राम मंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक दिल्ली में आज, पूजा अधिकार से लेकर स्वर्ण दान का उठेगा मुद्दा

Rammandirtrust, Rammandir, Ram Mandir Trust, Ram Mandir Trust Members, Ram Mandir Trust Members List 2020, Ram Mandir Trust News, Ram Mandir Trust Ayodhya, Ram Mandir Trust Members Name, Ram Mandir Trust Donation, Ram Mandir, राम मंदिर ट्रस्ट, राम मंदिर, India News In Hindi

बुधवार को होने वाली ट्रस्ट की पहली बैठक में क्या होने वाला है? ट्रस्ट का निर्माण कैसे हुआ? कौन-कौन सदस्य हैं? इसकी क्या

Rammandirtrust, Rammandir

2/18/2020

ट्रस्ट का निर्माण कैसे हुआ? कौन-कौन सदस्य हैं? उनकी भूमिका क्या होगी? आइए जानते हैं ऐसे ही सभी सवालों के जवाब। myogiadityanath narendramodi rammandirtrust RamMandir

बुधवार को होने वाली ट्रस्ट की पहली बैठक में क्या होने वाला है? ट्रस्ट का निर्माण कैसे हुआ? कौन-कौन सदस्य हैं? इसकी क्या

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Wed, 19 Feb 2020 12:56 AM IST विज्ञापन राम मंदिर ट्रस्ट के सदस्य - फोटो : Amar Ujala ख़बर सुनें ख़बर सुनें राममंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक बुधवार को नई दिल्ली में होगी। इसमें शामिल होने गए अयोध्या के ट्रस्टियों के पास कई मुद्दे हैं। सबसे बड़ी चुनौती निर्मोही अखाड़े से चुने गए प्रतिनिधि ट्रस्टी दिनेंद्र दास के समक्ष है, उन्हें अखाड़े के छह पंचों को ट्रस्ट में प्रतिनिधित्व देने का मुद्दा उठाना है। साथ ही निर्मोही अखाड़े को पूजा का अधिकार की मांग करनी है, जबकि डीएम समेत अन्य ट्रस्टियों ने रामालय ट्रस्ट की ओर से वाराणसी में राममंदिर के लिए स्वर्णदान लेने पर रोक समेत राममंदिर बनवाने के नाम पर बने अन्य ट्रस्टों की परिसंपत्तियों को फ्रीज करके उपयोग में लेने का मुद्दा भी उठेगा। निर्मोही अखाड़े के महंत दिनेंद्र दास ने बताया कि अपने छह और सदस्यों को शामिल करने व पूजा-पाठ का अधिकार मांगने के लिए प्रस्ताव रखेंगे। बताया कि बैठक में राममंदिर निर्माण की तिथि पर भी चर्चा होनी तय है। ट्रस्टी डॉ. अनिल मिश्र व आफियो ट्रस्टी डीएम अनुज कुमार झा ने रामालट ट्रस्ट की ओर से स्वर्ण दान अभियान के खिलाफ मुद्दा उठाने की बात कही है। दोनों ट्रस्टियों का कहना है कि जब अधिकृत ट्रस्ट गठित हो गया है तो इस बाबत पहले से सक्रिय तीन ट्रस्ट रामालय, श्रीरामजन्मभूमि न्यास, श्रीरामजन्मभूमि मंदिर निर्माण न्यास की ओर से चंदा-दान, सहयोग या संपत्तियां भक्तों से लेने का अधिकार नहीं रह जाता। बुधवार को होने वाली ट्रस्ट की पहली बैठक में क्या होने वाला है? ट्रस्ट का निर्माण कैसे हुआ? कौन-कौन सदस्य हैं? उनकी भूमिका क्या होगी? आइए जानते हैं ऐसे ही सभी सवालों के जवाब। बैठक में राममंदिर के निर्माण की समयसीमा तय की जा सकती है। निर्माण के लिए फंड कैसे जुटाया जाएगा, इसे लेकर भी चर्चा होगी। आम लोगों से निर्माण के लिए फंड कैसे जुटाया जाए, इसे लेकर सदस्य विमर्श करेंगे निर्माण कार्य के दौरान रामलला के लिए सही स्थान के चयन पर भी बातचीत होनी है। ट्रस्ट के विभिन्न पदों के लिए चुनाव भी इसी बैठक में होना है। बैठक में नृत्यगोपाल दास व विश्व हिंदू परिषद के उपाध्यक्ष चंपत राय को ट्रस्ट में शामिल किए जाने पर फैसला लिया जा सकता है। बैठक के बाद