Rajasthannews, Rape, The7-Year-Old Girl Was Harassed, The Trial Was Completed İn 30 Days, Poxo Court Will Pronounce The Sentence Today

Rajasthannews, Rape

रेप और हत्या करने वाले मामा को फांसी की सजा: 7 साल की बच्ची से दरिंदगी पर कोर्ट बोली- दोषी को जिंदा नहीं रख सकते

रेप और हत्या करने वाले मामा को फांसी की सजा: 7 साल की बच्ची से दरिंदगी पर कोर्ट ने कहा- दोषी को जिंदा नहीं रख सकते #RajasthanNews #Rape

22-10-2021 20:01:00

रेप और हत्या करने वाले मामा को फांसी की सजा: 7 साल की बच्ची से दरिंदगी पर कोर्ट ने कहा- दोषी को जिंदा नहीं रख सकते RajasthanNews Rape

नागौर के पॉक्सो कोर्ट ने 7 साल की मासूम बच्ची से रेप और हत्या के मामले में उसके मुंहबोले मामा को फांसी की सजा सुनाई है। बच्ची के साथ दरिंदगी के 30 दिन में कोर्ट ने यह फैसला सुना दिया है। | The 7-year-old girl was harassed, the trial was completed in 30 days ; poxo court will pronounce the sentence today

नागौर के पॉक्सो कोर्ट ने 7 साल की मासूम बच्ची से रेप और हत्या के मामले में उसके मुंहबोले मामा को फांसी की सजा सुनाई है। बच्ची के साथ दरिंदगी के 30 दिन में कोर्ट ने यह फैसला सुना दिया है।पॉक्सो विशेष कोर्ट की जज रेखा राठौड़ ने दोषी दिनेश जाट (25) को फांसी की सजा सुनाते हुए टिप्पणी की कि यह क्रूूरतापूर्ण अपराध है और राक्षस की प्रवृत्ति को दर्शाता है। बच्चों को बिना भय व असुरक्षा के समाज में प्रसन्नतापूर्वक जीने का अधिकार है। यदि बच्चे घर और घर के बाहर सुरक्षित नहीं हैं तो यह चिंता का विषय है। बच्चों की रक्षा माता-पिता के लिए चुनौतीपूर्ण काम हो चुका है। दोषी समाज के लिए कलंक है। यदि उसे जिंदा रखा गया तो उसके भविष्य में अपराध करने की आशंका रहेगी और अन्य अपराधियों का मनोबल बढ़ेगा।

लखनऊ में बेरोजगारी के मुद्दे पर छात्र संगठनों ने निकाला मार्च, पुलिस ने NDTV के कैमरे को बंद करने के लिए कहा पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था का संकट और गहराया - BBC Hindi रूस ने अगर यूक्रेन पर हमला किया तो हम चुप नहीं बैठेंगे: अमेरिका - BBC Hindi

विशिष्ट लोक अभियोजक एडवोकेट सुमेर सिंह बेड़ा ने कहा कि जघन्य अपराधों में फांसी की सजा का प्रावधान है। न्यायालय ने इस मामले को भी ऐसा ही प्रकरण माना।इससे पहले गुरुवार को नागौर पॉक्सो विशेष कोर्ट ने 7 साल की मासूम बच्ची से रेप के बाद हत्या के मामले में आरोपी मुंहबोले मामा दिनेश को दोषी करार दिया था। विशिष्ट लोक अभियोजक एडवोकेट सुमेर सिंह बेड़ा ने बताया कि 11 दिन तक रोज सुनवाई चली।

इस दौरान मामले में पीड़िता पक्ष की तरफ से 29 गवाहों के और बचाव पक्ष की तरफ से एक गवाह के बयान करवाए गए थे। इसके अलावा बचाव पक्ष के वकील की डिमांड पर डॉक्टर्स टीम के द्वारा आरोपी की मेंटल कंडीशन की जांच भी करवाई गई।कुत्तों का डर बताकर खेत में ले गया था मुंहबोला मामा headtopics.com

नागौर के पादूकलां थाना क्षेत्र के एक गांव में 20 सितंबर को मुंहबोले मामा दिनेश जाट ने नशे में होने का नाटक किया। उसने कुत्तों से डर की बात कही और 7 साल की बच्ची को घर तक छुड़वाने के लिए साथ ले गया।उसने पास के खेत में खड़ी बाजरे की फसल में ले जाकर मासूम को बिस्किट और कुरकुरे खिलाए। यहां मासूम के साथ रेप किया। पोल खुलने के डर से बच्ची की हत्या कर दी और शव को खेत की कंटीली झाड़ियों में फेंककर भाग गया।

6 दिन में पेश कर दी थी चार्जशीटपादूकलां थाना पुलिस ने घटना के तुरंत बाद ही आरोपी दिनेश को गिरफ्तार कर लिया था। पकड़ में आते ही आरोपी दिनेश ने पूछताछ में अपना जुर्म कबूल लिया। पुलिस ने 21 सितंबर को अपहरण, पॉक्सो, मर्डर और रेप की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की थी।

इसके बाद प्रकरण से जुड़े सभी गवाहों के बयान और दस्तावेज तैयार किए गए। 27 सितंबर को पुलिस ने सभी आरोपों में जुर्म प्रमाणित मान मेड़ता स्थित पॉक्सो कोर्ट में आरोपी दिनेश के खिलाफ चार्जशीट पेश कर दी थी। और पढो: Dainik Bhaskar »

वारदात: तेज हो गई समीर-नवाब की तकरार, क्या है स्कूल सर्टिफिकेट की सच्चाई?

