी पुलिस से बचने के लिए सिख युवक का हूलिया बना लिया। कुछ दिनों में दोनों अपना ठिकाना बदल देते थे।

संयुक्त राष्ट्र में बोले बाइडन- एक और शीत युद्ध नहीं चाहते, अपनी नाकामी का नतीजा भुगत चुके - BBC Hindi योगी आदित्यनाथ ने कहा- यूपी में 'गौमाता को छेड़ने वाला' सुरक्षित महसूस नहीं करेगा - BBC Hindi पश्चिम बंगाल में हमारी लड़ाई 'तालिबानीकरण' से है: बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सुकांता मजुमदार - BBC Hindi

मामले की जांच कर रहे एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सीकर फतेहपुर के अलफसर गांव की रहने वाली अनुराधा शुरूआत से पढ़ाई में तेज थी। अनुराधा की मां की बचपन में ही मौत हो गई थी। पिता रामदेव सरकारी नौकरी में थे। अनुराधा ने शेयर ट्रेडिंग करने वाले दीपक मिंज से प्रेम विवाह किया था। दोनों ने लोगों के लाखों रुपये ट्रेडिंग में लगवा दिए। धंधा चौपट हुआ और लोगों के करोड़ों रुपये डूब गए। इसके बाद उसकी मुलाकात राजस्थान के गैंगस्टर आनंदपाल से हुई।

आनंद से मिलने के बाद अनुराधा ने अपने पति को छोड़ दिया। लेडी डॉन से मिलने से पूर्व आनंदपाल एकदम देसी था। लेकिन अनुराधा ने आनंदपाल को एकदम बदल दिया। यहां तक उसको अंग्रेजी सिखा दी। आनंद पाल भी अनुराधा का कायल हो गया। गैंग के कई महत्वपूर्ण फैसले अनुराधा करने लगी। आनंदपाल को अकसर अंग्रेजी बोलते हुए देखा जाता था। headtopics.com

आनंदपाल के साथ रहते-रहते अनुराधा ने एके-47 चलाना सीख लिया। वह अक्सर कारोबारियों को धमकाने के लिए एके-47 चलाती थी। आनंदपाल की मौत हुई तो अनुराधा लॉरेंस बिश्नोई के संपर्क में आई और दिल्ली पहुंच गई। यहीं पर उसकी मुलाकात काला जठेड़ी हुई। इसके बाद जठेड़ी भी अनुराधा का कायल हो गया। दोनों साथ में रहते थे। सूत्रों का कहना है कि जठेड़ी को पुलिस से बचाने के लिए उसने ही उससे कहा था कि वह सरकार युवक का हूलिया बना ले और अपने विदेश भागने की खबर फैला दे।

हुआ भी ऐसे ही काला ने ऐसा ही किया। पुलिस को उसकी तलाश करने में सवा साल लग गया। पुलिस के मुताबिक अनुराधा के खिलाफ राजस्थान में दर्जनभर से अधिक अपराधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस ने पहले उसकी गिरफ्तारी पर पांच हजार इनाम घोषित किया था, जिसे बाद में बढ़ाकर 10 हजार कर दिया गया था।

काला जठेड़ी तक पहुंचने के लिए पुलिस ने बेहद सूझबूझ से काम लिया और शुक्रवार को उसे सहारनपुर सरसावा के पास एक ढाबे से गिरफ्तार कर लिया। पहली नजर में पुलिस उसे पहचान ही नहीं पाई। वारदात के समय आरोपी अनुराधा के साथ क्रेटा कार में मौजूद था। पुलिस सूत्रों के मुताबिक काला तक पहुंचने के लिए टीम ने जेल बंद गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई को चारा बनाया।

ऑपरेशन के तहत जेल में लॉरेंस के पास मोबाइल पहुंचवाया गया। इसके बाद एक माह तक सीडीआर पर नजर रखने के बाद पुलिस की टीम आखिर काला तक पहुंच ही गई। अब उससे पूछताछ कर मामले की जांच की जा रही है।दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि काला जठेड़ी तक पहुंचने के लिए पूरी योजना तैयार की गई। एक एसीपी और दो इंस्पेक्टर समेत करीब 30 टीमों का गठन किया गया। पूरे ऑपरेशन का कोडवर्ड %ऑपेरशन-डी-24% दिया गया। टीम ने करीब 10 राज्यों में 20 हजार किलोमीटर से ज्यादा का सफर किया। आरोपी बार-बार पुलिस के पहुंचने से 24 घंटे पहले ही निकल जाता था। headtopics.com

