मोदी सरकार में मध्यम वर्ग क्या ताली और थाली ही बजाएगा?

मोदी सरकार में मध्यम वर्ग क्या ताली और थाली ही बजाएगा?- नज़रिया

28-05-2020 08:36:00

मोदी सरकार में मध्यम वर्ग क्या ताली और थाली ही बजाएगा?- नज़रिया

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा हो चुका है. इन कुल छह सालों में मध्यम वर्ग को क्या हासिल हुआ है?

शेयर पैनल को बंद करेंइमेज कॉपीरइटAFPप्रश्न बहुत आसान है. क्या मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में यानी 2019 के बाद मिडिल क्लास पर बहुत ध्यान दिया है? और उत्तर भी बहुत सीधा है- मिडिल क्लास के ज़्यादातर लोग का जवाब एक सेकंड में मिल जाएगा - क़तई नहीं!लेकिन क्या ये सवाल जवाब वाक़ई इतना ही सीधा और इतना ही आसान है? अगर ऐसा ही है तो फिर वो सारे सर्वे कहाँ से आ रहे हैं जिनमें प्रधानमंत्री मोदी की लोकप्रियता बढ़ती दिखाई दे रही है?

नेपाल के प्रधानमंत्री ओली का बेतुका बयान, बोले- भारत ने बनाई नकली अयोध्या समर्थकों के साथ सचिन पायलट, सामने आया वीडियो राजस्थान: सुलह के मूड में नहीं सचिन पायलट, बोले- समझौते की कोई शर्त नहीं रखी

एक इशारे पर ताली थाली बजाने से लेकर दीये जलाने तक के लिए बड़ी संख्या और बड़ा उत्साह कहाँ से आ रहा है?संक्रमण की हालत जानने के लिए ज़िले का नाम अंग्रेज़ी में लिखेंतो अब इस सवाल को दरअसल उल्टा करके पूछना चाहिए. क्या 2019 के बाद भी मोदी सरकार को मिडिल क्लास के लिए कुछ करने की ज़रूरत रह गई थी? सवाल ऐसे क्यों पूछना है, यह बात समझना ज़रूरी है. तो अब अपने आसपास के मिडिल क्लास के लोगों का सर्वे करके देखिए.

आम तौर पर मिडिल क्लास के लोग इस बात से बहुत दुखी हैं कि सरकार ने उनके लिए कुछ नहीं किया. क्या नहीं किया इसके भी एक नहीं अनेक उदाहरण मौजूद हैं. एक साँस में गिना डालेंगे. लेकिन साँस टूटे बिना दूसरी लाइन आ जाएगी - तो भाई इससे पहले की किस सरकार ने मिडिल क्लास के लिए कुछ किया था? न अब तक किसी ने किया न ये कर रहे हैं.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहाप्रधानमंत्री मोदी ने कुंभ के मेले में जिस महिला के पैर धोए थे उनके हालात कैसे हैं?न्यू टैक्स रिजीमलेकिन दुख दर्द का पिटारा तो है ही. 370 और तीन तलाक़ की विदाई का जश्न मनाने के बाद इंतज़ार था बजट का. लेकिन बजट आया, तो बजट ने दिल तोड़ दिया!

सभी को उम्मीद थी कि दो बार सरकार बनवाने का कुछ तो सिला मिलेगा. लेकिन ऐसा सिला! इनकम टैक्स में स्लैब बढ़ने, रेट घटने की उम्मीदें तो धरी रह गईं, हाँ हिसाब लगाने में आत्मनिर्भर ज़रूर बना दिया गया.हालाँकि यह नामकरण तब तक हुआ नहीं था. तब तो दो ऑप्शन ही दिए गए थे. न्यू रिजीम यानी सारी छूट छोड़ दो और मिनिमम स्लैब बढ़वा लो, या फिर ओल्ड रिजीम यानी छूट लेनी है तो रेट और स्लैब पुराना ही चलेगा. कितनी बचत होगी इसका हिसाब भी साथ के साथ बताया गया.

हालाँकि जैसे ही टैक्स का हिसाब जोड़नेवालों ने कैलकुलेटर निकाले तो पता चला कि नई स्कीम में बचत तो कुछ होनी नहीं है बस छूट जानी हैं.लेकिन ज़िम्मेदार सलाहकरों ने ये सलाह भी दी कि बकरे की माँ कब तक खैर मनाएगी, सरकार ने आज इशारा किया है तो कल ये छूट तो एक एक करके या एक साथ जानी ही हैं. तो तय कर लो आज क़ुर्बान होना है या एक दो साल के बाद.

इमेज कॉपीरइटGetty Imagesनई पीढ़ी का भविष्यजैसे जैसे परतें खुलती गईं यह घाव और तकलीफ़ देह होता गया. इस फ़ैसले की सबसे बड़ी मार टैक्स पर या आज कमानेवाले की जेब पर नहीं, बल्कि नई पीढ़ी के भविष्य पर, बचत योजनाओं पर और उनके बुढ़ापे के लिए जमा होनेवाली पूँजी पर पड़नेवाली है.

