Rakesh Asthana, Delhi Assembly, Delhi Police Commissioner, Aap Mla Sanjeev Jha, राकेश अस्‍थाना, दिल्‍ली के पुलिस कमिश्‍नर, दिल्‍ली विधानसभा, आम आदमी पार्टी विधायक

Rakesh Asthana, Delhi Assembly

राकेश अस्‍थाना की पुलिस कमिश्‍नर के तौर पर नियुक्ति के खिलाफ दिल्‍ली विधानसभा ने किया प्रस्‍ताव पारित

राकेश अस्‍थाना की पुलिस कमिश्‍नर के तौर पर नियुक्ति के खिलाफ दिल्‍ली विधानसभा ने किया प्रस्‍ताव पारित

29-07-2021 13:17:00

राकेश अस्‍थाना की पुलिस कमिश्‍नर के तौर पर नियुक्ति के खिलाफ दिल्‍ली विधानसभा ने किया प्रस्‍ताव पारित

गुजरात कैडर के राकेश अस्‍थाना ( Rakesh Asthana ) को रिटायरमेंट से तीन दिन पहले दिल्‍ली का पुलिस आयुक्‍त नियुक्‍त (Delhi Police commissioner) किए जाने के मामले में सियासत गर्मा गई है. दिल्ली विधानसभा ( Delhi Assembly ) में गुरुवार को राकेश अस्थाना की पुलिस आयुक्त की नियुक्ति को लेकर चर्चा हुई

नई दिल्ली: .बाद में दिल्‍ली विधानसभा ने अस्‍थाना की दिल्‍ली के पुलिस कमिश्‍नर के तौर पर नियुक्ति के खिलाफ प्रस्‍ताव पारित किया है और गृह मंत्रालय से नियुक्ति वापस लेने को कहा है.आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक संजीव झा ने कहा, 'यह नियुक्ति न केवल असंवैधानिक है बल्कि उच्चतम न्यायालय की अवमानना भी है. 2019 में सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट में कहा गया था कि अगर डीजीपी के लेवल पर किसी की नियुक्ति होनी है, तो उनके रिटायरमेंट में कम से कम 6 महीने का समय होना चाहिए. इस प्रक्रिया में यूपीएससी से सलाह लेने का भी आदेश दिया गया था. इसकी पूरी प्रक्रिया के पालन का आदेश दिया गया था. इस प्रक्रिया के एक भी मानक का पालन राकेश अस्थाना की नियुक्ति में नहीं किया गया है.' 

'वे अभी भी सो रहे हैं': इंस्पिरेशन4 स्पेस मिशन पर राष्ट्रपति बाइडन ने नहीं दी बधाई, एलन मस्क ने उड़ा दिया मजाक यूपी: अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि मृत मिले, विभिन्न दलों ने मौत पर सवाल उठाए पश्चिम बंगाल में हमारी लड़ाई 'तालिबानीकरण' से है: बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सुकांता मजुमदार - BBC Hindi

BIG BREAKING‼️Delhi Assembly passes Resolution against Rakesh Asthana's appointment as Delhi Police Commissioner, asking the MHA to reverse his appointment.— AAP (@AamAadmiParty) July 29, 2021यह भी पढ़ेंSC में जज मर्डर की गूंज, बार एसोसिएशन प्रमुख ने की CBI जांच की मांग, ऑटो ड्राइवर गिरफ्तार

विधानसभा के पटल पर संजीव झा ने राकेश अस्थाना की नियुक्ति खारिज कराने का प्रस्ताव रखा. उन्‍होंने कहा कि पीएम मोदी के राकेश अस्थाना 'ब्लू आई ब्वाय' रहे हैं, जब-जब पीएम को उनकी जरूरत पड़ी, वे उपलब्ध रहे. 2011 में उन पर लेन देन का आरोप लगा. 2017 में सीबीआई में उनके रहते हुए बड़ा विवाद हुआ था, सीबीआई हेड के रूप में उनकी नियुक्ति के मामले पर भी सुप्रीम कोर्ट ने सवाल किया था. अस्थाना को स्पेशल मिशन पर भेजा गया है, जब-जब प्रधानमंत्री को लगा कि उन पर कोई गाज गिर सकती है, तो अस्थाना की नियुक्ति हो जाती है. केंद्र को दिल्ली में हो रहे अपराध की चिंता नहीं है, अगर अपराध रोकने की मंशा होती, तो AUGMUT कैडर से अधिकारी की नियुक्ति होती. क्या इस कैडर में कोई अनुभवी अधिकारी नहीं है. झा ने सवाल किया कि बालाजी श्रीवास्तव को क्यों जिम्मेदारी देने के बाद हटा दिया गया.इनकी मंशा दिल्ली को अस्थिर करने की है, आज न सिर्फ दिल्ली की एक चुनी हुई सरकार के अधिकार छीने जा रहे हैं, बल्कि एक ऐसे अधिकारी को भेजकर डराने की कोशिश कर रहे हैं. यहां बैठे ज्यादातर सदस्य पुलिस की प्रताड़ना का शिकार हुए हैं. headtopics.com

