Ujjain, Narendragiri, Anandgir, Prayagraj, Mahantnarendragiri, Naredragirisuicide, Mahant Narendra Giri, Akhada Parishad, Mahakumbh, Anand Giri, Prayagraj News İn Hindi, Latest Prayagraj News İn Hindi, Prayagraj Hindi Samachar

Ujjain, Narendragiri

यूपी: उज्जैन की बैठक में महंत नरेंद्र गिरि बने थे अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष, इनकी देखरेख में ही कराया गया था 2019 का महाकुंभ

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और मठ बाघंबरी गद्दी के महंत नरेंद्र गिरि के नेतृत्व वाली अखाड़ा परिषद की देखरेख

21-09-2021 03:50:00

यूपी: उज्जैन की बैठक में महंत नरेंद्र गिरि बने थे अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष, इनकी देखरेख में ही कराया गया था 2019 का महाकुंभ Ujjain NarendraGiri AnandGir Prayagraj Mahant narendragiri NaredraGiriSuicide Uppolice

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और मठ बाघंबरी गद्दी के महंत नरेंद्र गिरि के नेतृत्व वाली अखाड़ा परिषद की देखरेख

नवंबर 2010 में मठ बाघंबरी गद्दी में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के चुनाव जुटे सभी तेरह अखाड़ों के प्रतिनिधियों ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की नई कार्यकारिणी का गठन किया। सर्वसम्मति से महानिर्वाणी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रवींद्र पुरी को अध्यक्ष और पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के सचिव महंत मोहनदास को महामंत्री चुना गया। प्रत्येक पदाधिकारी के नाम के प्रस्ताव को शेष बारह अखाड़ों के प्रतिनिधियों ने अनुमोदित किया। लेकिन, कई प्रयासों के बावजूद वर्ष 2013 के प्रयाग महाकुंभ में भी इस पर आम सहमति नहीं बन सकी थी।

100 करोड़ वैक्सीनेशन पर भारत के मुरीद हुए बिल गेट्स, पीएम मोदी को दी बधाई NCB की पूछताछ से पहले पापा से लिपटकर रोई थीं Ananya Panday , ड्रग्स लेने पर दिया ये जवाब चैट से खुलासा: आर्यन ने अनन्या से पूछा- कुछ जुगाड़ हो सकता है? एक्ट्रेस ने कहा- मैं अरेंज कर दूंगी

तकरीबन पांच वर्षों की लंबी कवायद के बाद अंतत: 14 मार्च 2015 को बड़ा उदासीन अखाड़े के उज्जैन स्थित आश्रम में हुई परिषद की बैठक में पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के सचिव और मठ बाघंबरी गद्दी के महंत नरेंद्र गिरि को सर्वसम्मति से अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद का अध्यक्ष चुना गया। बड़ा उदासीन अखाड़े के श्रीमहंत रघुमुनि ने उनके नाम का प्रस्ताव रखा जिसका महानिर्वाणी अखाड़े के श्रीमहंत प्रकाश पुरी ने समर्थन किया था। वहीं जूना अखाड़े के महंत हरिगिरि को दोबारा परिषद का महामंत्री चुना गया।

परिषद की बैठक में जूना अखाड़े के सचिव महंत नारायण गिरि, महंत उमाशंकर भारती, निरंजनी अखाड़े के महंत रामानंद पुरी, महंत आशीष गिरि, महानिर्वाणी के महंत प्रकाश पुरी, बड़ा उदासीन के श्रीमहंत महेश्वर दास, नया के महंत सर्वेश्वर मुनि, आनंद अखाड़े के महंत शंकरानंद सरस्वती, महंत सागरानंद सरस्वती, अटल अखाड़े के महंत उदय गिरि, आवाहन अखाड़े के महंत समुद्रगिरि, अग्नि अखाड़े के श्रीमहंत गोविंदानंद ब्रह्मचारी, निर्मल अखाड़े के महंत गोपालसिंह कोठारी और निर्मोही अनी के श्रीमहंत मदनमोहन दास ने अपना समर्थन व्यक्त किया। वहीं बैठक में शामिल न हो पाने की स्थिति में निर्वाणी अनी के श्रीमहंत धर्मदास और दिगंबर अनी के श्रीमहंत रामकृपाल दास ने फोन से अपना समर्थन जताया था। headtopics.com

