Bhupesh Baghel, Mohan Markam, Chhattisgarh, Chhattisgarh Congress, India News, Raipur, Raipur News, New Chhattisgarh Congress President, Chhattisgarh Congress President

Bhupesh Baghel, Mohan Markam

मोहन मरकाम को बनाया गया छत्तीसगढ़ कांग्रेस का नया अध्यक्ष तो विदाई भाषण में रो पड़े CM बघेल, देखें VIDEO

मोहन मरकाम को बनाया गया छत्तीसगढ़ कांग्रेस का नया अध्यक्ष तो विदाई भाषण में रो पड़े CM बघेल, देखें VIDEO #Congress

30.6.2019

मोहन मरकाम को बनाया गया छत्तीसगढ़ कांग्रेस का नया अध्यक्ष तो विदाई भाषण में रो पड़े CM बघेल, देखें VIDEO Congress

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव में बड़ी जीत और लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद आदिवासी नेता मोहन मरकाम राज्य में सत्ताधारी दल कांग्रेस की अगुवाई करेंगे. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भूपेश बघेल के स्थान पर मरकाम की नियुक्ति की है. बता दें, पिछले साल के आखिर में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत हुई थी जिसके बाद पीसीसी अध्यक्ष बघेल मुख्यमंत्री बने थे. इसके बाद से वह पीसीसी अध्यक्ष की भी भूमिका निभा रहे थे. हाल ही में बघेल ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी और नए पीसीसी अध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर चर्चा की थी.

रायपुर: मोहन मरकाम को छत्तीसगढ़ के नए कांग्रेस अध्यक्ष चुने जाने के बाद अपने विदाई भाषण के दौरान राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भावुक हो गए. सीएम बघेल स्टेज पर खड़े होकर विदाई भाषण दे रहे थे और उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं का शुक्रिया अदा किया. न्यूज एजेंसी एएनआई द्वारा जारी वीडियो में देखा जा सकता है कि कुछ पल के लिए वह भाषण देते हुए रुकते है और फिर चश्मा उतारकर अपने आंसू पोंछने लगे. इसके बाद वहां मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने 'भूपेश बघेल जिंदाबाद, कांग्रेस पार्टी जिंदाबाद' के नारे लगाए. बता दें, #WATCH Chhattisgarh Chief Minister Bhupesh Baghel who was also the Congress President of the party's state unit, tears up remembering the contribution of members, at an event passing the post to Mohan Markam in Raipur. (June 29) pic.twitter.com/O70Uuchu8P — ANI (@ANI) June 29, 2019कांग्रेस में इस्तीफों का दौर जारी, अब किसान प्रकोष्ठ के प्रमुख नाना पटोले समेत इन दिग्गज नेताओं ने दिया इस्तीफा मरकाम कांग्रेस के मुखर आदिवासी नेता माने जाते हैं. वह विधानसभा के भीतर और बाहर आदिवासी मुद्दों को उठाने के लिए जाने जाते है. छत्तीसगढ़ में 15 वर्ष के लंबे अंतराल के बाद कांग्रेस सत्ता में आई तब इसका श्रेय प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल को दिया गया और उन्हें मुख्यमंत्री चुन लिया गया. बघेल साल 2013 से प्रदेश अध्यक्ष थे. भूपेश बघेल के बाद अब आदिवासी बाहुल्य बस्तर इलाके के कोंडागांव विधानसभा क्षेत्र के विधायक मोहन मरकाम को प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है. 15 सितंबर 1967 को कोंडागांव जिले की माकड़ी तहसील के अंतर्गत टेडमुंडा गांव में जन्मे मरकाम छात्र जीवन से ही राजनीति में सक्रिय रहे हैं. से तनातनी के बीच अहमद पटेल से मिले CM अमरिंदर सिंह, अटकलें शुरू मरकाम ने वर्ष 2008 में भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदवार लता उसेंडी के खिलाफ कांग्रेस के टिकट पर पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन वह 2771 मतों के अंतर से चुनाव हार गए थे. बाद में 2013 और 2018 के विधानसभा चुनाव में मरकाम ने भाजपा उम्मीदवार लता उसेंडी को मात दी. मरकाम को चौथी विधान सभा (वर्ष 2013 से 2018) के लिए छत्तीसगढ़ विधानसभा द्वारा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाला विधायक चुना गया. वर्ष 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 90 सीटों में 68 सीटें लेकर सत्ता में आई तब उन्हें बस्तर क्षेत्र के आदिवासियों का साथ मिला. वहीं वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस जीत को दोहरा नहीं पाई और 11 सीटों में से केवल दो सीटें ही जीत पाई. लेकिन इस बार भी बस्तर ने कांग्रेस का साथ दिया. बस्तर से लगातार जीत के बाद कयास लगाया जा रहा था कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी इस बार कमान बस्तर के किसी आदिवासी नेता को सौंपेंगे. प्रियंका गांधी ने CM योगी पर साधा निशाना, कहा- क्या UP सरकार ने अपराधियों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है? छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के प्रवक्ता शैलेश नितिन त्रिवेदी कहते हैं कि बस्तर के लोगों ने विधानसभा और लोक सभा चुनावों में बड़े पैमाने पर कांग्रेस का समर्थन किया है. बस्तर क्षेत्र के रहने वाले मरकाम ने दोनों चुनावों विधानसभा और लोकसभा के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को फिर से सक्रिय किया. त्रिवेदी कहते हैं कि मरकाम के पास पार्टी के लिए कार्य करने का बड़ा अनुभव है जो निश्चित रूप से पार्टी की मदद करेगा. राज्य में जल्द ही होने वाले नगरीय निकाय चुनाव उनकी पहली परीक्षा होगी. टिप्पणियांलोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद अब कांग्रेस में इस्तीफों का दौर, ये दिग्गज नेता अपने पद से हटे Video: देशभर से कांग्रेस के 120 पदाधिकारियों के इस्तीफे और पढो: NDTVIndia

