Lakhimpur Kheri Case, Farmers Protest, Supreme Court

Lakhimpur Kheri Case, Farmers Protest

लखीमपुर हिंसा पर SC ने पूछा सवाल, जब हजारों लोग मौजूद थे तो सिर्फ 23 चश्मदीद गवाह कैसे?

लखीमपुर हिंसा पर SC ने पूछा सवाल, जब हजारों लोग मौजूद थे तो सिर्फ 23 चश्मदीद गवाह कैसे?

26-10-2021 09:40:00

लखीमपुर हिंसा पर SC ने पूछा सवाल, जब हजारों लोग मौजूद थे तो सिर्फ 23 चश्मदीद गवाह कैसे?

सुप्रीम कोर्ट ने लखमीपुर हिंसा मामले की सुनवाई के दौरान सवाल किया कि रैली में सैकड़ों किसान शामिल थे और सिर्फ 23 ही चश्मदीद गवाह बने?

लखीमपुर खीरी में किसाान आंदोलन के दौरान हुई हिंसा। फाइल फोटो।लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे पेश हुए। उन्होंने इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय को स्टेटस रिपोर्ट सौंपते हुए जानकारी दी कि अभी तक 68 गवाहों में से 30 गवाहों के बयान दर्ज किए गए हैं। साल्वे ने कहा कि 23 लोगों ने इस घटना के चश्मदीद होने का दावा किया है।

नरेंद्र मोदी ने अखिलेश यादव की 'लाल टोपी' को क्यों बताया रेड अलर्ट - BBC News हिंदी Anil Menon बनेंगे नासा एस्ट्रोनॉट, हो सकते हैं चांद पर जाने वाले पहले भारतवंशी! केंद्र के प्रस्ताव पर किसानों की और स्पष्टीकरण की मांग, आंदोलन के भविष्य पर बैठक जारी - BBC News हिंदी

इसपरसुप्रीम कोर्टने कहा कि रैली में तो सैकड़ों किसान शामिल थे और सिर्फ 23 ही चश्मदीद गवाह बने? हरीश साल्वे ने कहा कि चश्मदीद गवाहों को लेकर हमने सार्वजनिक विज्ञापन देकर कहा है कि जो घटनास्थल पर थे, जिन्होंने कार में असल में लोगों को देखा था, वो सामने आएं। हमने घटना के सभी मोबाइल वीडियो और वीडियोग्राफी पर भी ध्यान दिया है।

जस्टिस सूर्यकांत ने कहा कि वहां पर चार- पांच हजार लोग थे, जो स्थानीय थे। इसपर साल्वे ने जवाब दिया कि वहां मौजूद लोग अधिकतर लोकल थे, लेकिन उनमें बाहरी भी शामिल थे। जस्टिस सूर्यकांत ने कहा कि घटना के बाद जांच की मांग करने वालों की तादाद अधिक थी। इस पर साल्वे ने कहा कि यहां सवाल उन लोगों का है जो घटना के वक्त मौजूद थे। headtopics.com

Also Readलखीमपुर खीरी: चर्चा में आए अजय मिश्रा रखते हैं पहलवानी का शौक, मर्डर केस में सुनवाई के दौरान कोर्ट में ही हुआ था हमला, 2017 में बेटे को बनवाना चाहते थे MLACJI ने कहा कि जांच कर रही अपनी एजेंसी से कहें कि वो यह देखें कि 23 लोगों के अलावा घटना के समय और कितने लोग थे। बता दें कि इस मामले की अगली सुनवाई अब 8 नवंबर को होगी।

वहीं सुनवाई के दौरान जस्टिस सूर्यकांत ने कहा कि वहां मौजूद चार हजार लोगों में से कई लोगों ने इन चीजों को काफी गंभीरता से देखा होगा और वो गवाही देने में सक्षम हो सकते हैं। CJI ने कहा कि क्या इन 23 चश्मदीद गवाहों में से कोई घायल हुआ है? जवाब में हरीश साल्वे ने कहा, दुर्भाग्य से जिन लोगों को चोटें आईं, उनकी बाद में मौत हो गई। 23 गवाहों में से कोई घायल नहीं हुआ है।

सीजेआई ने कहा कि इसपर और अधिक जानकारी जुटाएं, फिर हम लैब को मामले में तेजी लाने के लिए कह सकते हैं। वहीं कोर्ट ने गवाहों की सुरक्षा का मुद्दा उठाया। जिसपर साल्वे ने कहा कि गवाहों को सुरक्षा दी जा रही है।वहीं इस मामले की पिछली सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार की कार्यशैली पर अपनी नाराजगी जताई थी। अदालत ने कहा था कि, ऐसा लग रहा है कि इस मामले में राज्य सरकार अपने पैर खींच रही है। उस दौरान कोर्ट ने यूपी सरकार को और अधिक जानकारी जुटाने के लिए कहा था।

बता दें कि लखीमपुर खीरी में 3 अक्टूबर को किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में चार किसानों सहित आठ लोग मारे गए थे। इस मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में CJI एनवी रमना, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस हिमा कोहली की पीठ कर रही है। और पढो: Jansatta »

छात्रों से मिले 51 हजार बिजनेस आइडिया, देखें Business Blasters Programme पर क्या बोले Sisodia

दिल्ली सरकार की नई योजना स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों में उद्यमी एवं व्यावसायिक क्षमता को विकसित करने वाले बिजनेस ब्लास्टर्स प्रोग्राम को लेकर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आजतक से खास बातचीत की है. इस दौरान उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में छात्र बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं और कई तरह के अनूठे आइडिया दे रहे हैं. इसकी सफलता को देखते हुए दिल्ली सरकार ने भविष्य में प्राइवेट स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों को भी इस प्रोग्राम से जोड़ने की योजना बनाई है. साथ में दिल्ली सरकार के कॉलेजों में भी प्रोग्राम को ले जाने की तैयारी है. देखिए ये वीडियो.

