Coronavaccine, Rajasthan Corona Update, People's İnsistence İn Ajmer - First Guarantee To Be Alive, Then Get Vaccinated, Can't Find Another Dose İn Sikar's Villages

Coronavaccine, Rajasthan Corona Update

राजस्थान के गांवों से ग्राउंड रिपोर्ट: अजमेर में लोगों की जिद- पहले जिंदा रहने की गारंटी दो, फिर वैक्सीन लगवाएंगे; सीकर के गांवों में दूसरी डोज नहीं लग पा रही

राजस्थान के गांवों से ग्राउंड रिपोर्ट: अजमेर में लोगों की जिद- पहले जिंदा रहने की गारंटी दो, फिर वैक्सीन लगवाएंगे; सीकर के गांवों में दूसरी डोज नहीं लग पा रही #CoronaVaccine @maan9214320431 @imdilip89 @yadvendrrathore @ashokgehlot51 @DrSatishPoonia

14-05-2021 07:30:00

राजस्थान के गांवों से ग्राउंड रिपोर्ट: अजमेर में लोगों की जिद- पहले जिंदा रहने की गारंटी दो, फिर वैक्सीन लगवाएंगे; सीकर के गांवों में दूसरी डोज नहीं लग पा रही CoronaVaccine maan9214320431 imdilip89 yadvendrrathore ashokgehlot51 DrSatishPoonia

कोरोना से हो रही मौतों और सरकारी मशीनरी की लापरवाही को लेकर लोगों में किस तरह की नाराजगी है, इसका उदाहरण अजमेर के गांवों में देखने को मिलता है। यहां दो गांव के लोगों ने वैक्सीन लगवाने से ही इनकार कर दिया। उनकी शर्त है कि पहले लिखकर दो कि टीका लगवाने के बाद मौत नहीं होगी। | rajasthan corona update ; People's insistence in Ajmer - first guarantee to be alive, then get vaccinated ; Can't find another dose in Sikar's villages

Rajasthan Corona Update; People's Insistence In Ajmer First Guarantee To Be Alive, Then Get Vaccinated; Can't Find Another Dose In Sikar's VillagesAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपराजस्थान के गांवों से ग्राउंड रिपोर्ट:

पाकिस्तानी संसद में भद्दी गालियां, विपक्ष ने कहा- यही रियासत-ए-मदीना है - BBC Hindi अखिलेश यादव को मायावती ने कहा- दलित विरोधी, जमकर भड़कीं - BBC Hindi सिकंदर: 32 साल की उम्र में सबसे बड़े साम्राज्य की स्थापना करने वाला नौजवान - BBC News हिंदी

अजमेर में लोगों की जिद- पहले जिंदा रहने की गारंटी दो, फिर वैक्सीन लगवाएंगे; सीकर के गांवों में दूसरी डोज नहीं लग पा रही33 मिनट पहलेलेखक: अजमेर से दिलीप चौधरी, मनीष शर्मा, सीकर से यादवेंद्रसिंह राठौड़कॉपी लिंकवीडियोकोरोना से हो रही मौतों और सरकारी मशीनरी की लापरवाही को लेकर लोगों में किस तरह की नाराजगी है, इसका उदाहरण अजमेर के गांवों में देखने को मिलता है। यहां दो गांव के लोगों ने वैक्सीन लगवाने से ही इनकार कर दिया। उनकी शर्त है कि पहले लिखकर दो कि टीका लगवाने के बाद मौत नहीं होगी।

लोगों की यह जिद तब है, जब अजमेर के 25 गांवों में 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। उधर, सीकर के कुछ गांवों में लोग वैक्सीन लगवाना तो चाहते हैं, लेकिन उन्हें दूसरी डोज नहीं मिल पा रही।भास्कर के 3 रिपोर्टर्स गुरुवार को अजमेर और सीकर के गांवों में पहुंचे और वहां के हालात जानने की कोशिश की... headtopics.com

