Lucknow, Re, Mumbai Drugs Case, Cruise Drugs Case, Ncb, Absconding Witness, Kiran Gosavi, Pune, Statement, Police, Crime

Lucknow, Re

मुंबई क्रूज ड्रग्स केसः गोसावी बोला- NCB की रेड से पहले समीर वानखेड़े को नहीं जानता था, लोग मुझे गलत समझ रहे

#Lucknow की बजाय अब पुणे में सरेंडर की तैयारी में किरण गोसावी (@PKhelkar) | #RE

28-10-2021 03:30:00

Lucknow की बजाय अब पुणे में सरेंडर की तैयारी में किरण गोसावी (PKhelkar) | RE

पुणे पुलिस के वॉन्टेड अपराधी किरण गोसावी का कहना है कि एनसीबी ने उसे बयान दर्ज करने के लिए बुलाया है. इसी काम को पूरा करने के लिए वह मुंबई जा रहा है. एनसीबी को बयान दर्ज कराने के बाद वह लौटकर पुणे आएगा और पुलिस के सामने आत्मसमर्पण करेगा.

इसे भी पढ़ें---क्या है ND PS, कौन कर सकता है कार्रवाई, दोषी को मिलती है कितनी सजा? जानिए सबकुछउसने NCB में जाने की वजह बताते हुए कहा कि वो इसलिए वहां गया था कि क्योंकि जहां पार्टी होने वाली थी, वो जगह NCB ऑफिस से सिर्फ 400 मीटर दूर है. उसने जब ऑनलाइन सर्च किया तो तब उसे एनसीबी ऑफिस का पता चला और वो वहां चला गया. गोसावी के अनुसार, मनीष भानुशाली को पार्टी के बारे में पहले से पता था. वो उस दिन मनीष के साथ था. इन दोनों ने एनसीबी को एक दिन पहले फोन किया था कि पार्टी होने वाली है.

एनसीबी की जानकरी में सिर्फ 4 से 5 नाम थे. लेकिन हमारी जानकारी के मुताबिक 27 लोग पार्टी में आने वाले थे. NCB को भी उनकी बात पर विश्वास था. गोसावी बोला- बहुत से लोग उसे गलत ही समझ रहे हैं. लेकिन जिनके घर में बच्चे ड्रग्स लेते हैं, उनके पैरेंट उसे अच्छा बोलेंगे. इस कारवाई के बाद मुंबई में ड्रग्स आना कुछ तो कम हुए ही हैं. किरण गोसावी बोला कि विटनेस पैसे के लिए काम नहीं करता. उसका इम्पोर्ट एक्सपोर्ट का बिजनेस है. अगर विटनेस बनने में पैसा मिलता तो वह विटनेस का ही काम करता.

बता दें कि किरण गोसावी के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी है. यह साल 2018 में धोखाधड़ी के मामले से संबंधित है. इससे पहले यूपी में किरण गोसावी ने आजतक की टीम से बात की थी और प्रभाकर सेल के आरोपो को नकार दिया था. उसने बताया था कि फोन पर उसे बोला गया कि तुम अरेस्ट भी हो जाओगे, तब भी तुमको हेल्प नहीं मिलेगी. तुम को छोड़ेंगे नहीं. पुलिस स्टेशन पर सरेंडर होने का भी कोई मतलब नहीं था. headtopics.com

ज़रूर पढ़ें---आजमगढ़: रामलीला के दौरान बार बालाओं का डांस, वायरल वीडियो पर कार्रवाई की गुहारकिरण गोसावी का कहना था कि जो भी उसने लिख कर दिया है, वो सारी चीजें में वो कोर्ट में बोलेगा. उसने बताया कि पुणे में उसके खिलाफ एक केस चल रहा है. उसी केस में वह सरेंडर चाहता है. उसके मुताबिक यह 4 साल पुराना केस है. जिसे ओपन किया गया है. लेकिन फिर भी उसे कोई दिक्कत नहीं है.

और पढो: आज तक »

Purvanchal Expressway से BJP की चुनावी गाड़ी पकड़ेगी रफ्तार? Sultanpur से देखें बुलेट रिपोर्टर

सुल्तानपुर के आसमान में भारतीय वायुसेना के गरजते विमानों की दहाड़ बहुत दूर तक सुनाई दे रही है. पूर्वांचल की धरती का बहुत खास सियासी पड़ाव है सुल्तानपुर. यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सेना के हरक्यूलिस विमान से उतरे और पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का लोकार्पण किया. समझने वाले समझ ही गए होंगे कि कहां निगाहें हैं, कहां निशाना है. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों से पहले पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के इस लोकार्पण से बीजेपी भी उम्मीद कर रही है कि उसकी चुनावी गाड़ी भी इस बहाने रफ्तार पकड़ेगी. तो जनता की नब्ज पकड़ने के लिए हमारी संवाददाता चित्रा त्रिपाठी की बुलेट भी यहां की ओर दौड़ पड़ी. देखिए बुलेट रिपोर्टर का ये एपिसोड.