शाहीन बाग़ में सड़क किनारे बना किताबों का संसार



अमित शाह का दिल्ली पुलिस को सुझाव, कहा- ''शरारती तत्वों से निपटते वक्त सयंम से काम लेना चाहिए''

अखिलेश की सभा में 'जय श्रीराम' का नारे लगाने पर युवक की पिटाई से बिफरे संत, कही ये बड़ी बात



फडणवीस ने दिया शिवसेना को चैलेंज, कहा- हिम्मत है तो फिर से चुनाव करवा लीजिए, गठबंधन को हरा देंगे

तमिलनाडुः भीड़ ने दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या की, सात गिरफ़्तार



अमित शाह ने मिलने का वादा किया है तो पुलिस ने रोका क्यों?

बिहार: डॉक्टरों की रिपोर्ट में दावा- सरकार की उदासीनता की वजह से गई बच्चों की जानेंबिहार में एक्यूट इंसेफ्लाइटिस की वजह से अब तक 150 से अधिक बच्चों की जानें जा चुकी हैं. इसमें सबसे अधिक संख्या मुजफ्फरपुर से है. इन बच्चों की मौत पर डॉक्टरों की एक स्वतंत्र ने जांच रिपोर्ट तैयार की है. इसमें प्रशासन की विफलता और राज्य सरकार की उदासीनता को मौत का कारण माना गया है. सरकार को गिरना होगा गिरी हुई सरकार को गिराना होगा।। अब जनता को भी उदासीन होजाना चाहिए ताकि सरकार की भी जान चली जाए !! बीजेपी को समर्थन वापस लेना चाहिए

एमपी: एक और बीजेपी नेता की गुंडागर्दी, सतना में नगरपरिषद अध्यक्ष ने सीएमओ को अधमरा कियानगर परिषद अध्यक्ष के खिलाफ सीएमओ ने जांच के आदेश दिये थे. जिसके बाद वो नाराज था और आज अपने साथियों के साथ मिलकर हमला कर दिया. पिलहाल पुलिस ने रामसुशील को गिरफ्तार कर लिया है. Bjp wale ne kiya hai na salute karo aur chup raho desh me tanasahi aa rahi hai AIMA & Junior Doctors अब किस बिल में घुस गये आंदोलन नही करोगे अब देशभर में जैसे बंगाल में कर रहे थे क्या गोदीमीडिया डाक्टरों का वैसे ही साथ देगी जैसे बंगाल में डाक्टर की पिटाई पर साथ खडी थी ? सतना पिटाई कांड के आरोपी नगर परिषद अध्यक्ष रामसुशील पटेल को गिरफ्तार कर मैहर जेल भेजा, सीएमओ को भरी बैठक में अधमरा कर दिया था। anandrai177 Anurag_Dwary IamRajnishAhuja pankajjha_

क्यों न कैकेयी की तरह कोप भवन में बैठ जाएं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी?लोकसभा चुनाव 2019 में 17 राज्यों में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिल पाई है। RahulGandhi priyankagandhi INCIndia RahulGandhi priyankagandhi INCIndia तुम्हारी औकात क्या है अमर उजाला? 🐒 RahulGandhi priyankagandhi INCIndia जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू, अल्पसंख्यक का दर्जा खत्म, आरक्षण पर पुनर्विचार, संविधान की पुनर्समीक्षा, कश्मीर के विशेष राज्य का दर्जा खत्म होने जैसे मुद्दे अगर कांग्रेस की नीतियों में शामिल हों, तब तो उसे समर्थन मिले, सिर्फ मोदीमोदी चिल्लाने से तो उसे जनता लतियाएगी ही ! RahulGandhi priyankagandhi INCIndia विपश्यना...

राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से इस्तीफे पर 'अनिर्णय' में छिपा कांग्रेस का 'निर्णय''निर्णय नहीं लेना भी एक निर्णय होता है' कांग्रेस के दिग्गज दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री नरसिंह राव का यह चर्चित सूत्र वाक्य कांग्रेस के मौजूदा हालात को बिल्कुल सटीक बयान कर रहा... DecisionOfCongress ResignationOfRahulGandhi CongressPresident काँग्रेस अध्यक्ष को उनके ही लोगों ने हरा दिया जरा काँग्रेस INCIndia से पूछो न RahulGandhi इस्तीफा इस्तीफा बिल्कुल रॉफेल रॉफेल की तरह क्यों कर रहा है ? गधे से पूछो, इस्तीफा देते क्यों नहीं ? बता दो उसे, जितना देरी करेगा, उतना ही नीचे गिरेगा. फिर तो उसे वायनाड का कुत्ता भी न पूछेगा. 'धोबी का गधा न घर का न घाट का' बन जायेगा. Jo congressi iske piche lage he vo san ko apna kisi mental hospital me ilaj karva na chaiye, agar vo log such me congress ko bacha na chah te he to baki desh ke liye to vo sab sahi kar rahe he

गौतम की कमेंट्री पर कांग्रेस का तंज- पूर्वी दिल्ली की जनता के साथ हुआ 'खेल'कांग्रेस की राष्‍ट्रीय मीडिया समन्‍वयक राधिका खेड़ा ने एक ट्वीट के जरिए पीएम मोदी के न्यू इंडिया के न्यू सांसद पर सवाल उठाया है. उन्होंने लिखा है, चुनाव से ठीक पहले पीएम ने पूर्वी दिल्ली की जनता के साथ 'खेल' कर दिया. What else reaction one can expect from a cunning party who ruined D3lhi for 60 yrs ~ To INCIndia Siddhu pr bhi jawab de de! कांग्रेस के पंजाब में मंत्री जी ने तो जनता के साथ कॉमेडी कर रखी है।

UP: कांग्रेस के 35 पदाधिकारी बोले- लोकसभा चुनाव में हार की जिम्मेदारी हमारी, दिया इस्तीफाइस्तीफा देने वालों में प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के समन्वयक राजीव बख्शी, संयुक्त मीडिया समन्वयक पीयूष मिश्रा, प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं प्रवक्ता ओंकारनाथ सिंह और महामंत्री विनोद मिश्रा भी शामिल हैं. Too late ..and.....farcical. जिम्मेदार तो पार्टी महासचिव भी है.. वो कब इस्तीफा देंगी कांग्रेस अध्यक्ष को सख्ती दिखानी पड़ी, यह नेताजी का कृत्य है, किस तरह से अपनी प्रतिष्ठा को पद से जोड़ते जिससे अहंकार उपजती और जनता तथा समाज से दूर होते जाते। जनता कोराष्ट्रीय और राज्यस्तरीय से कोई लेना-देना नही उसके पास समस्या होती है और समाधान चाहती है स्थानीय नेताजी खुद कम नही।

जामिया लाइब्रेरी के वीडियो में मुंह छुपाकर क्यों बैठा था छात्र?

केंद्र सरकार के साथ मिलकर दिल्ली को आगे ले जाना चाहता हूं: अरविंद केजरीवाल

काशी में महादेव का आशीर्वाद लेकर बोले मोदी- 370 हो या CAA, हर फैसले पर कायम सरकार

आरक्षण के मुद्दे पर मायावती ने केंद्र सरकार को घेरा, लगाया उपेक्षा करने का आरोप

There is no religion of terrorism: M Venkaiah Naidu

ओडिशा विधानसभा स्पीकर का निर्देश, सदन के हंगामे की रिपोर्ट न करें मीडिया, विपक्ष ने की आलोचना

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

30 जून 2019, रविवार समाचार

पिछली खबर

अधिकारी को बल्ले से पीटने वाले BJP विधायक आकाश विजयवर्गीय जमानत के बाद हुए रिहा, कहा- जेल में अच्छा समय बीता

अगली खबर

OnePlus 7 को मिला नया सॉफ्टवेयर अपडेट, होंगे ये बदलाव
शाहीन बाग़ में सड़क किनारे बना किताबों का संसार अमित शाह का दिल्ली पुलिस को सुझाव, कहा- ''शरारती तत्वों से निपटते वक्त सयंम से काम लेना चाहिए'' अखिलेश की सभा में 'जय श्रीराम' का नारे लगाने पर युवक की पिटाई से बिफरे संत, कही ये बड़ी बात फडणवीस ने दिया शिवसेना को चैलेंज, कहा- हिम्मत है तो फिर से चुनाव करवा लीजिए, गठबंधन को हरा देंगे तमिलनाडुः भीड़ ने दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या की, सात गिरफ़्तार अमित शाह ने मिलने का वादा किया है तो पुलिस ने रोका क्यों?
जामिया लाइब्रेरी के वीडियो में मुंह छुपाकर क्यों बैठा था छात्र? केंद्र सरकार के साथ मिलकर दिल्ली को आगे ले जाना चाहता हूं: अरविंद केजरीवाल काशी में महादेव का आशीर्वाद लेकर बोले मोदी- 370 हो या CAA, हर फैसले पर कायम सरकार आरक्षण के मुद्दे पर मायावती ने केंद्र सरकार को घेरा, लगाया उपेक्षा करने का आरोप There is no religion of terrorism: M Venkaiah Naidu ओडिशा विधानसभा स्पीकर का निर्देश, सदन के हंगामे की रिपोर्ट न करें मीडिया, विपक्ष ने की आलोचना