मोहम्मद जुबैर कहते हैं- जिन्होंने मुझे दंगाइयों का शिकार होने भेजा वे भी इंसान थे और जिन्होंने मेरी जान बचाई वे भी इंसान ही थे

Delhiriots, Delhiviolence, Bhajanpura, Maujpur, Jafrabad, Dainikbhaskar, Mohammad Zubair, North-East Delhi Riots, Citizenship Amendment Act - डीबी ओरिजिनल न्यूज़, डीबी ओरिजिनल समाचार

दंगों की सबसे दर्दनाक तस्वीर की कहानी : मोहम्मद जुबैर कहते हैं- जिन्होंने मुझे दंगाइयों का शिकार होने भेजा वे भी इंसान थे और जिन्होंने मेरी जान बचाई वे भी इंसान ही थे #DelhiRiots #DelhiViolence #bhajanpura #Maujpur #jafrabad @ArvindKejriwal #DainikBhaskar

Delhiriots, Delhiviolence

2/27/2020

दंगों की सबसे दर्दनाक तस्वीर की कहानी : मोहम्मद जुबैर कहते हैं- जिन्होंने मुझे दंगाइयों का शिकार होने भेजा वे भी इंसान थे और जिन्होंने मेरी जान बचाई वे भी इंसान ही थे DelhiRiots DelhiViolence bhajanpura Maujpur jafrabad ArvindKejriwal DainikBhaskar

नई दिल्ली. मोहम्मद जुबैर को उनके नाम से ज्यादा लोग नहीं पहचानते, लेकिन उनकी तस्वीर देश ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया ने देखी है। | Mohammad Zubair Delhi | मोहम्मद जुबैर को उनके नाम से ज्यादा लोग नहीं पहचानते, लेकिन उनकी तस्वीर देश ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया ने देखी है।