120 Kmph टॉप स्पीड वाली पहली Made in India हाइब्रिड फ्लाइंग कार का मॉडल तैयार कनाडा चुनाव 2021: जस्टिन ट्रूडो तीसरी बार बनेंगे कनाडा के प्रधानमंत्री; उनकी लिबरल पार्टी चुनाव जीती, लेकिन पूर्ण बहुमत नहीं मिला सुर्खियों में सना रामचंद गुलवानी: पाकिस्तान में पहली बार हिंदू लड़की प्रशासनिक सेवा के लिए चुनी गई, फर्स्ट अटैम्प्ट में कामयाबी

पुलिस ने काला तक पहुंचने की योजना बनाई। सागर धंनकड़ हत्याकांड में सुशील का नाम सामने आया तो उसमें काला नाम भी खूब उछला। पुलिस ने मकोका में बंद काला के करीबी लॉरेंस की जेल से रिमांड लेकर उससे पूछताछ की। लेकिन पुलिस कामयाबी नहीं ली। पुलिस ने अपने मुखबिरों के जरिये जेल में विश्नोई के पास मोबाइल फोन भिजवा दिया।

सब कुछ प्लान के तहत हुआ। लॉरेंस ने फोन मिलते ही अपने गुर्गों से संपर्क करना शुरू कर दिया। फोन पूरी तरह पुलिस की निगरानी में था। सूत्रों का कहना है कि अपने गुर्गों के जरिये विश्नोई ने काला से संपर्क किया। इसके बाद पुलिस को उसकी लोकेशन मिल गई। एक टीम के शुक्रवार को सहारानपुर भेजा गया। वहां से काला को गिरफ्तार कर लिया गया। काला ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि वह पुलिस से बचने के लिए इंटरनेट कॉलिंग व फेसबुक कॉलिंग ही करता था। लेकिन विश्नोई की वजह से वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

कुलदीप मान उर्फ फज्जा को भगाने की रची थी साजिश...पुलिस की मुठभेड़ में मारा गए बदमाश कुलदीप मान उर्फ फज्जा को भगाने की साजिश भी काला जठेड़ी ने रची थी। जीटीबी अस्पताल से बदमाश उसे भगा ले गए थे। लेकिन तीन ही दिन बाद पुलिस ने रोहिणी में मुठभेड़ के बाद फज्जा को ढेर कर दिया था। पुलिस के मुताबिक 2012 में काला को जब गिरफ्तार किया गया था तब 34 मामलों में उसकी तलाश थी।

अब दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, हरियाणा, चंडीगढ़ समेत कई राज्यों में 25 से अधिक मामलों में पुलिस को उसकी तलाश थी। फिलहाल काला की गिरफ्तारी पर छह लाख रुपये का इनाम घोषित था। भारत में काला का फिलहाल लॉरेलस विश्नोई, सूबे गुर्जर, काला राणा के साथ मिलकर गैंग चला रहा था। दाढ़ी बढ़ाने और सरदार का हूलिया बनाकर काला अनुराधा के साथ मिलकर पति-पत्नी की तरह रह रहा था। headtopics.com

विस्तार उसने राजस्थान विश्वविद्यालय से बीटेक करने के अलावा एमबीए भी किए हुए है। शेयर ट्रेडिंग के कारोबार में घाटा होने के बाद वह राजस्थान के कुख्यात गैंगस्टर आनंद पाल के संपर्क में आई और करीब 10 साल पहले उसने बकायदा गैंग शामिल होने का ऐलान कर दिया। आनंद पाल के रहते वह उसके बेहद नजदीक रही।

विज्ञापनलेकिन 2017 में राजस्थान पुलिस ने आनंद पाल को मुठभेड़ में ढेर कर दिया। इसके बाद पूरी तरह से लेडी डॉन ने गैंग की कमान संभाल ली। अकेला पड़ने के कारण उसने करीब एक साल पहले भारत के नामी गैंगस्टर काला जठेड़ी से हाथ मिला लिया। दोनों लिवइन में साथ रहने लगे। काला ने भी पुलिस से बचने के लिए सिख युवक का हूलिया बना लिया। कुछ दिनों में दोनों अपना ठिकाना बदल देते थे।