नेपाल के पीएम ओली का अयोध्या को लेकर बयान, खड़ा हुआ विवाद राजस्थान में राजनीतिक संकट के बीच समझिए क्या है दलबदल कानून, जानिए सबकुछ राजस्‍थान में 'सत्‍ता संकट' के बीच राहुल गांधी ने दार्शनिक अंदाज में यूं कही 'मन की बात'..

एक ऐसे वक़्त में जब प्राइवेट तो छोड़ दें सरकारी नौकरियों में भी पेंशन बंद हो चुकी है, भविष्य के लिए बचत का फ़ैसला एक विकल्प बन जाए तो यह वैसा ही विकल्प है कि छुरा ख़रबूज़े पर गिरेगा या ख़रबूज़ा छुरी पर. दोनों ही हाल में नुक़सान उसी का है.रोज़गार की कहानी पहले ही बहुत बिगड़ी हुई थी, अब कोरोना, दुनिया भर की मंदी और लंबे लॉकडाउन ने उसे और दर्दनाक बना दिया है.

नरेगा, बैंकों से क़र्ज़ या बीस लाख करोड़ का पैकेज - इन सबको भी खंगाल कर देख चुके एक पूर्व बैंक अधिकारी का कहना है कि यह सरकार भी इससे पहले की सरकारों की तरह ही तुष्टीकरण की राजनीति में लग चुकी है. फ़र्क़ सिर्फ़ इतना है कि यहाँ तुष्टीकरण धार्मिक नहीं आर्थिक आधार पर हो रहा है.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहाPM Narendra Modi की Ayushman Bharat Yojna कितनी कामयाब हुई?देश में कच्चा तेलउन्होंने उज्ज्वला से लेकर गाँव और ग़रीब के लिए लाई गई तमाम योजनाएँ गिनाईं और पूछा कि भाई इसमें मिडिल क्लास को क्या मिला. और उसके बाद का सवाल - जब दुनिया भर के बाज़ारों में कच्चा तेल गोते खा रहा है तो सरकार ने पेट्रोल डीज़ल पर तगड़ा डिस्काउंट देने की क्यों नहीं सोची? तर्क भी है.

उनका कहना है कि देश में कच्चा तेल जमा रखने के लिए भंडार तो सीमित ही हैं. उन्हें ख़ाली नहीं करेंगे तो नया माल भरेंगे कहां? अगर एक बार सेल लगाकर पेट्रोल, डीज़ल बेच लेते तो एक तीर में तीन निशाने थे- दाम कम होने से सब ख़ुश होते, ट्रांसपोर्ट की लागत कम होने से महंगाई पर दबाव घटता, और दाम कम होने के कारण जिन्हें ज़रूरत नहीं भी थी वो भी निकलकर अपनी गाड़ियों के टैंक फ़ुल करवाते जिससे तेल कंपनियों के टैंकर ख़ाली होते और वो रिफ़ाइनरी चलाकर सस्ता क्रूड भी स्टोर करने की हालत में आतीं.

इमेज कॉपीरइटGetty Imagesजब कोरोना का डर दूर हो रहा हो...सरकार के कामों पर, बजट के फ़ैसलों पर उँगली उठाने का आज कोई अर्थ रह नहीं गया है. क्योंकि साल भर पहले जो कुछ भी सोचकर फ़ैसले किए गए होंगे, योजनाएँ बनी होंगी उनपर तो कोरोना से आया संकट पानी फेर चुका है. यानी अब वो स्लेट साफ़ हो चुकी है जिसपर नई इबारत ही लिखनी पड़ेगी.

एक संभावना है. हालाँकि दूर की कौड़ी लगती है कि सरकार ने शायद सोच रखा हो कि मुसीबत ख़त्म होते समय कुछ ऐसा दिया जाए जिससे लोगों का हौसला भी बढ़े और अर्थव्यवस्था में भी जान लौट सके.यानी जब कोरोना का डर दूर हो रहा हो, लॉकडाउन खुल चुका हो, या देश के ज़्यादातर हिस्सों में खुल रहा हो, उस वक़्त कुछ ऐसा एलान हो जिससे मिडिल क्लास को राहत भी मिले और उत्साह भी.

