मुफ़्त मेट्रो नीति से बदलेगी महिलाओं की ज़िंदगियां?

केजरीवाल की मुफ़्त मेट्रो नीति से बदलेगी महिलाओं की ज़िंदगियां?

06-06-2019 13:35:00

केजरीवाल की मुफ़्त मेट्रो नीति से बदलेगी महिलाओं की ज़िंदगियां?

केजरीवाल का तर्क है कि नीति का लक्ष्य समाज के निचले तबके की महिलाओं को लाभ पहुंचाना है.

शेयर पैनल को बंद करेंइमेज कॉपीरइटHindustan Timesदिल्ली में महिलाओं के लिए मेट्रो और बस यात्रा मुफ़्त किए जाने के दिल्ली सरकार के निर्णय के बाद से ही सोशल मीडिया से लेकर शहर की सड़कों तक पर इस मुद्दे को लेकर तीखी बहस छिड़ी हुई है.दिल्ली का एक वर्ग जहां इस निर्णय को महिलाओं के हित में एक अच्छा कदम बताते हुए इसका स्वागत कर रहा है, वहीं दूसरा वर्ग इसे मुफ़्तख़ोरी को बढ़ावा देने वाला अरविंद केजरीवाल सरकार का एक चुनावी स्टंट बता रहा है.

'राम सबमें हैं', राष्ट्रीय एकता का अवसर बने मंदिर का भूमि पूजन: प्रियंका गांधी अमेरिका-ब्रिटेन से आगे निकला रूस! भारत को भी देगा अपनी कोरोना वैक्सीन - trending clicks AajTak गांधी का भजन ट्वीट कर राम मंदिर भूमिपूजन पर कांग्रेस ने सभी को दीं शुभकामनाएं

इस फ़ैसले को दिल्ली के माहौल की रोशनी में देखना ज़रूरी है. इस निर्णय को समझने के लिए ज़रूरी है दिल्ली की सामाजिक बुनावट को समझना.देश का दिल 'दिल्ली'देश के दिल 'दिल्ली' की सबसे ख़ास बात यह है कि यह किसी एक की नहीं. यह आज़ादी के बाद शहर के करोल बाग़, राजौरी गार्डन और मालवीय नगर जैसे इलाक़ों में आकर बसे तत्कालीन शरणार्थियों की भी उतनी ही है, जितनी कि उन अनुमानित 33 प्रतिशत प्रवासियों की, जो एक बेहतर ज़िंदगी का सपना लेकर दिल्ली आते हैं.

इमेज कॉपीरइटEye Ubiquitousदिल्ली बँटवारे के वक़्त भारत में ही रहने का चुनाव करने वाले जामा मस्जिद-दरीबां कलां के बाशिंदों की भी उतनी ही है जितनी साठ के दशक में तत्कालीन पूर्वी पाकिस्तान से विस्थापित होकर चितरंजन पार्क में बसे बंगालियों की.उच्च शिक्षा, बेहतर नौकरी या सिर्फ़ मज़दूरी की तलाश में हर दिन सैकड़ों की तादाद में दिल्ली का रुख करने वाली 'माइग्रेंट' जनसंख्या को भी यहां सस्ती बस्तियों में पनाह मिल जाती है.

#फ़्रीमेट्रोफ़ॉरविमेनमीडिया से बातचीत में आम आदमी पार्टी की सरकार से साफ़ कहा है कि महिलाओं को मेट्रो तथा बसों में मुफ़्त यात्रा उपलब्ध करवाने की उनकी इस नई नीति का टार्गेट ग्रुप यहां रहने वाले 'सबसे अमीर' लोग नहीं हैं. न ही दिल्ली में फैली पुरानी नौकरशाही, समृद्ध व्यापारी वर्ग या दिल्ली का विशाल अपर मिडल क्लास. इस नीति का लक्ष्य समाज के निचले तबके से आने वाली उन महिलाओं को लाभ पहुंचाना है जिन्हें हर रोज़ काम पर जाने के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करना पड़ता है.

साथ ही, वे सक्षम महिलाएं जिनके पास मेट्रो या बस में अपने टिकट ख़ुद ख़रीदने का सामर्थ्य है, सरकार उन्हें अपने पैसे ख़ुद भरने के लिए प्रोत्साहित भी करती है ताकि इस सब्सिडी का सही फ़ायदा ज़रूरतमंद महिलाओं तक पहुंच सके.इमेज कॉपीरइटMANAN VATSYAYANAदिल्ली में रहने वाली जनसंख्या की विविधता को देखते हुए यह कहना ग़लत नहीं होगा की राज्य सरकार के इस नए जन कल्याणकारी कदम से शहर की हज़ारों ज़रूरतमंद महिलाओं को सीधा फ़ायदा पहुंचेगा.