'नाबालिग पूरी रात बीच पर क्यों थे?', गैंगरेप केस पर गोवा CM की टिप्पणी पर बवालListen to the latest songs, only on JioSaavn.com'आप' विधायक ने कहा कि इसके पीछे की मंशा दिल्ली को अस्थिर करने की है, आज न सिर्फ दिल्ली की एक चुनी हुई सरकार के अधिकार छीने जा रहे हैं, बल्कि एक ऐसे अधिकारी को भेजकर डराने की कोशिश कर रहे हैं. यहां बैठे ज्यादातर सदस्य पुलिस की प्रताड़ना का शिकार हुए हैं. हमारी चिंता दिल्ली की क्राइम को लेकर है, बाहर से आया हुआ ऐसा व्यक्ति दिल्ली पुलिस की कार्यप्रणाली को नहीं समझ पाएगा. Rakesh AsthanaDelhi AssemblyDelhi Police commissionerAAP MLA sanjeev Jhaटिप्पणियां पढ़ें देश-विदेश की ख़बरें अब हिन्दी में (Hindi News) | कोरोनावायरस के लाइव अपडेट के लिए हमें फॉलो करें |

लाइव खबर देखें: और पढो: NDTVIndia »

Mahant Narendra Giri की रहस्यमयी मौत- सुसाइड या मर्डर? देखें दस्तक

जब राष्ट्रीय अखाड़ा परिषद के प्रमुख महंत नरेंद्र गिरि की मृत्यु की खबर आई और इस खबर के साथ ही सवाल ने जन्म लिया कि सुसाइड किया या हत्या हुई? क्योंकि यूपी पुलिस जब महंत नरेंद्र गिरि की मौत को शुरुआती जांच में सुसाइड कह रही है. तब सुसाइड नोट में जिस शिष्य का नाम है वो साजिश के तहत हत्या बता रहा है. अलग-अलग आरोप लगाए जा रहे हैं. जो नाम चल रहे हैं वो हैं आनंद गिरि, अजय सिंह, मनीष शुक्ला, अभिषेक मिश्रा और इसके अलावा दो और नाम जोड़े जा रहे हैं. सबसे बड़ा नाम आरोपी के तौर पर शिष्य आनंद गिरि का है जिसे उत्तराखंड में हिरासत में ले लिया गया है. देखें 10 तक का ये एपिसोड.

ऐसे व्यक्ति को कुर्सी देना मतलब साफ है केंद्र सरकार के मन खोट है, Sanjeev_aap Tomorrow if Asthana remains Police Commissioner, will get Police Commissioner vs AAP , really look nice Sanjeev_aap Sanjeev_aap Ye glt hai appointment bus NSA mt lga dena Sanjeev_aap Ndtv to hai videshi गुजरात कैडर के IPS राकेश अस्थाना की सिर्फ़ तीन सालों में ही पाँच अलग-अलग पदों पर अप्रत्याशित नियुक्ति की गई है. अब गृह मंत्रालय ने उन्हें दिल्ली पुलिस का कमिश्नर नियुक्त कर दिया है,राकेश अस्थाना 31 जुलाई को सेवानिवृत हो रहे थे लेकिन सरकार ने उन्हें एक साल का एक्सटेंशन दे दिया है.