किताबों के साथ समय बिता रही सोनम कपूर की पूरी फैमिली, शेयर की बुक लिस्ट - Entertainment AajTak नेपाल के पीएम ओली ने कहा, भारत ने नक़ली अयोध्या खड़ा किया MP में विभागों के बंटवारे को लेकर दिग्विजय सिंह का ज्योतिरादित्य सिंधिया पर तंज, 'समझदार लोग समझते हैं'

लेकिन फ़िलहाल तो उसे क़र्ज़ की किस्तें कुछ समय न देने, घरों या दुकानों का किराया न लेने, अपने कामगारों को न निकालने, उनका वेतन देते रहने और साथ में बिजली, पानी, गैस, फ़ोन के बिल और सरकारी टैक्स भी भरते रहने की जिम्मेदारी निभानी है.घर पर काम करनेवाले मददगारों की भी तनख्वाहें न काटने की अपील उन्हीं से की गई है, भले ही काम न करवा सकते हों.

इमेज कॉपीरइटGetty Imagesमोदी सरकार का फ़ोकसऐसे में उनसे सरकार के एक साल का हाल पूछना कुछ वैसा ही है जैसे पूरे रमज़ान लॉकडाउन में रोज़े रखने के बाद ईद की ख़रीदारी भी न कर सके लोगों को ईद मुबारक कहकर पूछना कि भाई इस बार ईद कैसी रही?लेकिन इसके बावजूद आप सवाल पूछ कर देख लीजिए. सीधा जवाब देनेवाले बहुत कम मिलेंगे. जवाब में कोई सवाल होगा, और सवाल राज्य सरकार पर भी हो सकता है, पिछली सरकार पर भी हो सकता है, पिछले सत्तर साल पर भी हो सकता है और कोई न मिला तो सवाल पूछने वाले पर ही हो सकता है.

लब्बो लुबाव ये है कि मोदी सरकार का फ़ोकस भले ही मिडिल क्लास पर न रहा हो. लेकिन सरकार के घोर आलोचक भी मानते हैं कि मिडिल क्लास का मोदी जी पर भरोसा पूरी तरह फ़ोकस्ड है. वहाँ कोई दुविधा नहीं है.शिकवे शिकायत हैं, मायूसी भी है, जो सोचा था वो नहीं मिला इसका अफ़सोस भी है, लेकिन नाराज़गी फ़िलहाल तो नहीं दिखती. और साथ में ये दम भी भरनेवाले कम नहीं हैं कि वोट बैंक कोई भी हो, चुनाव जितानेवाला क्लास तो मिडिल क्लास ही है. बाक़ी सब का तो पहले से ही तय होता है.

यानी मिडिल क्लास के पैमाने पर इस सरकार के पहले एक साल का रिज़ल्ट बनाना हो तो बिल्कुल साफ़ है. जो नौवीं क्लास तक के छात्रों का हुआ है. बिना परीक्षा के ही पास !(यह लेखक के निजी विचार हैं.)भारत में कोरोनावायरस के मामलेयह जानकारी नियमित रूप से अपडेट की जाती है, हालांकि मुमकिन है इनमें किसी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश के नवीनतम आंकड़े तुरंत न दिखें.

राज्य या केंद्र शासित प्रदेश और पढो: BBC News Hindi »

Sahi kam ka jimmewar media galat ka media chhod Baki sab. Bhagwan Lata Puri manager ताली और थाली की बातें प्लेटफार्म पर बच्चे की मां मर गई और वह बच्चा साड़ी को मारा था कि मेरी मां नींद से जाग जाए बाद में पता चला मैं तो मर चुकी मुझे तो लगता है नरेंद्र मोदी जी ऐसे ही एक बच्चे की पेश आते हैं इसका नतीजा आवाम भुगत रही है यहां की बात नहीं बुरे इंसान को अच्छा बनाने

Imoshnal black mailing poltics in India no thought no vison no honesty no loves people. Bilkul lgta to yehi hai Abhi madhyam varg ke liye yahi kam Diya gaya hai Kese kese log h india me Abhi dekho, kuch aur bhi bajana pad skta h... Nahi .....BBC ki aisi taisi bhi karegi. मध्यमवर्ग हमेशा पर्सेप्शन पे जीता है और भाजपा उसे हिंदू होने का और खुद दुसरी पार्टियोंसे अलग होने का एहसास कराने मे अबतक सफल हो गयी है।पर अब मध्यमवर्ग भी आर्थिक रुप मे आहत हुवा है अब ये देखना दिलचस्प होगा कि वो किस हद तक भाजपा को बरदाश्त करता है।

BBC=VAMPANTHI+deshvirodhi मध्यम वर्ग को ताली और थाली ही चाहिए क्योंकि यही वर्ग नेताओं के चक्कर में आकर जातिवाद पे मर मिटने को तैयार रहता है आपके हाथ में वोट था आपने फकीर को दे दिया, और फकीर के हाथ में कटोरा था उसने आपको दे दिया। हिसाब_बराबर Nahi kabhi kabhi pakoda bhi banayega😬 अमिरवा अपनी बचत की खावत है, गरीब और मजदूर देश और सरकार का दान दिया खावत है , और मध्यम वर्ग सिर्फ साबुन से हाथ धोवत है और टैक्स भी भरत है । अब का ss s बताए सरकार, यही है हम मध्यम वर्ग की पहचान ।

