India, Nepal

India, Nepal

रोटी-बेटी के रिश्तों वाले 2 देश: नेपाल की 20% आबादी भारत पर निर्भर, सबसे ज्यादा पैसा भारत से अपने घर भेजते हैं नेपाली, 6 लाख भारतीय नेपाल में नौकरी करते हैं

India-Nepal Relations :20% of Nepal's population dependent on India, Nepali sends the most money from India to its home, 6 lakh Indians work in Nepal

16-07-2020 15:56:00

रोटी-बेटी के रिश्तों वाले 2 देश: नेपाल की 20% आबादी भारत पर निर्भर, सबसे ज्यादा पैसा भारत से अपने घर भेजते हैं नेपाली, 6 लाख भारतीय नेपाल में नौकरी करते हैं India Nepal kpsharmaoli PM_ Nepal India In Nepal EON India journalistibm

India - Nepal Relations :20% of Nepal 's population dependent on India , Nepal i sends the most money from India to its home, 6 lakh India ns work in Nepal

रोटी-बेटी के रिश्तों वाले 2 देश :नेपाल की 20% आबादी भारत पर निर्भर, सबसे ज्यादा पैसा भारत से अपने घर भेजते हैं नेपाली, 6 लाख भारतीय नेपाल में नौकरी करते हैंनई दिल्लीलेखक: इंद्रभूषण मिश्रकॉपी लिंकपिछले साल नेपाली प्रवासियों ने भारत से 12 हजार करोड़ रुपए नेपाल भेजा था, जो किसी भी देश से आने वाली सबसे ज्यादा रकम थी

आज़ादी की सारी ख़ुशियों से एक फ़ोन कॉल ने नेहरू को जुदा कर दिया था बिहार बाढ़: इंसान और साँप दोनों साथ-साथ सड़क पर जी रहे independence day 2020 pm modi speech - लाल किले से PM मोदी का भाषण, इन बातों पर खूब बजीं तालियां

भारत के पांच राज्यों के साथ नेपाल की सीमाएं लगती हैं, नेपाल के 75 में से 23 जिले भारत से जुड़े हुए हैंAdvertisementAdvertisementभारत और नेपाल के बीच हमेशा से बेहतर और मजबूत संबंध रहा है। कहते हैं कि नेपाल से भारत का रोटी-बेटी का संबंध है। सदियों से नेपाल के साथ भारत का भौगोलिक, ऐतिहासिक, सांस्कृतिक व आर्थिक संबंध रहा है। हालांकि, हाल ही के दिनों में नेपाल के साथ रिश्ते में थोड़ी तल्खी आई है। दोनों देशों के बीच रिश्ते का सारा गुणा गणित क्या है, दोनों एक-दूसरे पर किस हद तक निर्भर हैं। पढ़ें ये रिपोर्ट...

नेपाल के 23 जिले भारत की सीमा से लगते हैंभारत की सीमा (लैंड बॉर्डर) की कुल लंबाई 15,106.7 किलोमीटर है, जो कुल सात देशों से लगती है। ये सात देश हैं - बांग्लादेश, चीन , पाकिस्तान , नेपाल ,म्यांमार , भूटान और अफगानिस्तान। भारत के साथ नेपाल 1751 किमी बॉर्डर शेयर करता है। भारत के कुल पांच राज्य - उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल और सिक्किम नेपाल सीमा से लगे हुए हैं।

नेपाल के कुल 75 जिलों में से 23 जिले भारत की सीमा से लगते हैं। बिहार के साथ नेपाल के 12 जिले, यूपी के साथ 8, पश्चिम बंगाल के साथ 2 (जिसमें एक बिहार के साथ भी शामिल), उत्तराखंड के साथ चार ( दो पश्चिम बंगाल , एक सिक्किम व एक यूपी के साथ भी) लगते हैं।नेपाल की 20 फीसदी आबादी भारत पर निर्भर

नेपाल की कुल आबादी लगभग 3 करोड़ है। भारत सरकार के 2019 के एक डेटा के मुताबिक, नेपाल के लगभग 60 लाख लोग भारत में रहते हैं और यहीं पर काम भी करते हैं। यानी नेपाल की करीब 20 फीसदी आबादी भारत में रहती है और भारत पर ही उनकी जीविका निर्भर है।इसके साथ ही भारतीय सेना में भी नेपाल के लोगों की भर्ती होती है। वर्तमान में 32,000 गोरखा सैनिक भारतीय सेना में तैनात हैं और करीब 3000 करोड़ रुपए पेंशन के तौर पर हर साल करीब सवा लाख पूर्व गोरखा सैनिकों को दी जाती है।

