Pmnarendramodi, Coronasamwad, Coronavaccine, Pm Modi Address With Chief Ministers, Corona Virus India, Fight With Corona, Pm Narendra Modi

Pmnarendramodi, Coronasamwad

मुख्‍यमंत्रियों के साथ संबोधन में पीएम मोदी की 10 बड़ी बातें, कहा- हर स्‍तर पर जारी है कोरेाना से लड़ाई

मुख्‍यमंत्रियों के साथ संबोधन में पीएम मोदी की 10 बड़ी बातें, कहा- हर स्‍तर पर जारी है कोरेाना से लड़ाई #PMNarendraModi @narendramodi #CoronaSamwad #CoronaVaccine

24-11-2020 17:14:00

मुख्‍यमंत्रियों के साथ संबोधन में पीएम मोदी की 10 बड़ी बातें, कहा- हर स्‍तर पर जारी है कोरेाना से लड़ाई PMNarendraModi narendramodi CoronaSamwad CoronaVaccine

पीएम मोदी ने कहा कि हमें देश में पॉजिटिविटी रेट को पांच फीसद से कम पर ही रखना होगा। साथ ही मृत्‍यु दर को एक फीसद से कम करना होगा। राज्य से आगे बढ़कर अब लोकल पर फोकस करना होगा। साथ ही टेस्टिंग में आरटी-पीसीआर टेस्ट की संख्या बढ़नी चाहिए।

पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कोरोना वायरस से सबसे ज्‍यादा प्रभावित आठ राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों के साथ वचुर्अल बैठक की। इस दौरान देश में कोरेाना से बचाव के उपाय और संभावित कोरोना वैक्‍सीन के वितरण की रूपरेखा पर चर्चा की। बैठक में 10 प्‍वाइंट्स में जाने बैठक में किन बातों पर चर्चा हुई।  

अर्नब चैट लीक मामला: कांग्रेस का आरोप- जर्नलिस्ट को मिलिट्री ऑपरेशन के पहले जानकारी कैसे मिली, सीक्रेट लीक करना देशद्रोह इंजमाम-अख्तर का टीम इंडिया को सलाम: शोएब बोले- बच्चों ने ऑस्ट्रेलिया टीम को पीट दिया, यह भारत के इन्वेस्टमेंट की जीत है कृषि कानून LIVE: 10वें दौर की बातचीत के लिए विज्ञान भवन पहुंचे किसान।

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे पास कोरोना अब पर्याप्त आंकड़ा है, ऐसे में तैयारी पूरी करनी होगी। शुरुआत में कोरोना वायरस के प्रति लोगों में खौफ था, तब लोग डर में आत्महत्या भी कर रहे थे। उसके बाद लोगों में एक-दूसरे के प्रति संदेह हो रहा था। अब लोग कोरोना को लेकर गंभीर होने लगे हैं, लेकिन कुछ हद तक लोगों को लगने लगा है कि ये वायरस कमजोर हो गया है। 

उन्‍होंने कहा कि कुछ लोग अब लापरवाही बरतने लगे हैं, ऐसे में जागरूक करना जरूरी है। पीएम मोदी ने कहा कि अब हम आपदा के गहरे समंदर से किनारे की ओर बढ़ रहे हैं। जिन देशों में कोरोना कम हो रहा था वहां भी अब केस बढ़ने लगे हैं। ऐसे में हर किसी को अधिक सतर्क होना होगा। प्रधानमंत्री ने चेताते हुए कहा कि कोरेाना को लेकर राज्यों को सतर्कता बरतनी होगी, वरना कहीं ऐसी स्थिति पैदा ना हो जाए कि कहना पड़े मेरी कश्ती भी डूबी वहां, जहां पानी कम था।  headtopics.com

पीएम मोदी ने राज्यों को खासतौर पर आरटी-पीसीआर टेस्टिंग बढ़ाने को कहा कि ताकि समय रहते कोरोना पोजेटिव मरीजों का इलाज और उनके संपर्क में आने वालों का टेस्ट किया जा सके। उन्होंने कहा कि राज्यों को किसी भी स्तर पर पोजेटिविटी अनुपात को पांच फीसदी से आगे नहीं बढ़ने देना है। इसी तरह उन्होंने राज्यों को मृत्युदर को एक फीसद से कम रखने का लक्ष्य देते हुए इसके लिए होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की निगरानी दुरूस्त करने को कहा। फिलहाल पोजेटिविटी का राष्ट्रीय दर 6 फीसद से अधिक है और मृत्यु दर लगभग 1.47 फीसद।

यह भी पढ़ेंआक्सीजन की कमी को लेकर उठते रहे सवालों के बीच प्रधानमंत्री ने बताया कि देश में आक्सीजन की पर्याप्त मात्रा है और इसके लिए 160 नए आक्सीजन संयंत्र लगाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की तैयारी देश से सभी जिला अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों में अपना स्वतंत्र आक्सीजन यूनिट स्थापित करने की है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि राज्यों के अनुरोध पर पर्याप्त मात्रा में वेंटीलेटर उपलब्ध कराये जा रहे हैं।

यह भी पढ़ेंपीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वैक्‍सीन को लेकर हमारे पास जैसा अनुभव है, वो दुनिया के बड़े-बड़े देशों के पास नहीं है। हमारे लिए जितनी जरूरी तेजी है, उतनी ही जरूरी सुरक्षा भी है। भारत अपने नागरिकों को जो भी वैक्‍सीन देगा, वह हर वैज्ञानिक कसौटी पर खरी होगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कौन सी वैक्‍सीन कितनी कीमत में आएगी, यह भी तय नहीं है। भारतीय मूल की दो वैक्‍सीन बनाने की रेस में आगे हैं लेकिन बाहर के साथ मिलकर के हमारे लोग काम कर रहे हैं। दुनिया में भी जो वैक्‍सीन बन रही हैं, वे भी उत्‍पादन के लिए भारतीय कंपनियों से बात कर रहे हैं। headtopics.com

