Ravidastemple, Bhimarmy, Chandrashekharazad, रविदासमंदिर, भीमआर्मी, चंद्रशेखरआजाद

Ravidastemple, Bhimarmy

रविदास मंदिर मामला: भीम आर्मी प्रमुख समेत 96 लोग 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर डीडीए ने 10 अगस्त को तुगलकाबाद स्थित संत रविदास मंदिर गिरा दिया था, जिसे लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं.

23-08-2019 21:30:00

रविदास मंदिर मामला: भीम आर्मी प्रमुख समेत 96 लोग 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए RavidasTemple BhimArmy ChandrashekharAzad रविदासमंदिर भीमआर्मी चंद्रशेखरआजाद

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर डीडीए ने 10 अगस्त को तुगलकाबाद स्थित संत रविदास मंदिर गिरा दिया था, जिसे लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं.

नई दिल्लीःदिल्ली की एक अदालत ने तुगलकाबाद इलाके में कथित रूप से दंगा करने और अवैध रूप से जमा होने के आरोप में हिरासत में लिए गए भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद और 95 अन्य को गुरुवार को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया.तुगलकाबाद इलाके में रविदास मंदिर को गिराए जाने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के बाद उन्हें बुधवार रात को

योगी सरकार में मंत्री चेतन चौहान की किडनी फेल, लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखे गए राजस्थानः अशोक गहलोत ने की सचिन पायलट के विभाग की तारीफ, कहा- सबसे ज्यादा काम हुआ चांद पर निर्माण के लिए भारतीय वैज्ञानिकों ने बनाई स्पेशल ईंट - trending clicks AajTak

हिरासतमें लिया गया था और गोविंदपुरी थाने में भारतीय दंड संहिता की अलग-अलग धाराओं में उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी.पुलिस ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर 10 अगस्त को डीडीए ने जहांपना जंगल में मंदिर को गिरा दिया था.पुलिस ने बताया कि उसी स्थान पर मंदिर बनाने की मांग को लेकर रामलीला मैदान में 10,000 लोग इकट्ठा हो गए थे, लेकिन प्रदर्शन के दौरान करीब पांच हजार लोगों ने आजाद की अगुवाई में मंदिर स्थल की ओर मार्च की योजना बनाई.

प्राथमिकी में कहा गया है कि कुछ लोगों के पास लाठी और छड़ियां थीं जिन पर झंडे लगाए हुए थे, वे सरकार और सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे.500 साल पुराना यह मंदिर रविदासिया धर्म के अनुयायियों के लिए पवित्र स्थल है, जिनमें से अधिकतर दलित हैं.मंदिर को गिराए जाने को लेकर संप्रदाय के कई नेताओं द्वारा गोविंदपुरी के रविदास मार्ग पर नियमित विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं. इनकी मांग है कि इसी स्थान पर मंदिर का दोबारा निर्माण किया जाए.

पंजाब के कई हिस्सों में भी प्रदर्शन हो रहे हैं, जहां पर कवि संत रविदास के अनुयायी बड़ी संख्या में हैं.पिछले सप्ताह अदालत ने पंजाब, हरियाणा और दिल्ली की सरकारों को कानून एवं व्यवस्था संबंधी समस्याएं नहीं होने और इस मुद्दे को राजनीतिक रंग नहीं दिया जाए, ऐसा सुनिश्चित करने के निर्देश दिए थे.

एफआईआर में प्रदशर्नकारियों की संख्या 4,000 से 5,000 बताई जा रही है लेकिन विभिन्न मीडिया रिपोर्टों और प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक यह संख्या दोगुनी है.पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प उस समय शुरू हुई, जब प्रदर्शन के तय स्थान रामलीला मैदान के बजाए प्रदर्शनकारियों ने मंदिर स्थल की ओर मार्च करना शुरू किया.

पुलिस का कहना है कि अशांत भीड़ ने बार-बार दी गई चेतावनियों पर कोई ध्यान नहीं दिया और बिना उकसावे के ही उन पर हमला कर दिया.हालांकि प्रदर्शनकारियों नेद वायरको बताया कि रैली शांतिपूर्ण थी, कुछ लोग घटनास्थल पर जाना चाहते थे क्योंकि यह उनके लिए बहुत ही भावनात्मक मुद्दा है लेकिन पुलिस ने लाठी चार्ज करना शुरू कर दिया.

घटनास्थल पर मौजूद दलित कार्यकर्ताओं ने कहा कि रैली शांतिपूर्ण थी और पुलिस द्वारा कथित तौर पर बल का प्रयोग करने के बाद ही हंगामा शुरू हुआ.प्रदर्शनकारियों ने इसमें एक बड़ी साजिश का दावा किया है, जहां पहले तो दक्षिणपंथी कार्यकर्ता प्रदर्शनकारियों के साथ जुड़ गए और बाद में हंगामा करना शुरू कर दिया, जिससे यह झड़प हुई.

