Uttarpradesh, Mahoba, Viralfever, Uttar Pradersh, Mahoba, Childrens, District Hospital, Viral Fever, Bed Crisis, Bundelkhand

Uttarpradesh, Mahoba

यूपी में वायरल फीवर का कहर, महोबा में बीमार बच्चों को नहीं मिल पा रहे बेड

महोबा में एक बेड पर भर्ती किए जा रहे दो बीमार #UttarPradesh #Mahoba #ViralFever

17-09-2021 20:42:00

महोबा में एक बेड पर भर्ती किए जा रहे दो बीमार UttarPradesh Mahoba ViralFever

मरीजों के सापेक्ष बेड की कमी के कारण एक बेड पर दो-दो बच्चों को भर्ती करना पड़ रहा है. जिला अस्पताल के जिम्मेदार बेहतर व्यवस्था की बात कर रहे हैं लेकिन अस्पताल की तस्वीरें कुछ और ही कहानी बयान कर रही हैं.

महोबा जिले में वायरल बुखार के कारण अब तक चार लोगों की मौत होने की बात सामने आ रही है. मौसम के बदलते मिजाज के साथ वायरल बुखार के मरीजों की संख्या में भी इजाफा देखने को मिल रहा है. जिला अस्पताल में हर रोज बड़ी संख्या में वायरल बुखार और डेंगू के मरीज पहुंच रहे हैं. जुकाम के मरीजों की संख्या भी कम नहीं लेकिन अस्पताल में उपचार पर अव्यवस्था हावी नजर आ रही है.

उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य बोले-मथुरा की तैयारी, छिड़ी बहस - BBC News हिंदी 'इन बैठकों से कुछ नहीं होने वाला' : ममता बनर्जी की मुंबई में एनसीपी, शिवसेना नेताओं से भेंट पर बीजेपी का तंज.. कार्टून: आंकड़े कहां से आएंगे? - BBC News हिंदी

जिला अस्पताल में हर रोज बुखार से पीड़ित करीब 25 बच्चे भर्ती हो रहे हैं. सौ बेड के जिला अस्पताल के बच्चों के वार्ड में भर्ती तकरीबन 55 बच्चे निमोनिया और वायरल बुखार से पीड़ित हैं. सौ बेड के इस अस्पताल में भर्ती मरीजों और उनके तीमारदार परेशान हैं. जिला अस्पताल के सीएमएस डॉक्टर आरपी मिश्रा का कहना है कि अस्पताल में सिर्फ 30 से 35 बच्चे ही भर्ती हैं और बेड की कोई कमी नहीं है.

सीएमएस के बयान के विपरीत अस्पताल में तैनात बाल रोग विशेषज्ञ और स्टाफ नर्स की मानें तो अस्पताल में अन्य मरीजों के साथ अधिक बच्चे आ रहे हैं जिससे बेड की कमी हो रही है. इनके मुताबिक एक बेड पर दो-दो बच्चों को भर्ती कर इलाज किया जा रहा है. खांसी, जुकाम, निमोनिया और वायरल बुखार से पीड़ित बच्चों की तादाद ज्यादा है. स्टाफ और डॉक्टर की भी कमी हो गई है. headtopics.com

Live TV और पढो: आज तक »

इतिहास में पहली बार ट्रेन से चला प्याज: 220 टन लाल प्याज किसान व्यापारियों ने सीधे असम भेजा, 1836km का सफर करेगा

राजस्थान के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब यहां होने वाली प्याज को ट्रेन से किसी दूसरे राज्य में भेजा गया है। पहली बार अलवर की प्याज रेल से असम भेजा गया है। पूरे प्रदेश में इससे पहले कभी भी प्याज को मालगाड़ी से ट्रांसपोर्ट नहीं किया गया। किसान रेल के जरिए किसानों की उपज को भेजने की उत्तर पश्चिम रेलवे ने यह शुरुआत की है। | उत्तर पश्चिम रेलवे के क्षेत्र में किसान रेल की अलवर से शुरूआत, 220 टन प्याज अलवर से असम भेजी

My brother is not vaccinated but we got certificate of vaccination how This is how they are achieving the milestone by issuing fake vaccine certificate. This is how modi govt reached 2crore milestone by providing fake vaccine certificate on cowin. plzhelp फिर तो और तेजि से वायरल होगा। viralfever इसमें गलत क्या है कहो तो कुछ मरीज तुम्हारे न्यूज रूम में डाल दें मरीजों के चिंतक शुभ

Yahi hoga

NCRB 2020: लॉकडाउन के दौरान क्राइम ग्राफ में गिरावट, कोरोना नियमों के उल्लंघन में वृद्धिफेक करेंसी के मामलों पर अगर नजर डाली जाए तो साल 2020 के दौरान नकली भारतीय मुद्रा नोटों (FICN) के तहत 92,17,80,480 मूल्य के कुल 8,34,947 नोट जब्त किए गए, जबकि वर्ष 2019 में ₹ 25,39,09,130 ​​मूल्य के 2,87,404 नोट जब्त किए गए थे.