ट्रस्ट न्यास बोर्ड के अध्यक्ष और प्रबंध कमेटी का गठन करेगा। कैसे हुआ ट्रस्ट का निर्माण सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल 9 नवंबर को मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट गठित करने के लिए केंद्र सरकार को तीन महीने का समय दिया था। केंद्र सरकार ने समयसीमा खत्म होने से पहले ही 5 फरवरी को ट्रस्ट का गठन कर दिया। कैबिनेट की बैठक में एक स्वायत्त ट्रस्ट बनाने का प्रस्ताव पारित हुआ। श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के गठन के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद संसद को इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 67.03 एकड़ भूमि इस ट्रस्ट को दे दी जाएगी और सुप्रीम कोर्ट के निर्देशन में राम मंदिर का निर्माण होगा। गठन को लेकर हुआ विवाद ट्रस्ट में सदस्यों के नामों को लेकर भी विवाद हुआ। कई संतों व अखाड़ों ने केंद्र सरकार की सूची पर सवाल उठाए। दिगंबर अखाड़े के महंत सुरेश दास ने इसे संत समाज का अपमान बताया। रामजन्मभूमि न्यास के प्रमुख महंत नृत्यगोपाल दास ने भी सूची पर आपत्ति जताई। राम विलास वेदांती का नाम भी इस सूची से लापता मिला। मंदिर ट्रस्ट में कितने सदस्य केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचित इस ट्रस्ट का आधिकारिक कार्यालय ग्रेटर कैलाश में बनाया गया है, जो एडवोकेट के परासरन का दफ्तर भी है। श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट में कुल 15 सदस्य हैं, जिनमें 9 स्थायी और 6 नॉमिनेटेड सदस्य हैं। केंद्र सरकार ने अभी 12 सदस्यों के नामों की घोषणा की है। ये हैं मंदिर ट्रस्ट के सदस्य स्थायी सदस्य के परासरन : सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील के. परासरन ट्रस्ट के अध्यक्ष होंगे। उन्होंने रामलला विराजमान की ओर से अयोध्या मामले में लंबे समय तक पैरवी की। डॉ. अनिल कुमार मिश्र : पेशे से होम्योपैथी डॉक्टर अनिल राम मंदिर आंदोलन के दौरान विनय कटियार के साथ जुड़े थे। विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र : अयोध्या राज परिवार के वंशज व समाजसेवी। कामेश्वर चौपाल : 1989 के राम मंदिर आंदोलन के समय हुए शिलान्यास में अनुसूचित जाति के कामेश्वर ने ही राम मंदिर की पहली ईंट रखी थी। महंत दिनेंद्र दास : राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद में पक्षकार और निर्मोही अखाड़ा की अयोध्या बैठक के प्रमुख। जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती जी महाराज : इनके शंकराचार्य बनाए जाने पर विवाद भी हुआ। जगतगुरु माधवाचार्य स्वामी विश्व प्रसन्नतीर्थ जी महाराज : कर्नाटक के उडुपी स्थित पेजावर मठ के 33वें पीठाधीश्वर। युगपुरुष परमानंद जी महाराज : अखंड आश्रम हरिद्वार के प्रमुख। 2000 में संयुक्त राष्ट्र में आध्यात्मिक नेताओं के शिखर सम्मेलन को भी संबोधित किया था। स्वामी गोविंद देव गिरि जी महाराज: आध्यात्मिक गुरु पांडुरंग शास्त्री अठावले के शिष्य हैं। ये भी होंगे ट्रस्ट में बोर्ड ऑफ ट्रस्टी द्वारा नामित दो सदस्य, दोनों हिंदू धर्म से होंगे। केंद्र सरकार द्वारा नामित एक हिंदू धर्म का प्रतिनिधि जो केंद्र के अंतर्गत आईएएस अधिकारी होगा। राज्य सरकार द्वारा नामित एक हिंदू धर्म का प्रतिनिधि जो यूपी सरकार के अंतर्गत आईएएस अधिकारी होगा। अयोध्या के जिलाधिकारी