मोदी 2 के 100 दिनः रोज़गार और निवेश कैसे लाएगी सरकार

मोदी सरकार के 100 दिन, कैसे लाएगी रोज़गार और निवेशः नज़रिया

8.9.2019

मोदी सरकार के 100 दिन, कैसे लाएगी रोज़गार और निवेशः नज़रिया

भारत को 5 ट्रिलियन इकोनॉमी बनाने के लिए सरकार ने एक रोडमैप जारी किया है. पढ़ें वरिष्ठ आर्थिक पत्रकार सुषमा रामचंद्रन का नज़रिया.

ये एक्सटर्नल लिंक हैं जो एक नए विंडो में खुलेंगे शेयर पैनल को बंद करें इमेज कॉपीरइट Reuters मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे हो गए हैं. इस अवसर पर केंद्र सरकार ने आने वाले वक्त में भारत को 5 ट्रिलियन की इकोनॉमी बनाने के लक्ष्य का रोडमैप जारी किया है. इसके अनुसार निवेश बढ़ाने और रोज़गार के नए अवसर पैदा करने के लिए दो कैबिनेट समितियां बनाई गई हैं. ये पैनल हैं 'निवेश एवं विकास पैनल' और 'रोज़गार एवं कौशल विकास पैनल.' प्रधानमंत्री खुद इन दोनों पैनलों की अध्यक्षता करेंगे. इसके साथ यह भी बताया गया कि सरकार ने कृषि के क्षेत्र में संरचनात्मक सुधार के लिए उच्चस्तरीय समिति का गठन किया है. इमेज कॉपीरइट PTI भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने की दिशा में देश के इंफ्रास्ट्रक्चर में आने वाले वक्त में 100 लाख करोड़ रुपये के निवेश का लक्ष्य रखा गया है. इसमें से 50 लाख करोड़ रुपये अकेले रेलवे के इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च किए जाएंगे. बीबीसी संवाददाता अभिजीत श्रीवास्तव ने वरिष्ठ आर्थिक पत्रकार सुषमा रामचंद्रन से बात कर यह पूछा कि सरकार के ये पैनल कितने अहम हैं और सरकार को इस दिशा में क्या क्या करने की ज़रूरत है? पढ़ें सुषमा रामचंद्रन का नज़रिया इमेज कॉपीरइट PTI 5 ट्रिलियन इकोनॉमी को लेकर केंद्र सरकार ने जो पैनल बनाए हैं वो बेहद ज़रूरी हैं. देश में निवेश की गति बहुत धीमी हुई है. इसकी वजह से अर्थव्यवस्था की गति भी मंद हुई है. देश की अर्थव्यवस्था पिछली तिमाही में 5 फ़ीसदी की दर से बढ़ी है. विदेशी निवेश पिछले पांच सालों के दौरान अच्छा हुआ है लेकिन बीते एक-दो सालों से थोड़ा धीमा पड़ा है. इस दिशा में सरकार को काम करना होगा ताकि बाज़ार में निवेशकों का भरोसा बढ़े. इमेज कॉपीरइट Reuters टैक्स और निवेश नीति की स्पष्टता सबसे पहले तो सरकार को निवेश के माहौल को अच्छा करना होगा. इसके लिए कई चीज़ें ज़रूरी हैं. सबसे अहम है कि सरकार को अपनी आर्थिक नीति एक जैसी रखनी होगी, उसे लंबी अवधि की पॉलिसी पर ध्यान देना चाहिए. दूसरी सबसे अहम बात है टैक्स की नीति. सरकार को करदाता और निवेशकों पर अपनी नीति स्पष्ट करनी होगी. केंद्र सरकार ने बजट के दौरान फ़ॉरेन पोर्टफोलियो इनवेस्टमेंट (FPI) की आय पर आयकर सरचार्ज बढ़ाने का जो फ़ैसला लिया था उसे हाल ही के दिनों में वापस ले लिया है. घरेलू निवेशकों के लिए आयकर सरचार्ज को बढ़ाने का निर्णय भी रद्द कर दिया गया है. निवेश के लिए आसान क्रेडिट देने की ज़रूरत है. सरकार ने बैंकिंग के क्षेत्र में थोड़ा सुधार किया है. एक साथ कई बैंकों के विलय की घोषणा की है और साथ ही 55,250 करोड़ के बेलआउट पैकेज की घोषणा भी की है. उम्मीद की जा रही है कि इससे बैंकों के एनपीए (नॉन परफॉर्मिंग एसेट) कुछ कम होंगे और वो कम से कम नुक़सान से उबर पाएंगे. इमेज कॉपीरइट Getty Images रोज़गार सृजन के उपाय कैसे करे? सरकार ने रोज़गार के सृजन के लिए पैनल की घोषणा भी की है. रोज़गार की बात होगी तो 5 फ़ीसदी के दर से विकास दर की बात वापस आएगी और इस पर चर्चा होगी. क्योंकि जब ग्रोथ कम होगा तो नौकरियों के सृजन पर इसका सीधा असर पड़ेगा ही. मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में बहुत कम ग्रोथ हुआ है. यहां सरकार को बहुत फोकस करना होगा. सरकार को खुद भी इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में पैसा लगाना होगा. इमेज कॉपीरइट PTI Image caption रोज़गार बढ़े इसके लिए कंस्ट्रक्शन, रियल स्टेट पर फ़ोकस करने की आवश्यकता कंस्ट्रक्शन, रियल स्टेट और सड़कों पर फोकस रियल इस्टेट और कंस्ट्रक्शन के क्षेत्र में नौकरियों ज़्यादा होती हैं और यहां लेबर की अधिक मांग होती है, लिहाजा यहां अधिक पैसा लगाना होगा. इस क्षेत्र में दूसरी सबसे अहम चीज़ है सड़क. जब प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने स्वर्णिम चतुर्भुज (गोल्डेन क्वाड्रिलेटरल) की घोषणा की थी तब उससे देश की अर्थव्यवस्था में काफी सुधार हुआ था. सरकार ने रेलवे में 50 लाख करोड़ लगाने का फ़ैसला किया है. रेलवे पर फोकस ज़रूरी है लेकिन पब्लिक सेक्टर की जगह सरकार को प्राइवेट सेक्टर में नौकरियों के सृजन पर ज़्यादा ध्यान देने की ज़रूरत है. इमेज कॉपीरइट Image caption सड़क निर्माण से लोगों को नौकरियां मिलेंगी नौकरियों के लिए फैक्ट्री लगाने जैसे विकल्प भी हैं और इसके लिए मैन्युफैक्टरिंग सेक्टर पर ध्यान दिया जा सकता है लेकिन दीर्घावधि की जगह अल्पावधि में रोज़गार सृजन करने वाले विकल्पों को चुनना होगा. यदि जल्दी से जल्दी नतीजे चाहिए तो कंस्ट्रक्शन, रियल स्टेट और सड़कों पर सबसे ज़्यादा ध्यान देने की ज़रूरत हैं. रेलवे भी अहम है. लेकिन पब्लिक सेक्टर पर अनावश्यक नौकरियां सृजन करने से बचना होगा. ये भी पढ़ें: और पढो: BBC News Hindi

