Re, Punjab Cm, Captain Amrinder Singh, Amrinder Singh Resigns, Vijay Rupani, Virat Kohli

Re, Punjab Cm

राजनीति से खेल के मैदान तक भूचाल... एक हफ्ते में तीन दिग्गजों का इस्तीफा

रुपाणी, कोहली और अब कैप्टन... #RE

19-09-2021 02:00:00

रुपाणी, कोहली और अब कैप्टन... RE

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने शनिवार को राज्यपाल से मुलाकात कर अपना इस्तीफा सौंपा. अमरिंदर सिंह इस्तीफा देने वाले पिछले एक हफ्ते में दूसरे मुख्यमंत्री हैं.

रुपाणी ने शुरू किया इस्तीफे का सिलसिलाइस्तीफों का सिलसिला विजय रुपाणी ने शुरू किया. उन्होंने 11 सितंबर को गुजरात के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देकर बीजेपी में हलचल बढ़ा दी थी. रुपाणी ने अपना दूसरा कार्यकाल पूरा करने से महज सालभर पहले पद छोड़ा.रुपाणी दूसरी बार मुख्यमंत्री बने थे और अपने कार्यकाल का चौथा साल पूरा करने से करीब 3 महीने दूर थे, लेकिन अचानक उन्हें पद से इस्तीफा देना पड़ गया. अगस्त 2016 में आनंदीबेन पटेल के इस्तीफे के बाद विजय रुपाणी पहली बार मुख्यमंत्री बने.

IPL 2021 Final CSK vs KKR: चेन्नई ने फाइनल में कोलकाता को किया पस्त, जीता चौथा खिताब स्वास्थ्य आधार पर ज़मानत पर बाहर भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर के कबड्डी खेलने पर उठे सवाल IPL 2021: चौथी बार चैम्पियन बनी धोनी की CSK, चंद ओवर में बाजी पलट ऐसे KKR को दी मात

फिर 2017 के विधानसभा चुनाव में जीत के बाद भी कमान रुपाणी के पास ही रही. लेकिन पौने 4 साल पद पर रहने के बाद उन्हें भी जाना पड़ा. इस तरह से वह कुल 5 साल 35 दिन तक वह मुख्यमंत्री पद पर बने रहे.रुपाणी की राह पर चले कोहलीइसके बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली भी विजय रुपाणी की राह पर चल दिए. उन्होंने गुरुवार (16 सितंबर) को टी20 फॉर्मेट की कप्तानी से इस्तीफा देकर हर किसी को हैरान कर दिया. कोहली ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए इसकी जानकारी दी. उन्होंने ये भी बताया कि वह टी20 वर्ल्ड कप तक टीम के कप्तान बने रहेंगे.

विराट कोहली 2017 में महेंद्र सिंह धोनी के बाद टी20 के कप्तान बनाए गए थे. वह 4 साल तक इस पद पर रहे. उन्होंने 45 टी20आई में टीम इंडिया की कप्तानी की, जिसमें से 27 में उसे जीत मिली.विराट कोहली ने बतौर कप्तान 45 मैच में 1502 रन बनाए. उनका औसत 48.45 और स्ट्राइक रेट 143.18 रहा है. उन्होंने 12 हाफ सेंचुरी लगाई तो सर्वाधिक स्कोर 94 (नॉट आउट) रहा है. headtopics.com

पंजाब के कैप्टन का भी इस्तीफाभारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली के ऐलान के दो दिन बाद पंजाब के कैप्टन ने भी अपना पद छोड़ दिया. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार शाम होते-होते मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया.राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने के बाद राजभवन के बाहर से मीडिया को संबोधित करते हुए कैप्टन ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में तीसरी बार यह हुआ है. इससे वह अपमानित महसूस कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि सुबह ही इस्तीफा देने का फैसला कर लिया था और इसकी जानकारी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी दे दी थी.

बता दें कि पंजाब कांग्रेस में पिछले कुछ महीनों से उथल-पुथल मची हुई थी. प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू का खेमा अमरिंदर सिंह के गुट पर हावी होने की कोशिश कर रहा था और अंत में उसे सफलता भी मिल गई. और इस तरह अमरिंदर सिंह एक हफ्ते के अंदर इस्तीफा देने वाले तीसरे दिग्गज हैं.

और पढो: आज तक »

JNU के लापता छात्र नजीब एहमद की याद में मार्च, न्याय की मांग | Najeeb Ahmed

जेएनयू के छात्र नजीब अहमद को लापता हुए 5 साल हो गए हैं। नजीब कहां और किस हाल में है इस सवाल का जवाब ना जेएनयू प्रशासन के पास है और ना ही किसी जांच एजेंसी के ...

