Icc, Sport, The International Cricket Council, Newly-Elected Chairman Greg Barclay, Conceded That The Ambitious, World Test Championship, Hasn't Quite Achieved What It Intended, To And The Disruption Caused By Covid-19, Has Only Highlighted Its 'Shortcomings'

Icc, Sport

ये शुरुआती वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप ही आखिरी? ICC चेयरमैन ने दिया संकेत

विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप वो लक्ष्य हासिल नहीं कर पाई, जिसके लिए इसे बनाया गया था: #ICC के नव नियुक्त चेयरमैन ग्रेग बार्कले #Sport

30-11-2020 12:39:00

विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप वो लक्ष्य हासिल नहीं कर पाई, जिसके लिए इसे बनाया गया था: ICC के नव नियुक्त चेयरमैन ग्रेग बार्कले Sport

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ( ICC ) के नव नियुक्त चेयरमैन ग्रेग बार्कले ने सोमवार को स्वीकार किया कि विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप वो लक्ष्य हासिल नहीं कर पाई, जिसके लिए इसे बनाया गया था.

महामारी के कारण विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (WTC) का कार्यक्रम अस्त-व्यस्त हो गया. आईसीसी ने प्रतिशत के हिसाब से अंक देने का फैसला किया क्योंकि 2021 में लॉर्ड्स में फाइनल से पहले सभी निर्धारित सीरीज इतने कम समय में पूरी नहीं की जा सकती.टेस्ट चैम्पियनशिप ने क्या उद्देश्य के हिसाब से प्रारूप में बदलाव किया है, तो उन्होंने वर्चुअल मीडिया कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, ‘संक्षिप्त में कहूं तो मुझे ऐसा नहीं लगता. कोविड-19 ने शायद चैम्पियनशिप की कमियों को उजागर ही किया है.’

कोरोना: समाजवादी नेता अखिलेश यादव भी पॉज़िटिव - आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi आंबेडकर: रात भर किताबें पढ़ते और सवेरे अख़बारों में रम जाते - BBC News हिंदी कोरोना से छत्तीसगढ़ बेहाल, मरीज़ परेशान, शवों के लिए जगह नहीं - BBC News हिंदी

न्यूजीलैंड के बार्कले को लगता है कि मौजूदा क्रिकेट कैलेंडर में काफी समस्याएं विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के कारण हुई, जिसे प्रारूप को लोकप्रिय बनाने के लिए लाया गया और उनके अनुसार ऐसा नहीं हुआ.उन्होंने कहा, ‘हमारे पास जो मुद्दे थे, मुझे लगता है कि इनमें से कुछ टेस्ट चैम्पियनशिप को लाने के प्रयास के कारण हुए, जिसका उद्देश्य टेस्ट क्रिकेट में लोगों की दिलचस्पी वापस लाने का था.’

बार्कले ने कहा, ‘आदर्शवादी नजरिए से देखा जाए तो यह काफी अच्छी थी, लेकिन व्यावहारिक रूप से मैं भी इससे सहमत नहीं हूं. मैं भी सुनिश्चित नहीं हूं कि इसने वो सब हासिल किया, जिसके लिए इसे बनाया गया था.’देखें: आजतक LIVE TVबल्कि बार्कले ने संकेत दिया कि शुरुआती डब्ल्यूटीसी अंतिम हो सकती है क्योंकि छोटे सदस्य टेस्ट क्रिकेट चैम्पियनशिप नहीं करा सकते. उन्होंने कहा, ‘मेरा व्यक्तिगत विचार है कि कोविड-19 में हम इसमें जो कुछ कर सकते हैं, वो अंकों को बांटकर कर सकते हैं और बस इतना ही.’ headtopics.com

उन्होंने कहा, ‘लेकिन एक बार ऐसा करने हमें फिर से बातचीत करनी चाहिए क्योंकि मैं निश्चित नहीं हूं कि इसने (डब्ल्यूटीसी) ने अपना उद्देश्य हासिल किया, जिसके लिए इसे चार-पांच साल पहले विचार के बाद बनाया गया था. मुझे लगता है कि हमें इसे कैलेंडर के हिसाब से देखना चाहिए और क्रिकेटरों को ऐसी स्थिति में नहीं पहुंचाना चाहिए, जिसमें यह स्थिति को खराब ही कर दे.’

और पढो: आज तक »

12 दिनों में मौत का तांडव: इंदौर के 5 मुक्तिधामों में 1001 चिताएं जलीं, हर तीसरा शव कोरोना संक्रमित का; कर्मचारी बोले- नहीं देखा कभी ऐसा मंजर

कोरोना की भयावह स्थिति का अंदाजा श्मशान घाटों में जलती चिताओं से लगाया जा सकता है। इंदौर शहर के अस्पतालों में ही नहीं, बल्कि मुक्तिधामों में भी वेटिंग चल रही है। कोरोना से जंग हारे लोगों के शवों की अंत्येष्टि करने के लिए मुक्तिधाम पर भी घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। 51 मुक्तिधाम-कब्रिस्तानों वाले इंदौर के पांच प्रमुख मुक्तिधामों में अप्रैल के 12 दिनों मेें 1001 शवों का अंतिम संस्कार किया गया है। इ... | Orgy of death in 12 days, 5 Muktidham 990 pyre .. workers have never seen such a scene