ट्रस्टी होंगे। वह हिंदू धर्म को मानने वाले होंगे। अगर किसी कारण से मौजूदा कलेक्टर हिंदू धर्म के नहीं हैं, तो अयोध्या के एडिशनल कलेक्टर (हिंदू धर्म) सदस्य होंगे। भूमिका और जिम्मेदारियां राममंदिर निर्माण की पूरी प्रक्रिया इसी ट्रस्ट की देखरेख में पूरी होगी। मंदिर निर्माण कब शुरू होना है और कब तक इसका निर्माण पूरा होना है, यह जिम्मेदारी ट्रस्ट की होगी। मंदिर निर्माण के लिए मिलने वाले दान को पारदर्शी रखना और उसका सही इस्तेमाल भी ट्रस्ट को ही करना होगा। राममंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक बुधवार को नई दिल्ली में होगी। इसमें शामिल होने गए अयोध्या के ट्रस्टियों के पास कई मुद्दे हैं। सबसे बड़ी चुनौती निर्मोही अखाड़े से चुने गए प्रतिनिधि ट्रस्टी दिनेंद्र दास के समक्ष है, उन्हें अखाड़े के छह पंचों को ट्रस्ट में प्रतिनिधित्व देने का मुद्दा उठाना है। विज्ञापन साथ ही निर्मोही अखाड़े को पूजा का अधिकार की मांग करनी है, जबकि डीएम समेत अन्य ट्रस्टियों ने रामालय ट्रस्ट की ओर से वाराणसी में राममंदिर के लिए स्वर्णदान लेने पर रोक समेत राममंदिर बनवाने के नाम पर बने अन्य ट्रस्टों की परिसंपत्तियों को फ्रीज करके उपयोग में लेने का मुद्दा भी उठेगा। निर्मोही अखाड़े के महंत दिनेंद्र दास ने बताया कि अपने छह और सदस्यों को शामिल करने व पूजा-पाठ का अधिकार मांगने के लिए प्रस्ताव रखेंगे। बताया कि बैठक में राममंदिर निर्माण की तिथि पर भी चर्चा होनी तय है। ट्रस्टी डॉ. अनिल मिश्र व आफियो ट्रस्टी डीएम अनुज कुमार झा ने रामालट ट्रस्ट की ओर से स्वर्ण दान अभियान के खिलाफ मुद्दा उठाने की बात कही है। दोनों ट्रस्टियों का कहना है कि जब अधिकृत ट्रस्ट गठित हो गया है तो इस बाबत पहले से सक्रिय तीन ट्रस्ट रामालय, श्रीरामजन्मभूमि न्यास, श्रीरामजन्मभूमि मंदिर निर्माण न्यास की ओर से चंदा-दान, सहयोग या संपत्तियां भक्तों से लेने का अधिकार नहीं रह जाता। बुधवार को होने वाली ट्रस्ट की पहली बैठक में क्या होने वाला है? ट्रस्ट का निर्माण कैसे हुआ? कौन-कौन सदस्य हैं? उनकी भूमिका क्या होगी? आइए जानते हैं ऐसे ही सभी सवालों के जवाब। क्या होगा पहली बैठक में.. बैठक में राममंदिर के निर्माण की समयसीमा तय की जा सकती है। निर्माण के लिए फंड कैसे जुटाया जाएगा, इसे लेकर भी चर्चा होगी। आम लोगों से निर्माण के लिए फंड कैसे जुटाया जाए, इसे लेकर सदस्य विमर्श करेंगे निर्माण कार्य के दौरान रामलला के लिए सही स्थान के चयन पर भी बातचीत होनी है। ट्रस्ट के विभिन्न पदों के लिए चुनाव भी इसी बैठक में होना है। बैठक में नृत्यगोपाल दास व विश्व हिंदू परिषद के उपाध्यक्ष चंपत राय को ट्रस्ट में शामिल किए जाने पर फैसला लिया जा सकता है। बैठक के बाद ट्रस्ट न्यास बोर्ड के अध्यक्ष और प्रबंध कमेटी का गठन करेगा। कैसे हुआ ट्रस्ट का निर्माण सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल 9 नवंबर को मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट गठित करने के लिए केंद्र सरकार को तीन महीने का समय दिया था। केंद्र सरकार ने समयसीमा खत्म होने से पहले ही 5 फरवरी को ट्रस्ट का गठन कर दिया। कैबिनेट की बैठक में एक स्वायत्त ट्रस्ट बनाने का प्रस्ताव पारित हुआ। श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के गठन के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद संसद को इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 67.03 एकड़ भूमि इस ट्रस्ट को दे दी जाएगी और सुप्रीम कोर्ट के निर्देशन में राम मंदिर का निर्माण होगा। गठन को लेकर हुआ विवाद ट्रस्ट में सदस्यों के नामों को लेकर भी विवाद हुआ। कई संतों व अखाड़ों ने केंद्र सरकार की सूची पर सवाल उठाए। दिगंबर अखाड़े के महंत सुरेश दास ने इसे संत समाज का अपमान बताया। रामजन्मभूमि न्यास के प्रमुख महंत नृत्यगोपाल दास ने भी सूची पर आपत्ति जताई। राम विलास वेदांती का नाम भी इस सूची से लापता मिला। मंदिर ट्रस्ट में कितने सदस्य केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचित इस ट्रस्ट का आधिकारिक कार्यालय ग्रेटर कैलाश में बनाया गया है, जो एडवोकेट के परासरन का दफ्तर भी है। श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट में कुल 15 सदस्य हैं, जिनमें 9 स्थायी और 6 नॉमिनेटेड सदस्य हैं। केंद्र सरकार ने अभी 12 सदस्यों के नामों की घोषणा की है। ये हैं मंदिर ट्रस्ट के सदस्य स्थायी सदस्य के परासरन : सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील के. परासरन ट्रस्ट के अध्यक्ष होंगे। उन्होंने रामलला विराजमान की ओर से अयोध्या मामले में लंबे समय तक पैरवी की। डॉ. अनिल कुमार मिश्र : पेशे से होम्योपैथी डॉक्टर अनिल राम मंदिर आंदोलन के दौरान विनय कटियार के साथ जुड़े थे। विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र : अयोध्या राज परिवार के वंशज व समाजसेवी। कामेश्वर चौपाल : 1989 के राम मंदिर आंदोलन के समय हुए शिलान्यास में अनुसूचित जाति के कामेश्वर ने ही राम मंदिर की पहली ईंट रखी थी। महंत दिनेंद्र दास : राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद में पक्षकार और निर्मोही अखाड़ा की अयोध्या बैठक के प्रमुख। जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती जी महाराज : इनके शंकराचार्य बनाए जाने पर विवाद भी हुआ। जगतगुरु माधवाचार्य स्वामी विश्व प्रसन्नतीर्थ जी महाराज : कर्नाटक के उडुपी स्थित पेजावर मठ के 33वें पीठाधीश्वर। युगपुरुष परमानंद जी महाराज : अखंड आश्रम हरिद्वार के प्रमुख। 2000 में संयुक्त राष्ट्र में आध्यात्मिक नेताओं के शिखर सम्मेलन को भी संबोधित किया था। स्वामी गोविंद देव गिरि जी महाराज: आध्यात्मिक गुरु पांडुरंग शास्त्री अठावले के शिष्य हैं। ये भी होंगे ट्रस्ट में बोर्ड ऑफ ट्रस्टी द्वारा नामित दो सदस्य, दोनों हिंदू धर्म से होंगे। केंद्र सरकार द्वारा नामित एक हिंदू धर्म का प्रतिनिधि जो केंद्र के अंतर्गत आईएएस अधिकारी होगा। राज्य सरकार द्वारा नामित एक हिंदू धर्म का प्रतिनिधि जो यूपी सरकार के अंतर्गत आईएएस अधिकारी होगा। अयोध्या के जिलाधिकारी ट्रस्टी होंगे। वह हिंदू धर्म को मानने वाले होंगे। अगर किसी कारण से मौजूदा कलेक्टर हिंदू धर्म के नहीं हैं, तो अयोध्या के एडिशनल कलेक्टर (हिंदू धर्म) सदस्य होंगे। भूमिका और जिम्मेदारियां राममंदिर निर्माण की पूरी प्रक्रिया इसी ट्रस्ट की देखरेख में पूरी होगी। मंदिर निर्माण कब शुरू होना है और कब तक इसका निर्माण पूरा होना है, यह जिम्मेदारी ट्रस्ट की होगी। मंदिर निर्माण के लिए मिलने वाले दान को पारदर्शी रखना और उसका सही इस्तेमाल भी ट्रस्ट को ही करना होगा। विज्ञापन क्या होगा पहली बैठक में.. विज्ञापन और पढो: Amar Ujala