Please do concentrate on mental harrassment of employees in tech mahindra सीधी सी बात है कि आने वाला समय ईमानदारी,सच्चाई और मेहनतकश लोगों का नहीं है। कोहली ने captain ship छोड़ दी... और, Captain ने ship छोड़ दी... कुछ तो गड़बड़ है 😊😊 Is khabar mai fir se post krne ka kya fayda hai agar kuch change ni krna to,maine kha mera driver chla nuakri chod k vo bhi likho pichle same post pr bhi maine bola tha 💯💯

मुंबई मेट्रो: उद्धव ठाकरे के बयान से भाजपा-शिवसेना के साथ आने के कयास तेजमहाविकास आघाड़ी सरकार को बने दो साल होने को आ रहे हैं. पर शायद ही कोई महीना ऐसा बीतता हो जब शिवसेना और बीजेपी के साथ आने की अटकलें ना लगी हों. आज तो खुद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बयान ने फिर से इन अटकलों को जिंदा कर दिया. ठाकरे ने कहा- मेरे पूर्व मित्र और यदि हम फिर से एक साथ आते हैं, तो भविष्य के मित्र हो सकते हैं. ठाकरे ने यह बात औरंगाबाद में आयोजित एक सार्वजनिक समारोह में कहा है. देखें वीडियो. BJP should never join hands with S. S.

Crime News: बेंगलुरु में एक परिवार के 5 लोगों के शव मिलने से मचा हड़कंप | Bengaluruबेंगलुरु। बेंगलुरु से एक दिल दहला देने वाला समाचार सामने आया है। यहां एक घर में एक ही परिवार के 5 सदस्यों की डेडबॉडी बरामद होने से हड़कंप मच गया है। इन मृतकों में 9 साल की एक बच्ची भी है। इस खुलासे के बाद इलाके में दहशत का माहौल है। यह खौफनाक घटना बेंगलुरु के बयादरहल्ली में हुई। यहां के एक ही परिवार के 4 लोग फांसी के फंदे पर लटके हुए मिले और 9 साल की बच्ची का शव भी बेड पर पड़ा हुआ मिला। इसे लेकर पुलिस ने रेस्क्यू किया।

Punjab के सीएम Captain Amarinder Singh ने दिया इस्तीफा, राज्यपाल से मिलकर सौंपा त्यागपत्रपंजाब कांग्रेस में सियासी घमासान एक बार फिर से शुरू हो गया है. 40 विधायकों के मोर्चा खोलने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. इसके साथ ही उनके मंत्रिमंडल ने भी इस्तीफा सौंप दिया. वह 20 विधायकों और अधिकतर पंजाब के सांसदों के साथ राजभवन पहुंचे जहां राज्यपाल से मिलकर उन्होंने त्यागपत्र सौंप दिया. इसके बाद राजभवन के बाहर से ही उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस को भी संबोधित किया. उधर, कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस के विधायक दलों की शाम पांच बजे बैठक होगी और माना जा रहा है कि उसमें नए विधायक दल के नेता का चुनाव किया जा सकता है. देखें ये वीडियो.

अपनी सैलरी से निजी जरूरतें पूरी करते हैं मोदी, PMO से नहीं लेते एक रुपयाप्रधानमंत्री मोदी 71 साल के हो गए हैं। प्रधानमंत्री होने के बावजूद वह अपने निजी खर्च खुद की सैलरी से ही करते हैं। हालांकि किसी प्रधानमंत्री को कुछ खर्च के लिए पीएमओ से फंड भी दिया जाता है। लेकिन पीएम मोदी इस फंड से एक रुपया नहीं लेते।

एनसीएलएटी मामला : सुनवाई के एक दिन बाद फिर से जस्टिस एआईएस चीमा ने अपना पदभार संभालाराष्ट्रीय कंपनी कानून अपीलीय न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी) के कार्यवाहक अध्यक्ष जस्टिस एआईएस चीमा ने शक्रवार को फिर से

कोरोना से बचाव के लिए हुआ नया अध्ययन- गंभीर संक्रमण से बचा सकता है विटामिन-डीकोरोना के गंभीर संक्रमण से बचा सकता है विटामिन- डी। कोरोना वायरस (कोविड-19) से बचाव को लेकर एक नया अध्ययन किया गया है। इसमें कोरोना के गंभीर संक्रमण की रोकथाम में विटामिन डी की भूमिका पाई गई है। शिक्षक_ट्रांसफर_पोर्टल_चालू_करो CMMadhyaPradesh वर्षों से हमारा ट्रांसफर नहीं होने के पीछे कारण सिर्फ इतना है कि हमारी कोई राजनीतिक पहचान नहींहै हमें कहां पता था कि ट्रांसफर करवाने के लिए भी मंत्री जी से पहचान होना जरुरी होताहै (मध्यप्रदेश की भेदभाव पूर्ण शिक्षक ट्रांसफर नीति)