विदेशों में काम कर रहे नागरिकों में सबसे ज्यादा लोग भारत में ही हैं क्योंकि दोनों देशों की सीमाएं एक-दूसरे के लिए खुली हुई हैं। जहां किसी तीसरे देश में काम करने के लिए नेपालियों को लेबर परमिट के लिए आवेदन करना पड़ता है, वहीं भारत में काम करने के लिए ऐसे किसी परमिट की जरूरत भी नहीं पड़ती है।

भारत सरकार हर साल लगभग 3 हजार नेपाली छात्रों को स्कॉलरशिप देती है। इसके साथ ही भारत के संस्थानों में भारी संख्या में नेपाली पढ़ते हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, विदेश से आने वाले छात्रों में 26 फीसदी नेपाली होते हैं।भारत के 6 लाख लोग नेपाल में रहते हैंभारत सरकार की 2019 की एक रिपोर्ट के मुताबिक, नेपाल में भारत के करीब 6 लाख लोग रहते हैं। इनमें से ज्यादातर लोग बिजनेस के लिए नेपाल जाते हैं। सीमा से सटे इलाकों के कई ऐसे लोग भी हैं जो रहते तो भारत में हैं लेकिन उनकी जीविका नेपाल से चलती हैं। भारत की कई प्राइवेट और सरकारी कंपनियां भी नेपाल में काम करती हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, नेपाल के एफडीआई में 30 फीसदी हिस्सा भारत से आता है।

आत्मनिर्भर भारत से कोरोना तक, जानें PM के भाषण में कौन सा शब्द कितनी बार आया चांद पर निर्माण के लिए भारतीय वैज्ञानिकों ने बनाई स्पेशल ईंट - trending clicks AajTak प्रोजेक्ट टाइगर की तरह अब शेरों और डाल्फिन के संरक्षण के लिए भी शुरू होगी मुहिम

भारत के साथ सीमा व्यापार में नेपाल सबसे टॉप परभारत अपने 6 पड़ोसी देश चीन, पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, भूटान और अफगानिस्तान के साथ कुल 90 हजार करोड़ रुपए का सीमा व्यापार करता है। जो भारत के कुल व्यापार का 1.56 फीसदी है। भारत जिन 6 पड़ोसी देशों से व्यापार करता है, उनमें नेपाल टॉप पर है। नेपाल के साथ भारत करीब 51 हजार करोड़ रुपए का सीमा व्यापार है। इसमें भारत नेपाल को 48 हजार करोड़ रुपए का निर्यात करता है और नेपाल से 3 हजार करोड़ रुपए का आयात करता है।

नेपाल को सबसे ज्यादा रेमिटेंस भारत से मिलता हैपिछले वित्तीय वर्ष में नेपाल ने कुल 64 हजार करोड़ रुपए रेमिटेंस के रूप में प्राप्त किया था। इसमें से भारत से 12 हजार करोड़ रुपये रेमिटेंस (भारत में काम कर रहे नेपाली जो पैसा घर भेजते हैं) के तौर पर मिला। यह नेपाल को किसी भी देश से हासिल होने वाले रेमिटेंस में सबसे ज्यादा है।

विश्व बैंक की 2018 के रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में काम कर रहे नेपाली कामगारों ने एक साल में 9780 करोड़ रुपए नेपाल भेजे थे, जबकि नेपाल में काम कर रहे भारतीय कामगारों ने उसी दौरान क़रीब 11 हजार करोड़ रुपए भारत भेजा था।मई 2018 में भारत के पीएम नरेंद्र मोदी ने तीसरी बार नेपाल का दौरा किया था। तब उन्होंने जनकपुर से अयोध्या तक बस सेवा की शुरुआत की और रामायण सर्किट पर्यटन योजना से जनकपुर को जोड़ा। इस परियोजना में देश के 15 धार्मिक स्थलों को शामिल किया गया।

इनमें भारत में आने वाले स्थानों में उत्तर प्रदेश (अयोध्या, श्रृंगवेरपुर, चित्रकूट), बिहार (सीतामढ़ी, बक्सर, दरभंगा), पश्चिम बंगाल (नंदीग्राम), ओडिशा (महेंद्रगिरी), छत्तीसगढ़ (जगदलपुर), तेलंगाना (भद्राचलम), तमिलनाडु (रामेश्वरम), कर्नाटक (हंपी), महाराष्ट्र (नासिक, नागपुर), मध्य प्रदेश (चित्रकूट) को शामिल किया गया है।

2015 में नेपाल में भीषण भूकंप आया था। इस भूकंप में 9,000 लोगों की जान गई थी। भारत ने नेपाल को 233 करोड़ रुपए की मदद की।भारत की तरफ से नेपाल को बड़ी मददहाल ही में कोरोना से निपटने के लिए भारत ने नेपाल को लगभग 23 टन जरूरी दवाइयां भेजी थी। इसके बाद नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने ट्वीट कर मोदी का आभार जताया था। उन्होंने लिखा, 'मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद करता हूं कि उन्होंने कोरोना महामारी से लड़ने के लिए नेपाल को 23 टन जरूरी दवाई दी है। आज भारतीय राजदूत द्वारा हमारे स्वास्थ्य मंत्री को दवाइयां सौंपी गईं।

