Sanitation And Cleaning Daily To Defeat Corona, Sanitation And Cleaning İn Allahabad

मिसाल बने प्रयागराज में न्याय विहार के निवासी, कोरोना को हराने के लिए खुद रोज कर रहे सैनिटाइजेशन और सफाई

मिसाल है इनका जज़्बा जब शासन-प्रशासन अपने दम पर काबू नहीं कर सका तो अध्यक्ष ने खुद ही सोसाइटी को किया सैनिटाइज !

09-05-2021 13:15:00
Sanitation And Cleaning Daily To Defeat Corona, Sanitation And Cleaning İn Allahabad, Prayagraj New Corona Cases, Corona Tratment, कोरोना को हराने के लिए सैनिटाइजेशन और सफाई, कोरोना का इलाज, कोरोना की दवाएं

मिसाल है इनका जज़्बा जब शासन-प्रशासन अपने दम पर काबू नहीं कर सका तो अध्यक्ष ने खुद ही सोसाइटी को किया सैनिटाइज !

अध्यक्ष धर्मेंद्र प्रताप ने सैनिटाइजेशन मशीन खरीदी और फिर एसोसिएशन के सदस्यों के साथ कालोनी को सैनिटाइज करने में जुट गए। जिस घर में कोरोना पीडि़त मिलता उसके साथ आसपास के घरों को भी सैनिटाइज किया जाता। ग्रुप पर कोरोना से बचाव की जानकारी दी जाती है।

 कोरोना के बढ़ते संक्रमण को केवल शासन-प्रशासन ही अपने दम पर काबू नहीं कर सकता बल्कि इसमें जनता को भी पूरा सहयोग और सह भागिता करनी होगी। लोग यह बात समझने लगे हैं इसलिए अब जागरूकता का परिचय दे रहे हैं। मास्क लगाने से लेकर साफ सफाई तक करने पर जोर दे रहे हैं। मिसाल के तौर पर ले सकते हैं 

योग दिवस पर मोदी बोले – कोरोना महामारी में उम्मीद की किरण बना हुआ है योग - BBC Hindi ईरान के नए राष्ट्रपति को इसराइली पीएम ने बताया ‘तेहरान का जल्लाद’ - BBC Hindi असम: मुसलमान महिलाओं के ज़्यादा बच्चे पैदा करने पर क्या कहते हैं आँकड़े - BBC News हिंदी

शहर में धूमनगंज इलाके की न्याय विहार कालोनी को। यहां करीब पांच सौ मकान हैं। यहां कुछ ही लोग अब तक कोरोना से पीडि़त हुए हैं। कोरोना को कालोनी से दूर रखने के लिए न्याय विहार रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन ने कई सार्थक कदम उठाए हैं। एसोसिएशन के अध्यक्ष और हाईकोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता धर्मेंद्र प्रताप सिंह ने खुद सैनिटाइजेशन मशीन खरीदी और प्रतिदिन कालोनी में वे एसोसिएशन के सदस्यों के साथ सैनिटाइजेशन करते हैं। सफाई का ध्यान दिया जाता है।

वाट्सएप पर ग्रुप बनाकर जोड़ा लोगों कोन्याय विहार कालोनी निवासी धर्मेंद्र प्रताप सिंह ने करीब तीन वर्ष पहले वाटसएप ग्रुप बनाकर कालोनी के चंद लोगों को जोड़ा था। ग्रुप का नाम न्याय विहार रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन रखा गया। धर्मेंद्र प्रताप अध्यक्ष और रमेश तिवारी सचिव बने। इसके बाद आदेश शर्मा, अश्वनी सिंह, मुनीश सिंह आदि को जोड़ा गया। पिछले वर्ष कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए तो ग्रुप में कालोनी के कई और लोग जुड़े, लेकिन इधर मार्च के अंतिम सप्ताह में कोरोना संक्रमण की गति देखकर ग्रुप में कालोनी के अधिकांश लोग जुड़ गए। सभी ने ग्रुप में ही कोरोना को हराने का संकल्प लिया। अध्यक्ष धर्मेंद्र प्रताप ने खुद के पैसे से सैनिटाइजेशन मशीन खरीदी और फिर एसोसिएशन के सदस्यों के साथ कालोनी को सैनिटाइज करने में जुट गए। जिस घर में कोरोना पीडि़त मिलता, उसके साथ headtopics.com

 ही आसपास के घरों को भी सैनिटाइज किया जाता। ग्रुप पर ही कोरोना से बचाव की जानकारी दी जाती है। सभी अपने-अपने सुझाव भी इस पर देते हैं। कालोनी में सार्वजनिक कार्यक्रम पूरी तरह प्रतिबंधित है।कालोनी में 400 से अधिक पेड़-पौधेन्याय विहार कालोनी को हरा-भरा करने के लिए कड़ी मशक्कत की। पेड़-पौधों का ऐसा जाल बिछाया कि आज कालोनी हरी-भरी दिखती है। एसोसिएशन के अध्यक्ष का कहना है कि चार सौ से अधिक पेड़ लगाए हैं।

संकट की घड़ी में दिखती है एकजुटताकालोनी में कोई संक्रमित हुआ तो कालोनी के लोग एकजुट हो जाते हैं। हर संभव मदद करते हैं। खाना-पानी, जरूरी दवाएं, ऑक्सीजन तक की व्यवस्था करते हैं। कालोनी के लोग कोरोना जांच कैंप भी लगवा चुके हैं।निजी कर्मी उठाते हैं कालोनी का कूड़ा