Train bus to theek se chal nahi rhi hai ज़िद्द थी देश को चलाने की Thali or tali to bajaye ab bumb me lath bhi bajayege fel sarkar ko kya krega desh ki janta ऐसा ही लग रहा है। लगता to ऐसा ही है Flash Light jalawo/ Candle bhi jala sakte hai . BBC wale ghanta jo bajate नहीं हम बीबीसी की भी बजाएंगे ABI TAK TO YAHI LAG RAHA HAI AAGE KYA HIGA PATA NAHI

Ji haan sarkar ki taraf se koi vishisht disha nirdesh nhi h, madhyam verg hi kya garib tabka bhi bahut pareshan hai, aaj sab pareshan hai magar us parshaniyo pe parda dala ja raha hai ki desh ke halat dikhe na. Without concord between heart and brain truth can not be clear. Without truth Dharma and without Dharma peace and love. Dharma is above philosophical way of living by Hinduism, Buddhism, Islam,etc.

अब तो गुलामी की आदत हो गई भक्तो को कुछ नहीं बदलेगा Mauka mila toh thali ke sath sath tum jaise sadak chaap paid media channel ko bhi bajaengae ! 😂 अरे मोदी जी बहुत दिन हो गये भक्तों को कोई नया प्रोग्राम तो दो। ऐसे कैसे जाएगा कोरोना। ताली, थाली, दीपक से तो कुछ हुआ नही अब कुछ नया लाओ Madhyam varg hi nhi apitu higher class ko chhod de to sbhi tali thali bja rhe hai...

Middle class family only for Taali Bajao मोदी सरकार मे मध्यम वर्ग कुछ भी कर सकता है।तुम बीबीसी वाले, कांग्रेस और ये मोहम्मद की नाजायज औलादै चाहे तो मुठ मार सकते है,इस देश मे सबको आजादी है। गरीब भूखा मारेगा, मध्यम वर्ग ताली थाली बजायेगा, और अमीर देश का।पैसा ले कर विदेश भागेगा। सच कहें तो इस देश को बर्बाद करने में सबसे बड़ा हाथ मध्यम वर्ग का ही है। यही सबसे ज्यादा धर्म और जाती की राजनीति करते हैं।

अगर ईस तरह चलता रहे तो वह दिन दुर नही है जव मध्यम वर्ग को मन्दिर के सामने थाली लेकर और रेल मे ताली वजा कर जीवन चलाना पडेगा ।पेहले 15 लाख का काले धन से देने का और अव 20लाख करोड का जुमला पिलाया । Must Watch Agar aisa hi lockdown raha toh middle class bhi Road par aajayenge,koi bank bhi RBI ki guideline followe nahi kar raha hai EMI toh cut hi rahi hai

बीजेपी ने सामाजिक ताना-बाना छिन्न-भिन्न कर दिया, जो काम अंग्रेज और मुगल सल्तनत नहीं कर पाई, वो कर दिखाया, ये बात आज देश का हर जाति धर्म और सम्प्रदाय का अधिकांश बुद्धिजीवी वर्ग महसूस करता है, आज जितनी भी सफल बेव सीरीज हैं वो आईना है कि क्या से क्या हो गया। मध्यम वर्ग का काम ही क्या है? मध्यम वर्ग दुधारू गाय है बस निचोड़ते रहो..

मुझे तो 20रूपया भी नहीं मिला .. Modi sarkar garib birodi sarkar hai 👈🙏 अब घंटा भी बजा सकता हैं, हाथ खाली ही हैं...? Aaj bole to aaj hi itejam karde tu to desh virodhi news felati hai Wahi haasil hua jo pichle 70 saal me nhi hua BBC should be banned in India बीबीसी सही क्वेश्चन पूछता है तो अंधभक्त मुजरा करने लगते है चुटिया भक्त

Indian Railway 🇮🇳🇮🇳🚊🇮🇳🇮🇳 जरूर देखें 🇮🇳🇮🇳🙏👆 मोदीसरकार_समझती_है_उनकीबात_सबकीबात अँधेभक्त तालियाँ थालियाँ बजानी शुरु कर देते हैं | modi sarkar garib our madhyam pariwaro ke liye sirf taliya our thaliya hi bajwa sakthi hai nikammi sarkar hai modi ki Wait for new action in EEE event, entrainment,excite

तुम अंग्रेज पहले भी लड़ा लड़ा कर के ही हिन्दुस्तान को बर्बाद किया है और आज भी काम चालु है । पर मत भुलो आज के लोग डेड श्याणे हैं।😈😈😈😈😈BBCHindi बन्द_करो नही कांग्रेस की भी जम के बजा रहा है 😜 arif00sheikh अभी 🔔 भी बजाएगा रोड पर निकल कर अगर मोदी बोल दे तो 🙏🙏🙏 BJPFailsIndia मोदी एक धोखा है समझ जाओ यह मोका है