X राहुल कोटियाल Feb 27, 2020, 04:22 PM IST नई दिल्ली . मोहम्मद जुबैर को उनके नाम से ज्यादा लोग नहीं पहचानते, लेकिन उनकी तस्वीर देश ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया ने देखी है। वह तस्वीर दिल्ली दंगे की सबसे दर्दनाक तस्वीरों में शुमार है। वह तस्वीर, जिसमें लहूलुहान होकर जमीन पर गिरे एक व्यक्ति को चारों ओर से घेरकर दंगाई लाठी-डंडों से पीट रहे हैं। दिल्ली में हुई क्रूरता का प्रतीक बनी इस तस्वीर में जो लहूलुहान होकर अधमरा पड़ा है, वे हैं 37 साल के मोहम्मद जुबैर। बीते 19 साल से चांदबाग में रहने वाले जुबैर कूलर ठीक करने का काम करते हैं। सियासी मसलों से दूर रहने वाले जुबैर बताते हैं कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शनों में उन्होंने कभी हिस्सा नहीं लिया। सोमवार की सुबह वे खुश थे, क्योंकि उन्हें इज्तिमा में शामिल होने जाना था। सुबह नए कपड़े पहन दुआ के लिए कसाबपुरा की ईदगाह के लिए निकल गए। उस दिन क्या, कब और कैसे हुआ इसका बारे में विस्तार से बताते हुए ज़ुबैर कहते हैं- ‘ईदगाह में दुआ करीब साढ़े बारह बजे खत्म हुई। इसके बाद मैंने वहीं लगी दुकानों से बच्चों के लिए हलवा पराठा, दही बड़े और दो किलो संतरे खरीदे। बच्चों को सालभर इज्तिमा का इंतजार रहता है। उन्हें पता होता है कि इज्तिमा से लौटकर आने वाला उनके लिए हलवा और खाने-पीने की अन्य चीजें लेकर आएगा। खाने-पीने का सामान लेकर चांद बाग की बस पकड़ी। रास्ते में ही था जब मुझे मालूम हुआ कि मेरे घर के की तरफ दंगा हो रहा है। इस कारण पांचवें पुश्ते पर ही उतर गया।’ ‘खजूरी में दंगे हो रहे थे तो मैंने भजनपुरा मार्केट की तरफ से वापस लौटने की सोची। वहां पहुंचा तो दोनों ओर से तेज पत्थरबाजी हो रही थी। मुझे सड़क के दूसरी तरफ अपने घर जाना था तो मैं वहां बने अंडर-पास की तरफ जाने लगा। तभी कुछ लोगों ने मुझे रोका और दूसरी तरफ से जाने को कहा। ये लोग पत्थरबाजी में शामिल नहीं थे, इसलिए उनकी बात पर भरोसा कर लिया। मुझे लगा कि वे मेरी सुरक्षा के लिए दूसरी ओर से जाने को बोल रहे हैं। नहीं पता था कि मुझे दंगाइयों की तरफ भेज रहे हैं। मैं जैसे ही दूसरी तरफ पहुंचा, कई लोगों ने मुझे घेर लिया और मारो-मारो कहने लगे। इज्तिमा से लौट रहा था लिहाज़ा मजहबी लिबास में था। उन्होंने दूर से मुझे पहचान लिया। शुरुआत में मैंने उनसे कहा भी कि भाई मेरा कसूर तो बता दो, लेकिन वहां कोई सुनने को तैयार नहीं था। उन्हीं में से किसी ने पहले मेरे सिर पर लोहे की रॉड मारी और उसके बाद तो पता नहीं कितने ही लोग लाठी-डंडों और सरियों से मुझे मारने लगे। भीड़ में एक आदमी बाकियों को रोक भी रहा था और मुझे वहां से जाने देने की बात कह रहा था। लेकिन वो भी शायद अकेला था।’ जुबैर के साथ यह घटना 24 फरवरी को हुई। इसके बाद उनकी यह फोटो वायरल हो गई। ‘इसके बाद मुझे बेहोशी होने लगी थी। मुझे बस इतना याद है कि मेरे सर से खून बह रहा था और मैं जमीन पर गिर पड़ा था। मुझे लगा था कि मैं मर जाऊंगा। मैंने कलमा पढ़ना शुरू कर दिया था। उस वक्त दोपहर के करीब तीन बजे होंगे। जिस जगह मुझ पर हमला हुआ वहां पुलिस का कोई भी जवान नहीं था। हां, वहां से कुछ दूरी पर पुलिस गश्त जरूर कर रही थी। सड़क पर ही बेहोश हो जाने के बाद मुझे बस धुंधला-धुंधला ही याद है कि क्या हुआ। इतना याद है कि चार लोग मुझे उठाकर कहीं ले गए थे। फिर जब मुझे एंबुलेंस में डाला जा रहा था तो उसकी धुंधली सी तस्वीर जेहन में है। लेकिन ये कौन लोग थे, कहां से आए, मुझे नहीं पता। मुझे शाम करीब छह बजे होश आया। तब मैं जीटीबी अस्पताल के एक स्ट्रेचर पर पड़ा था। कोई लगातार मुझसे पूछ रहा था कि मेरे साथ कौन आया है, पर मेरे पास जवाब नहीं था। सिर पर टांके लगे थे। मुझे बताया गया कि जीटीबी अस्पताल पहंचने से पहले सिर पर टांके लगाए जा चुके थे। इसका मतलब कहीं और ले जाया गया, जो मुझे याद नहीं।’ जुबैर को हेलमेट पहने दंगाई जब मार रहे थे, तब एक व्यक्ति उन्हें बचाने की भी कोशिश कर रहा था। जिसने भी मुझे अस्पताल पहुंचाया वो लोग मुझे वहां छोड़कर जा चुके थे। वहां मैंने बैठने की कोशिश की तो बैठ न सका। मैंने स्ट्रेचर पर लेटे-लेटे दो बार उल्टी कर दी थी। अस्पताल के कर्मचारी मुझे एक्स-रे कराने को बोल रहे थे, लेकिन मैं अकेला था। मुझमें इतनी ताकत भी नहीं थी कि मैं किसी को फोन करके बुला सकूं। अस्पताल में मौजूद व्यक्ति ने मेरी मदद की और एक्स-रे करवाया। करीब सात बजे मैं भाई को फोन करने की स्थिति में आ पाया। पर वह चांदबाग में था, जहां दंगे जारी थे। वो घर से निकलने की स्थिति में नहीं था। फिर बहन-बहनोई को फोन किया, जो कहीं ओर रहते हैं। वो लोग अस्पताल पहुंचे। मेरा बचना करिश्मे जैसा है।’ जुबैर बार-बार कराहते हुए आपबीती सुना रहे हैं। उनके पूरे शरीर में चोट के निशान हैं, गर्दन से लेकर चेहरे, हाथ और कंधों पर सूजन है और पसलियों में रह-रह कर दर्द उठ रहा है। वे कहते हैं- ‘डॉक्टर ने मुझे सीटी स्कैन की लिए बोला था, लेकिन अस्पताल की मशीन खराब थी, इसलिए सीटी स्कैन न हो सका।’ ओखला में दुकान चलाने वाले ज़ुबैर के 24 वर्षीय भतीजे रेहान बताते हैं- ‘सोमवार शाम तक चाचू की तस्वीर वायरल हो चुकी थी। हमें भी इंटरनेट पर उनकी तस्वीर देखकर ही इस बारे में मालूम हुआ। तब हमने रिश्तेदारों को फोन लगाए और हम उनके पास पहुंचे।’ जुबैर अपनी तस्वीरों के बारे में कहते हैं- ‘मुझे नहीं पता था कि मेरी तस्वीरें वायरल हुई हैं। मैं उन तस्वीरों को देख पाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा हूं।’ इस हिंसा के बारे में जुबैर कहते हैं, ‘किस्मत ने मेरा साथ दिया कि मैं जिंदा हूं। कई लोग इस हिंसा में जान से हाथ धो बैठे हैं। हर समुदाय में अच्छे-बुरे, दोनों तरह के लोग हैं। लोग वो भी थे, जिन्होंने मुझे जानबूझकर दंगाइयों का शिकार होने भेज दिया था और वो भी थे जिन्होंने मुझे अस्पताल पहुंचा दिया। मैं दोनों में से किसी को नहीं जानता। बस इतना जानता हूं कि एक ने मेरी जान लेनी चाही तो दूसरे ने जान बचा ली।' जुबैर के सिर में टांके आए हैं। वे अभी अपने रिश्तेदार के यहां रह रहे हैं। (सभी फोटो: रॉयटर्स) यह भी पढ़ें 1# दिल्ली में दंगे संयोग या प्रयोग : सीएए समर्थकों और विरोधियों ने एक-दूसरे को निशाना बनाने के लिए सोशल मीडिया को हथियार बनाया, धरना-प्रदर्शनों का सहारा लिया 2# ग्राउंड रिपोर्ट : आप पार्षद के घर की छत से पेट्रोल बम, पत्थर, गुलेल-एसिड मिले; मृत आईबी कॉन्स्टेबल के परिवार ने इसी नेता पर हत्या का आरोप लगाया 3# हिंसाग्रस्त इलाकों से आंखों देखा हाल: भाग-1 दिल्ली पुलिस की निगरानी में होती रही हिंसा, सीआरपीएफ के जवान ने कहा- जब हमें कुछ करने का आदेश ही नहीं तो यहां तैनात क्यों किया? 4# हिंसाग्रस्त इलाकों से आंखों देखा हाल: भाग-2 पुलिस दंगाइयों से कह रही है- चलो भाई अब बहुत हो गया; वापस लौटते दंगाई नारे लगाते हैं- दिल्ली पुलिस जिंदाबाद, जय श्रीराम 5# हिंसाग्रस्त इलाकों से आंखों देखा हाल: भाग-3 और पढो: Dainik Bhaskar