वर्कफ़ोर्स में महिलाओं की गिरती भागीदारीयहां यह बताना भी ज़रूरी है कि ताज़ा आकंडों के अनुसार कामकाजी भारतीय वर्कफ़ोर्स में महिलाओं की राष्ट्रीय हिस्सेदारी 2005 के 36.7 प्रतिशत से घटकर 2018 में मात्र 26 प्रतिशत रह गया है. दिल्ली जैसे महानगर में यह आँकड़ा आज मात्र 11 प्रतिशत पर टिका हुआ है.

इस लिहाज़ से देखें तो #फ़्रीमेट्रोफ़ॉरविमेन की नीति दिल्ली में महिलाओं के काम के दायरे को बढ़ाने में मदद करेगी. मिसाल के तौर पर, नौकरी के लिए मुफ़्त मेट्रो की वजह से नोएडा में रहने वाली एक कामक़ाज़ी महिला बेहतर विकल्प की तलाश में गुड़गाँव तक जाने में भी सहूलियत होगी.

सुशांत सिंह राजपूत मामला: बिहार सरकार ने की सीबीआई जाँच की सिफ़ारिश सुशांत केस: पिता केके सिंह ने की CM नीतीश से बात, सीबीआई जांच कराने की मांग राष्ट्रीय एकता, भाईचारे और सांस्कृतिक समागम का कार्यक्रम बने राम मंदिर का भूमि पूजन: प्रियंका गांधी

इमेज कॉपीरइटPRAKASH SINGHकाम का दायरा बढ़ाने के साथ-साथ मुफ़्त पब्लिक ट्रांसपोर्ट महिलाओं को घरों से बाहर निकलकर काम ढूँढने में भी मददगार होगा.साथ ही, ऐसे समाज में जहां लड़कियों की शिक्षा और करियर में किसी भी तरह के 'निवेश' को परंपरागत तौर पर 'फ़िज़ूल' माना जाता है, वहां मुफ़्त मेट्रो की वजह से लड़कियां ऊँची शिक्षा और नौकरी के लिए नेशनल कैपिटल रीज़न के अलग-अलग कोनों में जा सकेंगी.

आप सरकार के सामने चुनौतियांकेजरीवाल के आलोचकों का कहना है कि 2020 में होने वाले राज्य चुनावों के लिए रणनीतिक तौर पर आम आदमी पार्टी की राज्य सरकार यह लोकलुभावन कदम उठा रही है.इस नई नीति के सामने कई चुनौतियां भी हैं. पहली चुनौती है इस नीति के लिए जारी किए गए बजट की स्थिरता. यूं तो आप सरकार ने मीडिया में बयान देते हुए कहा है कि उनके पास ट्रांसपोर्ट के ऊपर ही ख़र्च किए जाने वाले बजट में मौजूद 'सरप्लस बजट' है जिसे वह इस नई नीति के पालन में इस्तेमाल करेंगे लेकिन यह निवेश कितना स्थाई होगा, यह देखने वाली बात है.

दूसरी चुनौती ये है दिल्ली के ट्रांसपोर्ट नेटवर्क को आख़िरी नागरिक तक के लिए सुलभ बनाना, क्योंकि अगर मुफ़्त ट्रांसपोर्ट होने के बाद भी महिलाओं को सुबह काम पर जाने के लिए बस पकड़ने घर से चार किलोमीटर का सफ़र पैदल/रिक्शा के ज़रिए तय करना पड़े तो उनकी सुरक्षा का प्रश्न जस का तस बना रहेगा.

2012 के दिसम्बर गैंग रेप जैसे क्रूर दुर्भाग्यशाली घटना की साक्षी रही दिल्ली से ज़्यादा सुरक्षित-सुलभ और सस्ते पब्लिक ट्रांसपोर्ट की क़ीमत कौन समझेगा? और पढो: BBC News Hindi »

शानदार फ्लाई: चुनिंदा रूट पर 899 रुपए में हवाई सफर का मौका, स्पाइसजेट ने लांन्च किया 1 + 1 ऑफर, फ्री में मि...

