राज ठाकरे ने भी बेटे को उतारा सियासत में

राज ठाकरे ने बेटे अमित ठाकरे को राजनीति में उतारा

23.1.2020

राज ठाकरे ने बेटे अमित ठाकरे को राजनीति में उतारा

राज ठाकरे ने अपने बेटे अमित को क्या आदित्य ठाकरे को चुनौती देने के लिए मैदान में उतारा है?

ये एक्सटर्नल लिंक हैं जो एक नए विंडो में खुलेंगे शेयर पैनल को बंद करें इमेज कॉपीरइट Twitter@mnsadhikrut राज ठाकरे ने नेतृत्व वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने पार्टी के पहले महाधिवेशन में गुरूवार को पार्टी का नया झंडा लॉन्च किया. इसके साथ ही राज ठाकरे ने अपने बेटे अमित ठाकरे को राजनीति के मैदान में उतार दिया है. ऐसी अटकलें थी कि मनसे के महाधिवेशन से अमित ठाकरे औपचारिक रूप से सक्रिय राजनीति में आ सकते हैं. गुरूवार को यह अनुमान सही साबित हुआ. अमित ठाकरे ने औपचारिक तौर पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. नेता के रूप में लॉन्च किए जाने के बाद, महाधिवेशन में अमित ठाकरे ने शिक्षा का एक संकल्प पेश किया. महाधिवेशन में यह भी घोषणा की गई कि यह शिक्षा सम्मेलन अमित ठाकरे के नेतृत्व में आयोजित किया जाएगा. मनसे के पुराने झंडे को बदल दिया गया है और झंडे को पूरी तरह भगवा रंग में रंग दिया गया है. इससे पहले इसमें पांच रंग थे. पार्टी की ओर से जारी किए गए झंडे में शिवाजी महाराज के शासनकाल की मुद्रा प्रिंट है. झंडे पर संस्कृत में श्लोक लिखा गया है. अमित ठाकरे को राजनीति के मैदान में उतारने और पार्टी का नया झंडा लॉन्च करने के बाद ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि क्या मनसे, शिव सेना के आक्रामक हिन्दुत्व के मुद्दे को हथियाने की दिशा में आगे बढ़ रही है? साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि क्या मनसे अमित ठाकरे के जरिए आदित्य ठाकरे के ज़रिए युवा मतदाताओं को आकर्षित करने की शिव​सेना के योजनाओं को चुनौती देने की कोशिश करेगी? इमेज कॉपीरइट क्या आदित्य ठाकरे को चुनौती देंगे अमित ? अमित ठाकरे को सक्रिय राजनीति में लेकर आने के फ़ैसले को सीधे तौर पर आदित्य ठाकरे को चुनौती देने से जोड़कर देखा जा रहा है. अमित, ठाकरे परिवार की तीसरी पीढ़ी से हैं जिन्होंने अब राजनीति में क़दम रखा है. ऐसा माना जा रहा है पार्टी को युवाओं के बीच लोकप्रिय बनाने के लिए अमित को पार्टी में सक्रिय तौर पर लाया गया है. एक ओर जहाँ शिव सेना हिंदुत्व के मुद्दे से दूर जाती दिखाई दे रही है, वहीं राज ठाकरे हिंदुत्व की इस खाली जगह को भरना चाहते हैं. शिव सेना में आदित्य ठाकरे युवा चेहरा हैं और मनसे उसी तर्ज पर अमित को पार्टी में शामिल करना चाहती थी. हालांकि यह एक महज़ इत्तेफ़ाक नहीं है. जानकार मानते हैं कि पार्टी एक लंबे समय से अमित ठाकरे को सक्रिय तौर पर लॉन्च करने की तैयारी कर रही थी. मनसे नेता संदीप देशपांडे के मुताबिक़ काफ़ी दिनों से मनसे कार्यकर्ता और समर्थको की मांग थी कि अमित ठाकरे को पार्टी में कोई बड़ी ज़िम्मेदारी दी जाए. हालांकि, इस पर अंतिम फ़ैसला राज ठाकरे को ही करना था. वैसे अमित ठाकरे इससे पहले कई बार अपने पिता राज ठाकरे के साथ कई राजनैतिक मंचों पर दिखाई दिये थे. वह कई बार कार्यकर्ताओं के साथ भी चर्चाओं में शामिल रहे हैं. संदीप ठाकरे का कहना है कि अमित ठाकरे राजनीति में बहुत पहले ही आ गए थे. वो लोगों के बीच काफ़ी लोकप्रिय हैं. उनकी छवि काफ़ी अच्छी है. पार्टी की कई अहम बैठकों में वो शामिल रहे हैं. वो कहते हैं,"समय की किल्लत की वजह से कई बार जब राज ठाकरे कहीं नहीं पहुंच पाते हैं तो वहां अमित ठाकरे की मौजूदगी लोगों में