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के मुंबई के जोनल हेड समीर वानखेड़े के बर्थ सर्टिफिकेट और मैरिज सर्टिफिकेट के बाद महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक कथित रूप से उनके ये दो नए सर्टिफिकेट लेकर आए हैं. नवाब मलिक के मुताबिक समीर दादर के सेंट पॉल हाईस्कूल से प्राथमिक शिक्षा ली थी. इस सर्टिफिकेट में समीर वानखेड़े का नाम वानखेड़े समीर दाऊद लिखा है. यहां ये भी लिखा है कि छात्र की जाति और उपजाति तभी बताई जाए जब वो पिछड़े वर्ग, या अनुसूचचित जाति-जनजाति से आए. जबकि धर्म के कॉलम में लिखा है मुस्लिम. इसके बाद समीर वडाला के सेंट जॉसेफ हाईस्कूल में पढने गए. यहां के स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट में समीर का नाम वानखेड़े समीर दाऊद लिखा है. और धर्म के कॉलम में लिखा है मुस्लिम. दरअसल नवाब मलिक समीर वानखेड़े को मुसलमान साबित करने के लिए इसलिए जुटे हैं क्योंकि अगर उनकी बात सही साबित हो गई तो समीर वानखेड़े के नौकरी खतरे में पड़ जाएगी. देखें वीडियो.

अच्छा निर्णय,,, लेकिन मेरे हिसाब से लटकेगा नही,, या कई साल बीत जाएंगे Sir plz help Great….. Thanks Good decision 👍🙏

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद महिला अधिकारियों की बड़ी जीत, 39 को मिला परमानेंट कमीशनपरमानेंट कमीशन मिलने के बाद अब ये महिला अधिकारी सेवानिवृत्ति की उम्र तक भारतीय सेना में अपनी सेवाएं दे सकेंगी। जबकि शॉर्ट सर्विस कमीशन के अंतर्गत महिला अधिकारी सिर्फ 10 साल तक ही अपनी सेवाएं दे सकती हैं।

सीएए विरोधी प्रदर्शन: साकेत कोर्ट ने रद्द की जेएनयू छात्र शरजील इमाम की जमानत याचिकासीएए-एनआरसी के विरोध में हुए प्रदर्शनों के दौरान भड़काऊ भाषण देने के आरोप में जेल में बंद जेएनयू छात्र शरजील इमाम की इन जैसा देशद्रोहियो की जगह जेल ही है । इन्होने हमारे ईमानदार टैक्स देने वाले नागरिको के पैसो पर कालेज मैं पढाई के नाम पर खूब ऐश कर ली । अब जेल ही होगा इनका ठिकाना । Urdu naam hai बड़ी जल्दी दो वर्ष बीत गये।🤣🤣🤣🤣

'सुपरमैन' की फिल्म में कश्मीर को लेकर विवादित टिप्पणी, भड़के भारतीय बोले- अफगानिस्तान को बचा लेतेकॉमिक्स की दुनिया का सबसे लोकप्रिय सितारा सुपरमैन विवादों में है. दरअसल डीसी कॉमिक्स की नई फिल्म इनजस्टिस की एक क्लिप सामने आने के बाद से ही भारतीय ट्विटर यूजर्स काफी भड़क गए हैं. इस एनिमेशन फिल्म में कश्मीर को विवादित क्षेत्र बताया है. इसके बाद से ही एंटी इंडिया सुपरमैन भी ट्विटर पर ट्रेंड होने लगा था.

निहंगों की पेशी की मॉक ड्रिल: कोर्ट परिसर में पुलिस तैनात कर बर्बर हत्या मामले में पेशी की दी सूचना, बैन की मीडिया की एंट्रीसोनीपत कोर्ट परिसर में शुक्रवार को बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर सूचना दी गई कि सिंघु बॉर्डर पर बर्बर हत्या के मामले में आरोपी निहंगों की पेशी है। पुलिस इस दौरान मुस्तैद दिखी और मीडिया की एंट्री बैन कर दी गई। हालांकि यह पेशी से एक दिन पहले रिहर्सल थी। बाद में मीडिया को भी बुलाया गया। शनिवार को हत्या के आरोपी निहंगों को कोर्ट में पेश किया जाएगा। | सोनीपत कोर्ट परिसर में शुक्रवार को भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर सूचना दी गई कि सिंघु बॉर्डर पर बर्बर हत्या के मामले में आरोपी निहंगों की पेशी है। पुलिस इस दौरान मुस्तैद दिखी और मीडिया की एंट्री बैन कर दी गई। आजीवन कारावास की सजा या फाँसी ये समाज में रहने लायक कतई नहीं है

इंजमाम ने भारत को बताया सबसे खतरनाक टीम, विलियम्सन की चोट ने बढ़ाई न्यूजीलैंड की चिंताइंजमाम उल हक ने भारत को बताया प्रबल दावेदार, न्यूजीलैंड के लिए केन विलियम्सन की चोट ने बढ़ाई चिंता InzamamUlHaq TeamIndia KaneWilliamson Injury ViratKohli T20WC2021 IndianCricketTeam INDvsPAK T20WorldCup

सुप्रीम कोर्ट ने आसाराम के बेटे को फर्लो दिए जाने का हाईकोर्ट का फ़ैसला ख़ारिज कियागुजरात हाईकोर्ट ने 24 जून 2021 को आसाराम के बेटे नारायण साई को दो हफ्तों के लिए फर्लो दिया था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने अगस्त में इस पर रोक लगा दी थी, जिसे राज्य ने चुनौती दी थी. सूरत की दो बहनों द्वारा नारायण साई के ख़िलाफ़ दर्ज मामले में अदालत ने 2019 में साई को बलात्कार दोषी ठहराते हुए उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई थी.