SpiceJet announces special 1+1 offer with sale fares starting at RS 899 ; एयरलाइन कंपनी स्पाइसजेट अपने यात्रियों के लिए शानदार ऑफर लेकर आई है। कंपनी ने आज 1 + 1 ऑफर की घोषणा की है।

मेट्रो में महिलाओं को दिल्ली में फ्री योजना जमी नहीं केजरीवाल की। क्या केवल वोट के लिये , कुछ को छोड़ दिल्ली की महिलायें टिकिट खरीदने में सक्षम है। पर्यावरण और ट्राफिक जाम का ईसमें लेना देना नहीं दिखता, महिलाओं की वोट बैंक की राज नीती है। सुना है पिछले चार महिने से मेट्रो घाटे में चल रही है तो साले ये मुफ़्तकी रेवाड़ी क्यो बाट रहा है । सोच ये वो दिल्ही है जिसने 72000 के फाउंडर की तशरीफ लायत मारकर लाल करदी। यकीन ना आये तो रउफ का कच्छा उतारकर देख लेना।

ArvindKejriwal AamAadmiParty बहुत सुंदर पहल ArvindKejriwal जी,लोग किसी भी पार्टी के हो ,जहा के भी हो ,जो कदम प्रशन्सनिय होता है उसका प्रशंसा करना चाहिए। और जब भगदड़ मचेगी तब की तब देखी जाएगी केजरीवाल के अच्छे कामों से विपक्ष वालों को फटने लगती है । देश के चौमुंखी विकास के लिए बालिकाओं को बचपन से ही मुफ्त शिक्षा, भोजन और आवास की व्यवस्था हो और रोजगार मिलने पर उनके तनख्वाह का25% मासिक उनसे 5 साल तक बसूल किया जाय तो देश में ऐसा सपना साकार होगा कि गर्व से हरेक बोल सकेगा कि हम सब काबिल और सक्षम हैं।

मुफ्त के लिए पैसे कहां से लाऐगा खुजलीवाल के दलाल बीबीसी वाले तु ही बता दें दिल्ली आप सरकार के इस फैसले से दिल्ली की घरेलु महिला का घर के बाहरी दुनिया से संपर्क बढ़ेगा और कामकाजी महिलाओ की बचत बढ़ेगी Think bus metro Paani se nhi chlti hai yah paise public se liya jaayeg indirectly चरसिया है कैजरीवाल अब पता लगा

रोजाना खर्च में बचत जिंदगी में बदलाव लाएगा या नहीं ये तो बचत वाले ही जाने। परंतु सबसे आवश्यक ये है कि दिल्ली में महिलाएं और बच्चियां सुरक्षित रहें, इस बात पर कोई ठोस नीति बनाने की जरूरत है। 72000 wala Pappu Gaya Metro wala khujliwala bhi jayega अरे भाई महिलाओं का भला सोच रहे हो या आने वाले चुनाव मे अपना भला सोच रहे हो। सुरक्षा पे ध्यान दो चुनाव पे नही।

I don't think so, you give them concession in fair. Don't empower women with such facilities, what about poor people fighting for daily bread and butter. Invest in providing facilities for doing business. हर चिज मुफ्त देना बन्द करो यारो, ओगो को स्वाभिमानि रहने दो, जनकल्याण हि करना हे तो ओर भि रास्ते हे

😜😂🤣 Nahi badalegi, ulta mahila aur dependent ho jaaengi पागल है वो, मुक्तमामु ।

महिलाओं के लिए मुफ्त मेट्रो सेवा योजना को केंद्र की मंजूरी की जरूरत नहीं: कैलाश गहलोत– News18 हिंदीदिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि मेट्रो ट्रेन किराये पर अंतिम फैसला केंद्र सरकार को लेना होता है. महिलाओं को मुफ्त मेट्रो सेवा सुविधा अरविंद केजरीवाल सरकार की सब्सिडी योजना है. लिहाजा, इसे लागू करने के लिए केंद्र की मंजूरी की दरकार नहीं होगी. बचपन मे एक कहानी पढ़े थे चूहा, कबूतर & शिकारी शिकारी जाल बिछाता, दाना डालता, फिर चूहे के हजार बार समझाने के बावजूद कबूतर दाने के लालच में जाल में फंस जाते यँहा कबूतर - दिल्ली की जनता दाना - मेट्रो का किराया शिकारी - ArvindKejriwal चूहा - BJP4Delhi जाल = चाल AamAadmiParty की 6 माह चुनाव होने में बचे वादों की झड़ी लगा दो जीत के बाद सब निपट लिया जायेगा ArvindKejriwal , kailashgehlot जी दिल्ली में महिला ओ को फ्री में मुसफरी की बजाये आप ट्रेन में cctv लाग्वाये ताकि महिलाओं की सुरक्षा भी हो चुके।

RBI की मौद्रिक नीति समिति की समीक्षा बैठक आज से, 6 जून को आएगी क्रेडिट पॉलिसीरिजर्व बैंक ने कहा कि 'एमपीसी की बैठक तीन, चार और छह जून, 2019 को होगी. छह जून को वेबसाइट पर एमपीसी बैठक के प्रस्ताव को डाला जाएगा.