सबसे पहले चलते हैं अजमेर के मसूदा पंचायत समिति के केसरपुरा और लहरी गांव। केसरपुरा में 1300 लोग रहते हैं। इतने लोगों में सिर्फ एक महिला का वैक्सीनेशन हुआ है। यह महिला आंगनबाड़ी कार्यकर्ता है। उसने भी स्वास्थ्य विभाग की समझाइश के बाद टीका लगवाया।भास्कर की पड़ताल में पता चला कि जब मेडिकल टीम इन गांवों में वैक्सीनेशन के लिए पहुंची तो लोगों ने बेतुकी शर्त रख दी कि टीका लगवाने के बाद मौत नहीं होने की लिखित गारंटी चाहिए। जब भी टीम गांव में वैक्सीनेशन के लिए आती है तो या तो गांव के लोग घरों में दुबक जाते हैं गए या फिर टीम का विरोध कर घेर लेते हैं। इस बारे में भास्कर टीम ने गांव में जाकर लोगों से बात करने की काेशिश की, लेकिन लोग सामने आने से बचते रहे और चुप्पी साध ली।

खरवा पीएचसी की मेडिकल ऑफिसर गरिमा कुमावत का कहना था कि हमने दो बार टीम भेजकर केसरपुरा और लहरी गांव में वैक्सीनेशन की कोशिश की। लोगों को समझाया, लेकिन गांव के लोग जिद कर रहे हैं कि हमें यह लिखकर दो कि वैक्सीनेशन के बाद मौत नहीं होगी, तभी वैक्सीनेशन कराएंगे, वर्ना नहीं।

न जांच की व्यवस्था, नक्वारैंटाइनअजमेर के ब्यावर खास, फतेहगढ़, किशनपुरा, खरवा, बेगलियावास, सरमालिया, केसरपुरा, लहरी, राजियावास, रामपुरा, जेठाना, बड़ाखेड़ा, रावला बाडिया, गोपालपुरा समेत कई गांवों में लगातार मौतों के मामले सामने आ रहे हैं, लेकिन इन गांवों में न तो क्वारैंटाइन होने की कोई व्यवस्था है, न ही सैम्पल कलेक्शन के इंतजाम हैं।

सीकर के गांवों में वैक्सीन की दूसरी डोज नहीं लगरहीजब हम सीकर के नीमकाथाना और आसपास के इलाकों में पहुंचे तो पाया कि गांवाें के हालात बेहद खराब हाे चुके हैं। नीमकाथाना में एक भी गांव ऐसा नहीं है, जहां कोई कोरोना पॉजिटिव मरीज नहीं है। अस्पतालों में बेड खाली नहीं हैं। हेल्थ सेंटर्स में सुबह ही मरीजाें की कतारें लग जाती है। चिंताजनक स्थिति यह है कि गांवों में वैक्सीन की दूसरी डोज नहीं लग रही। headtopics.com

श्रीराम मंदिर ट्रस्ट पर शंकराचार्य हमलावर: स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती बोले- चंपत राय गैर जिम्मेदार, मोदी उन्हें ट्रस्ट से तुरंत हटाएं अरब मुर्दाबाद के नारे से अपनों पर ही भड़के इसराइली विदेश मंत्री - BBC Hindi दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा- ऐसे में आतंकवाद के अपराध की गंभीरता नहीं बचेगी - BBC News हिंदी

जब हम नीमकाथाना के सबसे बड़े कपिल अस्पताल पहुंचे तो पाया कि 43 बेड में से एक भी खाली नहीं है। यदि कोई भर्ती होने आता है तो उसे ठीक होने वाले मरीज के डिस्चार्ज होने का इंतजार करना पड़ता है। फिलहाल 43 पॉजिटिव भर्ती हैं। इनमें 4 वेंटिलेटर पर हैं। दर्दनाक यह कि हर दिन 3 से 4 लोगों की मौत हो रही है, लेकिन यह सरकारी आंकड़ों में दर्ज नहीं की जाती। अगर किसी की स्थिति ज्यादा गंभीर होती है तो उसे 100 किमी दूर सीकर के कोविड सेंटर में रेफर कर दिया जाता है।

लोग बिना मास्क के घूमरहेगुहाला ग्राम पंचायत में 18 अप्रैल काे पॉजिटिव केस सामने आया, तब से लेकर 12 मई तक 96 पॉजिटिव मिल चुके हैं। गांव की आबादी 8500 है। कोरोना से 4 लोगों की मौत हो चुकी हैं। हेल्थ सेंटर पर मरीजों की कतारें लगी थीं। मेडिकल स्टोर खुले हैं, लेकिन बिना मास्क के ही दवा बेची जा रही है। पुलिस का कोई डर नहीं है। लोग बेखौफ होकर बिना मास्क के घूम रहे हैं।

