Olympics, हॉकी में जीत के बाद रोने लगे सोनी के कमेंटेटर, सुनील तनेजा सिद्धार्थ पांडेय कमेंट्री, भारतीय हॉकी टीम ओलंपिक, ओलिंपिक में भारतीय हॉकी टीम, Sunil Taneja Siddharth Pandey, İndian Hockey Team İn Top 4, İndian Hockey Team İn Tokyo Olympic, İndian Hockey Team İn Semifinal, India Vs Great Britain, Commentators Sunil Taneja And Siddharth İn Tears, News, News İn Hindi, Latest News, Headlines, खबरें Samachar

Olympics, हॉकी में जीत के बाद रोने लगे सोनी के कमेंटेटर

ये खुशी के आंसू हैं: जब भारतीय हॉकी टीम की जीत की खबर सुनाते वक्त रोने लगे कमेंटेटर्स

ये खुशी के आंसू हैं: जब भारतीय हॉकी टीम की जीत की खबर सुनाते वक्त रोने लगे कमेंटेटर्स #Olympics

01-08-2021 20:38:00

ये खुशी के आंसू हैं: जब भारतीय हॉकी टीम की जीत की खबर सुनाते वक्त रोने लगे कमेंटेटर्स Olympics

जिसके खेल में कभी भारत का परचम लहराता था। विश्व पटल पर हॉकी भारत की दूसरी पहचान बन गया था। ओलिंपिक में आठ गोल्ड मेडल आए थे। उस खेल में अगर भयानक गिरावट के 41 बाद टीम टॉप-4 में पहुंचती है तो देशवासियों का भावुक होना लाजिमी है।

नई दिल्लीकिताबों में भले ही हॉकी भारत का राष्ट्रीय खेल कहलाता हो, लेकिन सवा सौ करोड़ से ज्यादा की आबादी वाले देश में क्रिकेट लोगों के लहू में बहता है। कुछ लोग इसकी एक वजह बड़े टूर्नामेंट में भारतीय हॉकी टीम का खराब प्रदर्शन भी कहते हैं।वैसे बुनियादी सुविधाओं का अभाव। खेल संघ का उदासीन रवैया और राजनीति भी हॉकी को पीछे धकेलने में आगे रही। अब तोक्यो ओलिंपिक में एक नई उम्मीद जागी है क्योंकि चार दशक बाद पहली बार टीम इंडिया टॉप-4 में पहुंची। इस ऐतिहासिक लम्हे का आंखों देखा हाल सुनाने वाले कमेंटेटर्स भी खुद की भावनाओं पर काबू नहीं रख पाए।

'कौन कब साथ आ जाए, नहीं बता सकते', उद्धव के बयान से शिवसेना-BJP गठबंधन की अटकलों को हवा न्यूज़ीलैंड ने रद्द किया पाकिस्तान दौरा, मैदान में उतरने से पहले किया फ़ैसला - BBC News हिंदी अमेरिका-ब्रिटेन की मदद से ऑस्ट्रेलिया के पास जल्द होगी परमाणु पनडुब्बी, घबराए चीन ने दी परमाणु हमले की धमकी

रोने लगे सोनी के ब्रॉडकास्टर्सदेश में ओलिंपिक खेलों का प्रसारण सोनी नेटवर्क कर रहा है। अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी भाषा में भी इसकी लाइव कमेंट्री होती है। ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ क्वार्टर फाइनल मैच में इसका जिम्मा सुनील तनेजा संभाल रहे थे, वही सुनील जिन्हें भारतीय खेलों की आवाज कहा जाता है। उनका साथ सिद्धार्थ पांडेय निभा रहे थे। जैसे ही फाइनल सिटी बजी। दोनों कमेंटेटर्स अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पाए। आंखों से टपटप आंसू बह रहे थे। दोनों एक दूसरे का ढांढस बांधते रहे। फफक-फफक कर रोते हुए मैच का हाल सुनाते रहे।

ये जीत ऐतिहासिक हैयुवा खिलाड़ियों से सजी भारत की पुरुष हॉकी टीम रविवार को खेले गए क्वार्टर फाइनल मुकाबले में ब्रिटेन को 3-1 से हराकर चार दशक बाद पहली बार टॉप-4 में एंट्री बनाई। 41 साल के अंतराल के बाद इस मुकाम में पहुंचने वाली भारतीय टीम के लिए दिलप्रीत सिंह ने सातवें, गुरजंत सिंह ने 16वें और हार्दिक सिंह ने 57वें मिनट में गोल किया। ब्रिटेन के लिए एकमात्र गोल सैमुएल वार्ड ने 45वें मिनट में किया। सेमीफाइनल में भारत का सामना विश्व चैम्पियन बेल्जियम से होगा, जिसने तीसरे क्वार्टर फाइनल मैच में स्पेन को 3-1 से हराया। headtopics.com

