Rajasthan, Rajasthan News, Pigeon Bank Account, Pigeon Grain, बम्बोरी के करोड़पति कबूतर, कबूतरों का बैंक-बैलेंस, राजस्थान न्यूज, Huge Bank-Balance, कबूतर का बैंक खाता, कबूतरों का दाना, Babori Millionaire Pigeon, Rajasthan News İn Hindi Today, Rajasthan News İn Hindi, Latest Rajasthan News İn Hindi, Rajasthan Hindi Samachar

Rajasthan, Rajasthan News

राजस्थान: एक गांव ऐसा भी जहां कबूतर हैं करोड़पति

राजस्थान: एक गांव ऐसा भी जहां कबूतर हैं करोड़पति #Rajasthan

24-01-2021 09:46:00

राजस्थान: एक गांव ऐसा भी जहां कबूतर हैं करोड़पति Rajasthan

बंबोरी में कबूतरों के लिए 1.72 लाख रुपये नकद और 50 बोरी अनाज दान में एकत्रित हुआ है। इतना ही नहीं गांव वालों ने यहां पर स्थित

ख़बर सुनेंराजस्थान में एक ऐसा अनोखा गांव भी है जहां के कबूतर करोड़पति हैं। किसी इंसान का करोड़पति होना तो आम बात है लेकिन कहीं पर पक्षियों का करोड़पति होना तो कोई आम बात बिल्कुल भी नहीं है। बात हो रही है चित्तौड़गढ़ के पास बसे छोटीसादड़ी तहसील के बम्बोरी गांव की, जहां के कबूतर करोड़पति हैं। यहां के ग्रामीण बढ़-चढ़कर दान-पुण्य के काम में हिस्सा लेते है।

AAP विधायक का सुन्दरकाण्ड पाठ, बोले- 'अयोध्या राम मंदिर के लिए दिया चंदा, और इकट्ठा करने को तैयार' आज तक @aajtak आयशा आत्महत्या मामले में औवेसी बोले- इस्लाम में दहेज जैसा शब्द नहीं

हाल ही में बम्बोरी में कबूतरों के लिए 1.72 लाख रुपये नकद और 50 बोरी अनाज दान में एकत्रित हुआ है। इतना ही नहीं गांव वालों ने यहां पर स्थित श्मसान के लिए 50 क्विंटल लकड़ी और 117 यूनिट रक्तदान भी किया है। बता दें, कबूतरों की संपत्ति से हर साल होने वाली लाखों रुपये की आय भी कबूतरों के दानापानी पर ही खर्च की जाती है। गांव वालों ने कबूतरों के नाम पर बैंक खाता भी खोल रखा है, जिसमें लाखों रुपये जमा हैं।

यहां सदर बाजार में लक्ष्मीनारायण मंदिर के सामने कबूतरखाना है, जहां पर कबूतर प्रतिदिन दिन दो बार एक बोरी अनाज चुग जाते हैं। ग्रामीणों ने बरसों पहले यहां कबूतरखाना समिति भी बना दी थी। इस गांव के कबूतरों के पास भरपूर दाना-पानी, खेती-बाड़ी, बैंक बैलेंस, नौकर-चाकर सब कुछ है। कबूतरों के नाम पर सात बीघा जमीन भी है। headtopics.com

दरअसल, हर साल मकर संक्रांति पर समिति के पदाधिकारी और ग्रामीण पूरे गांव में झोली फैलाकर कबूतरों के लिए दान इकट्ठा करते हैं। वहीं, लोग भी अपने सामर्थ्य या इच्छा अनुसार दान देते हैं। इममें वे नकद रुपये, गेहूं, मक्का, आदि दान करते हैं। इस बार मकर सक्रांति पर 1,72,000 रुपये नकद और 50 बोरी अनाज प्राप्त हुआ।

कबूतरों के लिए बड़ौदा राजस्थान ग्रामीण बैंक शाखा बम्बोरी में खाता भी है। दान पुण्य की भावना रखने वाले बम्बोरी गांव के निवासी कभी-कभी मकर सक्रांति पर रक्तदान शिविर भी लगाते हैं। इस बार पर 117 यूनिट रक्तदान हुआ। इसके अलावा श्मशान में दाह संस्कार के लिए लकड़ी की समस्या खासकर निर्धन परिवारों के लिए रहती है। ऐसे में उनकी सेवा के लिए 50 क्विंटल लकड़ी भी एकत्र किए गए।