सीएचसी प्रभारी डाॅ. आनंद कुमार कहते हैं, 45 से अधिक उम्र के 5396 और 18 से ऊपर के 464 लाेगाें को वैक्सीन की पहली डाेज लग चुकी है। वैक्सीन हर दिन नहीं मिल पा रही, इसलिए दिक्कत हो रही है।उधर, सिराेही नीमकाथाना उपखंड की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत है। यहां 20 हजार की आबादी हैं। बीसीएमओ डाॅ. अशाेक यादव बताते हैं, 41 ग्रामीण काेविड पाॅजिटिव हैं। अब तक एक की मौत हुई है, जबकि पंचायत के सरपंच जयप्रकाश कस्वा दावा करते हैं कि बुधवार को ही 5 लोगों की मौत हो गई। गांव में अल्ट्राटेक सीमेंट फैक्ट्री है, जिसके बहुत से मजदूर काेविड पाॅजिटिव आए और काेराेना फैला।

वे आरोप लगाते हैं कि कई बार कहने के बाद भी सैंपल नहीं लिए जा रहे हैं। वे बताते हैं कि सिराेही के हेल्थ सेंटर में 13 मार्च काे 45 साल से ऊपर के 2611 लाेगाें के वैक्सीन लगी थी, लेकिन दाे महीने बाद भी इन लाेगाें के दूसरी डाेज नहीं लग पाई है।मास्क से ही बना रखी है दूरी headtopics.com

कुरबड़ा गांव में 23 लाेग काेविड पॉजिटिव हैं। भास्कर टीम पहुंची तो ठाकुर जी के मंदिर में 6-7 लाेग बिना मास्क लगाए ताश खेलते नजर आए। उनके पास कुछ लाेग बिना मास्क के खड़े थे। जैसे ही फाेटाे खींचने लगे वे लाेग मुंह छिपाने लगे। वहीं, गणेश्वर में अभी तक 25 लाेग पाॅजिटिव पाए गए हैं, जिनमें से कुछ लाेग अब निगेटिव हाे चुके हैं। खाली मैदान में शाम को लड़के बिना मास्क लगाए ही क्रिकेट खेलते दिखे।

अजमेर और सीकर के गांवों के उन लोगों की बात, जिन्होंने अपनों को खोया1. चार घंटे में ही बच्चों ने माता-पिता को खो दिया​​​​​​अजमेर जिले की जवाजा पंचायत समिति के गांव राजियावास में एक परिवार पर कोरोना कहर बन कर टूटा है। उम्र के आखिरी पड़ाव में हरि सिंह और दाखूदेवी के कंधों पर अपने पोते और पोती की जिम्मेदारी आ पड़ी है। हरि सिंह का बेटा देवी सिंह उर्फ कालू भाई भीलवाड़ा में सुरक्षा गार्ड था। लॉकडाउन के चलते वह घर आ गया। कुछ ही दिन में उसकी तबीयत खराब हुई। ब्यावर के अमृतकौर सरकारी अस्पताल में उसे भर्ती किया गया। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

ईरान का राष्ट्रपति चुनावः मुक़ाबले में कौन-कौन हैं? - BBC News हिंदी फिलिस्तीन पर इजराइली एयरस्ट्राइक: IDF ने गाजा पट्‌टी पर मिसाइलें दागीं, कहा- इजराइल पर विस्फोटक भरे गुब्बारे छोड़ रहे थे हमास के आतंकी LJP में टूट के बाद चिराग को साथ लाने में जुटी RJD, पूर्व विधायक बोले- लालच में चाचा ने पार्टी तोड़ दी

पति के मौत के सदमें में चार घंटे बाद पत्नी भी गुजर गई। अब बच्चों की जिम्मेदारी दादा-दादी के बूढ़े कंधों पर है।परिवार वालों ने उसकी पत्नी को यह बात नहीं बताने का फैसला लिया। करीब चार घंटे बाद पत्नी लक्ष्मी को शक हुआ कि कुछ तो अनहाेनी हुई है। वह बेसुध हो गई। परिवार के लोग उसे लेकर अस्पताल पहुंचे, जहां उसकी भी मौत हो गई। कोरोना के कहर ने दो मासूमों के सिर से पिता का साया और मां का आंचल, दोनों ही छीन लिए।