कोरोना वायरस: इटली में 10 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत- LIVE - BBC Hindi



कोरोना वायरस: दुनिया भर में 30 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत- LIVE - BBC Hindi

दिल्ली में कोरोना के खतरे के बीच हजारों की संख्या में लोग पहुंचे बस अड्डे, विपक्षी नेताओं ने सरकार पर बोला हमला



कोरोना से लड़ाई के लिए बच्चों ने तोड़ दी अपनी गुल्लक, Video देख खुद को भावुक होने से रोक नहीं पाएंगे

Coronavirus Lockdown: आज सुबह भी आनंद विहार बस स्टेशन पर भीड़, देश में संक्रमित मरीजों की संख्या 900 के पार,10 बड़ी बातें



Coronavirus UP News: अपने गांवों की तरफ लौट रहे 1.5 लाख लोगों को पहले क्वारंटाइन सेंटर में बिताने होंगे दिन, CM योगी ने दिए आदेश

लॉकडाउन में होम डिलीवरी के बाद नोएडा प्रशासन ने तय की फल और सब्जियों की कीमत



राम मंदिर निर्माण की तारीख पर हो सकता है फैसला, ट्रस्ट की पहली अहम बैठक कलइस बैठक का मुख्य एजेंडा मंदिर निर्माण की तिथि और तौर-तरीकों के साथ-साथ नए 2 सदस्यों का चुनाव होगा. साथ ही मंदिर निर्माण के लिए चंदा लेने का स्वरूप क्या हो इस पर भी चर्चा की जाएगी. mewatisanjoo abhishek6164 राष्ट्रीय एकात्मता का दर्शन हो ! मनु (आदम) के वंश में इक्ष्वाकु जन्में। इक्ष्वाकु के रघुकुल में श्रीराम, लिच्छवी कुल में महात्मा बुद्ध, चार तीर्थंकर और श्रीराम पुत्रों के वंश में श्रीगुरु नानकदेव-श्रीगुरु गोबिंदसिंह जी जन्में। रामायण रचयिता महर्षि वाल्मीकि, गोस्वामी तुलसीदास हो !

