उपचुनाव में क्या होगी बीएसपी की रणनीति, अखिलेश यादव, मायावती, बीजेपी बीएसपी समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश विधानसभा उपचुनाव, Bsp Sp Bjp. Mayawati Akhilesh Yadav

उपचुनाव में क्या होगी बीएसपी की रणनीति, अखिलेश यादव

यूपी उपचुनाव में मायावती के लिए आसान नहीं एकला चलो की राह– News18 हिंदी

मायावती ने भले ही अब आगे अकेले सफर करने की बात कही हो लेकिन उनकी राह आसान नहीं लग रही है.

27.6.2019

मायावती ने भले ही अब आगे अकेले सफर करने की बात कही हो, लेकिन उनकी राह आसान नहीं लग रही है.

मायावती ने भले ही अब आगे अकेले सफर करने की बात कही हो लेकिन उनकी राह आसान नहीं लग रही है.

समाजवादी पार्टी की तरफ से बयान आया है कि मायावती उनका विरोध इस वजह से कर रही हैं क्योंकि दलितों का समर्थन सपा को मिल रहा है. अखिलेश यादव लगातार अपनी छवि एक उदार नेता की बना रहे हैं. दोनों पार्टियों का संबंध जुड़ने से लेकर टूटने तक अखिलेश यादव ने लगातार संयमित भाषा और राजनीति का इस्तेमाल किया है. बीएसपी को इससे भी लड़ना होगा.

और पढो: News18 India

How foolishly some of the parties( which have been defeated in some of the parliamentary constituencies froma particular Party) hold responsible to EVMs! When they win, EVM becomes faultless. People do not wish to hear such nonsense allegations on ECI, or the system. Sir, we do not wishto hear Sri Sunil Chopda, who on your channel( in an unpardonable way) alleges/ Crowns the biggest and democratically elected parties to be Garbage. All the nation loving people should boycott such parties.

बैंकों की शिकायत करना हुआ आसान, RBI ने शुरू की खास सुविधाRBI की वेबसाइट पर शिकायत प्रबंधन प्रणाली यानी कंप्लेंट मैनेजमेंट सिस्टम की शुरुआत की गई है. इसके पीछे केंद्रीय बैंक का मकसद समय से शिकायतों का समाधान कर कस्टमर एक्सपीरियंस बेहतर बनाना है. RBI सबसे पहले देश के सबसे भरोसेमंद बैक TheOfficialSBI स्टाफ को अपना खडूस नेचर बदलना चाहिए वरना वो दिन दूर नही जब कोई यहाँ एकाउंट खुलाना नही चाहेगा! Bihar is no1 state in bribe in every government department.

गूगल कैलेंडर से हो रही फोन की हैकिंग, ये है बचने का आसान तरीकाGoogle का कैलेंडर इन दिनों हैकर्स का सॉफ्ट टार्गेट बना है जिससे वो यूजर्स के एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स से जानकारियां चोरी कर रहे हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष पद पर असमंजस बरकरार, क्या राहुल गांधी भंवर में फंसे हैं?कुछ लोगों ने यह भी बताया कि अगर राहुल गांधी का अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा हो गया तो उनका वापिस अध्यक्ष बन पाना आसान नहीं होगा. राहुल मानेंगे या नहीं ये तो दूर की बात है लेकिन एक बात साफ़ है कांग्रेस अभी भी राहुल और सोनिया गांधी की कांग्रेस में बंटी है. RahulGandhi Drama kar raha AadeshRawal RahulGandhi न मने तो भँवर फांस गया दीखे सै।

Gurmeet Ram Rahim। गुरमीत राम रहीम को पैरोल मिलना मुश्किलरोहतक। सुनारिया जेल में बलात्कार और हत्या के मामले में सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को खेती के लिए पैरोल आसान नहीं दिखाई दे रहा है।

राज्यसभा में दिग्विजय का PM मोदी पर वार, मुद्दा बने टोपी-दंगे और इफ्तारदिग्विजय सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री में क्या ये परिवर्तन सच में है या सिर्फ एक जुमला ही है. देश में आज सांप्रदायिकता का जहर कूट-कूटकर भर दिया गया है, अब इसे वापस निकालना आसान नहीं है. कोन दिग्विजसिंह हम तो नही जानते 2019 हार के बाद सभी कांग्रेसी की हालत लगभग खुजली वाले कुत्ते की जैसे हो गए😀😂😂 गजब का घंटा है ये कि कोई भी बजाकर चला जाता है जब देखो तब लेकिन कोई असर नही

माइक्रोसॉफ्ट को एंड्रॉयड नहीं बना पाना मेरी सबसे बड़ी गलती: बिल गेट्सएंड्रॉयड एक ऐसी चीज थी जिसे बनाना माइक्रोसॉफ्ट के लिए आसान था। बिल गेट्स को इस बात को मलाल है कि उन्होंने एंड्रॉयड बनाने

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

27 जून 2019, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

2019 वर्ल्ड कप: अब तक एक भी मैच नहीं हारने वाली एकमात्र टीम भारत आज वेस्टइंडीज से भिड़ेगी

अगली खबर

PAKvNZ: पाकिस्तान ने कीवी टीम का विजयरथ रोका, बाबर आजम ने ठोका शतक, पाकिस्‍तान 6 विकेट से जीता– News18 हिंदी