जोश भरने का काम करती है. इसलिए हमें पूरी उम्मीद थी कि इस महाधिवेशन में राज ठाकरे, अमित ठाकरे को कोई बड़ी ज़िम्मेदारी ज़रूर देंगे." इमेज कॉपीरइट FACEBBOK/AMIT THACKERAY व्यक्तिगत जीवन अमित ठाकरे की शादी 2019 में हुई. उनके विवाह की काफ़ी चर्चा हुई, जिसमें कई राजनीतिक हस्तियों ने हिस्सा लिया था. फ़िलहाल अमित ठाकरे के पास कोई पद नहीं है लेकिन वो पार्टी की कई बैठकों और आंदोलनों में शामिल रहे हैं. जिस दिन अमित ठाकरे के चाचा, उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले रहे थे, उसी दिन अमित ठाकरे नवी मुंबई में मज़दूर आंदोलन में शामिल थे. इससे पहले रेलवे कर्मियों की कुछ मांगों को लेकर वे रेलवे अधिकारियों के पास भी गए थे. ईवीएम मामले के संबंध में जब राज ठाकरे, ममता बनर्जी से मिले थे तब अमित ठाकरे भी उनके साथ थे. हालांकि, पिछले कुछ सालों से अमित ठाकरे को सक्रिय राजनीति के लिए तैयार किया जा रहा था. राज ठाकरे को जब प्रवर्तन निदेशालय ने पूछताछ के लिए बुलाया गया था तब अमित ठाकरे पूरे वक़्त ईडी ऑफ़िस के बाहर ही मौजूद थे. इमेज कॉपीरइट FACEBBOK/AMIT THACKERAY अमित ठाकरे के सामने चुनौतियाँ भी कम नहीं अमित ठाकरे के सामने सबसे बड़ी और पहली चुनौती तो यही होगी कि उन्हें मनसे की डूबती नैया को पार लगाना है. 2009 में 13 विधायकों वाली पार्टी की संख्या सिमटकर अब एक रह गई है. साल 2019 में तो पार्टी चुनाव में ही नहीं उतरी. ऐसे में ज़मीनी स्तर पर काम करने की ज़रूरत है ताकि पार्टी का पुर्नगठन किया जा सके. विधानसभा चुनावों में पार्टी ने कई नीतियों में बदलाव किया. पार्टी ने खुलकर बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना की लेकिन अब एक बार फिर पार्टी बीजेपी की ओर जाती नज़र आ रही है. बीते विधानसभा चुनाव में शिव सेना ने कांग्रेस-राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के साथ मिलकर गठबंधन किया लेकिन मनसे इससे दूर रही. ऐसे में अब क़यास ये लगाए जा रहे हैं कि मनसे हिंदुत्व के मुद्दे को भुनाने की कोशिश करेगी क्योंकि शिवसेना का रुख़ इसे लेकर नरम है. इमेज कॉपीरइट ANI तुलना होना लाज़मी है अमित ठाकरे के राजनीति में आने पर निश्चित तौर पर आदित्य ठाकरे से उनकी तुलना की ही जाएगी. हालांकि अमित ठाकरे को अब तक किसी बड़े मंच से किसी ने सुना नहीं है. उनके चचेरे भाई आदित्य ठाकरे, ठाकरे परिवार से चुनाव लड़ने वाले तीसरी पीढ़ी के पहले ठाकरे हैं और मौजूदा समय में मंत्रिमंडल में मंत्री भी हैं. आदित्य ठाकरे आक्रामक नहीं हैं लेकिन उनकी अपनी स्टाइल है. वो राजनीति में बतौर युवा नेता सक्रिय रहे हैं और उन्होंने कई सारी ज़िम्मेदारियां भी संभाली हैं. बीजेपी से गठबंधन तोड़ना और महाविकास आघाड़ी दल में शामिल होना, इन दोनो बड़े फ़ैसलों के समय आदित्य पिता के साथ खड़े रहे. उन्होंने अपनी एक राह चुनी और चुनाव भी लड़ा और अब अमित को भी इसी आधार पर आंका जाएगा. राजनीतिक पत्रकार धवल कुलकर्णी कहते हैं,"अमित ठाकरे को मनसे पार्टी में लॉन्च करने के लिए काफ़ी दिनों से विचार किया जा रहा था. आदित्य ठाकरे के मंत्री बनने से पहले ही यह होना था लेकिन इसमें इतना समय क्यों लगा यह राज़ है." कुलकर्णी आगे कहते हैं कि ठाकरे नाम का करिश्मा तो है ही, दूसरी ओर आज मनसे को ज़रूरत है, ज़मीन से जुड़े और गाँव की ज़रूरतों को समझने वाले नेतृत्व की. एक तरफ़ जहाँ अमित ठाकरे की तुलना उन्हीं के भाई से होगी वहीं दूसरी तरफ़ राजनीति अमित को विरासत में मिली है. अमित एक अच्छे चित्रकार हैं और फुटबॉल का भी शौक रखते हैं. ये भी पढ़ेंः और पढो: BBC News Hindi