राजस्थान में एक ऐसा अनोखा गांव भी है जहां के कबूतर करोड़पति हैं। किसी इंसान का करोड़पति होना तो आम बात है लेकिन कहीं पर पक्षियों का करोड़पति होना तो कोई आम बात बिल्कुल भी नहीं है। बात हो रही है चित्तौड़गढ़ के पास बसे छोटीसादड़ी तहसील के बम्बोरी गांव की, जहां के कबूतर करोड़पति हैं। यहां के ग्रामीण बढ़-चढ़कर दान-पुण्य के काम में हिस्सा लेते है।

विज्ञापनदान में एकत्रित हुआ 1.72 लाख रुपये नकद और 50 बोरी अनाजहाल ही में बम्बोरी में कबूतरों के लिए 1.72 लाख रुपये नकद और 50 बोरी अनाज दान में एकत्रित हुआ है। इतना ही नहीं गांव वालों ने यहां पर स्थित श्मसान के लिए 50 क्विंटल लकड़ी और 117 यूनिट रक्तदान भी किया है। बता दें, कबूतरों की संपत्ति से हर साल होने वाली लाखों रुपये की आय भी कबूतरों के दानापानी पर ही खर्च की जाती है। गांव वालों ने कबूतरों के नाम पर बैंक खाता भी खोल रखा है, जिसमें लाखों रुपये जमा हैं। headtopics.com

लखनऊ गोलीकांड: बीजेपी सांसद के बेटे ने साले से करवाई थी खुद पर फायरिंग, कहा था- किसी को फंसाना है कांग्रेस में जारी कलह के बीच छलका राहुल का दर्द- मेरे ऊपर पार्टी नेताओं ने ही हमले किए थे पानीपत: बच्चे के पैदा होते ही नाना-नानी थमा देते हैं बास्केटबॉल, इस गांव में नेशनल और इंटरनेशनल खिलाड़ियों की भरमार

कबूतरों के नाम है सात बीघा जमीनयहां सदर बाजार में लक्ष्मीनारायण मंदिर के सामने कबूतरखाना है, जहां पर कबूतर प्रतिदिन दिन दो बार एक बोरी अनाज चुग जाते हैं। ग्रामीणों ने बरसों पहले यहां कबूतरखाना समिति भी बना दी थी। इस गांव के कबूतरों के पास भरपूर दाना-पानी, खेती-बाड़ी, बैंक बैलेंस, नौकर-चाकर सब कुछ है। कबूतरों के नाम पर सात बीघा जमीन भी है।

हर साल मकर संक्रांति पर दान इकट्ठा करते हैं ग्रामीणदरअसल, हर साल मकर संक्रांति पर समिति के पदाधिकारी और ग्रामीण पूरे गांव में झोली फैलाकर कबूतरों के लिए दान इकट्ठा करते हैं। वहीं, लोग भी अपने सामर्थ्य या इच्छा अनुसार दान देते हैं। इममें वे नकद रुपये, गेहूं, मक्का, आदि दान करते हैं। इस बार मकर सक्रांति पर 1,72,000 रुपये नकद और 50 बोरी अनाज प्राप्त हुआ।

50 क्विंटल लकड़ी भी एकत्रितकबूतरों के लिए बड़ौदा राजस्थान ग्रामीण बैंक शाखा बम्बोरी में खाता भी है। दान पुण्य की भावना रखने वाले बम्बोरी गांव के निवासी कभी-कभी मकर सक्रांति पर रक्तदान शिविर भी लगाते हैं। इस बार पर 117 यूनिट रक्तदान हुआ। इसके अलावा श्मशान में दाह संस्कार के लिए लकड़ी की समस्या खासकर निर्धन परिवारों के लिए रहती है। ऐसे में उनकी सेवा के लिए 50 क्विंटल लकड़ी भी एकत्र किए गए।

विज्ञापनदान में एकत्रित हुआ 1.72 लाख रुपये नकद और 50 बोरी अनाजविज्ञापनआपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं? headtopics.com

हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

'एक लड़की को पिलाना चाहता था जहर', देखें उन्नाव केस के बड़े खुलासे

उन्नाव में दलित परिवार की दो लड़कियों की संदिग्ध मौत के मामले में यूपी पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. उन्होंने बताया कि शुक्रवार को दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. मुख्य आरोपी का नाम विनय उर्फ लंबू है. वहीं दूसरा आरोपी विनय का दोस्त है जो नाबालिग है. पुलिस ने बताया कि विनय एक लड़की से प्रेम करता था. उसने उसके सामने प्रस्ताव भी रखा था. लेकिन उसने ठुकरा दिया.