Yahi toh kar rahe hai Kya Aap batao Karr Kya Sakte hai It is the middle-class which pays the maximum income -tax in the nation and it is this class only which suffers the most. Middle class is now on development way to mother India. जब मोदीजी मध्यम वर्ग की बजा रहे हैं तो मध्यम वर्ग भी कुछ ना कुछ तो बजाएगा ही फिर चाहे थाली हो या कटोरा🤦

ham मध्यमवर्ग जो है वह इसी लायक है हम मध्यमवर्ग को नेताओं द्वारा ऐसे ही रौंदा जाना चाहिए हम इसी लायक हैं सबसे ज्यादा टैक्स मध्यमवर्ग देगा मध्यमवर्गीय जीवन जीना अपने आप में एक बहुत बड़ी चुनौती हो गया है जब से यह सरकार आई है नहीं अबकी बार इस सरकार के खिलाफ बटन भी दबाएगा। इस बुरे समय में इस सरकार की पहचान हो गई। बेरोज़गारी और भूख इस वर्ग को भी कुछ महीनों बाद सताना तो अवश्य ही शुरू कर देगी बेचारे जैसे-तैसे जीने के लिए संघर्ष भी करेंगे लेकिन इस सरकार के पतन की नींव तैयार हो गयी है

Ab Teri bajani hai....... मध्यमवर्ग को अगर अच्छा लगता है वही ताली और थाली बजाना ? तो सभी मध्यमवर्ग वालों को जबतक यह अच्छा लगेगा तब तक करवाया जाएगा ? 🤭🤭 VO BHI BECHNE PADENGE... अब मोदी जी जो बजा सकते हैं वही बजाने की सलाह सबको देंगे न। जिसका बजाना था उसका तो बजा नहीं पाये तो ताली और थाली‌ से ही काम चलाना पङ रहा है।

और 4 साल तो दूसरा कोई चारा नहीं 🙏😣😣🙏 BBC हिंदी न्यूज का ओफिस भारत में है, जिस मे पुरे वामपंथी हिजड़े भरे हुए हैं, जिनका पिछवाड़ा 2014 के बाद से इतना जल रहा है की जहां वो पहले ट्वीटर पे दिन का एक ट्वीट करते थे आज दिन के दस ट्वीट करते हैं, मध्यम वर्ग और क्या चाहिये ? मध्यम वर्ग को मुर्ख बनने की इच्छा है, वो मोदी सरकार पुरी करती है.

और कर भी क्या सकता ह। Bcoz middle class chutiya h ....bc vote phir v BJP ko hi denge ye ....ab v time h smbhal jao Yes Moorakh se aur kiya ummed hai. Sahi kaha Repent. Karma is a b*tch. Twitter aur SM pe nanga nach bhi karegi Modi ke tune pe. तो क्या केजरीवाल दिल्ली को दुशरा पाकिस्तान बनाएगा? 5 एकड़ जमीन पर रोह्ंगीय बसाया, दिल्ली के जंगलों में मजार और मस्जिदें बनबा रहा है , इसलिए केजरीवाल की गिरफ्तारी आवश्यक है ।

भाई बीबीसी! यह तेरी बात खरी है पर क्या करें ! मोदी जी को इस जंगल में अकेला भी नहीं छोड़ सकते जहां वामपंथी विषधर भरे पड़े हैं ? हम ताली भी बजाएँगे ओर थाली भी बजाएँगे, ओर ज़रूरत पड़ी तो BBC की भी बजा के रख देंगे। मोदी हे तो मुमकिन हे!😜 Chutiyapa ki had cross kr chuki h bjp government.. new technology p dhyan dene k bjay tali ar thali Bajwa rahi hai.... Bhakto ki pta nhi kb aankh khulegi

मोदी हो या कोंग्रेस मिडल क्लास हर सरकार मे पिसता हैं Sometime I feel BBC head office is in Pakistan ! Sabse jyada to madhyam varg ke log hi maarte halat kharab hai sabki Madhyam barg sarkaro ko dhone ka kaam hamesha karti aayi hai, madhyam barg kabhi thaka nahi peeth par tax ka bojh laade,kabhi thaka nahi sarkaaro ko apni baisakhi ka sahara dene me,lekin lagta hai is baar ki madhyam barg sayad ab thakne sa laga ho...