पैनलिस्ट ने उठाया सावरकर पर सवाल तो बोले अमिश देवगन-आपके लिए तो औरंगजेब महान हैंडिबेट शो पर तस्लीम रहमानी सावरकर पर सवाल खड़े करने लगे तो अमिश देवगन भी इन सवालों को सुन भड़कने लगे।

'हज़ारों किसान मौजूद थे, सिर्फ 23 चश्मदीद गवाह मिले...?' : लखीमपुर हिंसा पर SC का सवालयूपी सरकार की ओर से पेश हरीश साल्वे ने कहा कि हमने सार्वजनिक विज्ञापन देकर यह मांगा है कि जो  चश्मदीद गवाह हैं,  वो सामने आएं, जिन्होंने कार में असल में लोगों को देखा था. हमने घटना के सभी मोबाइल वीडियो और वीडियोग्राफी पर भी ध्यान दिया है. It is a very big attack on poor farmers and look at the speed of justice. Justice delayed is justice denied. LakhimpurKheriViolence Koan es pechidi prakriya me uljna चाहेगा एक यही उम्मीद और भरोसा है

लखीमपुर हिंसा: सुप्रीम कोर्ट का यूपी सरकार से सवाल- रैली में सैकड़ों किसान थे तो चश्मदीद गवाह सिर्फ 23 क्यों?लखीमपुर हिंसा: सुप्रीम कोर्ट का यूपी सरकार से सवाल- रैली में सैकड़ों किसान थे तो चश्मदीद गवाह सिर्फ 23 क्यों? LakhimpurKheri SupremeCourt Dear SupremeCourt वो सब मुसलमान थे भाग गए, उनमें कोई किसान नहीं था🤣😂🤣😂 narendramodi myogiadityanath ये 23 भी अंधभक्त निकलेगें चाहे चड्ढी उतार कर देख लो

त्रिपुराः बाग्लांदेश हिंसा के विरोध में प्रदर्शन, 150 से अधिक मस्जिदों को दी गई सुरक्षाबीते दिनों बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडालों में हुई तोड़फोड़ के विरोध में हिंदुत्ववादी संगठन लगातार विरोधस्वरूप रैलियां निकाल रहे हैं. इस बीच त्रिपुरा राज्य जमीयत उलमा (हिंद) ने मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब के कार्यालय को एक ज्ञापन सौंपा है, जिसमें बीते तीन दिनों में मस्जिदों और अल्पसंख्यक बस्तियों पर हमले का आरोप लगाया गया है. त्रिपुरा भरत में ही है ना की तालिबान मे RubikaLiyaquat anjanaomkashyap इन आतंकियों पर भी तो मुंह के गटर खोल दो खुद के देश मे अल्पसंख्यक मुसलमानों की हत्या करदो मस्जिदों को तोड़ दो आग लगा दो पर दूसरे देश मे हिन्दू अल्पसंख्यक की सुरक्षा उनका सम्मान ये जरूरी है अरे वहां 450 से ज्यादा मुसलमानों को गिरफ्तार किया गया है अब यहां हिम्मत कौन दिखाए हिन्दू गिरफ्तारी की

लालू, मुलायम के बच्चों को क्यों रिजर्वेशन मिले? RJD सुप्रीमो से अंजना ओम कश्यप ने किया था सवाललालू प्रसाद यादव से अंजना ओम कश्यप ने सवाल किया था, 'लालू यादव और मुलायम के बच्चों को क्यों रिजर्वेशन मिले?' इसके जवाब में आरजेडी सुप्रीमो ने कुछ ऐसा कहा था।

क्रूज ड्रग्स केस: आर्यन के साथ सेल्फी लेने वाला किरण गोसावी लखनऊ में कर सकता है सरेंडर, बॉडीगार्ड ने लगाए थे 25 करोड़ की डील के आरोपमुंबई के क्रूज ड्रग्स केस में आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद उसके साथ सेल्फी लेने वाला किरण गोसावी लखनऊ में सरेंडर कर सकता है। ड्रग्स केस में गवाह बनाए जाने के बाद से ही गोसावी फरार है। गोसावी पर उसके बॉडीगार्ड प्रभाकर सेल ने करोड़ों रुपए की डील करने के सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। | Cruise Drugs Case Witness Kiran Gosavi To Surrender In Lucknow, मुंबई के क्रूज ड्रग केस में आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद उसके साथ सेल्फी लेने वाला किरण गोसावी लखनऊ में सरेंडर कर सकता है। नवाब मलिक का बयान ड्रग माफिया के बयान जैसा है। नवाब मलिक को समझ आ गया होगा कि समीर वानखेड़े के साथ पूरा देश खड़ा है। नवाब मलिक समीर वानखैड़े का कुछ नहीं उखाड़ सकता। क्या पता 25 करोड़ के चक्कर में encounter न हो जाए