PM मोदी की अपील पर कांग्रेस का हमला, कोरोना से जंग पर उठाए कई सवाल



कोरोना वायरस: ऑस्ट्रेलियाई पीएम का चीन के मांस बाज़ार पर हमला

कोरोना वायरस: किम जोंग-उन ने ऐसा क्या किया कि संक्रमण नहीं फैला



मौलाना साद का आलीशान फार्म हाउस: स्वीमिंग पूल और गाड़ियों का काफिला - trending clicks AajTak

कोरोना वायरस: पिछले दो दिनों में तबलीग़ी जमात से जुड़े 647 नए मामले- ICMR - BBC Hindi



कोरोना वायरस: सरकार का आरोग्य सेतु ऐप कितना सुरक्षित

दिल्ली में कोरोना के 384 केस, 24 घंटे में 91 बढ़े, हालात चिंताजनक: अरविंद केजरीवाल



ArvindKejriwal kotiyalrahul AamAadmiParty DelhiPolice BJP4India RahulGandhi PMOIndia AmitShah Sabhi dainik bhaskar ka bahishkar kare plz... Musalman hi kharidenge iska akhbar.. ArvindKejriwal kotiyalrahul AamAadmiParty DelhiPolice BJP4India RahulGandhi PMOIndia AmitShah Dear Bhaskar editor Remove rahul kotiyal from Bhaskar to improve ur newspaper credibility.bhaskar ache news ke liye jana jata hai one sided stories ke liye nai remove paid designer reporters from bhaskar

ArvindKejriwal kotiyalrahul AamAadmiParty DelhiPolice BJP4India RahulGandhi PMOIndia AmitShah आप को सिर्फ मुस्लिम ही दिखा कोई हिन्दू तो बिल्कुल नहीं दिखा होगा, पुलिस वाला ,आईबी वाला तो गाजर मूली हैं ना ArvindKejriwal kotiyalrahul AamAadmiParty DelhiPolice BJP4India RahulGandhi PMOIndia AmitShah Tumhe Hinduo ka dard shayd dikhai nahi deta ..Ye kya likh rahe ho tum...''वापस लौटते दंगाई नारे लगाते है।जय श्री राम' PMOIndia smritiirani KapilMishra_IND Swamy39

ArvindKejriwal kotiyalrahul AamAadmiParty DelhiPolice BJP4India RahulGandhi PMOIndia AmitShah Designed story of bhaskar losing it's credibility of true news.rahul nautiyal stories are totally desined and one sided stories.ik ache reporter ko dono sides ki story publish karni chahiye but Rahul's stories are totally baseless and one sided

ArvindKejriwal kotiyalrahul AamAadmiParty DelhiPolice BJP4India RahulGandhi PMOIndia AmitShah Kyu mdrcd hinduo ko jalaya gyaa vo bhi bata de , kutte ki olad sale ArvindKejriwal kotiyalrahul AamAadmiParty DelhiPolice BJP4India RahulGandhi PMOIndia AmitShah और अंकित मिश्रा का क्या में अपने घर दुकान पर ऑफिस में दैनिक भास्कर को कल से लेना बंद करता हूं

किसी भी ATM से नहीं निकलेगा 2,000 का नोट, जानें- चलेंगे या नहीं2,000 Rupee Note: अब हर मशीन में 500, 200 और 100 रुपये के नोटों की ट्रे ही मौजूद होगी। सूत्रों के मुताबिक एटीएम में मौजूद 4 ट्रे में से तीन में 500 रुपये के नोट रखे जाएंगे और बाकी 1 में 100 या फिर 200 रुपये के नोट मिलेंगे।

शानदार सिंगर ही नहीं, राजा बेटा भी है सनी हिन्दुस्तानी, कहा- मैं अपनी मां को रानी बनाकर रखूंगा - Navbharat Timesशानदार सिंगर ही नहीं, राजा बेटा भी है सनी हिन्दुस्तानी, कहा- मैं अपनी मां को रानी बनाकर रखूंगा SunnyHindustani IndianIdol11 IndianIdolGrandFinale