12 साल की दीक्षा और 10 साल का रचित अब दादी-दादी के साथ रहेंगे। जब भास्कर की टीम उनके घर पहुंची तो बात करते-करते दाखूदेवी की आंखों से आंसू बहने लगे। यह देखकर रचित और दीक्षा भी रोने लगे। रोते-रोते दादी से लिपटकर चुप कराने लगे। रचित अपनी दादी को समझाता रहा कि रो मत। मैं हूं ना।

2. माता-पिता और भाई की मौत, खुद अस्पतालमेंजवाजा पंचायत समिति के ही गांव फतेहगढ़ सल्ला के रतनपुरा सरदारा में पिछले 10 दिनों में कोरोना एक परिवार पर कहर बन कर टूटा है। गांव के अकबर के पिता नंदू की कोरोना के चलते 22 अप्रैल को मौत हो गई। उसकी मां मीना ने भी इलाज के दौरान 2 मई को दम तोड़ दिया।

अकबर अभी इन सदमों से उबर भी नहीं पाया था कि 5 मई को उसके 19 साल के भाई फिरोज की भी मौत हो गई। अकबर खुद अस्पताल में भर्ती रहा, जहां से डिस्चार्ज होते ही उसे ससुराल वाले अपने साथ ले गए। परिवार के 3 लोगों की मौत हो जाने के बाद अकबर के घर पर अब ताला है।परिवार के 3 लोगों की मौत हो जाने के बाद अकबर के घर पर अब ताला है।

3. बेटे की मौत, अब परिवार के हालातखराबसीकर के सिरोही गांव के 32 साल के ज्याेतिष की कोरोना से जान चली गई। पिता ने बताया कि देखते ही देखते बेटा चला गया। समय पर जांच और इलाज नहीं मिलने से बेटे की मौत हुई। अब उसके तीन बच्चों, पत्नी और हम बूढ़े मां-बाप के पास इनकम का कोई साेर्स नहीं है। बेटा इकलौता कमाने वाला था, घर की आर्थिक हालत खराब है।

और पढो: Dainik Bhaskar »

खबरदार: PNB स्कैम, एंटीगा की नागरिकता से लेकर मिस्ट्री गर्ल तक, देखें क्या बोलीं मेहुल चोकसी की पत्नी

मेहुल चोकसी की बेचैनी को इसी से समझा जा सकता है कि कोर्ट में सुनवाई से ठीक पहले उसके परिवार के लोग भी सामने आने लगे. जो अब तक चुप थे. मेहुल चोकसी की पत्नी ने कहा कि चोकसी एंटीगा का नागरिक है और उसे डोमिनिका से एंटीगा ही डिपोर्ट किया जाना चाहिए. चोकसी के बचाव में उसकी पत्नी ने क्या कहा, ये जानने के लिए देखिए खबरदार का ये एपिसोड.

imdilip89 yadvendrrathore ashokgehlot51 DrSatishPoonia Thanks maan9214320431 imdilip89 yadvendrrathore ashokgehlot51 DrSatishPoonia भाई जब धरती पर आए तभी जाने का सर्टिफिकेट भी बन गया था,अतः सब चीज़ की गारंटी है बस इसी की नहीं है,ऐसे मूर्खों को न लगाएं वैक्सीन और बहुत हैं देश में उनको लगा दें।

maan9214320431 imdilip89 yadvendrrathore ashokgehlot51 DrSatishPoonia We Need Press Conference Immediately With P.M Modi 'himat he to karke dikhav'.... maan9214320431 imdilip89 yadvendrrathore ashokgehlot51 DrSatishPoonia राहुलगांधी जवाब दो। कॅरोना काल में आपका योगदान क्या है? 1) अटलबिहारी वाजपेयी के जैसे सरकार के साथ खड़े होकर देश को संकटमुक्त करने का प्रयास करना! 2 )भ्रम पैदा करने आम जनता को वेक्सीनेसन से दूर करना! डराना! 3) देश विदेश में भारत की छवि खराब करने का प्रयास करना! 4) कोई चंदा दिया ?

maan9214320431 imdilip89 yadvendrrathore ashokgehlot51 DrSatishPoonia Hume lga do phle... Jinko believe ni h.. To hum ready h lgwane ko 🙏 maan9214320431 imdilip89 yadvendrrathore ashokgehlot51 DrSatishPoonia ये तो पपुआ के बस की बात है maan9214320431 imdilip89 yadvendrrathore ashokgehlot51 DrSatishPoonia सही है