LIVE: दिल्ली में मेट्रो और बसों में महिलाओं को मुफ्त सफर की सुविधा, केजरीवाल का ऐलानदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को बड़ा ऐलान करते हुए महिलाओं को मेट्रो और डीटीसी बसों में फ्री यात्रा कराने का तोहफा दिया है. महिलाओं को फ्री यात्रा देने में डीएमआरसी को होने वाले नुकसान की भरपाई दिल्ली सरकार करेगी. केजरीवाल ने कहा कि सक्षम महिलाएं चाहें तो टिकट खरीद सकती हैं. उन्हें सब्सिडी का इस्तेमाल न करने के लिए प्रेरित किया जाएगा. (रिपोर्ट: PankajJainClick) ArvindKejriwal Louts ! Bribes r not gifts ! ArvindKejriwal Is do takke ke bc ko janta ne ab tak chappal se Mara kyu nhe haram ka Janna janta ko gali de raha MC suar ke janne dalle

महिलाओं को मेट्रो-DTC बसों में मुफ्त सफर की सौगात, केजरीवाल आज करेंगे ऐलानदिल्ली सरकार महिलाओं को मेट्रो और डीटीसी बसों में फ्री यात्रा कराने का तोहफा देने जा रही है. महिलाओं को फ्री यात्रा देने में डीएमआरसी को होने वाले नुकसान की भरपाई दिल्ली सरकार करेगी. ashu3page मुझे ऐसा लगता है कि अरविंद केजरीवाल जी को दिल्ली मेट्रो का किराया कम होने पर भी ध्यान देना चाहिए अगर ये पैसा हमारा है तो महिलाओं के लिए ही क्यों पैसा तो सबका है ashu3page दिल्ली में कुल 60 से 65 % मतदान हुआ है लेकिन फिर भी वर्तमान चोर गिरोह के मंत्री लाखों मतों से जीते हैं तो- आपलोगों को नही लगता कि घोटाला ईवीएम कितने बड़े स्तर पर हुआ है 😢 भारत में चुनाव आयोग, सुप्रीम कोर्ट, व सभी जांच एजेंसियां वर्तमान गुजराती गुण्डों के इशारे पर काम कर रहे हैं फ्री की लत देश को कंगाल बना देगी।कोर्ट को कार्यवाही करनी चाहिए।पैसा किसी के जेब से निकलेगा तभी फ्री में दूसरे जेब में जाएगा।

दिल्ली की मेट्रो और बसों में महिलाएं करेंगी मुफ़्त में सफ़रदिल्ली मेट्रो और बसों में महिलाएं करेंगी मुफ़्त में सफ़र. केजरीवाल ने कहा- दिल्ली सरकार उठाएगी खर्च.... Hum mardo ne kya bigada hai desh ka ये आदमी भी उल्टा पल्टा काम करते रहते हैं । महिलाएं मांगें थें क्या! Well done ArvindKejriwal good job

केजरीवाल के मुफ्त सफर के दांव पर बोले मनोज तिवारी- वोट खरीदने की नाकाम कोशिशअरविंद केजरीवाल के दिल्ली मेट्रो और डीटीसी बसों में महिलाओं की यात्रा फ्री करने के ऐलान पर बीजेपी हमलावर हो गई है. (रिपोर्ट: rohitmishra812) rohitmishra812 गज़ब rohitmishra812 ArvindKejriwal great 👍 step for women safety...is kaam ki tarif honi chahiye nake ninda rohitmishra812 बताओ यार मतलब भलाई भी बेकार है ।