राष्ट्रगान नहीं गा पाए कन्हैया कुमार, अंतिम दो लाइन में कर गए 'झोल'



मनोज तिवारी का हमला- 'ताहिर हुसैन ने काफी पहले कर ली थी दिल्ली के दंगों के लिए तैयारी'

DNA ANALYSIS: अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट किसी के भी रोंगटे खड़े कर सकती है



दिल्‍ली हिंसा: जावेद अख्‍तर ने कर दिया ऐसा ट्वीट, लोग पूछ रहे सवाल

UNHRC चीफ़ ने CAA और दिल्ली हिंसा पर जताई चिंता



हिंदू-मुस्लिम युवकों ने एकजुट होकर दंगाइयों को रोका, बचा लिया दुर्गा माता मंदिर

आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ हत्या, हिंसा और आगजनी का केस दर्ज



ये तो फकीर आदमी है कभी जोला उठाके चल देगा देश को फकीर बना ही दिया है निवेश रूस में कर तो आए ! Whichever Govt.:1)The govt is misleading the people of the country, 2)It is natural to have no employment,no rupees,no rupees, no development.3)Good speech & good story will keep the people of the country happy anywhere.4)The economy of the country is deteriorating day by day

इसे पढ़ लो, सारी सच्चाई दिखेगी They would kick you out first and the begin.. देश के हर जिले मै एयरपोर्ट हो जो सुचारू रूप से काम कर रहे हो! इससे जनता को रोजगार के साथ - साथ सुविधाएं भी मिलेगी! U may better concentrate on UkFreeIreland 10DowningStreet LibDems Conservatives and All BritishChristians बस ! कुछ नहीं करना केवल INCIndia नेताओं के घर छापे मारने है।