अब्दुल्ला और मुफ़्ती की रिहाई की दुआ करता हूं: राजनाथ सिंह



दिल्ली के जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास 200 से ज्यादा महिलाओं ने जाम की सड़क, भीम आर्मी के 'भारत बंद' का दिया हवाला

सीएए विरोधी जनांदोलन से पैदा हो रहे गीत और कविताएं प्रतिरोध की नई इबारत लिख रहे हैं



PM नरेंद्र मोदी के 'लिट्टी चोखा' खाने पर कन्हैया कुमार बोले- बिहारियों को नहीं दे सकते धोखा

बवाल बढ़ने पर बोले AIMIM के वारिस पठान, वापस लेता हूं अपनी बात



नेहरू के बहाने बीजेपी पर तंज, मनमोहन सिंह बोले- राष्‍ट्रवाद के नाम पर उग्रवाद फैला रहे

दिल्ली के जाफ़राबाद इलाके में भारी सुरक्षा बल तैनात



Ye nahi chalega 😂 राज साहेब बच्चे को ला रहे हो परीक्षा लो, अगर कुछ है तो ठीक है, वरना हटाने की हिम्मत रखो परिवार वाद से बचो सोनिया वाली गलती मत करो Family business... सब से अच्छा धंधा राजनीति रातों रात अमीर एक और युवराज। स्वागत । एक और बैलास्टिक लॉन्च हुआ या फिर अलग विचारधारा होगा ये राजनीति में आ रहे हैं, कि युद्ध लड़ने।

गुड Par sawaal hai ki maharastra pe ye attyachar kyu! सही खेल गये राज ठाकरे जी। कुछ लोग चार, पांच साल से भारत में डर-डर कर जी रहे हैं। पर भारत छोड़ कर कहीं गये नहीं अभी तक🙄🙄

राज ठाकरे ने बेटे अमित को सक्रिय राजनीति में उतारा, पार्टी का नया झंडा लॉन्चबाला साहब ठाकरे की जयंती (23 जनवरी) पर राज ठाकरे की मनसे ने मुंबई में महाधिवेशन बुलाया मुंबई के डीजी रुपारेल कॉलेज से अमित कॉमर्स से ग्रेजुएट हैं, फेसबुक पर काफी सक्रिय रहते हैं | raj thackeray mahadhiveshan news and update Today, Raj Thackeray will launch new flag of Maharashtra Navnirman Sena mnsadhikrut RajThackeray सबको अपनी एक दिशा निर्धारित करनी होती है ।राज ठाकरे कर रहे हैं। जबहिन्दूत्व ,सावरकर और शिवा छोडऩे पर एक फोटोग्राफर बेटा और पार्टटाइम नेता ,मुख्यमंत्री और उसका बेटा मंत्री बन सकता है तो फुलटाइम हिन्दूत्व की राजनीति करनेवाला भतीजा क्यों नहीं।फिर उसका बेटा भी क्यों नहीं।

Especially Amit Shah will fainanse Mansa or Amit Thackeray hindutvaRajniti bagal wala ahshe reaction de raha he ki koyi tir mar liya usne

