Subramanian Swamy, Lakhimpur Kheri, Up Election, Yogi Adityanath

Subramanian Swamy, Lakhimpur Kheri

लखीमपुर हिंसा : SC की फटकार पर बोले BJP सांसद- योगी को 'कुर्सी से हटाने' वालों को मिला मौका

लखीमपुर खीरी कांड पर SC ने यूपी सरकार को लगाई फटकार तो भाजपा सांसद बोले- अब योगी को ‘कुर्सी से हटाने’ वालों को मौका मिल गया

21-10-2021 08:02:00

लखीमपुर खीरी कांड पर SC ने यूपी सरकार को लगाई फटकार तो भाजपा सांसद बोले- अब योगी को ‘कुर्सी से हटाने’ वालों को मौका मिल गया

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा लखीमपुर मामले में मुख्य आरोपी हैं। ऐसे में विपक्षी दलों से लेकर किसान नेता तक अजय मिश्रा टेनी का इस्तीफा मांग रहे हैं।

लखीमपुर हिंसा मामले में यूपी सरकार की कार्यशैली पर सुप्रीम कोर्ट सवाल खड़े कर चुका है(फोटो सोर्स: PTI)।लखीमपुर हिंसा मामले में बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार की कार्यशैली पर अपनी नाराजगी जताई। अदालत ने कहा कि, ऐसा लग रहा है कि इस मामले में राज्य सरकार अपने पैर खींच रही है। कोर्ट की इस टिप्पणी पर भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अपने एक ट्वीट में लिखा है कि, जो लोग योगी को सीएम पद से हटाना चाह रहे हैं, इससे उन्हें मौका मिल गया है।

रवीश कुमार का प्राइम टाइम : क्यों दुर्घटनाग्रस्त हुआ जनरल रावत का हेलीकॉप्टर? वीडियो - हिन्दी न्यूज़ वीडियो एनडीटीवी ख़बर 2002 दंगों में नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट देने के खिलाफ याचिका का SIT- गुजरात सरकार ने SC में किया विरोध जनरल बिपिन रावत चॉपर क्रैश : हेलीकॉप्टर का ब्लैक बॉक्स मिला, मिल सकती है हादसे की और जानकारी

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि, “लखीमपुर हिंसा मामले में सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार को “अपने पैर खींचने” का दोषी ठहराया है। सीएम योगी के लिए यह 2022 के लिए खतरा है। बीजेपी में जो लोग योगी को सीएम पद से हटाना चाहते थे, उन्हें अब एक बहाना मिल गया है। अब अमित शाह के जूनियर मंत्री के बेटे या सीएम पद दांव पर है।”

Supreme Court has held in the Lakhimpur case the UP govt is guilty of "dragging its feet". This is a Catch-22 danger for CM Yogi. Those in the BJP who had wanted to remove Yogi from CM post, have now got a pretext. It is now Amit Shah's junior Minister's son or CM post at stake headtopics.com

— Subramanian Swamy (@Swamy39)October 21, 2021बता दें कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा लखीमपुर हिंसा मामले में मुख्य आरोपी हैं। ऐसे में विपक्षी दलों से लेकर किसान नेता तक अजय मिश्रा टेनी का इस्तीफा मांग रहे हैं। इससे अलग इस मामले में जिस गति से जांच चल रही है, उससे सुप्रीम कोर्ट भी संतुष्ट नजर नहीं आ रहा है। 20 अक्टूबर को इस मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ‘लग रहा है कि लखीमपुर खीरी घटना की जांच से यूपी सरकार अपने पैर खींच रही है।’

और पढो: Jansatta »

शंखनाद: Samajwadi Party की साइकिल पर बैठेंगी कितनी सवारी?

जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं, उत्तर प्रदेश का रण धारदार होता जा रहा है, सत्ता पक्ष और विपक्ष अपने-अपने दल को बढ़ाने में लगे हुए हैं, गठबंधनों का दौर चल रहा है. इसी कड़ी में आज कांग्रेस की बागी नेता अदिति सिंह आज बीजेपी में शामिल हुईं तो दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने अखिलेश यादव से मुलाकात की. साथ ही कृष्णा पटेल वाली अपना दल पार्टी ने भी समाजवादी का दामन थाम लिया. यूं समझिए कि गठबंधन वाली राजनीति बहुत तेजी से विस्तारित हो गई है, ताकि पार्टियां अपने विरोधियों को मात दे सकें. देखिए शंखनाद का ये एपिसोड.

