Sameerwakhende, Nawabmalik, Aryan Khan Ncb, Aryan Khan Shah Rukh Khan, आर्यन खान, Nawab Malik, Sameer Wankhede, Sameer Wankhede Ncb Zonal Director, Mumbai Rave Party, Ncb Raid Today, Ncb Raid Mumbai, Rakshit Tandon Cyber Crime, Shah Rukh Khan, Aryan Khan, Mumbai Drug Bust, Drugs Market Dark Net, Cordelia Cruise, Ncb, Onion Routing, Narcotics Control Bureau, Sushant Singh Rajput, Sushant Rajput Death, Aryan Khan Arrested, Aryan Khan News, Aryan Khan Son, Shahrukh Khan, Aryan Shahrukh Khan, Rhea Chakraborty, Arjun Rampal, Rave Party, Bollywood Rave Party News, Shahrukh Khan Son, Drugs Rave Party

Sameerwakhende, Nawabmalik

राजनीतिक निशाने पर हैं समीर वानखेड़े: राजनीतिक शोर में 'जांच' को दबाने का प्रयास, ये चाल पुरानी है

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े और एनसीपी नेता एवं महाराष्ट्र सरकार में मंत्री

22-10-2021 15:02:00

राजनीतिक निशाने पर हैं समीर वानखेड़े: राजनीतिक शोर में 'जांच' को दबाने का प्रयास, ये चाल पुरानी है SameerWakhende NawabMalik

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े और एनसीपी नेता एवं महाराष्ट्र सरकार में मंत्री

एक-एक आरोपों का जवाब दे रहे वानखेड़ेसमीर वानखेड़े ने मुंबई से गोवा जा रहे क्रूज पर चल रही पार्टी से शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान और अन्य लोगों को गिरफ्तार किया था। आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। अब सेशन कोर्ट ने भी आर्यन खान को जमानत देने से इंकार कर दिया है। इन सबके बीच एनसीबी और इसके जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े, महाराष्ट्र सरकार के निशाने पर आ गए हैं। वानखेड़े पर आरोपों की बौछार होने लगी है। हालांकि वे खुद के ऊपर लग रहे आरोपों का एक-एक करके जवाब दे रहे हैं। वानखेडे़ पर आरोप लगाया गया था कि वे दुबई गए थे। इस पर वानखेड़े ने कहा, वह कभी दुबई गए ही नहीं। मैं छोटा सा अधिकारी हूं। अगर मंत्री महोदय ड्रग्स पर कार्रवाई के लिए मुझे जेल में डालना चाहते हैं, तो उनका स्वागत करता हूं। वानखेड़े ने यह बात और कह दी कि इस तरह की हरकतों से मेरा हौसला कम नहीं होगा, उलटा वह बढ़ता ही जाएगा।

दुबई जाने का आरोप झूठामंत्री नवाब मलिक ने वानखेड़े से स्पष्टीकरण मांगा था कि वह दुबई में क्यों थे। जब पूरा फिल्मोद्योग मालदीव में था, तब क्या वानखेड़े का परिवार भी वहां था। यह सब वसूली मालदीव और दुबई में हुई है। इस मामले में तस्वीरें भी जारी की जाएंगी। इन आरोपों का जवाब देते हुए एनसीबी के जोनल डायरेक्टर ने कहा, मेरे ऊपर दुबई घूमने का जो आरोप लगा है, वह झूठ है। जिस होटल का फोटो दिखाया गया है, वह तो मुंबई में ही है। मैं कभी भी दुबई नहीं गया। पूर्व आईपीएस यशोवर्धन आजाद कहते हैं, ये उन अफसरों के लिए गलत संदेश है जो ईमानदारी से अपना काम करना चाहते हैं। उनका उत्साह तोड़ा जा रहा है। राजनीतिक पक्ष, अफसर पर मनमर्जी से जांच को घुमाने का दबाव डालता है। अगर ऐसा कोई अहम पद है तो सरकार को वहां संबंधित अफसर की नियुक्ति करने से पहले सोच-विचार कर लेना चाहिए था। जब जांच चल रही है तो सरकार की तरफ से अफसर को परेशान किया जाता है, तो ये गलत परंपरा है। अफसर के चयन के समय यदि कोई पार्टी सबूतों सहित आवाज उठाती है तो वह ठीक है।