नही गद्दार ताली थाली बजा कर भीख मान्गते नजर आएगे बिल्कुल क्योंकि तेनालीरामा मोदी 🧙‍♂️ द लायर ने मध्यम वर्ग की बाट लगा दी तेनालीरामा मोदी झूठ बोलने की फैक्ट्री हैं We have no problem. Je baat 453b84b64e1940f ताली भी बजायेगा थाली भी बजायेगा बत्ती भी बुझायेगा दिया भी जलाएगा और नारा भी लगाएगा कि आएगा तो मोदी ही 😂😂😂🤣🤣🤣

वाजिब प्रश्न?पर आग लगाने में मान गये को गरू.कोई कोना नहीं छोङना है.पूरी लंका में आग लगाने की ठानी है😉 मजदूर ,मजबूर इस 2 महीने के लोकडौन में दुकानदार की दुकानें बंद , लेकिन एक भी शब्द नही सरकार के पास , समजें.. ओर करभी क्या शकते है! भावनात्मक लोग है, ओर नेताओं पासआगे से चली आति आजमाई हुई राजनीति है, प्रवचनों मे देते रहो (चाहे हाथ पर कुछभी नही दो)आश बंधाये रखो-धार्मिक, आर्थिक सुधार कुछ भी, लोग जी ही लेते है.. ओर मत का क्या किसीको तो देना है नाभी दे तो जितना तो इन्ही मै से है!

बीबीसी जिस ब्रिटेन देश से अपना प्रोपेगंडा चलता है वहां भी थाली और ताली ही बजी थी ये देखो रिपोर्ट और जिसे अंग्रेजी न आती हो वो मुझे DM कर दे, मैं मुफ्त में हिंदी में तर्ज़ुमा कर दूंगा 😂 अगर सरकार मिड्ल क्लास को अपना काम सुचारू रूप से करने दे तो यह इस आपदा को भी पार कर लेगा , लेकिन सरकार का टारगेट मिड्ल क्लास ,

Yes Congress ke time to hum middle class wale world tour package hi lete rehte they 😂😂😂 बहुत सही कहा सिर्फ ताली और थाली के लिए ही मध्यम वर्ग को याद किया जाता है किंतु उनकी समस्याओं पर कोई ध्यान नहीं देता। मोदी सरकार और जिम्मेदारी? आप किस जुग में जी रहे ~कानून मंत्री कहें पाक को पानी बंद ... मोदी का भारत! मिडिया कहे 40 रेल राह भटकी 12करोड़ सनातन सड़क पर और नबालिग बच्ची 1200KM लगातार बोझा ढोऐ जी जाऐ तो गोया ताली बजाएं तो मोदी सरकार उनके निर्माता अलावा सब दोषी! ..2

2 मैने कईसप्ताह पहले बताया लाॅकडाउन पर 12करोड़ सनातन सड़कपर अर्थात सनातन के दागिना/जमीन पर- मोदी महाजन सरकारकी नज़र! फिर 20लाख करोड़ पैकेज परबताया अब रेल सेभी धकेले बाद! दागिना पर कब्जा को ऋण आकर्षक कर रहे खबर अर्थात मेरा कहा सही सनातन मोदी जय बोलें और हों दरिद्र तय अनुसार! ताली ओर थाली बजाना हमारी एकता और मोदी जी में विश्वास को दर्शाता है ।

Ye ky bol dea BBC ab to tmko v deshdhrohi bolega 😁😁. Sach mat bola kro .. SaveAdarshCredit Right Sir ghanta bhi to he bajane ko बिल्कुल सच । सबसे दोगला क्लास = मीडिया क्लास । और भी जो होता है बजाने को वो आप दिला दो ना bbc वालो , मौका मिलेगा तो वो कम्यूनिस्टों और रोहिण्या घुसपैठियो से भी भीख मगवायेगा। MOORAKH AUR KAR BHI KYA SAKTA HAI

Middle class is very much sufferer अपने नजरिये की बत्ती बना और डाल ले पागल नही है लोग लोगो के पास है अपना नजरिया Shi baat sir All the people speaking against Modi on this tweet from PBC (earlier BBC) if in their head-office country which is London, did people not clapped Google it n then ask why PBC did not published that news in Hindi.

जिसकी जैसी अकल वैसा उसका काम। मदारी लाठी पकड़कर बंदर नचाता है। ओर उसी लाठी से गाँधी जी ने देश आज़ाद कराया था। Ab Ghanta hi Baj Jaenge ye log 😜 शुरुआती दिनों में नाम मात्र के टेस्ट के बल पर कोराना को हराने के लिए देशवासियों को अनेक प्रकार से आजमाया,जहां तक अन्य देशों की बात है वहां कोराना में कमी होने के बाद लॉक डाउन खोला गया परंतु हमारे देश में ठीक इसके उलट है, यह भाजपा सरकार की अपरिपक्वता,अदूरदर्शिता की देन है