लखीमपुर खीरी: यूपी सरकार को SC की फटकार, अगली सुनवाई 26 अक्तूबर को होगी - BBC Hindiसुप्रीम कोर्ट ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में उत्तर प्रदेश सरकार को स्टेटस रिपोर्ट देर से दाखिल करने के लिए फटकार लगाई है. ये फटकार क्या होता हैं..? इससे तो किसी की फटती नहीं दिखती..? खामखाह न्यायालय ख़ुद की धज्जियां उड़ाने को उतारू नज़र आता है किसी भी फटकार को कभी भी मोदी ने गंभीरता से लिया है ? अलबत्ता राज्यसभा वगैरह की लॉलीपॉप से अपमानित जरुर किया ग़र स्वाभिमान हो तो..? देख ले झाँसाराम का गुरुभाई हैं 😅😅😅😅😅😅😅😅 देश मे बहुत से बाबा है जिन्होंने गलत काम किये है मग़र ये सरकार सिर्फ आसाराम ही के पीछे कयो पड़ी है? कहीं बाबा खतरा तो नही है सरकार के लिए?

लखीमपुर हिंसा: किसानों को ‘धमकी’ देने वाले अजय मिश्रा केंद्रीय मंत्री बनने से पहले क्या थेउत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी से सांसद और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा ‘टेनी’ ने किसान आंदोलन को लेकर धमकी दी थी. उनके ख़िलाफ़ तीन अक्टूबर को किसानों ने उनके पैतृक गांव बनबीरपुर में आयोजित एक समारोह में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के जाने का विरोध किया था. आरोप है कि इस दौरान उनके बेटे आशीष मिश्रा ने अपनी गाड़ी से कुचलकर चार किसानों की हत्या कर दी थी. केंद्रीय मंत्री का आपराधिक इतिहास रहा है.

Twinkle Khanna ने Squid Game से की लखीमपुर कांड की तुलना, आर्यन खान को किया सपोर्टट्विंकल ने लिखा 'जब मैंने शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के अरेस्ट के बारे में सुना तब मुझे यह मार्बल गेम की तरह ही लगा. आर्यन के दोस्त जिसके पास 6 ग्राम चरस पाया गया, लेक‍िन रिपोर्ट के मुताबिक आर्यन के पास से ड्रग्स की कोई बरामदगी नहीं हुई है. फिर भी यह युवा लड़का दो हफ्तों से आर्थर रोड जेल में बंद है.' मजबूरी है भाई आर्यन खान का समर्थन नहीं करोगे तो... Sabse flop actor ki wife kyo bhok rahi hai😅😅🤣🤣😂😂 Ye kya twinkle 😭😭😭😅🤣🤣😂😂😂

लखीमपुर हिंसा: भाजपा कार्यकर्ता सहित चार गिरफ़्तार, आशीष मिश्रा को न्यायिक हिरासत में भेजा गयाबीते तीन अक्टूबर को लखीमपुर खीरी ज़िले में प्रदर्शन कर रहे किसानों के समूह पर कथित तौर पर वाहन चढ़ा दिए जाने के बाद चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत के मामले में भाजपा कार्यकर्ता सुमित जायसवाल, शिशुपाल, सत्यप्रकाश त्रिपाठी और नंदन सिंह बिष्ट को पुलिस ने गिरफ़्तार किया है. इस मामले में अब तक 10 लोगों को गिरफ़्तार किया जा चुका है.

भरतपुरः पिता-भाई को बंधक बनाकर नाबालिग से गैंगरेप, जाते-जाते फसल भी जला गए आरोपीदिल दहला देने वाली यह वारदात भरतपुर के लखनपुर थाना इलाके की है, जहां एक गांव में यह घटना घटी. पीड़ित शिकायतकर्ता ने पुलिस को दी गई तहरीर में बताया कि वह अपने खेत में बने मकान में अपनी नाबालिग पुत्री और पुत्र के साथ सो रहा था, क्योंकि खेत में फसल खड़ी है. News post karne se pahle Ek bar Congress party aur other party se puch kar approval le liya kare warna ap Godi media kahe jayege गिद्ध कब जाएंगे राजस्थान। कवरेज करोगे उस लड़की की लड़ाई लड़ोगे या बस छाप दिया या उत्तर प्रदेश ही जाओगे 😊

दिल्ली दंगा: आरोपी को ‘अनावश्यक रूप से प्रताड़ित’ करने पर पुलिस पर जुर्मानादिल्ली की एक अदालत ने फरवरी 2020 के दंगों के मामले संबंधी एक अर्ज़ी दायर करने में देरी के लिए पुलिस पर 25,000 रुपये का जुर्माना लगाते हुए कहा कि इन मामलों में पुलिस आयुक्त और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को निजी हस्तक्षेप करने के लिए बार-बार दिए गए निर्देशों को नज़रअंदाज़ किया गया. इन साहब का ट्रांसफर भी करना पड़ेगा अब तो...🤔