जांच को प्रभावित करने का प्रयासकई बार विपक्ष की किसी अफसर में रूचि या उसके प्रति अनिच्छा होती है तो वह उसी हिसाब से बयानबाजी करता है। जब कोई अफसर कार्यभार संभाल लेता है और किसी अहम केस की जांच को आगे बढ़ाता है, तब इस तरह के आरोप लगाना ठीक नहीं है। ये सब उसकी नियुक्ति से पहले होना चाहिए था। वानखेड़े को राजनीतिक तौर पर परेशान किया जा रहा है। अगर उन्होंने किसी की गिरफ्तारी की है तो वह सबूतों के आधार पर की गई है। गंभीरता से मामले की जांच हो रही है। आरोपी की जमानत हो या न हो, ये फैसला तो अदालत करेगी। उसमें जांच एजेंसी की भूमिका नहीं होती। वहां दोनों पक्षों के वकील स्वतंत्र तरीके से अपनी दलील रखते हैं। चूंकि इस वक्त वानखेड़े, बड़े केस की जांच कर रहे हैं, इसलिए उन पर राजनीतिक दबाव बनाया जा रहा है। ये संबंधित केस की जांच को प्रभावित करने का प्रयास है। headtopics.com

विस्तार नवाब मलिक आमने-सामने आ गए हैं। आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला चल पड़ा है। मंत्री नवाब मलिक एक के बाद एक आरोप लगाए जा रहे हैं, तो वानखेड़े भी बहुत सधे हुए तरीके से उनका जवाब दे रहे हैं। क्या समीर वानखेड़े पॉलिटिकल टारगेट पर हैं, राजनीतिक शोर में बॉलीवुड से जुड़े ड्रग्स केस की जांच को दबाने का प्रयास किया जा रहा है, इस बाबत कैबिनेट सचिवालय से सेक्रेटरी 'सिक्योरिटी' के पद से रिटायर हुए पूर्व आईपीएस एवं सीआईसी रहे यशोवर्धन आजाद कहते हैं, ये चाल पुरानी है। देश में पहले भी ऐसी चालें चली जाती रही हैं। ये 'काबिल' अफसरों का उत्साह तोड़ने का प्रयास है। विदेश में ऐसा नहीं होता। वहां न तो राजनीतिक और न ही मीडिया ट्रायल होता है। जांच रिपोर्ट आने के बाद किसी मामले में प्रतिक्रिया दी जाती है।

विज्ञापनएक-एक आरोपों का जवाब दे रहे वानखेड़ेसमीर वानखेड़े ने मुंबई से गोवा जा रहे क्रूज पर चल रही पार्टी से शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान और अन्य लोगों को गिरफ्तार किया था। आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। अब सेशन कोर्ट ने भी आर्यन खान को जमानत देने से इंकार कर दिया है। इन सबके बीच एनसीबी और इसके जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े, महाराष्ट्र सरकार के निशाने पर आ गए हैं। वानखेड़े पर आरोपों की बौछार होने लगी है। हालांकि वे खुद के ऊपर लग रहे आरोपों का एक-एक करके जवाब दे रहे हैं। वानखेडे़ पर आरोप लगाया गया था कि वे दुबई गए थे। इस पर वानखेड़े ने कहा, वह कभी दुबई गए ही नहीं। मैं छोटा सा अधिकारी हूं। अगर मंत्री महोदय ड्रग्स पर कार्रवाई के लिए मुझे जेल में डालना चाहते हैं, तो उनका स्वागत करता हूं। वानखेड़े ने यह बात और कह दी कि इस तरह की हरकतों से मेरा हौसला कम नहीं होगा, उलटा वह बढ़ता ही जाएगा।