राजस्थान Vs पंजाब LIVE: पंजाब के सामने 186 का टारगेट, अंतिम चार ओवर में RR ने बनाए सिर्फ 21 रन; अर्शदीप सिंह ने लिए 5 विकेट ब्रिटेन की 'भेदभाव वाली' वैक्सीन नीति पर नाराज़ भारत की चेतावनी, क्या है मामला? - BBC News हिंदी कोविशील्ड वैक्सीन को मंजूरी नहीं देने को भारत ने बताया भेदभावपूर्ण, ब्रिटेन पर हो सकती है जवाबी कार्रवाई

मामले की जांच कर रहे एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सीकर फतेहपुर के अलफसर गांव की रहने वाली अनुराधा शुरूआत से पढ़ाई में तेज थी। अनुराधा की मां की बचपन में ही मौत हो गई थी। पिता रामदेव सरकारी नौकरी में थे। अनुराधा ने शेयर ट्रेडिंग करने वाले दीपक मिंज से प्रेम विवाह किया था। दोनों ने लोगों के लाखों रुपये ट्रेडिंग में लगवा दिए। धंधा चौपट हुआ और लोगों के करोड़ों रुपये डूब गए। इसके बाद उसकी मुलाकात राजस्थान के गैंगस्टर आनंदपाल से हुई।

आनंद से मिलने के बाद अनुराधा ने अपने पति को छोड़ दिया। लेडी डॉन से मिलने से पूर्व आनंदपाल एकदम देसी था। लेकिन अनुराधा ने आनंदपाल को एकदम बदल दिया। यहां तक उसको अंग्रेजी सिखा दी। आनंद पाल भी अनुराधा का कायल हो गया। गैंग के कई महत्वपूर्ण फैसले अनुराधा करने लगी। आनंदपाल को अकसर अंग्रेजी बोलते हुए देखा जाता था।

आनंदपाल के साथ रहते-रहते अनुराधा ने एके-47 चलाना सीख लिया। वह अक्सर कारोबारियों को धमकाने के लिए एके-47 चलाती थी। आनंदपाल की मौत हुई तो अनुराधा लॉरेंस बिश्नोई के संपर्क में आई और दिल्ली पहुंच गई। यहीं पर उसकी मुलाकात काला जठेड़ी हुई। इसके बाद जठेड़ी भी अनुराधा का कायल हो गया। दोनों साथ में रहते थे। सूत्रों का कहना है कि जठेड़ी को पुलिस से बचाने के लिए उसने ही उससे कहा था कि वह सरकार युवक का हूलिया बना ले और अपने विदेश भागने की खबर फैला दे।

हुआ भी ऐसे ही काला ने ऐसा ही किया। पुलिस को उसकी तलाश करने में सवा साल लग गया। पुलिस के मुताबिक अनुराधा के खिलाफ राजस्थान में दर्जनभर से अधिक अपराधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस ने पहले उसकी गिरफ्तारी पर पांच हजार इनाम घोषित किया था, जिसे बाद में बढ़ाकर 10 हजार कर दिया गया था।

लॉरेंस विश्नोई को चारा बनाकर काला तक पहुंची स्पेशल सेल की टीम...काला जठेड़ी तक पहुंचने के लिए पुलिस ने बेहद सूझबूझ से काम लिया और शुक्रवार को उसे सहारनपुर सरसावा के पास एक ढाबे से गिरफ्तार कर लिया। पहली नजर में पुलिस उसे पहचान ही नहीं पाई। वारदात के समय आरोपी अनुराधा के साथ क्रेटा कार में मौजूद था। पुलिस सूत्रों के मुताबिक काला तक पहुंचने के लिए टीम ने जेल बंद गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई को चारा बनाया।

ऑपरेशन के तहत जेल में लॉरेंस के पास मोबाइल पहुंचवाया गया। इसके बाद एक माह तक सीडीआर पर नजर रखने के बाद पुलिस की टीम आखिर काला तक पहुंच ही गई। अब उससे पूछताछ कर मामले की जांच की जा रही है।दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि काला जठेड़ी तक पहुंचने के लिए पूरी योजना तैयार की गई। एक एसीपी और दो इंस्पेक्टर समेत करीब 30 टीमों का गठन किया गया। पूरे ऑपरेशन का कोडवर्ड %ऑपेरशन-डी-24% दिया गया। टीम ने करीब 10 राज्यों में 20 हजार किलोमीटर से ज्यादा का सफर किया। आरोपी बार-बार पुलिस के पहुंचने से 24 घंटे पहले ही निकल जाता था।