जिसकी आवश्यकता नहीं उस पर विचार कैसा ? Please talk now about only Pakistan and Jai Sri Ram. Unemployment and development are in our agenda of 2024. Now bjp is busy to make a Hindu rashtra. प्रचार में विशेष न रोजगार न निवेश।

मोदी सरकार के 100 पर प्रियंका गांधी बोलीं- अर्थव्यवस्था चौपट करके मौन बैठी है सरकारकेंद्र की मोदी के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे हो गए हैं. इस पर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा है. प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, अर्थव्यवस्था करके चौपट, मौन बैठी है सरकार संकट में हैं कंपनियां, ठप्प हो रहा व्यापार,ड्रामे से, छल से, झूठ से, प्रचार से करके कपट, जन-जन से छुपा रहे, देश की हालत विकट. देखकर ऐसा लग रहा है जैसे gdp का सबसे बड़ा दुष्प्रभाव इसी के ऊपर पड़ा है 🤣🤣🤣 Howard Return Economists. Aapki govt bhee the 10 saal to bhee itni hee gdp thee. Tab nahi bole aap.

To bring economy on track to be given priority. Stake holders should come forward to address this at the earliest.🙏 जुमलों से 👈🏿👈🏿👈🏿👈🏿👈🏿 फेंकू को सिर्फ़ बात ही तों फेंकनी हैं 👉 बजाओं अंधभक्तों 👎🏿👎🏿👎🏿👎🏿ताली 👎🏿👎🏿👎🏿👎🏿 अभी केवल राष्ट्रवाद वाला चूरन ही सर्वोत्तम कार्य है निवेश व रोजगार की आवश्यकता ही नही

I think BBCWorld should concentrate on what’s happening in London. Three PM have been changed for Brexit and now even the government is about to fall. Queen is lost. So called imperialist😂😂 जैसे चंद्रयान चाँद पे पहुचा। 100 days me kitna dress change kiya जिस पार्टी में 60% लोग अनपढ़ हो! उनसे रोज़गार देने की बात करना बेकार ह । जिनके मुखिया ने चाई और सन्यास मेन जीवन निकाला ह वो लोगों को रोज़गार नहीं दे सकते !!

Katora hath main ajayega katora Yeh 5 saal bhi sarkar chala le bht badi baat hogi.. BJP k din ab gaye Tujhe chinta karne ki jarurat nahi hai 🐷

मोदी सरकार के 100 दिन आज पूरे, जनता के सामने पेश रिपोर्ट कार्ड में झलकेगा राष्ट्रवादमोदी सरकार ने 100 दिनों के कार्यकाल में लिए गए फैसलों को जनता तक पहुंचाने का निर्णय लिया है। अर्थव्यवस्था को स्थिर करने के लिए बैंकों का विलय भी एक महत्वपूर्ण बिंदु होगा। Love it 100Din pure honesty per Narendramodi ji ko badhaei देश के GDP की विकासदर सरकार का रिपोर्ट कार्ड होता है..! 100DaysOfModiGovernment ReportCard

अंबानी अडानी मला मल बाद बाकी कंगाल ... जनता को विकास नहीं शगूफा चाहिए Ase..... Karti hai vikas haryana me ye Evmवाली फेकू सरकार ,बेरोजगारी चरम पर ,सडके बद से बदतर है फिरभी tv वाली सरकार है रोजगार और निवेश ये बात सबको समझ में नही आएंगी!! अब रोजगार के एक ही रास्ता है भाजपा की चमचागीरी राष्ट्रवादी kashmirbleeds

समस्या : रूपया 72 पार जीडीपी 5% सोना 40000 पार बेरोज़गारी सबसे उच्चतम स्तर पर रिएल एस्टेट सबसे ख़राब दौर में उद्योग बंद हो रहे हैं नौकरियाँ लगातार जा रही है समाधान : पाकिस्तान को सबक़ सीखा कर रहेंगे भारत माता की जय वंदे मातरम जय श्री राम 100DaysNoVikas रोज़गार, निवेश, आयात, निर्यात, अर्थशास्त्र, अर्थव्यवस्था यह सब बातें अगर एक शिक्षीत व्यक्ति करे तो अच्छा लगता है और मन को संतुष्टि मिलती है कि हां यह शख्स कुछ कर दिखाएगा। लेकिन यही बातें एक अशिक्षित व्यक्ति करे तो..? समझ लिजिए गई भैंस पानी में।