कोरोना संक्रमण: गांवों में थर्मल स्क्रीनिंग के साथ ऑनलाइन सलाह दे रहे डॉक्टरकोरोना संक्रमण: गांवों में थर्मल स्क्रीनिंग के साथ ऑनलाइन सलाह दे रहे डॉक्टर CoronaUpdate Coronavirus Covid19 Coronavaccine drharshvardhan MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI

इसराइल के विरोध में पाकिस्तान के पीएम इमरान ख़ान ने की ये ग़लती - BBC News हिंदीपाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान इसराइल के ख़िलाफ़ मुस्लिम देशों से एकजुट होने की अपील कर रहे हैं. इसी सिलसिले में उन्होंने एक ट्वीट किया है. बौद्धिक आतंकवादियो को हर किसी की गलती दिख जाती है सिवाय अपनी गलती की Ye jisne bhi kaha hai sach hai.shakespear ne kaha hai what is in the name

आजतक इम्पैक्ट: बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा- महाराष्ट्र के गांवों में सबको मिले कोरोना का इलाजएक सुनवाई के दौरान बॉम्बे हाईकोर्ट ने आजतक की पालघर में की गई एक ग्राउंड रिपोर्ट का जिक्र किया. कोर्ट ने कहा ''इंडिया टुडे से पंकज कुमार नाम के रिपोर्टर ने पालघर से रिपोर्ट की है. वहां न बिस्तर हैं, न कोई सुविधा हैं, मरीज जमीन पर लेट रहे हैं. उस रिपोर्ट में परिजनों और मरीजों के साथ जो इंटरव्यू थे, वो आंख खोल देने वाले थे.'' pankajcreates journovidya आज तक का कैमरा हाथरस तो खूब दौड़ा,रोज दौड़ा,पर टिकरी बार्डर बलात्कार की शिकार बंगाली महिला के पास कितना दौड़ा। Sarm karo nalayko tumhe jo pese de sirf vahi news dikhate ho Shame on u aaj tak

वैश्विक महामारी के दौर में राहतकारी ऑक्सीजन एक्सप्रेस की भूमिका में भारतीय रेलप्राणवायु के लिए मचे हाहाकर के बीच भारतीय रेल ने एक बेहतर पहल करते हुए औद्योगिक आक्सीजन उत्पादक क्षेत्रों से देश के उन तमाम इलाकों तक आक्सीजन पहुंचाने का काम शुरू किया जहां इनकी सर्वाधिक आवश्यकता महसूस की जा रही है। Jai Hind.

यूपी : मुजफ्फरनगर में कोविड हॉस्पिटल में मरीज की मौत के बाद जमकर हंगामा,फायरिंगमुजफ्फरनगर में गुरुवार को शहर कोतवाली क्षेत्र के बालाजी चौक आर्यपुरी में बनाए गए कोविड अस्पताल में कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मौत हो गई। परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। इस दौरान हवाई फायरिंग भी की गई।

Delhi में Corona के केस हुए कम, Oxygen की खपत में भी ग‍िरावटकोरोना की भयावहता के बीच अच्छी खबरें भी आ रही हैं. कोरोना के केस कम हो रहे हैं तो संक्रमण की दरें भी कम हो रही हैं. कोरोना संक्रमण की दिल दहला देने वाली तमाम खबरों के बीच राजधानी दिल्ली से भी राहत भरी खबर आई हैं. अब इसे लॉकडाउन का असर कहें या कुछ और, दिल्ली में कोरोना संक्रमण की रफ्तार नीचे आ गई है. सबसे राहत की खबर ये है कि दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट भी तेजी से कम हो रहा है. देखें वीडियो. All Requested to do Mahdev Pooja side by side,but alone,to create peace of Mahakal-Mahadev Ji who seems to be in Rudra Roop as sins got increased- relation of children to father or vice versa,wife to husband or vice versa,non care of old parents,exploitation of woman in society Fake आँकड़ों के हिसाब से आप ही बेठे बेठे क़ोरोना ख़त्म कर दो ना .!! Vaccine, treatment की क्या ज़रूरत है .!!!जैसे last year किया था , उसी तरह आँकड़ों को manipulate कर सकते हो .!! नया कुछ नहि है .!anjanaomkashyap SwetaSinghAT chitraaum