कांग्रेस ने की 'धरोहर' की शुरुआत, पार्टी के 135 साल के इतिहास और विरासत पर चर्चा CM केजरीवाल बोले- दिल्ली में नहीं खोलने जा रहे स्कूल, देशवासी लें ये 3 प्रण लाल किले से चीन-पाक पर बोले पीएम मोदी- जिसने भी आंख उठाई, माकूल जवाब दिया

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ) और पढो: द वायर हिंदी »

सेलिब्रेशन का नया तरीका: अंगूरी भाभी उर्फ शुभांगी अत्रे ने कोविड-19 फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ मनाया बेटी का ...

Anguri Bhabhi aka Shubhangi Atre celebrated daughter's birthday with covid-19 frontline workers, said- 'Daughter will be responsible towards the country after seeing them'

दिल्ली: संत रविदास मंदिर गिराने के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन, भीम आर्मी प्रमुख गिरफ़्तारसुप्रीम कोर्ट के आदेश पर तुगलकाबाद स्थित संत रविदास मंदिर गिराने के विरोध में दलित संगठनों ने बुधवार को रामलीला मैदान में रैली की थी, जो बाद में हिंसक हो गई थी. इसके बाद भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद सहित करीब 100 लोगों को हिरासत में ले लिया गया. अयोध्या मे अगर राम मंदिर बना भी लिया गया तो क्या वह गिरा दिया जायेगा! sardanarohit sanjaynirupam SanjayAzadSln sanjuydv KailashOnline DalaiLama RSSorg ImamBukharee BJP4India INCIndia samajwadiparty MaheshNBhatt Mahabahas pbhushan1 DrMohanBhagwat मंदिर मत गिराओ भईया इसी कारण तुम लोग सत्ता में हो एकमात्र यही वजह है Jay guru

रविदास मंदिर मामला: प्रदर्शनकारियों ने सौ से अधिक गाड़ियां तोड़ीं, चंद्रशेखर समेत दर्जनों हिरासत मेंरविदास मंदिर मामला: प्रदर्शनकारियों ने सौ से अधिक गाड़ियां तोड़ीं, चंद्रशेखर समेत दर्जनों हिरासत में ravidasmandir ChandrasekharAzad इन सालों पर कुछ और तो होता नहीं बस खड़ी गाड़ियों को तोड़ते हैं क्योंकि इनके बाप की भी औकात नहीं है कि गाड़ी खरीद ले हां दूसरे की गाड़ी को जरूर तोड़ना जानते हैं हरामखोर हो पहले इतना पैसा कमाओ की गाड़ी दरवाजे के बाहर खड़ी करो और जब कोई उसमें मारे तब देखना कितनी मिर्च लगती हैं बेबुनियाद आरोप के सिवा कुछ नहीं... झूठे आरोप लगाकर फ़साना चाहती है सरकार जिसमें गोदी मीडिया घी डालने का काम कर रही है। इतना बड़ा शांतिपूर्ण जनसैलाब भारत के इतिहास में कभी नहीं हुआ... भीमआर्मी अम्बेडकरवादी है सब Ravikanttwitt wrangler009 मत उकसाओ जनता को हम सब आपस मे एक है

रविदास मंदिर विवाद: तुगलकाबाद में हिंसा, हालात जल्द काबू कर सकेगी पुलिस?सुप्रीम कोर्ट के एक आदेश के बाद दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने 10 अगस्त 2019 को रविदास मंदिर को गिरा दिया. पिछले लंबे समय से रविदास मंदिर बनाम डीडीए नाम से केस चल रहा था और कोर्ट के फैसले में डीडीए की जीत हासिल हुई थी. Good News ये कल की खबर है सबसे तेज आज तक सर्म करो सर्म उठाओ दंगाइयों को

रविदास मंदिर तोड़े जाने पर दिल्ली में प्रदर्शन जारी, दलित नेता चंद्रशेखर सहित 96 लोग अरेस्टमंदिर गिराने के विरोध में दलित समाज ने आंबेडकर भवन से एक रैली निकाली जो रामलीला मैदान होते हुए तुगलकाबाद के लिए रवाना हुई. पुलिस के मुताबिक रैली में शांतिपूर्ण प्रदर्शन की जगह हिंसक झड़प होने लगी. ऐसे में पुलिस ने आंसू गैस और हवाई फायरिंग की. Pelo salo ko ये लोग संविधान को भी नहीं मानते Mandir toda jaana sharmnaak h vo bhi BJP k raaz m police ko action lena chahiyee

रविदास मंदिर विवाद: AAP विधायक अजय दत्त ने विरोध में फाड़ी अपनी शर्टआप विधायक अजय दत्त ने दिल्ली विधानसभा के बाहर अपनी कमीज फाड़ डाली। उन्होंने कहा, ‘‘अगर भारतीय जनता पार्टी हमें जीने नहीं देना चाहती है तो उसे हमें डंडों से मारना चाहिए।’’

रविदास मंदिर दलितों के संघर्ष का प्रतीक, इसे फिर से बनाना चाहिए: ममता बनर्जीये सिर्फ पीड़ा दे सकती है समझ नही सकती ममता बनर्जी बस उपद्रवियों की पीड़ा समझ सकती हैं.. Wo gharyali ansu”chacha kaha chale gaye jo kehte the mere Dalit bhaion ko nahi maro, marna hai to mujhe maro...aaj nahi kehrahe haun unka mandir nahi todo....?