प्रियंका गांधी ने कहा- बीजेपी सरकार के 100 दिनों का जश्न 'बर्बादी के जश्न' की तरहअर्थव्यवस्था में सुस्ती और वाहनों की बिक्री में गिरावट को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि सरकार अपने 100 दिनों का जश्न मना रही है जो कई औद्योगिक क्षेत्रों के लिए बर्बादी का जश्न की तरह है. उन्होंने यह दावा भी किया कि हर जगह से नौकरियां जाने की खबरें आ रही हैं. प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, भाजपा सरकार सौ दिन का जश्न मनाने जा रही है. लेकिन ऑटो, परिवहन , खनन क्षेत्रों को तो यह जश्न बर्बादी के जश्न जैसा लगेगा. Aap bhi pappu ka jashn mana sakte ho priyankagandhi ठीक कहा चितमबरम के जाने से कुंठा है , निकालो । UP में एक पर अटक गई गाडी । सड़क पर उतरिये l ट्विटर से आंदोलन नहीं होगा l

दलाल मिडिया एक देश भक्त को छेड़ना बन्द कर दो मोदी जी औतार पुरूष है जय हिन्द हिंदुस्तान जिंदाबाद CAMERA OFF VS CAMERA ON OF MR FEKU PM !! Watch This Video. This Is The Real BJP RSS Narendra Modi When Sivan Informed Him That The Communication With Vikram Was Lost. Look How Cold He Is While Sivan Is Being Comforted By His Colleagues.

अर्थशास्त्री अरुण कुमार का दावा- आज देश की GDP 5% नहीं 0% है और जिसकी वजह नोटबंदी-जीएसटी है डॉ अरुण कुमार प्रतिष्ठित अर्थ शास्त्री हैं। मोदी जी को देश की अर्थ व्यवस्था पर ध्यान देना चाहिये। सुनते रहो आखिर में ये बात सुनने को मिलेगी 100 दिन तो जुमला था Dekhte Jao Sab Kuchh ho jaega

जेटली के निधन के बाद क्या भूपेंद्र यादव होंगे मोदी सरकार के अगले 'संकट मोचक'?पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता अरुण जेटली (Arun Jaitley) सालों तक पार्टी के संकट मोचक रहे. ये शायद ही संभव है कि दिवंगत जेटली का स्थान कोई ले सकता है. लेकिन उनके निधन के बाद संकट मोचक के तौर पर बीजेपी (BJP) का कौन नेता कारगर हो सकता है. अगर इस संदर्भ में बात की जाए तो बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री भूपेंद्र यादव (Bhupender Yadav) को इस स्थान पर देखा जा सकता है. | bihar News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी Ho sakta hai jay shriram jay ho

मोदी सरकार पर राहुल का तंज, बोले- बिना विकास के 100 दिन पूरे होने की बधाईअगर ये मुझे ब्लॉक नही करता तो इसको जवाब देता Ye apne vikas ki baat kar rahae ,wo nahi ho payega कांग्रेस को मिरत सैया पर पहुंचाने के लिए राहुल गांधी बधाई हो

मोदी सरकार-2 के 100 दिन और पांच बड़े विवादास्पद फैसलेएक तरफ जहां UAPA के चलते जहां प्रशासनिक शक्तियों की ताकत बढ़ने से नागरिकों के लोकतांत्रिक आजादी पर ग्रहण लगने की आशंका जाहिर की गई, वहीं दूसरी तरफ जम्मू-कश्मीर को मिले विशेषाधिकार अनुच्छेद 370 और 35A को खत्म करके सरकार ने ऐतिहासिक उलट-फेर कर दिया।



दिल्ली हिंसा : राष्ट्रपति से मिले कांग्रेस के नेता, 'राजधर्म' बचाने की अपील, अमित शाह को हटाने की मांग

Delhi Violence: सोनिया गांधी,ओवैसी और स्वरा भास्कर के खिलाफ HC में याचिका, FIR दर्ज करने की मांग

रविशंकर प्रसाद की दो टूक- CAA पर हम पीछे नहीं हटेंगे, ये नरेंद्र मोदी की सरकार है