अप्रैल, 2015 में नेपाल में भीषण भूकंप आया था। इस भूकंप में 9,000 लोगों की जान गई और 8000 घर तबाह हुए। भारत ने भूंकप की सूचना के कुछ ही घंटों के भीतर 16 एनडीआरएफ की टीम 38 एयरफोर्स के जहाज के साथ ही 571 टन राहत सामग्री नेपाल भेजा था।पिछले साल भारत ने नेपाल को 233 करोड़ रुपए दिए ताकि वह भूकंप से तबाह हुए घरों को फिर से बना सके। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारत नेपाल को 2015 के बाद अब तक कुल 281 करोड़ रुपए की मदद कर चुका है।

रोजगार और युवाओं के लिए सरकार ने क्या किया, भाषण में ये बोले पीएम मोदी लाल किले से चीन-पाक पर बोले पीएम मोदी- जिसने भी आंख उठाई, माकूल जवाब दिया LOC हो या LAC, जिस किसी ने भी आंख उठाई सेना ने उसी भाषा में जवाब दिया: PM मोदी

भारत सरकार की 2019 की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत नेपाल को 752 एंबुलेंस और 148 स्कूल बस गिफ्ट कर चुका है। इसके साथ ही भारत ने नेपाल को इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के लिए 2006-2007 में 750 करोड़ रुपए, 2011-12 में 1800 करोड़ और 2013-14 में 7500 करोड़ रुपए की मदद की थी।

कोरोना से निपटने के लिए भारत ने नेपाल को लगभग 23 टन जरूरी दवाइयां भेजी थी। इसके बाद नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने ट्वीट कर मोदी का आभार जताया था।भारत के बजट में हर साल नेपाल को दी जाने वाली मदद की धनराशि भी आवंटित होती है। साल 2019-20 के बजट में नेपाल को 1200 करोड़ रुपये की सहायता देने की बात कही गयी थी।

भारत-नेपाल खुली सीमा का फायद उठाते हैं अपराधीभारत और नेपाल की सीमा खुली हुई है और दोनों देशों के नागरिक बिना पाबंदी के आ-जा सकते हैं। इसका फायदा बड़ी संख्या में अपराधी उठाते हैं। इनमें हथियार से लेकर नशीले पदार्थों और मानव तस्करी भी शामिल है। हाल ही में नेपाल ने 17 ऐसे बॉर्डर क्रॉसिंग को चिन्हित किया था, जहां से सबसे ज्यादा अपराध होता है। भारत के कई अपराधी जुर्म के बाद नेपाल फरार हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें. और पढो: Dainik Bhaskar »

सेलिब्रेशन का नया तरीका: अंगूरी भाभी उर्फ शुभांगी अत्रे ने कोविड-19 फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ मनाया बेटी का ...

Anguri Bhabhi aka Shubhangi Atre celebrated daughter's birthday with covid-19 frontline workers, said- 'Daughter will be responsible towards the country after seeing them'

kpsharmaoli PM_Nepal IndiaInNepal EONIndia journalistibm MEAIndia DrSJaishankar PMOIndia adgpi DefenceMinIndia rajnathsingh FinMinIndia nsitharaman HMOIndia AmitShah भाई तेरा डेटा ठीक कराले भक्ति में हिसाब कर्ना भूल दिया क्या kpsharmaoli PM_Nepal IndiaInNepal EONIndia journalistibm MEAIndia DrSJaishankar PMOIndia adgpi DefenceMinIndia rajnathsingh FinMinIndia nsitharaman HMOIndia AmitShah India gets 4.5 billions US$, 4th highest remittance, from NEPAL against 1.3 billions. Look Madal Chor, who benefits most from remittance. Source: Wikipedia

kpsharmaoli PM_Nepal IndiaInNepal EONIndia journalistibm MEAIndia DrSJaishankar PMOIndia adgpi DefenceMinIndia rajnathsingh FinMinIndia nsitharaman HMOIndia AmitShah दैनिक भास्कर , जस्ले बाबुराम भट्टराई समेत माओबादी को समर्थन मा लेख्छ ।

Nepal News: नेपाल में भूस्खलन, भारत-नेपाल आवागमन बाधित Nepal News बुधवार को नेपाल में भूस्खलन से भारत-नेपाल आवागमन बाधित हो गया है। और बदलो इतिहास तो तुम्हरा भूगोल तो बदलेगा ही न😂😂😂 KPSharmaOli प्रकृति भी नहीं चाहती कि नेपाल और भारत में आवागमन जारी रहे।