पुलिस ने काला तक पहुंचने की योजना बनाई। सागर धंनकड़ हत्याकांड में सुशील का नाम सामने आया तो उसमें काला नाम भी खूब उछला। पुलिस ने मकोका में बंद काला के करीबी लॉरेंस की जेल से रिमांड लेकर उससे पूछताछ की। लेकिन पुलिस कामयाबी नहीं ली। पुलिस ने अपने मुखबिरों के जरिये जेल में विश्नोई के पास मोबाइल फोन भिजवा दिया।

सब कुछ प्लान के तहत हुआ। लॉरेंस ने फोन मिलते ही अपने गुर्गों से संपर्क करना शुरू कर दिया। फोन पूरी तरह पुलिस की निगरानी में था। सूत्रों का कहना है कि अपने गुर्गों के जरिये विश्नोई ने काला से संपर्क किया। इसके बाद पुलिस को उसकी लोकेशन मिल गई। एक टीम के शुक्रवार को सहारानपुर भेजा गया। वहां से काला को गिरफ्तार कर लिया गया। काला ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि वह पुलिस से बचने के लिए इंटरनेट कॉलिंग व फेसबुक कॉलिंग ही करता था। लेकिन विश्नोई की वजह से वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

कुलदीप मान उर्फ फज्जा को भगाने की रची थी साजिश...पुलिस की मुठभेड़ में मारा गए बदमाश कुलदीप मान उर्फ फज्जा को भगाने की साजिश भी काला जठेड़ी ने रची थी। जीटीबी अस्पताल से बदमाश उसे भगा ले गए थे। लेकिन तीन ही दिन बाद पुलिस ने रोहिणी में मुठभेड़ के बाद फज्जा को ढेर कर दिया था। पुलिस के मुताबिक 2012 में काला को जब गिरफ्तार किया गया था तब 34 मामलों में उसकी तलाश थी।

अब दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, हरियाणा, चंडीगढ़ समेत कई राज्यों में 25 से अधिक मामलों में पुलिस को उसकी तलाश थी। फिलहाल काला की गिरफ्तारी पर छह लाख रुपये का इनाम घोषित था। भारत में काला का फिलहाल लॉरेलस विश्नोई, सूबे गुर्जर, काला राणा के साथ मिलकर गैंग चला रहा था। दाढ़ी बढ़ाने और सरदार का हूलिया बनाकर काला अनुराधा के साथ मिलकर पति-पत्नी की तरह रह रहा था।

विज्ञापनलॉरेंस विश्नोई को चारा बनाकर काला तक पहुंची स्पेशल सेल की टीम...विज्ञापनआपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?

हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

क्या 2022 की तैयारी में हुई विजय रुपाणी की विदाई? देखें शंखनाद

गुजरात में विजय रूपाणी का हटाने का दांव बीजेपी ने खेला है. इसकी एक बड़ी वजह जातीय समीकरण भी है. गुजरात में पाटीदार नेताओं का बोलबाला रहा है और रूपाणी इस समाज से नहीं आते, जिसका असर पिछले चुनाव में भी दिखा था. 2012 के चुनाव में जहां बीजेपी ने 115 सीटे मोदी के नेतृत्व में हासिल की थी. वहीं 2017 में आंकड़ा 100 के नीचे पहुंच गया था. जिसके बाद रूपाणी के सीएम ना बनने की अटकलें तेज हो गई थीं. क्या विजय रूपाणी को पद से हटाना एंटी इंकम्बेंसी कम करने की कोशिश है या ये गुजरात की वही सियासी परंपरा है, जिसके तहत अब तक नरेंद्र मोदी को छोड़कर बीजेपी का कोई भी सीएम पांच साल का कार्यकाल पूरा नहीं कर पाया है. देखें शंखनाद.