दिल्‍ली में हिंसा के लिए गृह मंत्रालय जिम्‍मेदार, अमित शाह को इस्‍तीफा देना चाहिए: सोनिया गांधी

जस्टिस एस मुरलीधर के तबादले की टाइमिंग पर घिरी मोदी सरकार, कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दी सफाई

दिल्ली हिंसा: AAP पार्षद का उछला नाम, क्या बोले संजय सिंह

'मैंने सिर्फ रास्‍ता खुलवाने का अनुरोध किया था, जिसके घर से हिंसा हुई उससे कोई सवाल नहीं'

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

09 सितम्बर 2019, सोमवार समाचार

पिछली खबर

गुजरात: डायमंड किंग ढोलकिया के बनाए तालाब में CM विजय रुपाणी ने चलाई स्पीड बोट

अगली खबर

ओडिशा: ट्रक में लेकर जा रहा था JCB, कट गया 86,500 रुपये का चालान
राष्ट्रगान नहीं गा पाए कन्हैया कुमार, अंतिम दो लाइन में कर गए 'झोल' मनोज तिवारी का हमला- 'ताहिर हुसैन ने काफी पहले कर ली थी दिल्ली के दंगों के लिए तैयारी' DNA ANALYSIS: अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट किसी के भी रोंगटे खड़े कर सकती है दिल्‍ली हिंसा: जावेद अख्‍तर ने कर दिया ऐसा ट्वीट, लोग पूछ रहे सवाल UNHRC चीफ़ ने CAA और दिल्ली हिंसा पर जताई चिंता हिंदू-मुस्लिम युवकों ने एकजुट होकर दंगाइयों को रोका, बचा लिया दुर्गा माता मंदिर आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ हत्या, हिंसा और आगजनी का केस दर्ज दिल्ली हिंसा: ताहिर हुसैन पर हत्या का केस, AAP ने किया सस्पेंड मुस्लिमों की गरीबी और बेरोजगारी की समस्या को खत्म कर रहे हैं पीएम मोदी : उमा भारती स्पेशल रिपोर्ट: क्या दिल्ली की हिंसा में ताहिर हुसैन का हाथ है? 5000 साल के इतिहास में कभी किसी हिंदू राजा ने कोई मस्जिद नहीं तोड़ी : नितिन गडकरी UP: आजम खान के बेटे अब्दुल्लाह अब नहीं रहे विधायक, विधानसभा से सदस्यता रद्द
दिल्ली हिंसा : राष्ट्रपति से मिले कांग्रेस के नेता, 'राजधर्म' बचाने की अपील, अमित शाह को हटाने की मांग Delhi Violence: सोनिया गांधी,ओवैसी और स्वरा भास्कर के खिलाफ HC में याचिका, FIR दर्ज करने की मांग रविशंकर प्रसाद की दो टूक- CAA पर हम पीछे नहीं हटेंगे, ये नरेंद्र मोदी की सरकार है दिल्‍ली में हिंसा के लिए गृह मंत्रालय जिम्‍मेदार, अमित शाह को इस्‍तीफा देना चाहिए: सोनिया गांधी जस्टिस एस मुरलीधर के तबादले की टाइमिंग पर घिरी मोदी सरकार, कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दी सफाई दिल्ली हिंसा: AAP पार्षद का उछला नाम, क्या बोले संजय सिंह 'मैंने सिर्फ रास्‍ता खुलवाने का अनुरोध किया था, जिसके घर से हिंसा हुई उससे कोई सवाल नहीं' दिल्ली हिंसा पर सुनवाई करने वाले जस्टिस एस. मुरलीधर का तबादला दिल्ली हिंसा पर आया अमेरिकी सांसदों का बयान, कहा- दुनिया देख रही है, ऐसे कानून को बढ़ावा नहीं देना चाहिए जो.... दिल्ली में हुई हिंसा पर बोले सीएम केजरीवाल- 'बाहरी थे दंगाई', अब नफरत की राजनीति बर्दाश्त नहीं की जाएगी MP: मुस्लिम धर्मगुरुओं को कमलनाथ का तोहफा, इमामों का बढ़ाया मानदेय दिल्ली हिंसा पर गृह मंत्री अमित शाह की 24 घंटे में 3 बैठकें, अब तक हिंसा में 18 लोगों की मौत