और क्या हम है ही इसी काम के लिये Bilkul sahi madhyam verg ke logo ke liye sarkar ne kuchh bhi nahi kiya hai Please raised the ppe scam in Himachal Pradesh Save_male_nurses AIIMS में Nursing Officer नए भर्ती नियमों से फीमेल मेल 80:20 से भर्तियां हो रही है, जिससे Male Nurese का भविष्य खतरे में है, माननीय जल्द संज्ञान लेवें और पुराने भर्ती नियमों को लागू करे pmoindia pmnarendramodi drharshvardhan ravishkumarNDTV hanumanbeniwal

मोदी सरकार में BBC क्या चीन और पाकिस्तान की सिर्फ़ चमचागिरी करेगा तुम जैसे हूतीये दल्लों की बजाते हैं सो बीसी😎 क्यों, मध्यम वर्ग के पास BBC भी तो है। कितना बजाना है, बोलो!! Tali , thali ,Pakoda, Bajiya ye sab milega I_am_Anil_Tyagi दिया मोमबत्ती भी जलायेगा घन्टा Ye mat puchho ki Modi ne tumhare liye kya kia lekin ye puchho k tum Modi k liye kya kya kar sakte ho? BhavikaKapoor5 IncKinju RuchiraC indian_armada

नहीं BBC वाले .. मोदी सरकार ताली और थाली ही नहीं बजाएगा बल्की देश दरोहीयों को भी बजा रहा है पिछुआरे पर ......देखो तुम्हे नाजूक जगह पर मिर्ची तो नहीं लगी Uske alawa uske pas option kya hai ... Par fir b neta usi ko chunega..kyu ki aur koi hai hi nei Tu jhukja ... Tujhe bjaunga As you know....this time labor's and poor people are dying in the train...on road and migration..but government celebrating on his one year achievement....no dout they are representing uper midle class and business man. They knows marketing and branding is key roll to win...

Janta pehle bahut udaaas rehti thi... Phir aaye ye news channels... Jo sirf janta se janta ke nazariye magta tha sarkar se nhi..... Ab janta bahut khuss hai shame you, your reporters, your administration can roam naked. No problem. ताक़तवर का साथ देना हिम्मत की बात नहीं कमज़ोर के साथ होना किरदार की निशानी है

Kya yrr jeb me paisa nhi tum log aur khoon jala rahe ho.। Tali thali.। Corrupt VodafoneGroup VodafoneIN looting money from Indian citizens 1-changed bill 2-Fake roaming charges on free roaming plan 3-No network 4-No 4g/3g/2g network Vodafone is King PMModi can't do anything 20LakhCrorePackage for VodafoneIN yet looting our money PMDoesNotCare

Aur Ghanta 🔔 bhi Maderjad BBC Ab possible nhi coz last tym k baad se kisi govt ne middle class ka sath ni dia to ab thali bech kar hi khana khaya or khana kha kar tali baja kar makhia maar raha middle class.. अब बाबा जी का घंटा बजायेगा नहीं, अब छाती पीट पीट कर रोने की बारी है, देखते हैं अंध भक्त इसको कैसे अंजाम देते हैं।

इस संकट काल सबसे ज्यादा परेशान सिर्फ मध्यम वर्ग हुआ है. Bar dancer ka naach dekhne se to bhadhiya hi h The middle class is digging its own grave by staying hypnotized with a fraud. Woh.. Good Q... BBC walo Tumhara bhi bjayga . Thora ruk jao. Chup Kar gaddar Shi pkde h घंटा बजाने से किसने रोका है धुंआधाड़ बजाईये सुबह शाम

No BBCWorld BBCNewsAsia Modi government want this very much 😡😡😡😡😡😡

मोदी सरकार के कार्यकाल में कितना बदला देश का राजनीतिक नक्शा?भारतीय जनता पार्टी को केंद्र में सरकार चलाते 6 साल पूरे हो गए हैं, इस दौरान देश के अलग-अलग राज्यों में चुनाव हुए. इस दौरान भाजपा ने फर्श से अर्श तक का सफर देखा है. We train in your coaching depot of Manduahi in Varanasi, UP. We have not found the logo stipend yet. Our apprentice is not over yet We have not yet received the stipend due to the lockdown. सारे सरकारी संस्थाओं को बेच कर राजनीतिक रन नीति बनाने का कल्चर बना दिया. जो सवाल करे उसे देश द्रोही घोषित कर देना..जेल में बंद करना, बहुत कुछ बदला है। कितना हंसते खेलते बीत गया एक साल 😀 मोदी जी ने देशवासियों के दामन खुशियों से भर दिए 🤗

चीन को शांत कराने सक्रिय हुई मोदी सरकार, मनमोहन-काल में बनाई तरकीब का लिया सहाराइस कूटनीतिक तंत्र की स्थापना साल 2012 में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल में हुई थी और बीजिंग में तत्कालीन भारतीय राजदूत एस जयशंकर ने उस पर हस्ताक्षर किए थे। मौजूदा दौर में एस जयशंकर देश के विदेश मंत्री हैं।

झूठ बोल रही उद्धव सरकार, नहीं मांगीं 80 ट्रेनें, महाराष्ट्र सरकार पर पीयूष गोयल का आरोपरेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि हमने महाराष्ट्र के लिए 145 ट्रेनों का इंतजाम किया और स्टेशनों की जानकारी भी उन्हें दी गई, लेकिन बहुत दुख के साथ बताना पड़ रहा है कि आज 12.30 बजे तक मजदूरों की कोई जानकारी नहीं थी. Ek or conspiracy. झूठ बोलने के शर्त पर ही तो सोनिया माता का मिला उद्धव ठाकरे को। Shameless dirty politics in such pandemic...