और पढो: Dainik jagran »

गंगा को मिली दूसरी जिंदगी: UP के गाजीपुर में नाविक को गंगा किनारे मिला लकड़ी का बॉक्स, खोला तो जन्म कुंडली के साथ चुनरी में लिपटी नवजात मिली

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में मंगलवार को गंगा में उतराता हुआ लकड़ी का बॉक्स दिखाई दिया। नदी किनारे रह रहे एक नाविक ने जब बॉक्स खोलकर देखा, तो उसमें एक नवजात बच्ची मिली। बॉक्स में मां दुर्गा की फोटो के साथ कई देवी-देवताओं के फोटो लगे थे। इसमें एक जन्म कुंडली भी मिली है। बच्ची को पुलिस आशा ज्योति केंद्र ले गई है। बच्ची पूरी तरह स्वस्थ बताई जा रही है। | Ghazipur Girl Found In Ganga Latest Updates। New Born Girl Found Floating In Wooden Box In The Ganga In Ghazipur Uttar Pradesh:गाजीपुर में नाविक को गंगा में बहता लकड़ी का बक्शा मिला, खोला तो जन्म कुंडली और देवी-देवताओं की फोटो के बीच चुनरी में लिपटी मिली नवजात थी

Great👍 Kitane din tak Kahi aisa to nahi janta k sevak oh!! No no no janta k sahab photo khichwane k liye sirf dabba pakde ho!!!!! 🙏🙏🙏🙏Plz मै गरीब घर से हूं मेरा 1 youtube चैनल ha subscribe कर दिजिए 1 सब्सक्राइब से हमारा लाइफ बन जाएगा👇👇👇👇🙏🙏🙏🙏 YouTube _GARIB Boy Technical Link_ Aise samajsevion ki jarurat h Desh ko rispct🙏

कोरोना के बढ़ते मामलों पर केरल-तमिलनाडु में लॉकडाउन, देश के इन राज्यों में कड़े प्रतिबंधदेश के दक्षिणी राज्यों के भी COVID-19 की दूसरी लहर की चपेट में आने के बीच केरल (Kerala Lockdown) में शनिवार सुबह से पूर्ण लॉकडाउन लागू हो गया, जबकि तमिलनाडु (Tamil Nadu Lockdown) में भी 10 मई से दो सप्ताह का ‘‘पूर्ण’’ लॉकडाउन लग जाएगा. कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने शुक्रवार को घोषणा की थी कि राज्य में 10 मई से 24 मई तक लॉकडाउन जैसे कड़े प्रतिबंध लागू होंगे.

कोरोना के बीच राहत भरी खबर, साफ हवा में सांस ले रहे दिल्ली-एनसीआर के लोगकेंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा जारी एयर क्वालिटी बुलेटिन के मुताबिक पिछले कई दिनों से दिल्ली एनसीआर में ज्यादातर जगहों पर एयर इंडेक्स 200 से नीचे चल रहा है। शनिवार को भी केवल गाजियाबाद का एयर इंडेक्स ही 213 यानी खराब श्रेणी में दर्ज हुआ। Good. Kuch to accha ho rha hai delhi me बहुत भारी कीमत पर विडम्बना

गैंगस्टर छोटा राजन की कोरोना के कारण दिल्ली के AIIMS में मौत : सूत्रगैंगस्टर छोटा राजन की कोरोना के कारण दिल्ली के AIIMS में मौत : सूत्र | ChhotaRajan और बंगाल में कोरोनावायरस ने कितने मरे और नरसंहार में कितने मरे Why is there less coverage of ongoing Bengal violence on your channel? Even gangsters are taking treatments in AIIMS while common people...

मुरादाबाद : क्रिकेटर पीयूष चावला के पिता का कोरोना से निधन, नोएडा के अस्पताल में तोड़ा दममुरादाबाद : क्रिकेटर पीयूष चावला के पिता का कोरोना से निधन, नोएडा के अस्पताल में तोड़ा दम PiyushChawla CoronaSecondWave CoronavirusPandemic ओमशान्ति RIP 🙏

चेतन सकारिया के पिता के बाद पीयूष चावला के पिता का कोरोना से निधनभारतीय क्रिकेट टीम के अनुभवी लेग स्पिनर पीयूष चावला के पिता का सोमवार को कोरोना संक्रमण के कारण निधन हो गया। वह 65 वर्ष के थे CricketNews IPL2021 PiyushChawala ChetanSakariya

बिहार के बक्सर के बाद अब यूपी के गाजीपुर में नदी में तैरते दिखे शवबिहार के बक्सर के बाद अब उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में गंगा के किनारे शव नजर आए. मंगलवार को गाजीपुर के गंगा तट पर कुछ शव दिखाए दिए. गाजीपुर और बक्सर के बीच करीब 55 किलोमीटर की दूरी है. बक्सर में सोमवार को करीब 100 शव पानी में तैरते हुए दिखाई दिए थे. इन लाशों को देखने के बाद बिहार के अधिकारियों ने तर्क दिया था कि यह उत्तर प्रदेश से आई हैं. अधिकारियों के अनुसार बिहार में शवों को पानी में डालने की परंपरा नहीं है. देश के हालात खराब कर दिए मोदी सरकार ने bycotmodgoverment मैली होती गंगा, रोती हुई जनता, मौत के सौदागर और तमाशेबाज प्रधान लाशों पर महल बनाने में व्यस्त! गंगा_मे_बहतीं_लाशें मोदी_है_तो_मातम_है मोदीजी_इस्तीफा_दो