किसानों की सरकार से मीटिंग जारी: किसान नेता कानून वापसी पर अड़े, बोले- सरकार MSP पर चर्चा से भाग रही किसानों की ट्रैक्टर रैली पर सुप्रीम कोर्ट ने फ़ैसला देने से किया इनकार – आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi सोशल मीडिया ट्रेंडिंग: कंगना की चुनौती- मेरा रीलोडेड देशभक्ति वर्जन फिल्मों में नजर आता रहेगा, तुम्हारा जीना दुश्वार करके रहूंगी

यह भी पढ़ेंपीएम मोदी ने कहा कि अभी ये तय नहीं है कि वैक्‍सीन की एक डोज होगी, दो डोज होगी या तीन डोज होगी। ये भी तय नहीं है कि इसकी कीमत कितनी होगी, उसकी कीमत कितनी होगी। अभी भी इन सारे सवालों के जवाब हमारे पास नहीं हैं। कंपनियों में प्रतियोगिता है, दुनिया के देशों के अपने-अपने कुटनीतिक रणनीति हो सकती है। डब्‍ल्‍यूएचओ (WHO) से भी हमें इंतजार करना पड़ता है। हमें इन चीजों को वैश्विक संदर्भ में देखना पड़ेगा।

यह भी पढ़ेंउन्‍होंने कहा कि जहां तक कोरोना वैक्‍सीन के वितरण की बात है, राज्‍यों के साथ मिलकर व्‍यवस्‍था की जा रही है। वैक्‍सीन प्राथमिकता के साथ किसे लगाई जाएगी, ये राज्‍यों के साथ मिलकर मोटा-मोटा खाका आपके सामने रखा गया है। हमें कितनी अतिरिक्‍त कोल्‍ड स्‍टोरेज की जरूरत रहेगी, राज्यों को इस पर काम करना शुरू कर देना चाहिए। जरूरत पड़ी तो अतिरिक्‍त सप्‍लाई भी सुनिश्चित की जाएगी। वैक्‍सीन का एक विस्‍तृत प्‍लान जल्‍द ही राज्‍यों से साझा कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ेंपीएम मोदी ने कहा कि मैं चाहता हूं कि कोरेाना वैक्‍सीन के वितरण के लिए ब्‍लॉक लेवल पर एक टीम बने। यह टीम वैक्‍सीन की ट्रेनिंग और वितरण को लेकर लगातार काम करेगी। कोरोना वैक्‍सीन को लेकर फैसला वैज्ञानिक तराजू पर ही तौला जाना चाहिए। हम कोई वैज्ञानिक नहीं हैं। हमें व्‍यवस्‍था के तहत चीजों को स्‍वीकार करना पड़ेगा।

 पीएम मोदी ने मुख्‍यमंत्रियों से कहा कि आपको प्रजेंटेशन में पूरा विवरण दिया गया। वैक्‍सीन की दिशा में आखिरी स्‍तर पर काम पहुंचा है। भारत सरकार हर डिवलेपमेंट पर बारीकी से नजर रखे हुए है। हम सबके संपर्क में भी हैं। हालांकि उन्‍होंने कहा कि कई चीजों को लेकर स्‍पष्‍टता नहीं है, इसलिए किसी भ्रम में न रहें। headtopics.com

यह भी पढ़ें और पढो: Dainik jagran »

Arunachal में China का गांव, Rahul Gandhi का दांव, BRO का मिशन क्लीन! देखें खबरदार

कभी सोचा है आपने सुपरहीरो कौन होते हैं? वो किसी दूसरी दुनिया से नहीं आते. वो हमारे बीच से ही आते हैं. अपने कर्मों से बड़े बड़े करिश्मे करते हैं. एक महीने पहले जो टीम पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 36 रन पर ऑलआउट हो गई थी. आज चौथे टेस्ट में उसी टीम ने सबसे बड़े स्कोर का पीछा करते हुए एक ऐतिहासिक जीत अपने नाम कर ली. आज इस जीत की वजह से क्रिकेट की दुनिया में भारत का तिरंगा शान से लहरा रहा है. भारत में सूर्योदय रोज सबसे पहले अरुणाचल प्रदेश में होता है. आज विवादों का सूर्य भी वहीं से उगा. एक बार फिर भारत में चीन की घुसपैठ के दावे हो रहे हैं. कुपवाड़ा में बॉर्डर पर सीमा सड़क संगठन ने श्वेत क्रांति की है. ये चीन और पाकिस्तान का मौसम बिगाड़ने और दुश्मन के पैरों तले सड़क खिसकाने वाली रिपोर्ट है. देखें खबरदार, श्वेता सिंह के साथ.

narendramodi na naya chapakal na marammat karayenge mand unfit adhed graduate kaushalhin apna samjhen apne pariwar ke saath dooniyan chhoden desh mehnatkash lootere thag islaam ka hai nakkara sanatani ka nahi murdo ko jinda karden busines sikha den kuchh maren to grih kalah papri road bana de narendramodi क्या चुनाव के दौरान हुई पाप पर पर्दा डालने की कोशिश हो रही है?मास्क रूपी गंगाजल छिड़कर कर कोरोना रूपी पाप पर पर्दा डाला जा रहा है ?शर्म आती है ऐसे राजनेता व मीडिया पर ?कहां गये थे आपलोग जब कोरोना के बीच लोगों की जान से खेलते हुए चुनाव की घोषणा की गई थी?क्या कोई फिक्सिंग था?