दुबई जाने का आरोप झूठामंत्री नवाब मलिक ने वानखेड़े से स्पष्टीकरण मांगा था कि वह दुबई में क्यों थे। जब पूरा फिल्मोद्योग मालदीव में था, तब क्या वानखेड़े का परिवार भी वहां था। यह सब वसूली मालदीव और दुबई में हुई है। इस मामले में तस्वीरें भी जारी की जाएंगी। इन आरोपों का जवाब देते हुए एनसीबी के जोनल डायरेक्टर ने कहा, मेरे ऊपर दुबई घूमने का जो आरोप लगा है, वह झूठ है। जिस होटल का फोटो दिखाया गया है, वह तो मुंबई में ही है। मैं कभी भी दुबई नहीं गया। पूर्व आईपीएस यशोवर्धन आजाद कहते हैं, ये उन अफसरों के लिए गलत संदेश है जो ईमानदारी से अपना काम करना चाहते हैं। उनका उत्साह तोड़ा जा रहा है। राजनीतिक पक्ष, अफसर पर मनमर्जी से जांच को घुमाने का दबाव डालता है। अगर ऐसा कोई अहम पद है तो सरकार को वहां संबंधित अफसर की नियुक्ति करने से पहले सोच-विचार कर लेना चाहिए था। जब जांच चल रही है तो सरकार की तरफ से अफसर को परेशान किया जाता है, तो ये गलत परंपरा है। अफसर के चयन के समय यदि कोई पार्टी सबूतों सहित आवाज उठाती है तो वह ठीक है।

जांच को प्रभावित करने का प्रयासकई बार विपक्ष की किसी अफसर में रूचि या उसके प्रति अनिच्छा होती है तो वह उसी हिसाब से बयानबाजी करता है। जब कोई अफसर कार्यभार संभाल लेता है और किसी अहम केस की जांच को आगे बढ़ाता है, तब इस तरह के आरोप लगाना ठीक नहीं है। ये सब उसकी नियुक्ति से पहले होना चाहिए था। वानखेड़े को राजनीतिक तौर पर परेशान किया जा रहा है। अगर उन्होंने किसी की गिरफ्तारी की है तो वह सबूतों के आधार पर की गई है। गंभीरता से मामले की जांच हो रही है। आरोपी की जमानत हो या न हो, ये फैसला तो अदालत करेगी। उसमें जांच एजेंसी की भूमिका नहीं होती। वहां दोनों पक्षों के वकील स्वतंत्र तरीके से अपनी दलील रखते हैं। चूंकि इस वक्त वानखेड़े, बड़े केस की जांच कर रहे हैं, इसलिए उन पर राजनीतिक दबाव बनाया जा रहा है। ये संबंधित केस की जांच को प्रभावित करने का प्रयास है। headtopics.com

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

दंगल: क्या अब्बाजान और चिलमजीवी ही यूपी चुनाव के मुद्दे हैं?

उत्तर प्रदेश में चुनाव का माहौल जैसे-जैसे गर्माता जा रहा है, नेताओं की जुबान तीखी होती जा रही है. समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी सरकार को एक बार फिर चिलमजीवी कह के घेरा है. अखिलेश अक्सर चिलम फूंकने का आरोप लगाकर योगी आदित्यनाथ को घेरते रहे हैं. लेकिन चिलम के नाम पर अखिलेश को जवाब संत समाज की ओर से मिला है. कुछ साधु संतों ने इसे संतों का अपमान बताकर अखिलेश से माफी की मांग की है. आज दंगल में देखें क्या चिलम वाले बयान पर अखिलेश ने संतों की नाराजगी मोल ले ली है? और क्या 2022 के चुनाव में इसका असर पड़ेगा? देखें वीडियो.

मुंद्रा पोर्ट पर मिलने वाली 3000 किलो ड्रग्स की जांच कब करायी जाएगी कहीं ऐसा तो नहीं कि सिर्फ इस मामले से ध्यान हटाने के लिए यह सब षड्यंत्र रचा गया है। देखने से तो ये बिल्कुल नहीं लगता जैसा छाप रहा है,, इसमें तो बू ही नहीं बदबू भी आ रही जाँच एजेंसी के साथ केंद्र की मिलीभगत की जब अपराधी तत्व हमारी राजनीति मे घुस जाते है तो ईमानदार नौकरसाह के काम मे बाघा आना लाजमी है । समीर वानखेडे साहब की हिम्मत सराहनीय है ।