विस्तार में ही वर्ष 2019 का प्रयागराज का महाकुंभ कराया गया था जिसमें अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर श्रद्धालुओं का जमावड़ा हुआ था। दरअसल हरिद्वार कुंभ के बाद अखाड़ा परिषद को भंग मानते हुए बाघंबरी गद्दी में ही सात अखाड़ों की मौजूदगी में परिषद का चुनाव कराया गया था जिसमें निर्मल अखाड़े के सचिव श्रीमहंत बलवंत सिंह को अध्यक्ष और आनंद अखाड़े के श्रीमहंत शंकरानंद सरस्वती को महामंत्री चुना गया था। लेकिन, हरिद्वार कुंभ में परिषद के अध्यक्ष रहे श्रीमहंत ज्ञानदास और महामंत्री हरिगिरि इस चुनाव को लगातार अवैध मानते रहे। वहीं महंत बलवंत सिंह की अध्यक्षता वाली परिषद तेरह में से सात अखाड़ों की मौजूदगी के कारण अपने को वैध होने का दावा करती रही।

विज्ञापननवंबर 2010 में मठ बाघंबरी गद्दी में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के चुनाव जुटे सभी तेरह अखाड़ों के प्रतिनिधियों ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की नई कार्यकारिणी का गठन किया। सर्वसम्मति से महानिर्वाणी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रवींद्र पुरी को अध्यक्ष और पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के सचिव महंत मोहनदास को महामंत्री चुना गया। प्रत्येक पदाधिकारी के नाम के प्रस्ताव को शेष बारह अखाड़ों के प्रतिनिधियों ने अनुमोदित किया। लेकिन, कई प्रयासों के बावजूद वर्ष 2013 के प्रयाग महाकुंभ में भी इस पर आम सहमति नहीं बन सकी थी।

तकरीबन पांच वर्षों की लंबी कवायद के बाद अंतत: 14 मार्च 2015 को बड़ा उदासीन अखाड़े के उज्जैन स्थित आश्रम में हुई परिषद की बैठक में पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के सचिव और मठ बाघंबरी गद्दी के महंत नरेंद्र गिरि को सर्वसम्मति से अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद का अध्यक्ष चुना गया। बड़ा उदासीन अखाड़े के श्रीमहंत रघुमुनि ने उनके नाम का प्रस्ताव रखा जिसका महानिर्वाणी अखाड़े के श्रीमहंत प्रकाश पुरी ने समर्थन किया था। वहीं जूना अखाड़े के महंत हरिगिरि को दोबारा परिषद का महामंत्री चुना गया।

परिषद की बैठक में जूना अखाड़े के सचिव महंत नारायण गिरि, महंत उमाशंकर भारती, निरंजनी अखाड़े के महंत रामानंद पुरी, महंत आशीष गिरि, महानिर्वाणी के महंत प्रकाश पुरी, बड़ा उदासीन के श्रीमहंत महेश्वर दास, नया के महंत सर्वेश्वर मुनि, आनंद अखाड़े के महंत शंकरानंद सरस्वती, महंत सागरानंद सरस्वती, अटल अखाड़े के महंत उदय गिरि, आवाहन अखाड़े के महंत समुद्रगिरि, अग्नि अखाड़े के श्रीमहंत गोविंदानंद ब्रह्मचारी, निर्मल अखाड़े के महंत गोपालसिंह कोठारी और निर्मोही अनी के श्रीमहंत मदनमोहन दास ने अपना समर्थन व्यक्त किया। वहीं बैठक में शामिल न हो पाने की स्थिति में निर्वाणी अनी के श्रीमहंत धर्मदास और दिगंबर अनी के श्रीमहंत रामकृपाल दास ने फोन से अपना समर्थन जताया था। headtopics.com

पिछड़ा वर्ग सम्मेलन: योगी बोले- सपा सरकार में हिंदुओं पर गोलियां चलाई जाती थीं और आतंकियों के मुकदमे वापस लिए जाते थे Ananya Panday Drug Chat: अनन्या-आर्यन की ड्रग्स चैट, कैसे NCB के सवालों के घेरे में आईं अनन्या पांडे? कैसा रहेगा भारत-PAK मैच..? रहाणे बोले- पिछला रिकॉर्ड मायने नहीं रखता और पढो: Amar Ujala »

झूठ के सहारे सावरकर का महिमामंडन क्यों? | Arfa Khanum SHerwani | Savarakar | The Wire Video LIVE

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि विनयाक दामोदर सावरकर के 'दया याचिका' दायर करने को एक ख़ास वर्ग ने ग़लत तरीक़े से फैलाया. उन्होंने दावा किया कि सावरकर न...