दिल्ली पुलिस की निगरानी में होती रही हिंसा, सीआरपीएफ के जवान बोले- जब हमें कुछ करने का आदेश ही नहीं तो यहां तैनात क्यों किया?जलती दिल्ली, मुंह ताकती पुलिस : दिल्ली पुलिस की निगरानी में होती रही हिंसा, सीआरपीएफ के जवान बोले- जब हमें कुछ करने का आदेश ही नहीं तो यहां तैनात क्यों किया? maujpur Jafrabad ChandBag CAAProtest CPDelhi LtGovDelhi HMOIndia PMOIndia dainikbhaskar

ट्रम्प ने साबरमती आश्रम के विजिटर बुक में बापू का जिक्र तक नहीं किया, राजघाट पर भी 22 शब्द ही लिख पाए; ओबामा ने 47 शब्द लिखे थेट्रम्प साबरमती के गांधी आश्रम जाने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति हैं, इनसे पहले 2001 में क्लिंटन गए थे, पर राष्ट्रपति पद से हटने के 7 महीने बाद डोनाल्ड ट्रम्प से पहले 2015 और 2010 में बराक ओबामा और उनसे पहले 2006 में जॉर्ज बुश राजघाट आ चुके हैं ट्रम्प ने राजघाट की विजिटर बुक में लिखा- अमेरिका भारत के साथ मजबूती से खड़ा है, महात्मा गांधी की भी यही सोच थी | US President Donald Trump Updates On Sabarmati Ashram Mahatma Gandhi Visitors Book realDonaldTrump PMOIndia भोसरी वालो मुल्लो का काल है ट्रम्प गांधीवादी मुल्ला नही.. realDonaldTrump PMOIndia तो दैनिक भास्कर के तरफ से ट्रम्प को फांसी दे देनी चाहिए। realDonaldTrump PMOIndia Exam chal rha hai kya 1 page likhega to 2 no. Aur 3 page likhega to full marks

बिहार में बदली फिजा, नीतीश से मिलकर बोले तेजस्वी- अस्थिर नहीं होने देंगे सरकारबिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव से बुधवार को एक बार फिर मुलाकात की. दोनों नेताओं के बीच यह मुलाकात एक बंद कमरे में हुई. नीतीश कुमार को खुलकर कोसने वाले तेजस्वी ने नीतीश कुमार से मुलाकत पर मीडिया से कहा कि बिहार में सरकार को अस्थिर नहीं होने देंगे. sujjha लगता है पलटूराम फिर पलटी मारने वाला है sujjha चोर की दाढ़ी में तिनका! sujjha चुप बैठ। सालभर काम करने दे। फिर मिलेंगे चुनाव के बाद। तुझे ऐसी पटखनी दूंगा बेटे तेरी अगली और पिछली 7 पीढिय़ां याद करेंगी।

US सांसदों ने किया दिल्ली हिंसा का विरोध, कहा- चुप नहीं रह सकते - trending clicks AajTakनागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर दिल्ली में हो रही हिंसा पर अमेरिका के कुछ सांसदों ने प्रतिक्रिया दी है. पीटीआई के मुताबिक, अगर यहीं के हो, तो इतना 'डर' कैसे, मगर चोरी से घुसे हो, तो ये तुम्हारा 'घर' कैसे? अगर तुम 'अमनपसंद' हो, तो इतनी 'गदर' कैसे? जिसे खुद 'खाक' कर रहे हो, वो तुम्हारा 'शहर' कैसे ArrestAsaduddinOwasi ArrestAmanatullahKhan Arrest_Tahir_Hussain Arrest_Sonia_Gandhi ArrestSwaraBhasker arrest_priyanka_gandhi Arrest_Warish_Pathan Arrest_barkha_Dutt arrest_aziz_khan तो क्या करोगे उखाड़ लोगे क्या कुछ



'अनियोजित लॉकडाउन' पर भड़कीं सोनिया, कहा- दुनिया के किसी देश ने ऐसा नहीं किया

कोरोना वायरस: क्या इस वीडियो में दिख रहे लोग तबलीग़ी के थे?- फ़ैक्ट चेक

गाजियाबाद: आइसोलेशन वार्ड में बिना पैंट घूम रहे तबलीगी जमात के मरीज, DM-SSP से शिकायत

कोरोना वायरस: 10 दिन ठेला चलाकर दिल्ली से बिहार पहुंचने वाला शख़्स

मोदी के दीया जलाने की अपील पर तेज प्रताप का ट्वीट- लालटेन भी जला सकते हैं!

