Jammukashmir, Amit Shah, Home Minister, अमित शाह, Rajya Sabha, राज्य सभा, Jammu Kashmir, Kashmiriyat, Kashmiri Pandits

Jammukashmir, Amit Shah

राज्यसभा: अमित शाह बोले- जो देश को तोड़ने की बात करेंगे, हम उसे उसी की भाषा में जवाब देंगे

जम्मू-कश्मीर: राज्यसभा में बोले शाह, अटल जी की राह पर मोदी सरकार @BJP4India @AmitShah #JammuKashmir

1.7.2019

जम्मू-कश्मीर: राज्यसभा में बोले शाह, अटल जी की राह पर मोदी सरकार BJP4India AmitShah JammuKashmir

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कश्मीर को लेकर राज्यसभा में अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि कश्मीर की संस्कृति का संरक्षण

राज्यसभा में जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने केंद्र सरकार का पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि कश्मीर की संस्कृति का संरक्षण सरकार करेगी। आतंक पर जीरो टॉलरेंस की बात करते हुए उन्होंने कहा कि भारत को तोड़ने की कोशिश करने वालों को उन्हीं की भाषा में जवाब देंगे।

'सुरक्षा के चलते साथ नहीं कराए गए लोकसभा और विधानसभा चुनाव'

'जो इतिहास की गलतियों से नहीं सीखते उनका भविष्य बेहतर नहीं होता'

-जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग। कश्मीरी पंडित अपने ही देश में दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। हमें उनकी वापसी की उम्मीद है।

-विधानसभा चुनाव, लोकसभा चुनाव इसलिए साथ नहीं कराए गए क्योंकि सुरक्षा का मसला था। विधानसभा चुनाव में हजारों उम्मीदवार होते हैं, उन्हें गांव गांव पहुंचना होता है। बड़े नेताओं के दौरे होते हैं। आयोग जब चाहे चुनाव करा ले।

राज्यसभा में जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने केंद्र सरकार का पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि कश्मीर की संस्कृति का संरक्षण सरकार करेगी। आतंक पर जीरो टॉलरेंस की बात करते हुए उन्होंने कहा कि भारत को तोड़ने की कोशिश करने वालों को उन्हीं की भाषा में जवाब देंगे।

इस दौरान शाह ने कहा कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और इसे कोई अलग नहीं कर सकता है। उन्होंने कहा कि कश्मीरी पंडित अपने ही देश में दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। हमें उनकी वापसी की उम्मीद है।

शाह ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि कश्मीर की समस्या का समाधान 'जम्हूरियत, कश्मीरियत और इंसानियत' होना चाहिए। मैं यह आज दोहराता हूं कि मोदी सरकार भी अटल जी के रास्ते पर ही कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि जम्हूरियत परिवारों तक सीमित नहीं रहनी चाहिए।

और पढो: Amar Ujala
ताज़ा खबर
अभी नवीनतम समाचार

दोस्तों ने की शख़्स की हत्या, मुस्लिम समझ शव दफनाया, जब पुलिस ने की पूछताछ तो...उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां 19 वर्षीय एक शख़्स का शव मुस्लिम कब्रिस्तान बाहर निकाला गया क्योंकि शख़्स हिंदू था.

अमरनाथ यात्रा के संचालन में मुस्लिमों की भूमिका की राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने की प्रशंसाजम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने गत वर्षों के दौरान अमरनाथ यात्रा का सुचारू संचालन सुनिश्चित करने में स्थानीय मुस्लिमों की भूमिका की रविवार को प्रशंसा की और उम्मीद जतायी कि तीर्थयात्रा इस वर्ष भी सफल रहेगी. pagal hogeyahe aaj hi patharbaz ne ek aatankwadi ko bhagaya incounter jagah par patharbaz ne sena ke upar patharbazi kiya aur ek aatankwadi ko bhaganeki kamiyab bhi hogeyai, amarnath ka yatra par kabhi bhi muslman ke upar bharosa nehi kiya jasakta, unki dna me aatankwad he Why it is being projected that one cast is always against others whereas both have to live together

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

Akshay Kumar की हीरोइन ने शेयर की हनीमून की तस्वीरें, ढा रहीं कहरआरती छाबड़िया ने अपने पति विशारद के साथ मालदीव में हनीमून इंज्वॉय कर रही हैं। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर कुछ तस्वीरें डाली हैं।

जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि बढ़ाने वाला बिल राज्यसभा में पेश, कांग्रेस ने कहा- आपकी वजह से पैदा हुए ऐसे हालातगृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि 6 महीने बढ़ाने के लिए बिल और जम्मू-कश्मीर रिजर्वेशन संशोधन बिल 2019 राज्यसभा में पेश कर दिया है. अब इसको लेकर सदन में चर्चा हो रही है. कांग्रेस की सांसद विप्लव ठाकुर ने सरकार पर जम्मू-कश्मीर के हालात बिगाड़ने का आरोप लगाया है और साथ ही पूछा कि अगर वहां पर लोकसभा चुनाव हो सकते हैं तो राज्यसभा चुनाव क्यों नहीं हो रहे हैं. उन्होंने पूछा कि जो इस समय हालात हैं वह तंग सोच की वजह से हैं. आपको बता दें कि लोकसभा में राष्ट्रपति शासन की अवधि बढ़ाने वाला बिल पास कर दिया गया है. पेश कर दिया गया है. लोकसभा में जहां कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर आरक्षण बिल का समर्थन किया तो वहीं राष्ट्रपति शासन की अवधि बढ़ाने वाले बिल का विरोध किया.

कहानियों
दिन की शीर्ष समाचार कहानियां

लोकसभा चुनाव के बाद 2 जुलाई को पहली बार होगी भाजपा संसदीय दल की बैठकभारतीय जनता पार्टी की संसदीय दल की बैठक मंगलवार को होगी, जिसको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित करेंगे. लोकसभा चुनाव में शानदार जीत के बाद भारतीय जनता पार्टी की संसदीय दल की यह पहली बैठक है. भाजपा संसदीय दल कार्यालय के सचिव बालासुब्रमण्यम कामार्सु की ओर से जारी बयान में कहा गया कि भारतीय जनता पार्टी की संसदीय दल की बैठक दो जुलाई मंगलवार सुबह 9:30 बजे संसद भवन की लाइब्रेरी के जीएमसी बालायोगी सभागृह में होगी. भाजपा के सभी लोकसभा और राज्यसभा सासदों से अपील है कि वो बैठक में समय से उपस्थित हों.इस बैठक में तीन तलाक बिल समेत अन्य मुद्दों पर चर्चा हो सकती है. Mn ki batt- Aaj ki baat hi Sunadete Likha huaa pdh rhe? Ye kaggj ki batt!

अपने दूसरे कार्यकाल में पहली बार आज 'मन की बात' करेंगे PM मोदीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम को गृहमंत्री और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी सुनेंगे. शाह गुजरात के द्वारिका में ककरौला स्टेडियम में मन की बात सुनेंगे. 'मन की बात करने के साथ-साथ काले धन की भी बात हो तो कितना अच्छा लगेगा ' MannKiBaat आओ मिलकर करें 'सर्व स्वस्थ भारत' का निर्माण !! पीएम जी हमें रोजगार चाहिए व्यापार चाहिए महंगाई कम चाहिए हमें मन की बात और जोगा और यात्रा नहीं चाहिए पहले देश पर ध्यान दीजिए देश को पीछे जा रहा है देश की सड़कों का बुरा हाल है जहां घटा पड़ गया वहीं पर एक्सीडेंट हो गया उम्मीद है मोदी जी बीजेपी के mla और mp जो खुलेआम अफसरों की पिटाई करते है उसपर और माॅलिचिग पर भी अपने मन की बात देशवासियों को बताएंगे

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

01 जुलाई 2019, सोमवार समाचार

पिछली खबर

शिवकुटी लाल वर्मा: फैक्ट्रियों, मिलों की इमारतों के बीच किसी झोपड़पट्टी की ख़ाली ज़मीन हूं मैं

अगली खबर

पिता से बगावत कर संगीत सीखने वाले बांसुरी वादक हरिप्रसाद चौरसिया की ये हैं 10 अनसुनी कहानियां
शिवकुटी लाल वर्मा: फैक्ट्रियों, मिलों की इमारतों के बीच किसी झोपड़पट्टी की ख़ाली ज़मीन हूं मैं पिता से बगावत कर संगीत सीखने वाले बांसुरी वादक हरिप्रसाद चौरसिया की ये हैं 10 अनसुनी कहानियां