मोदी सरकार 2.0 का एक साल: भाजपा करेगी 750 वर्चुअल रैलियां, 10 करोड़ घरों तक पहुंचेगीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार केंद्र में अपना एक साल पूरा करने जा रही है। पार्टी की तरफ से BJP4India narendramodi JPNadda Visionary BJP4India narendramodi JPNadda ये मामला भी उठाओ BJP4India narendramodi JPNadda UCC,ACB,PCB,NRC Ye kab pura karoge modiji

राहुल गांधी ने कहा- लॉकडाउन फेल रहा, अब आगे की रणनीति बताए मोदी सरकारIndia News: कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की लॉकडाउन (Lockdown) में यह चौथी वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग है। उन्‍होंने कहा कि 60 दिन के बावजूद कोरोना लगातार बढ़ रहा है, यह दिखाता है कि लॉकडाउन फेल हुआ है। वह भी फेल रहेगी! खुशशशशशशशशशशशशशशशश? लॉकडाउन का मकसद नाकाम हो गया है... लॉकडाउन हटाया जा रहा है, जबकी वायरस तेजी से फैल रहा है. केंद्र सरकार बताए कि आगे की क्या रणनीति है? RahulGandhiVoiceOfIndia Paapu pass ho gaya, lockdown fail ho gaya ,

VIDEO: राहुल बोले- लॉकडाउन हुआ फेल, मोदी सरकार माने नाकामीकांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कोरोना वायरस के मुद्दे को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की. राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में लॉकडाउन फेल होने का आरोप लगाया और कोरोना को लेकर केंद्र सरकार को घेरा और इससे निपटने में नाकाम बताया. राहुल गांधी ने कहा- भारत में लॉकडाउन तो फेल हो गई है, कोरोना के मामले और तेजी से लगातार बढ़ रहे हैं, तो सरकार का आगे का प्लान क्या है. राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि 21 दिनों में लॉकडाउन से कोरोना पर काबू पा लेंगे, लेकिन अब 60 दिन बीत चुके हैं और संक्रमितों की संख्या 1 लाख 45 हजार को पार कर गई है. सरकार को अपनी नाकामी मान लेनी चाहिए. देखें वीडियो. राहुल गांधी पप्पू तो है ही उसे जो भी मन में आएगा वह बोलता रहेगा न्यूज़ पर उसके बोलने ना बोलने से कोई पब्लिक को फर्क नहीं पड़ता है किधर गये बे चमचों तारीख नहीं पूछोगे राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण शुरू,🛕 बहुत बहुत बधाई सबको जय_श्रीराम ❤️🚩✌️ Yes I agreed

कांग्रेस के सचिन अब क्या बीजेपी के लिए 'बल्लेबाज़ी' करेंगे? राहुल गांधी का हमला, कहा- PM मोदी के रहते भारत की जमीन को चीन ने कैसे छीन लिया सचिन पायलट BJP के संपर्क में, 30 MLA भी छोड़ सकते हैं कांग्रेस का दामन कोरोना वायरस: रूस का दावा, उसने कोरोना की वैक्सीन का सफल परीक्षण किया - BBC Hindi योगी सरकार की 'ठोंको नीति' से इंसाफ़ मिलेगा या अपराध बढ़ेगा? कोरोना वायरस: 12 से 26 जुलाई के बीच भारत के पाँच शहरों से UAE की विशेष उड़ानें - BBC Hindi कोरोना वायरस: महामारी रोकने के लिए दक्षिण अफ्रीका ने लगाई शराब पर पाबंदी - BBC Hindi कोरोना वायरस: अमरीका में एक दिन में 66,281 नए मामले, अकेले फ्लोरिडा में 15,300 पॉज़िटिव - BBC Hindi सचिन पायलट के साथ माने जा रहे तीन विधायकों का U-टर्न, कहा- 'हम कांग्रेस के सच्चे सिपाही' LIVE: खतरे में गहलोत सरकार, पायलट खेमे के विधायक आज देर रात दे सकते हैं इस्तीफा सचिन पायलट बोले- 25 MLA मेरे साथ बैठे हैं, 102 का गलत दावा कर रहे हैं अशोक गहलोत