केजरीवाल का ऐलान- पब्लिक सर्विस वाहन चलाने वालों को मिलेंगे 5 हजार रुपये

लॉकडाउन के नौवें दिन PM मोदी ने देश से मांगे 9 बजे, 9 मिनट, 5 अप्रैल को दिखेगी नई सामूहिकता

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

27 फरवरी 2020, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ हाईस्कूल की परीक्षा दे रही बरेली की साफिया; बोली- बीमार हूं कमजोर नहीं

अगली खबर

ट्रंप के भारत से लौटते ही अमेरिका और पाकिस्तान की दोस्ती का दिखा नया रंग
PM मोदी की अपील पर कांग्रेस का हमला, कोरोना से जंग पर उठाए कई सवाल कोरोना वायरस: ऑस्ट्रेलियाई पीएम का चीन के मांस बाज़ार पर हमला कोरोना वायरस: किम जोंग-उन ने ऐसा क्या किया कि संक्रमण नहीं फैला मौलाना साद का आलीशान फार्म हाउस: स्वीमिंग पूल और गाड़ियों का काफिला - trending clicks AajTak कोरोना वायरस: पिछले दो दिनों में तबलीग़ी जमात से जुड़े 647 नए मामले- ICMR - BBC Hindi कोरोना वायरस: सरकार का आरोग्य सेतु ऐप कितना सुरक्षित दिल्ली में कोरोना के 384 केस, 24 घंटे में 91 बढ़े, हालात चिंताजनक: अरविंद केजरीवाल 'रामायण' ने खड़ा कि‍या सवाल, क्या सास-बहू के नाटक देखना चाहते हैं इंडियन टेलीविजन दर्शक? आज तक @aajtak कोरोना: यूपी में छोड़े जाएंगे 359 बाल कैदी, इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश के बाद होगी रिहाई कोरोना: पाकिस्तान ने 80 एकड़ जमीन पर क्यों बनाया नया कब्रिस्तान? - Coronavirus AajTak लॉकडाउन में फंसा तो 3 दिन में 400 km साइकिल चलाकर गांव पहुंचा ये शख्स
'अनियोजित लॉकडाउन' पर भड़कीं सोनिया, कहा- दुनिया के किसी देश ने ऐसा नहीं किया कोरोना वायरस: क्या इस वीडियो में दिख रहे लोग तबलीग़ी के थे?- फ़ैक्ट चेक गाजियाबाद: आइसोलेशन वार्ड में बिना पैंट घूम रहे तबलीगी जमात के मरीज, DM-SSP से शिकायत कोरोना वायरस: 10 दिन ठेला चलाकर दिल्ली से बिहार पहुंचने वाला शख़्स मोदी के दीया जलाने की अपील पर तेज प्रताप का ट्वीट- लालटेन भी जला सकते हैं! केजरीवाल का ऐलान- पब्लिक सर्विस वाहन चलाने वालों को मिलेंगे 5 हजार रुपये लॉकडाउन के नौवें दिन PM मोदी ने देश से मांगे 9 बजे, 9 मिनट, 5 अप्रैल को दिखेगी नई सामूहिकता कोरोना वायरसः इंदौर के वायरल वीडियो का सच क्या है?-फ़ैक्ट चेक कोरोना वायरस: दुनिया में संक्रमित मरीज़ों की संख्या 10 लाख पार, 52 हज़ार की मौत - BBC Hindi 5 मिनट के वीडियो में 5 संदेश, PM मोदी के मैसेज में छिपे हैं बड़े अर्थ कोरोना संकट के बीच कल सुबह 9 बजे देश को फिर संबोधित करेंगे PM मोदी 'रामायण' की वापसी से दूरदर्शन को मिली खुशखबरी, टीआरपी रेटिंग में बनाया ये रिकॉर्ड