Pkhelkar Pkhelkar gadi nahi paltegi Pkhelkar Pura filmy script ki tarah surrender karne ki tayari me hai 🙄🙄🙄🤔🤔🤔🤔 Pkhelkar देखिए! जहाज 🚢 पर इस किस्म की Narcotic drugs party होना नामुमकिन है Pkhelkar MP में ट्राई कर लेता, उधर भी बहुत गुंडे हैं। Pkhelkar Lucknow me cut jyada dena pad raha tha..

पेगासस के ज़रिये भारतीय नागरिकों की जासूसी के आरोपों की जांच के लिए विशेष समिति गठितसुप्रीम कोर्ट ने समिति का गठन करते हुए कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा की आड़ में निजता का हनन नहीं हो सकता. अदालत ने इस मामले में केंद्र सरकार द्वारा उचित हलफ़नामा दायर न करने को लेकर गहरी नाराज़गी जताई और कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा को ख़तरा होने का दावा करना पर्याप्त नहीं है, इसे साबित भी करना होता है. सबसे पहले तुम्हारे जैसे चरसी पत्रकार की भी जासूसी करवानी चाहिए

डब्ल्यूएचओ: कोवाक्सिन के आपात इस्तेमाल की मंजूरी नहीं, अतिरिक्त जानकारी मांगी, तीन नवंबर को होगी बैठकडब्ल्यूएचओ: कोवाक्सिन के आपात इस्तेमाल की मंजूरी नहीं, अतिरिक्त जानकारी मांगी, तीन नवंबर को होगी बैठक LadengeCoronaSe Coronavirus Covid19 CoronaVaccine PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI WHO PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI WHO Ye WHO UNHI DESHO KO APPROVAL DEGA JO USE FUNDING KARTE HAI, CHINA, AMERICA, SABSE ADHIK FUND DETE HAI WHO KO,AUR INDIA NON FUNDER HAI, MUSADDILAL BAN GAYA HAI, OFFICE OFFICE PART 2 START HAI, W.H.O KE SATH, INTERNATIONAL PRESSURE CREAT KARO TABHI APPROVAL MILENGA, WARNA NO HOPE

कोवैक्सीन को डबल्यूएचओ की मान्यता के इंतजार में बैठे हैं लाखों लोग | DW | 27.10.2021कोवैक्सीन पर डबल्यूएचओ का फैसला जल्द आ सकता है. इस फैसले पर लाखों लोगों की यात्राओं के फैसले टिके हुए हैं क्योंकि विभिन्न देश तभी भारतीय टीके को मान्यता देंगे, जब उसे विश्व स्वास्थ्य संगठन की मान्यता मिलेगी.

सीरम ने DCGI को भेजा आवेदन, मांगी कोविशील्ड के लिए नियमित मार्केटिंग की इजाजतपुणे स्थित कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ने डीसीजीआइ से कोविशील्ड के लिए नियमित मार्केटिंग की मंजूरी मांगी है और इसके लिए आवेदन भेजा है। इसमें आखिरी चरण के परीक्षण के आंकड़े भी लगाए हैं। अभी तक इसे देश में केवल आपात उपयोग की अनुमति मिली है।

ममता का आरोप: आम लोगों को प्रताड़ित करने के लिए केंद्र ने बढ़ाए बीएसएफ के अधिकारममता का आरोप: आम लोगों को प्रताड़ित करने के लिए केंद्र ने बढ़ाए बीएसएफ के अधिकार Westbengal BSF MamataBanerjee MamataOfficial BJP4India MamataOfficial BJP4India BSF se aam log Kyun pratarit hone lage ...? Police ki chowki to hmsa ghr k as ps hi hoti tab bhi aam log pratarit nahi hote sirf chor logon ko hi pratarna mehsus hoti hai ... MamataOfficial BJP4India डरे हुए आम आदमी = घुसपैठिए !

तेंदुए ने शेर के बच्चे को मार डाला, शेरनी के सामने से खींचकर ले गयातंजानिया के रूहा नेशनल पार्क (Ruaha National Park) में एक शेरनी अपने बच्चों (शावकों) के लिए भोजन की तलाश में जा रही थी. लेकिन तभी एक भूखे तेंदुए की नजर शेरनी के बच्चों पर पड़ गई.