उद्धव ठाकरे ने की 200 मुस्लिम नेताओं से मुलाकात, बोले-'किसी को नहीं छोड़ना पड़ेगा देश'रजा अकादमी के महासचिव सईद नूरी ने महाराष्ट्र सीएम से मिलने के बाद कहा कि, 'हम मुख्यमंत्री से मिले और सीएए - एनआरसी के बारे में अपनी आशंका व्यक्त की। हालांकि उन्होंने हमें बताया कि हम इस देश के नागरिक हैं और किसी को भी हमारी नागरिकता छीनने का अधिकार नहीं है। उन्होंने आश्वासन दिया कि किसी को भी देश नहीं छोड़ना पड़ेगा।'

राज ठाकरे से बीजेपी की बढ़ रही नजदीकियां, महीनेभर में दो बड़े नेताओं संग हुई मीटिंगएमएनएस फिलहाल राजनीति में कुछ खास पहचान नहीं बना पाई है ऐसे में बीजेपी के साथ मिलकर एक एजेंडे पर काम करना उसे भविष्य में फायदा दे सकता है। राज ठाकरे ही बाला साहब ठाकरे के वास्तविक वारिस थे, शिवसेना तो सत्ता के लिये शिवाजी, सावरकर को छोड़ मुस्लिम पार्टी के पीछलग्गू बन गये है? पाकिस्तान हरामियो को बसाने की साजिश कर रहे है । राज ठाकरे बीजेपी की हिन्दूत्व वाद के लिये सही हैं। OfficeofUT BJP4India unitedhindu

राज ठाकरे ने अपने बेटे अमित को भी राजनीति में उतारा, पार्टी के झंडे को भगवा रंग में रंगाMNS के नए झंड़े को पूरी तरह भगवा रंग में रंग दिया गया है. इससे पहले इसमें पांच रंग थे. पार्टी की ओर से जारी किए गए झंडे में शिवाजी महाराज के शासनकाल की मुद्रा प्रिंट है. झंडे पर संस्कृत में श्लोक लिखा गया है- प्रतिपच्चन्द्रलेखेव वर्धिष्णुर्विश्ववन्दिता, शाहसूनो: शिवस्यैषा मुद्रा भद्राय राजते. politics desh ko le doobegi सबको हक है दुकानदारी है।सब चला रहें हैं।जयहिन्द।

बाल ठाकरे के हिंदुत्व की विरासत को कब्जाने में जुटे राज ठाकरे, बदला MNS का झंडा और नाराबीजेपी से नाता तोड़कर महाराष्ट्र की सत्ता के सिंहासन पर काबिज शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपने वैचारिक विरोधी दल कांग्रेस-एनसीपी के साथ खड़े हैं. वहीं, बाल ठाकरे के हिंदुत्व की विरासत को कब्जाने के लिए महाराष्ट्र नव निर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे अपनी पार्टी के झंडे से लेकर नारे तक को भगवा रंग में रंगने जा रहे हैं. देर से ही सही पर अब मनसे का कुछ अच्छा होगा। आएगा_तो_मोदी_ही शिवसेना झूठी हिंदुत्व पार्टी बन चुकी है अब हिन्दुओं को शिवसेना पर विश्वास नहीं रहा।।

VIDEO: नसीरुद्दीन शाह ने अनुपम को कहा 'जोकर', खेर ने भेजा 'प्यार भरा पैगाम'अभिनेता अनुपम खेर ने नसीरुद्दीन शाह को वीडियो ट्वीट कर करारा जवाब दिया है. अनुपम ने अपने जवाब में कहा कि मेरे खून में हिंदुस्तान है, बस इसको समझ जाइए. AnupamPKher CAA पर जावेद अख्तर और शबाना आज़मी बहुत गला फाड़कर विरोध कर रहे थे... फरहान अख्तर की फिल्म तूफान आ रही है इस तूफान को शांत करने की जिम्मेदारी हम सबकी है !! तैयार रहें !! AnupamPKher जनाब नसीरुदिनशाह साब केलिए मेरा प्यार भरा पैग़ाम! कुछ बातों का दो टूक जवाब देना बहुत ज़रूरी होता ये है मेरा जवाब:-अनुपम खेर khanmarketgang IndiaSupportCAA TukdeTukdeGang AfzalPremiGangIsBack boycottbollywood AnupamPKher AnupamKher NaseeruddinShah AnupamPKher जब मै छोटा था तब नसरु दिन शाह कि एक फील्म अाइ थी सरफरोस उस फील्म मे नसरु साहब जो negative रोल किया था वो अब एक दम फीट खाता है ।



डोनल्ड ट्रंप के लिए भारत में 'धार्मिक आज़ादी' एक अहम मुद्दा

ट्रंप के दौरे के खर्च पर क्यों भिड़ीं कांग्रेस और बीजेपी

नागपुर में चंद्रशेखर बोले- RSS पर लगना चाहिए बैन, तभी खत्म होगा मनुवाद

मुलाकात के बाद बोले उद्धव ठाकरे, PM ने पूरे देश में NRC लागू नहीं करने का दिया आश्वासन

डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा के खर्च पर विवाद, प्रियंका गांधी ने पूछा- सरकार ने कितना पैसा दिया?