VIDEO: हम होंगे कामयाब, 41 साल बाद मेडल के बेहद करीब पहुंची भारतीय हॉकी टीम1980 के बाद पहली बार खेलेगा फाइनल?बेल्जियम को हराकर भारत 1980 के बाद पहली बार फाइनल में पहुंचना चाहेगा, जब उसने स्पेन को हराकर अपना आठवां स्वर्ण पदक जीता था। बेल्जियम के हाथों हार के बाद भारत को फिर से कांस्य पदक के लिए भिड़ना होगा। भारत अगर जीत हासिल करने में सफल रहा तो उसका सामना ऑस्ट्रेलिया या जर्मनी के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा। जर्मनी ने जहां दिन के पहले मुकाबले में ओलंपिक चैम्पियन अर्जेंटीना को 3-1 से हराया वहीं ऑस्ट्रेलिया ने नीदरलैंड्स को पेनाल्टी शूटआउट के बाद 3-0 से हराया।

Navbharat Times News App: और पढो: NBT Hindi News »

कोरोना से बच्चों पर असर की ग्राउंड रिपोर्ट: स्मार्टफोन न होने से गांव का हर तीसरा बच्चा पढ़ाई से महरूम, शहरी बच्चों में मेंटल हेल्थ बड़ी समस्या

कोविड के चलते पिछले 18 महीनों में स्कूली बच्चों की पढ़ाई बुरी तरह प्रभावित हुई है। शहरी इलाकों में तो कुछ हद तक डिजिटल लर्निंग की सुविधाएं ज्यादा रहीं, लेकिन गांवों में खास करके सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे सिर्फ कागजों पर ही 2 क्लास आगे बढ़े हैं, असल में वे कुछ भी नया नहीं सीख पाए हैं। डिजिटल डिवाइड की इस हकीकत को समझने के लिए दैनिक भास्कर शहरी और ग्रामीण इलाकों में ग्राउंड जीरो पर पहुंचा।... | Uttar Pradesh School Reopening Ground Report ऑनलाइन क्लास के लिए रोजाना लिंक भेजे जाते हैं जिन पर सवेर रोजाना क्लास कर रहे हैं। हर तरह की सुख सुविधाओं से लैस हैं, कंप्यूटर, मोबाइल, आइपैड, फास्ट स्पीड इंटरनेट।

किसान की ओलिंपियन बेटी कमलप्रीत की कहानी: पंजाब के गांव मुक्तसर से निकलकर शाकाहार के दम पर पाया मुकाम; बड़े संस्थानों में दाखिला नहीं मिला तो स्कूल के स्टेडियम में की प्रैक्टिसजब आदमी कुछ कर गुजरने की ठान लेता है तो फिर कोई भी डगर मुश्किल नहीं होती। यही कहानी है पंजाब मुक्तसर के छोटे से गांव से निकलकर ओलिंपिक के फाइनल में जगह बना चुकी कमलप्रीत कौर की। वह पिछले 7 साल से इस मुकाम के लिए संघर्ष कर रही है। इतना ही नहीं, आम तौर पर देर-सवेर खिलाड़ी नॉनवेज खाने को अपना ही लेते हैं, लेकिन कमलप्रीत कौर ने ऐसा भी कुछ नहीं अपनाया। शुद्ध शाकाहार के दम पर ही इतना बड़ा मुकाम पाया है। न... | Punjab: Farmer's daughter made a place with indigenous diet, if she did not get admission in the center of SAI, she used to go to the nearby school every day. जब आदमी कुछ कर गुजरने की ठान लेता है तो फिर कोई भी डगर मुश्किल नहीं होती। यही कहानी है पंजाब मुक्तसर के छोटे से गांव से निकलकर ओलंपिक के फाइनल में जगह बना चुकी कमलप्रीत कौर की। वह पिछले 7 साल से इस मुकाम के लिए संघर्ष कर रही है