Bihar: हाजीपुर में किनारों को काट रही उफनाई गंगा, भरभराकर नदी में ऐसे समा रहे घरगंगा को जीवनदायिनी कहा जाता है, लेकिन गंगा की ये लहरें कयामत भी ला सकती हैं. इसकी बानगी मिली बिहार के हाजीपुर में. यहां भीषण बाढ़ के बाद अब गंगा की लहरें किनारों को काट रही हैं. किनारों की जमीन गंगा में समा ही रही है. किनारे पर बने घर भरभराकर गंगा में समा रहे हैं. किनारों पर खड़े मजबूत पेड़ों को भी गंगा अपनी आगोश में ले रही हैं. गंगा की लहरों की आफत सिर्फ पेड़ों पर ही नहीं आई है, बल्कि किनारे बने मकान की दीवारों में दरार नजर आ रही हैं. ये दरार धीरे धीरे बड़ी हो रही हैं तो क्या ये मकान भी गंगा में समा जाएंगे. गंगी के खौफनाक कटाव में दर्जनों मकान और पेड़ समा गए. देखें ये वीडियो.

Gujarat में बारिश की मार, जामनगर, राजकोट और जूनागढ़ के 22 गांवों में बिजली ठपगुजरात के जामनगर, जूनागढ़ और राजकोट में कुदरत का कोप बरस रहा है. चार दिन की मूसलाधार बारिश और नदियों के उफान ने जामनगर और जूनागढ़ की हालत खस्ता कर दी है. बारिश थम गई है, लेकिन यहां गांव के गांव डूबे हैं. शहर में भी कई मुहल्लों के घरों का पहला मंजिला जलमग्न है. सैलाब ने यहां की जिंदगी को जहन्नुम बना दिया है. गांव के गांव डूबे हुए हैं, खेत खलिहान डूबे हुए हैं और फसलें पानी में समा गई हैं. जूनागढ़ में ओजत, भादर और उबेन नदियों के भीषण सैलाब में आसपास के इलाके जलमग्न हो गए हैं. बारिश की मार से जामनगर, राजकोट और जूनागढ़ के 22 गांवों में बिजली ठप पड़ी है. देखें ये वीडियो. Mai

व्हाट्सएप बिजनेस एप में आ रहा नया फीचर, दुकान-सर्विस के बारे में कर सकेंगे सर्चफेसबुक अपने व्हाट्सएप एप को पूरी तरह से एक ई-कॉमर्स एप में बदलने की तैयारी कर रहा है और अपकमिंग फीचर भी उसी का एक हिस्सा

दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 28 नए मामले, एक मरीज की हुई मौतदिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 28 नए मामले, एक मरीज की हुई मौत Follow the twitter handles of 'All India Trinamool Congress' from all over India 👇👇👇 AITC4Assam AITC4Delhi AITC4Bihar AITC4Jharkhand AITC4Tripura AITC4UP AITC4Gujarat AITCofficial AITC_Parliament BanglarGorboMB

महानगरों में 2020 में बलात्कार-हत्या के सबसे अधिक मामले दिल्ली से आए: एनसीआरबीराष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के आंकड़ों के अनुसार, भारत में साल 2020 में रोज़ाना औसतन 80 हत्याएं और 77 बलात्कार के मामले दर्ज किए गए हैं. प्रतिदिन औसतन 80 हत्याओं के साथ कुल 29,193 लोगों की हत्या की सूचनाएं दर्ज की गईं, जिसमें उत्तर प्रदेश सबसे ऊपर है. इस वर्ष बलात्कार की 28,046 घटनाएं हुईं, जिसमें राजस्थान में सर्वाधिक मामले सामने आए हैं. दिल्ली हत्या में नंबर वन क्यों नहीं होगा पब्लिक के साथ साथ पुलिस भी हत्या करता है