15 जून को होगी नीति आयोग के संचालन परिषद की बैठक, पीएम मोदी करेंगे अध्यक्षताआधिकारिक सूत्रों ने कहा कि संचालन परिषद महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा कर सकती है. परिषद झारखंड और छत्तीसगढ़ जैसे नक्सल प्रभावित राज्यों के जिलों में सुरक्षा मुद्दों पर भी विचार करेगी. narendramodi नया कार्यकाल शुरू होते ही..... 1) अमेरिका ने व्यापार मे विशेष दर्जा हटाया 2) जीडीपी घटी 3) बेरोजगारी दर सबसे ज्यादा 4) पेट्रोल डीजल मंहगा 5) दालों की कीमतों में बढ़ोतरी 6) गैस सिलेंडर के दाम में बढ़ोतरी शुरू हो चुकी नए भारत की शुरुआत 👎 narendramodi नीतिआयोग ? narendramodi यह फोटो हम सब की मां की एक दो फोटो मेरी मां की है और अब मैं कहता हूं मुझे न्याय मिले आप जल्द से जल्द कार्रवाई करवाई क्या हमारे देश में कानून नाम की कोई चीज नहीं है

एक्शन में मोदी सरकार: 15 जून को नीति आयोग के गवर्निंग काउंसिल की बैठक बुलाईमोदी सरकार ने 15 जून को नीति आयोग के गवर्निंग काउंसिल की बैठक बुलाई है. बैठक की अध्यक्षता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे जो नीति आयोग के अध्यक्ष भी हैं. ok

हिंदी की अनिवार्यता पर भड़के कर्नाटक-तमिलनाडु, नई शिक्षा नीति के मसौदे का विरोधमेरा केंद्र सरकार से निवेदन!! कृपया 2 - 2 चप्पल मारे उन लोगो को जो हिंदी का विरोध कर रहे हैं, देश इनके बाप की जागीर नहीं है। ये धूर्त बहुत बड़े गांधी वादी बनते हैं। और गांधी जी के इच्छा का पालन भी नहीं करते हैं। गांधी जी ने ही हिन्दी को राष्टभाषा के लिए उपयुक्त ठहराया था। एक राष्ट्र,एक भाषा की नीति होनी चाहिए। हालाकि लोग अपने क्षेत्र में स्थानीय भाषा का प्रयोग कर सकते हैं ये राजनीति है अन्यथा जो कमेटी है उसमे भी दक्षिण भारत के पढ़े -लिखे लोग है उनमे से एक खुद कर्नाटक के मूलनिवासी एवं वर्तमान मे IGNTU, अमरकंटक के Vice Chancellor श्री igntuvco tvkattimani जी है जिन्होंने ने ड्राफ्ट बनाया इन्होंने कुछ समझ के फैसला किया होगा

महिलाओं को फ्री पास पर शीला दीक्षित ने कहा- फैसला राजनीति से प्रेरितमुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 2 दिन पहले दिल्ली में महिलाओं को मेट्रो और डीटीसी बसों में फ्री यात्रा का तोहफा देने की घोषणा की थी. केजरीवाल के इस फैसले को अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव से जोड़ा जा रहा है. लालात है आप एक महिला होकर महिलाओं के लिए काम किया गया काम पर आपको दर्द हो रहा है दिल्ली की महिलाएं आपको कभी माफ़ नहीं करेंगी। अगर नौटंकी ArvindKejriwal को जनता से कोई मतलब होता तो प्रधानमंत्री की 'आयुष्मान भारत योजना' लागू कर देता लेकिन उसे सिर्फ नौटंकी करनी है बाकी कुछ नहीं Another lame decision that would become a challenge to manage ! No thoughts given !

नई शिक्षा नीति : एमबीबीएस में केंद्रीय परीक्षा कराने की सिफारिशइसरो के पूर्व प्रमुख के कस्तूरीरंगन की अध्यक्षता वाली कमेटी ने नई शिक्षा नीति के ड्राफ्ट में मेडिकल शिक्षा के ढांचे में सुधार के लिए कई महत्वपूर्ण सिफारिशें की हैं। HRDMinistry DrRPNishank MoHFW_INDIA ugc_india NewEducationPolicy HRDMinistry DrRPNishank MoHFW_INDIA ugc_india शिक्षा सुधार..पुलिस कार्यप्रणाली सुधार रोजगार.जनसंख्या नियंत्रण समान नागरिकता कानून.केंद्र राज्य संबंध.निर्माण और विनिर्माण खनन सेवा ट्रांसपोर्ट सरकारी योजनाओं को समय से पूरा करना...योजना का लाभ अंतिम वियक्ति तक पहुँचे.. ये आवश्यक मुद्दे है। PMOIndia narendramodi FinMinIndia