Uppolice ॐ शांति

प्रयागराज में अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालात में मौतसोमवार को महंत नरेंद्र गिरी का निधन हो गया है. वो अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष थे. प्रयागराज के श्री मठ बाघंबरी गद्दी में हुआ निधन. किस वजह से नरेंद्र गिरी का निधन हुआ है ये स्पष्ट नहीं हुआ है. नरेंद्र गिरी का निधन संदेहास्पद है क्योंकि उनका शव लटकता मिला है. पुलिस इस मामले में तफ्तीश में जुटी है. नरेंद्र गिरी को बड़े सम्मान से देखा जाता था. तमाम जो अखाड़ा परिषद है उसमें सर्वोच्च जो भारतीय अखाड़ा परिषद है. उसके नरेंद्र गिरी अध्यक्ष थे. देखें वीडियो. 😥😥😥😥😥🙏🙏 अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत। नरेंद्र गिरि का निधन। सुन के दुःखी हूआ। महंत संत समाज के लिए बुलंद आवाज थे। भगवान महंत नरेंद्र गिरि को आत्मा को शान्ति प्रदान करे भावपूर्ण श्रध्दांजलि 😢😢😢😢

यूपी के बाराबंकी में मूर्ति विसर्जन के दौरान हादसा, महिला समेत 5 नदी में डूबेमसौली थाना क्षेत्र में सहादतगंज में नारायण धर पांडेय के घर गणेश प्रतिमा रखी गई थी. इसका विसर्जन करने के लिए 10-15 लोग रविवार की दोपहर करीब 1 बजे कस्बे के समीप ही कल्याणी नदी के पीपरा घाट पुल पर गए थे.

प्रयागराज: अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरि का शव संदिग्ध परिस्थितियों में फंदे से लटकता मिलाप्रयागराज : अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरी का शव फांसी के फंदे पर लटकता मिला Prayagraj Ajay Bisht😓 : Aajse UP ka naam Maharashtra hoga शत शत नमन Bhagwan unki aatma ko shanti de

2019 में दूसरी बार अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष बने थे महंत नरेन्द्र गिरिनई दिल्ली। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरि का प्रयागराज में सोमवार को संदिग्ध परिस्थितियों में निधन हो गया। शुरुआती जांच में पुलिस जहां महंत गिरि की मौत को आत्महत्या का मामला मान रही है, वहीं उनके शिष्य का कहना है कि ‍महंत की हत्या हुई है।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि मृत पाए गए, फ़र्जी अखाड़ों के ख़िलाफ़ थे मुखर - BBC Hindiनरेंद्र गिरि फ़र्ज़ी संतों और अखाड़ों के ख़िलाफ़ काफ़ी मुखर थे. इनका नाम भी कई विवादों में जुड़ा था. महंत जी हमारे दिलो में हमेशा जिन्दा रहेगें ।।🙏 ओम शांति 🙏 ॐ शांति ॐ संत में भी धैर्य खत्म.. कौन से प्रलय के संकेत.. सब हो रहे उथल पुथल.. कौन से साक्ष्य में मिले भेद.. प्रमाण में किस के कौन .. अध्यात्म में किन के भाव श्रेष्ठ .. मरण शील जीवन से जुड़े कितने खेद⚡

बैंगलोर बनाम कोलकाता के मैच में इन खिलाड़ियों को ले सकते हैं फैंटेसी टीम मेंआज के मैच में किस वर्ग में किस खिलाड़ी को लेने से आपको हो सकता है फायदा जानिए IPL2021 IPLinUAE KKRvsRCB KKR RCB RCBvKKR RCBvsKKR T20 EoinMorgan viratkholi imVkohli Eoin16 IPL