कहीं किसी को जबरन नौकरी से निकाला जा रहा है और कहीं निकलने ही नहीं दिया जा रहा है। सब मोदिमाया है। खुद राकेश स्थाना एक नंबर का चोर है । ऐक बार देश की जनता को जाग ना होगा और लशकर साही लाना होगा🇮🇳 हमारे देश में क्या अहम है वो नही दिखाएंगे,पर वो अवश्य दिखाइए आप जिस मुद्दे को हम बाद में भी चला सकते है, यहां हम योग्य युवा रोजगार ऐसे ही अपनी जान देते रहेंगे,और आप ओलंपिक में मेडल जीतना। धन्य है हम और हमारे देश के लोग, अंग्रेजो से लड़ना उतना मुश्किल नहीं था जितना अपनो से लड़ना।।

नियुक्ती तो गृह मंत्रालय की ओर से होती है ।दिल्ली सरकार की परेशानी समझ से परे है ?

जिम्मेदारी: दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर बने राकेश अस्थाना, मोदी सरकार ने की नियुक्तिदिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर बने राकेश अस्थाना, मोदी सरकार ने की नियुक्ति Delhi DelhiPolice rakeshasthana HMOIndia DelhiPolice HMOIndia DelhiPolice Amar Ujala सोशल मीडिया के मेरे फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पेज को लाइक और फॉलो करे फेसबुक - इंस्टाग्राम - ट्विटर - व्हाट्सएप्प - समीर श्रीवास्तव HMOIndia DelhiPolice आउटसोर्स कर्मचारी ने अपने जीवन समय विभागो में सेवा को दिया हैउन्हें विभाग द्वारा नियमित आधार पर अन्य कर्मचारी की नियुक्ति पर आउटसोर्स को विभाग से निकालने का डर रहता है तब उम्र के हिसाब से आउटसोर्स वालोंको काम मिलने के अवसर नहि होते है व उनके परिवार को पालन पोषण बहुत ही कठिन है

राकेश अस्थाना की नियुक्ति के खिलाफ दिल्ली विधानसभा में प्रस्ताव, केंद्र पर बरसे AAP नेतादिल्ली विधानसभा में राकेश अस्थाना की नियुक्ति के खिलाफ प्रस्ताव पारित किया गया है. गुरुवार शाम को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल विधानसभा में इस मसले पर संबोधन देंगे. KumarKunalmedia KumarKunalmedia डरने लगे हैं सब

राकेश अस्थाना: गुजरात कैडर के IPS, जो मोदी-शाह के रहे 'भरोसेमंद' - BBC News हिंदीराकेश अस्थाना की सिर्फ़ तीन सालों के अंतराल में पाँच अलग-अलग पदों पर नियुक्ति की गई है. तू भी अब संभल

राकेश अस्थाना बने दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर, गुजरात कैडर के हैं IPSगृह मंत्रालय ने राकेश अस्थाना को दिल्ली पुलिस का नया कमिश्नर नियुक्त करने के संबंध में आदेश जारी कर दिया है. अस्थाना इस समय सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के महानिदेशक (डीजी) पद पर तैनात हैं. TanseemHaider और चुनावी चंदा..? यूँही पुरस्कृत नहीं करता हैं तडीपार TanseemHaider शुभ कामनाएं TanseemHaider चोर भी रहेगा और बीजेपी को मदद करेगा तो उसको इनाम मिलेगा ही

Delhi Police Commissioner: गुजरात कैडर के आइपीएस अधिकारी राकेश अस्थाना बने दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नरदिल्ली पुलिस को नया कमिश्नर मिला है। राकेश अस्थाना को यह नई जिम्मेदारी मिली है। राकेश अस्थाना फिलहाल बीएसएफ के डीजी हैं। आयुक्त का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे यूटी कैडर के 1988 बैच के आइपीएस बालाजी श्रीवास्त से तत्काल प्रभाव से यह जिम्मेदारी हटा ली गई है। राकेश अस्थाना..?वो भी देश की राजधानी के कमिश्नर ...? Bihar_Needs_Physical_Teachers Fabulous

IPS राकेश अस्थाना बने दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर, कांग्रेस ने खड़े किए सवालIPS राकेश अस्थाना दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर बने; कांग्रेस के प्रवक्ता Pawankhera ने कहा है कि राकेश अस्थाना को नियमों की अनदेखी करके यह पद दिया गया है. Delhi India (patelanandk ) Pawankhera patelanandk विरोध करते करते कांग्रेसी कहीं कांग्रेस का विरोध न करने लगे Pawankhera patelanandk पप्पू को बना दें Pawankhera patelanandk On which issue Congress has not raised question? But the result is always 👎🏿👎🏿👎🏿