Air India के कर्मचारियों को झटका, कंपनी बिना वेतन के 5 साल की छुट्टी पर भेजेगीकोरोना संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में लंबे समय तक लॉकडाउन लागू रहा. इस दौरान देश में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर पाबंदी लागू रही. इसका असर एयर लाइंस कंपनियों पर पड़ा. इसी वजह से एअर इंडिया अपने कर्मचारियों की संख्या कम करने के लिए नई स्कीम लेकर आई है. इसके तहत कर्मचारी बिना वेतन लिए लंबी छुट्टी पर जा सकते हैं. Skill india but work not available बस 5 साल ,,,,100 साल के लिए भेज दो ,,,,, भारत माता की जय

India China Tension : एलएसी पर सैनिकों को हटाने के दूसरे चरण पर भारत-चीन हुआ राजीपूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के सभी अग्रिम मोर्चो से सैनिकों को आमने-सामने के टकराव से हटाने पर भारत और चीन के बीच सहमति बन गई है। भाजपा ने उत्तर प्रदेश के शिक्षामित्रों को जिस छल कपट से मरने पर मजबूर कर दिया ये ईश्वर देख रहा है साहब इस संसार मे कोई अमृत पीकर नही आया!!शिक्षामित्र के साथ न्याय कीजिये।श्रीराम भी खुश होंगे। PMOIndia aajtak drdineshbjp CMOfficeUP drdineshbjp JPNadda narendramodi BJP4UP

India Coronavirus News: नौ लाख 68 हजार से ज्यादा केस, 63.24 फीसद मरीज हुए ठीकभारत में कोरोना वायरस (COVID-19) के नौ लाख 68 हजार से ज्यादा मामले सामने आ गए हैं और इनमें छह लाख 12 हजार से ज्यादा मरीज ठीक हो गए हैं। 63.24 फीसद मरीज ठीक हो गए हैं। कोरोना संक्रमित मृतक संख्या भारत में नित नए आयाम बना रही है,आज 32695 नए मरीज़ तथा 606 मौत हुईं हैं।नया record,परंतु मीडिया को खबरों को ऐसे छापना है ताकि इसमें कुछ अच्छा दिखे,सरकार की तारीफ़ हो सके।शर्म आती है इन अख़बारों को पढ़कर। बिकाऊ था अब LiveHIndia भी गोदी मीडिया

Hindi News Dainik Jagran India News Jagran Epaper - Apps on Google PlayDainik Jagran, India \u0027s 1 Hindi News Group, brings you the latest news in hindi, breaking news in hindi, Hindi news from 400+ local news \u0026 different categories like national, politics, cricket, Tech, business and more. It also contains the latest hindi news state wise like UP News, Bihar News, etc. You can read your favorite Jagran hindi epaper here for free!!\n\nHindi is the key language in India \u0026 Dainik Jagran is the 1 latest news source for Hindi news in India . Dainik Jagran has 37 editions \u0026 covers 11 states of India including UP News, Bihar News, MP, CG, Delhi \u0026 local news. It has also been declared by World Association of Newspapers as the Largest news read daily in the world. With a readership of 5.59 cr, it has been the largest hindi news daily of India for the last consecutive 21 rounds of the India n Readership Survey (IRS).\n\nDainik Jagran latest hindi news app is all you need to get latest hindi news \u0026 breaking news in hindi today. \n\nTop Features of the app: \n\n400+ City \u0026 State News in Hindi: Connect with hometown \u0026 get local news. Dainik Jagran news app brings latest news in hindi from India to your phone. Latest hindi news coverage from 400+ Cities covering politics, local events, crime, business \u0026 more. We cover all hindi news states like, UP News, Bihar News, MP, Delhi, Uttrakhand, Delhi Punjab \n\nIn-depth Coverage: In-depth coverage of news, views \u0026 analysis of top news stories in politics, Business, Tech, World news, Sports \u0026 more. Our analytical stories provide unbiased coverage of all stories, be it Launch of a new mobile phone, general election coverage, latest hindi news in Business, cricket.\n\nTech News (टेक न्यूज़): We provide the latest tech news in Hindi with gadgets review, new launches, product comparison, trending apps, tips to keep your data protected.\n\nBusiness News (बिज़नेस न्यूज): Daily Sensex updates \u0026 latest business news in hindi of all govt policies GST, Tax fi

Coronavirus Vaccine India: देश की दूसरी स्वदेशी कोरोना वैक्सीन का इंसानों पर परीक्षण शुरूCoronavirus Vaccine India देश की दूसरी स्वदेशी कोरोना वैक्सीन ZyCoV-D के इंसानों पर परीक्षण के लिए 1000 लोगों को शामिल किया गया है। इसके लिए देश में कई सेंटर बनाए गए हैं।