राम मंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक कल, जानें इसके बारे में सब कुछबुधवार को होने वाली ट्रस्ट की पहली बैठक में क्या होने वाला है? ट्रस्ट का निर्माण कैसे हुआ? कौन-कौन सदस्य हैं? इसकी क्या आज के समय मे ऐसे बाबाओं की जरूरत नहीं जो अपने देश और धर्म के लिए सड़कों पर नहीं उतर सकतें। इनको केवल ट्रस्ट से मतलब है। UPGovt CMOfficeUP myogioffice सर्, विनती है आप से कि UP में जितने भी प्रसिद्ध मंदिर हैं उनके चढ़ावों पर कड़ी नजर रखा जाय एवं उसकी सही जांच होती रहे। जय श्री राम🙏🙏🚩🚩 सारी बातें ठीक है, पर ये ट्रस्ट व मंदिर सरकार के टैक्स कलेक्शन क्राइटेरिया में नहीं आना चाहिए भक्तजन पैसा दिल खोल के देंगे पर सरकारे यही पैसा कर सब्सिडी/मस्जिद/चर्च के नाम पे बाटेंगी narendramodi PMOIndia myogioffice myogiadityanath RamMandirTrust RamMandir Ayodhya

राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की पहली बैठक कल, मंदिर निर्माण के मुहूर्त और रूपरेखा पर चर्चा होगीट्रस्ट की यह बैठक दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में हिंदू पक्ष के वकील रहे के. पारासरन के घर होगी आम लोगों से लिए जाने वाले चंदे पर भी विचार संभव, ताकि भविष्य में कोई विवाद न हो | Ayodhya Ram Mandir Trust | Shri Ram Janmabhoomi Teerth Kshetra Trust Meeting Tomorrow Latest News and Updaets GyPrajapati1993 રામ રામ 🕉😇👏

'श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट' की पहली बैठक में महंत नृत्य गोपाल दास भी होंगे शामिलअयोध्या. नवगठित राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट (Ram Janmabhoomi Tirtha Kshetra Trust) की पहली बैठक में शामिल होने के लिए श्री राम जन्मभूमि (Shri Ram Janmabhoomi) और श्री कृष्ण जन्मभूमि न्यास (Shri Krishna Janmabhoomi Trust) अध्यक्ष मणिरामदास छावनी के महंत नृत्य गोपाल दास निर्मोही अखाड़ा (Nirmohi Akhada) के महंत दिनेंद्र दास मंगलवार को दिल्ली के लिए रवाना हो गए. नवगठित श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र की पहली बैठक बुधवार को दिल्ली में आयोजित होनी है. | uttar-pradesh News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी जय जय श्री राम ।

उद्धव सरकार पर मंडराया संकट, नाराज शरद पवार ने बुलाई NCP मंत्रियों की बैठकशरद पवार ने को सोमवार को नासिक दौरे पर जाना था लेकिन उन्होंने दौरा रद्द कर अपने घर पर मंत्रियों की बैठक बुला ली. PawarSpeaks हाहाहाहाहा बैचारे कैंसर परेशान हैं। PawarSpeaks शुभ संकेत है शिवसेना के लिए अभी भी समय बचा हुआ है जनता में अपना विश्वास बचा कर रखने का। PawarSpeaks Ncp ka asli chehra shiv sena ki samajh mai nahi ayega.

जीएसटी बिल्डिंग में लगी भीषण आग, NCP की बैठक छोड़कर पहुंचे अजित पवारप्राप्त जानकारी के मुताबिक, इमारत में फंसे लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल गया है. आग पर काबू पाने के लिए दमकल की चार गाड़ियां मौके पर जुटी हैं. | maharashtra News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी sarkaar me NCP aur CONGRESS bhi hai to ye to hote rahega *याद रहे दुनिया में* *इस्लाम* फैला है क्रूरता से! *ईसाइ* फैलें हैं धूर्तता से! जबकि *हिन्दुत्व* खत्म हो रहा है अपनी ही मूर्खता से!



दिल्ली-एनसीआर से उत्तर प्रदेश आने वाले लोगों के लिए यूपी सरकार ने किया 200 बसों का इंतजाम

कोरोना वायरस: ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन संक्रमित- LIVE - BBC Hindi

नीतीश कुमार ने NDTV से कहा- लोगों को बसों में भेजना एक गलत कदम, बीमारी फैलने से रोकना मुश्किल हो जाएगा

कोरोनावायरस से लड़ने के लिए अमेरिका ने किया भारत को 29 लाख डॉलर की मदद का ऐलान

कोरोनावायरस का नया टेस्ट : अब 2 दिन नहीं, सिर्फ 5 मिनट में हो सकेगी कोविड-19 की पुष्टि

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी हुए कोरोना के श‍िकार, पॉज‍िटिव आई टेस्ट र‍िपोर्ट

कोरोना को ग़रीबों ने नहीं, अमीरों ने फैलाया

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

18 फरवरी 2020, मंगलवार समाचार

पिछली खबर

प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार पर बोला हमला तो सुशील मोदी ने दे डाली नसीहत, पूछे इन सवालों के जवाब...