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने NCB अधिकारी समीर वानखेड़े पर लगाए गंभीर आरोप - BBC Hindiमहाराष्ट्र सरकार के मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक ने आरोप लगाया है अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत के बाद से बॉलीवुड के लोगों को फंसाया जा रहा है. Why narcoticsbureau yet not responding on this अगर एक middle family वाला होता तो कोई ये भी नहीं बताता कि कौन सी जेल है। अब सब को आग लगी है Tiranga_Virodhi_BJP DirtyPoliticsAgainstFarmers अजय_मिश्र_इस्तीफा_दो किसानआंदोलन किसान_बचेगा_तो_देश_बचेगा किसानों_की_हत्यारी_भाजपा FarmersProtest MSP_कानून_लागू_करो BoycottBollywood boycottgodimedia

NCB दफ्तर पहुंचीं Ananya Panday, समीर वानखेड़े करेंगे पूछताछमुंबई क्रूज शिप ड्रग्स केस में गुरुवार को नया मोड़ आया. ड्रग्स को लेकर एनसीबी की टीम एक्शन में नजर आई. एनसीबी का समन मिलने के बाद अनन्या पांडे एजेंसी दफ्तर अपना बयान दर्ज कराने पहुंच गई हैं. आर्यन खान के साथ हुई ड्रग्स चैट पर एनसीबी एक्ट्रेस से सवाल करेगी. उनके साथ एक्ट्रेस के पिता चंकी पांडे भी मौजूद हैं. आज दोपहर ही अनन्या को समन किया गया था. अनन्या पांडे से एनसीबी जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े पूछताछ करेंगे. समीर वानखेड़े के साथ जांच अधिकारी वीवी सिंह भी मौजूद होंगे. पूछताछ के दौरान वहां एक फीमेल महिला ऑफिसर भी मौजूद रहेगी. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो.

नवाब मलिक का सवाल, मालदीव में क्या कर रहा था NCB अधिकारी समीर वानखेड़े का परिवारमुंबई। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने गुरुवार को दावा किया कि पिछले साल सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद केंद्र सरकार ने विशेष रूप से वानखेड़े को एजेंसी में नियुक्त किया था। मलिक ने यह भी आरोप लगाया कि एनसीबी ने सुशांत की दोस्त रिया चक्रवर्ती को झूठे मामले में फंसाया।

समीर वानखेड़े व नवाब मलिक में जुबानी जंग, एनसीपी नेता के आरोप पर एनसीबी अधिकारी ने दी मुकदमा की धमकीनार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के अधिकारी समीर वानखेड़े एवं राकांपा नेता नवाब मलिक के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। नवाब मलिक ने वानखेड़े पर विदेश जाकर बालीवुड के लोगों से उगाही करने का आरोप लगाया है। इस पर वानखेड़े ने नवाब मलिक पर मुकदमा करने की धमकी दी। तुम्हारी तरह दोगला इंसान नहीं है क्यों कि तुम जैसे मुस्लमान कभी देश का नहीं हो सकता हैं क्यों कि तुम्हारी सोच ही घटिया है क्यो तेरे से पूछ के जाएगा कोई नवाब है तू कहीं का क्या लगता है अगला नंबर इसका ही आने वाला है!

आर्यन ख़ान मामला: नवाब मलिक के आरोपों पर समीर वानखेड़े ने दी सफ़ाई, दुबई जाने से किया इनकार - BBC Hindiमहाराष्ट्र के मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक के गंभीर आरोपों पर एनसीबी के ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने सफ़ाई दी है और कहा कि मलिक बेबुनियाद आरोप लगा रहे है. 3000 किलो का अपडेट कौन देगा Lol nawab malik once again caught lying 😂 ये भाजपाई दल्ला समीर अडानी बंदरगाह से पकडे गये हजारों करोड़ के ड्रग्स पर अभी तक कार्रवाई क्यों नहीं कर रहा है? नवाब मलिक के आरोपों में दम है कि ये समीर खुद फंसने वाला है।

‘वर्ल्ड कप’ सीज करने से लेकर रिया चक्रवर्ती और अब आर्यन खान की हि‍रासत तक, कौन हैं एनसीबी अफसर ‘समीर वानखेड़े’?मुंबई में 14 दिसंबर 1979 को समीर वानखेड़े का जन्म हुआ था। वे मराठी परिवार से हैं। उनके पिता दयानदेव वानखेड़े रिटायर्ड पुलिस ऑफिसर हैं और मां जेहदा वानखेड़े गृहिणी हैं। समीर की बहन यासमीन वानखेड़े पेशे से क्रिमिनल लॉयर हैं।