दुनिया के महान फुटबॉलर में से एक Neymar की देखें संघर्ष की कहानीब्राजील के फुटबॉलर नेमार दुनिया के महान खिलाड़ियों की फेहरिस्त में शामिल हैं. लेकिन नेमार का बचपन संघर्ष से भरा था. लेकिन तमाम मुश्किलों के बावजूद नेमार ने कभी हार नहीं मानी और अब नेमार पूरी दुनिया में मशहूर हैं. फुटब़ॉल की दुनिया में रोनाल्डो और मेसी के साथ अगर किसी महान खिलाड़ी का नाम गिना जाता है तो वो है नेमार. ब्राजील के इस फुटब़ॉल खिलाड़ी का पूरी दुनिया लोहा मानती है. साल 2017 में नेमार दुनिया के सबसे महंगे फुटबॉल खिलाड़ी बने थे. लेकिन नेमार के लिए ये मुकाम हासिल करना आसान नहीं था. उनकी जिंदगी संघर्ष से सफलता हासिल करने की कहानी है. देखिए.

देश में तत्काल तीन तलाक के मामलों में आई 80 फीसद की कमी : मुख्तार अब्बास नकवीतत्काल तीन तलाक कुप्रथा के खिलाफ कानून लागू करने के दो साल पूरे होने पर रविवार को देशभर में विभिन्न संगठनों ने मुस्लिम महिला अधिकार दिवस के तौर पर मनाया और कानून बनाने के लिए केंद्र सरकार की सराहना की। naqvimukhtar लेकिन दैनिक भास्कर को टैक्स चोरी नहीं करनी चाहिए थी। naqvimukhtar स्विस बैंकों में कितना काला धन है आकड़ा नही, कोरोना से कितनी मौते हुई आकड़ा नही, विपक्ष की किसी भी बात का आकड़ा नही होता मगर बात जब अपनी पीठ थपथपाने की हो तो सारे आकड़े होते हैं झूठो के पास naqvimukhtar पंचायत सहायक भर्ती में CCC को अनिवार्य करें क्योंकि बिना कंप्यूटर के जानकार अगर भर्ती होंगे तो कैसे काम चलेगा कंप्यूटर में जो निर्पुण हो उसी का चयन करें क्योंकि आज के समय में 10th 12th के इतने नंबर आ जाते हैं की वो मेरिट में आ जाते है और योग्य का नही हो पाता है

नागरिकों के सम्मान की रक्षा के लिए बहुत कुछ करने की जरूरत: जस्टिस ललितसुप्रीम कोर्ट के जज, जस्टिस यूयू ललित ने कहा है कि देश के हरेक पुलिस थाने में किसी भी नागरिक को फ्री कानूनी सहायता दिए जाने की जानकारी डिस्प्ले बोर्ड पर लिखी होनी चाहिए. सभी आरोपियों को पता होना चाहिए कि कानूनी सहायता उसका अधिकार है और ये भी कि उसे ये सुविधा कैसे मिलेगी. mewatisanjoo Mr Justice you nonsense anpad ganwar politicians need to be educated. mewatisanjoo बोलने से कुछ नही होता जज साहेब करने से होता है; सर्वप्रथम तो जितने भी पद खाली हैं जजों के, उन्हें तत्काल से भरने की प्रक्रिया शुरू करे व ये सुनिश्चित करें कि इसप्रक्रिया में कोई धांधलेबाजी ना हो रिजल्ट भी तयसमयसीमा पर आए क्योंकि जितने केसों का निर्णय नहींहुआ उससे ज्यादा बांकी हैं mewatisanjoo Mr Justice nonsense anpad ganwar politicians need to be educated.

सीमा विवाद: एनआईए ने मिजोरम में बड़ी मात्रा में बरामद विस्फोटक मामले की शुरू की जांचआतंकवाद रोधी एजेंसी ने इस मामले की जांच बृहस्पतिवार को अपने हाथ में ली थी और केंद्रीय गृहमंत्रालय द्वारा इस मामले की governorswaraj kya ye aapka peace hai? 26 saal gaye paani me. BharadwajSpeaks governor saab k 26 saal ka.peace ranj laaya. Itna hasla mila maano Pakistan se POK khaali karana ho.

दुनिया के 130 देशों से महंगा पेट्रोल राजस्थान के श्रीगंगानगर में, पड़ोसी देशों में काफी सस्तादुनियाभर में पेट्रोल के दामों की तुलना करें, तो इस वक्त सबसे कम कीमत वेनेजुएला और ईरान में है, लेकिन प्रतिबंधों के चलते भारत इनसे या तो सीमित ईधन आयात करता है, या बिल्कुल नहीं करता।