Indian Lady Dons: कुख्यात काला जठेड़ी की गर्लफ्रैंड अनुराधा से भी खतरनाक हैं भारत की ये 13 लेडी डॉनगॉडमदर मम्मी ऑटी बेबी हीरोइन ये वो नाम हैं जिनसे पुलिस ही नहीं बड़े-बड़े माफिया भी डरते हैं। इन्होंने दाऊद छोटा शकील हाजी मस्तान जैसे अंडरवर्ल्ड माफियाओं को भी अपने इशारे पर नचाया है। आइये जानते हैं देश की ऐसी ही 13 सबसे बड़ी महिला डॉन के बारे में।

काला जठेड़ी के साथ लिवइन में रह रही थी राजस्थान की लेडी डॉन, चलाती थी पूरा गैंगअनुराधा पर लूट किडनैपिंग, रंगदारी मांगने सहित कई संगीन मामले दर्ज हैं। अनुराधा राजस्थान के सीकर की रहने वाली है। अनुराधा ने दिल्ली के एक कॉलेज से बीसीए में स्नातक किया है।

मोस्ट वांटेड के साथ लेडी डॉन गिरफ्तार: गैंगस्टर आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद काला जेठड़ी से जुड़ी, पूरी गैंग कर रही थी ऑपरेट, दिल्ली पुलिस ने पकड़ाराजस्थान की लेडी डॉन अनुराधा को शनिवार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने गैंगस्टर काला जठेड़ी के साथ गिरफ्तार किया। उत्तराखंड से लौट रहे दोनों अपराधियों की गिरफ्तारी यूपी के सहारनपुर से हुई। इनके पास से पिस्टल और रिवॉल्वर बरामद की गई। | Was living in live-in with notorious gangster Kala Jathedi for 9 months, after AP encounter was running the gang in collaboration with Lawrence; Delhi Special Police caught with Jathedi सबसे पहली बात यह गैंगस्टर, अंडरवर्ल्ड डॉन यह सब कौन बनाता है ? यह सब बनाती है हमारी निकम्मी पुलिस! यदि पहला गुनाह करते वक्त ही इसको पकड़ कर जेल में डाल दिया होता, तो यह डॉन नहीं बनते एसी रूम में बैठकर मुक्त का पगार खाना है निकम्मा को... याद रहे काले कोट वाले अभी जिंदा है। सोमवार को बेल हो जाएंगी। 🙏🙏🙏🙏

काला जठेड़ी के साथ लिवइन में रह रही थी राजस्थान की लेडी डॉन, चलाती थी पूरा गैंगअनुराधा पर लूट किडनैपिंग, रंगदारी मांगने सहित कई संगीन मामले दर्ज हैं। अनुराधा राजस्थान के सीकर की रहने वाली है। अनुराधा ने दिल्ली के एक कॉलेज से बीसीए में स्नातक किया है।

Indian Lady Dons: कुख्यात काला जठेड़ी की गर्लफ्रैंड अनुराधा से भी खतरनाक हैं भारत की ये 13 लेडी डॉनगॉडमदर मम्मी ऑटी बेबी हीरोइन ये वो नाम हैं जिनसे पुलिस ही नहीं बड़े-बड़े माफिया भी डरते हैं। इन्होंने दाऊद छोटा शकील हाजी मस्तान जैसे अंडरवर्ल्ड माफियाओं को भी अपने इशारे पर नचाया है। आइये जानते हैं देश की ऐसी ही 13 सबसे बड़ी महिला डॉन के बारे में।

मोस्ट वांटेड के साथ लेडी डॉन गिरफ्तार: गैंगस्टर आनंदपाल के एनकाउंटर के बाद काला जेठड़ी से जुड़ी, पूरी गैंग कर रही थी ऑपरेट, दिल्ली पुलिस ने पकड़ाराजस्थान की लेडी डॉन अनुराधा को शनिवार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने गैंगस्टर काला जठेड़ी के साथ गिरफ्तार किया। उत्तराखंड से लौट रहे दोनों अपराधियों की गिरफ्तारी यूपी के सहारनपुर से हुई। इनके पास से पिस्टल और रिवॉल्वर बरामद की गई। | Was living in live-in with notorious gangster Kala Jathedi for 9 months, after AP encounter was running the gang in collaboration with Lawrence; Delhi Special Police caught with Jathedi सबसे पहली बात यह गैंगस्टर, अंडरवर्ल्ड डॉन यह सब कौन बनाता है ? यह सब बनाती है हमारी निकम्मी पुलिस! यदि पहला गुनाह करते वक्त ही इसको पकड़ कर जेल में डाल दिया होता, तो यह डॉन नहीं बनते एसी रूम में बैठकर मुक्त का पगार खाना है निकम्मा को... याद रहे काले कोट वाले अभी जिंदा है। सोमवार को बेल हो जाएंगी। 🙏🙏🙏🙏