भारत के उग्रवादी विचार के निर्माण के लिए राष्‍ट्रवाद, 'भारत माता की जय' नारे का हो रहा है गलत इस्‍तेमाल : मनमोहन सिंह

चौतरफा विरोध के बाद झुके वारिस पठान, 15 करोड़ मुसलमान वाले बयान पर मांगी माफी

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

23 जनवरी 2020, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

दिल्ली में क्या केजरीवाल का मुक़ाबला केजरीवाल से ही है?

अगली खबर

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के बाद बकाया चुकाएंगी एयरटेल-वोडा आइडिया, जियो ने किया 195 करोड़ का भुगतान
अब्दुल्ला और मुफ़्ती की रिहाई की दुआ करता हूं: राजनाथ सिंह दिल्ली के जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास 200 से ज्यादा महिलाओं ने जाम की सड़क, भीम आर्मी के 'भारत बंद' का दिया हवाला सीएए विरोधी जनांदोलन से पैदा हो रहे गीत और कविताएं प्रतिरोध की नई इबारत लिख रहे हैं PM नरेंद्र मोदी के 'लिट्टी चोखा' खाने पर कन्हैया कुमार बोले- बिहारियों को नहीं दे सकते धोखा बवाल बढ़ने पर बोले AIMIM के वारिस पठान, वापस लेता हूं अपनी बात नेहरू के बहाने बीजेपी पर तंज, मनमोहन सिंह बोले- राष्‍ट्रवाद के नाम पर उग्रवाद फैला रहे दिल्ली के जाफ़राबाद इलाके में भारी सुरक्षा बल तैनात बहुमुखी प्रतिभा के धनी प्रधानमंत्री मोदी की सोच दूरदर्शी है: जस्टिस अरुण मिश्रा LIVE: प्रमोशन में आरक्षण पर भीम आर्मी का आज भारत बंद, दरभंगा में रोकी ट्रेन बिहार: भारत बंद के दौरान सड़क पर उतरे भीम आर्मी के समर्थक, ट्रेन सेवा भी बाधित जाफराबाद पर कपिल मिश्रा का ट्वीट- 'जब तक आपके दरवाजे तक ना आ जाएं, चुप रहिए' दिल्‍ली फतह के बाद अब राजस्‍थान चली AAP, निकाय और पंचायतीराज चुनाव लड़ने का ऐलान
डोनल्ड ट्रंप के लिए भारत में 'धार्मिक आज़ादी' एक अहम मुद्दा ट्रंप के दौरे के खर्च पर क्यों भिड़ीं कांग्रेस और बीजेपी नागपुर में चंद्रशेखर बोले- RSS पर लगना चाहिए बैन, तभी खत्म होगा मनुवाद मुलाकात के बाद बोले उद्धव ठाकरे, PM ने पूरे देश में NRC लागू नहीं करने का दिया आश्वासन डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा के खर्च पर विवाद, प्रियंका गांधी ने पूछा- सरकार ने कितना पैसा दिया? भारत के उग्रवादी विचार के निर्माण के लिए राष्‍ट्रवाद, 'भारत माता की जय' नारे का हो रहा है गलत इस्‍तेमाल : मनमोहन सिंह चौतरफा विरोध के बाद झुके वारिस पठान, 15 करोड़ मुसलमान वाले बयान पर मांगी माफी सोनभद्र में हज़ारों टन सोने के दावे को जीएसआई ने किया ख़ारिज ...तो मुसलमान कश्मीरी पाकिस्तान को चुनेंगे: इमरान ख़ान सोनभद्र में सोने का भंडार मिलने पर बोले यूपी के डिप्टी CM- ये राम जी की कृपा कायल जेमिसन: वेलिंगटन टेस्ट में टीम इंडिया के सिरदर्द बने BJP का विपक्ष पर बड़ा हमला, कहा- 'हाथ में संविधान, दिल में वारिस पठान'