अगली खबर

वोटर आईडी को आधार से जोड़ने की दिशा में बढ़ी बात, फर्जी हलफनामा देने वालों की सदस्यता रद करने की सिफारिश
कोरोना वायरस: इटली में 10 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत- LIVE - BBC Hindi कोरोना वायरस: दुनिया भर में 30 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत- LIVE - BBC Hindi दिल्ली में कोरोना के खतरे के बीच हजारों की संख्या में लोग पहुंचे बस अड्डे, विपक्षी नेताओं ने सरकार पर बोला हमला कोरोना से लड़ाई के लिए बच्चों ने तोड़ दी अपनी गुल्लक, Video देख खुद को भावुक होने से रोक नहीं पाएंगे Coronavirus Lockdown: आज सुबह भी आनंद विहार बस स्टेशन पर भीड़, देश में संक्रमित मरीजों की संख्या 900 के पार,10 बड़ी बातें Coronavirus UP News: अपने गांवों की तरफ लौट रहे 1.5 लाख लोगों को पहले क्वारंटाइन सेंटर में बिताने होंगे दिन, CM योगी ने दिए आदेश लॉकडाउन में होम डिलीवरी के बाद नोएडा प्रशासन ने तय की फल और सब्जियों की कीमत कोरोना के बीच सियासी हमले शुरू, सिसोदिया ने BJP पर टुच्ची राजनीति का आरोप लगाया कोरोना वायरस: जब Twinkle ने पूछा, 'क्या सच में 25 करोड़ रुपये देने जा रहे हैं', तो Akshay ने दिया ये जवाब कोरोना से जंग के लिए पीएम ने बनाया फंड, देशवासियों से की अंशदान की अपील Corona Virus के चलते 11,000 कैदियों को पैरोल पर रिहा करेगी UP सरकार यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को सता रहा कोरोना का डर, अमर उजाला से साझा किया दर्द
दिल्ली-एनसीआर से उत्तर प्रदेश आने वाले लोगों के लिए यूपी सरकार ने किया 200 बसों का इंतजाम कोरोना वायरस: ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन संक्रमित- LIVE - BBC Hindi नीतीश कुमार ने NDTV से कहा- लोगों को बसों में भेजना एक गलत कदम, बीमारी फैलने से रोकना मुश्किल हो जाएगा कोरोनावायरस से लड़ने के लिए अमेरिका ने किया भारत को 29 लाख डॉलर की मदद का ऐलान कोरोनावायरस का नया टेस्ट : अब 2 दिन नहीं, सिर्फ 5 मिनट में हो सकेगी कोविड-19 की पुष्टि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी हुए कोरोना के श‍िकार, पॉज‍िटिव आई टेस्ट र‍िपोर्ट कोरोना को ग़रीबों ने नहीं, अमीरों ने फैलाया कोरोना वायरस: मोदी सरकार की घोषणाएं ऊंट के मुंह में ज़ीरे समान- नज़रिया कोरोनावायस से जंग लड़ने के लिए करीब 5,900 करोड़ रुपये की मदद देगी गूगल, CEO सुंदर पिचाई ने किया ये ट्वीट कोरोनावायरस का नया टेस्ट विकसित : अब दो दिन नहीं, सिर्फ ढाई घंटे में होगी COVID-19 की पुष्टि कोरोना वायरस: दक्षिण कोरिया ने जो किया वो दुनिया के लिए मिसाल कोरोना से जंग: धोनी का योगदान 1 लाख, फैंस भड़के- ये कैसा दान?