Devalsahay, Deval Sahay Passes Away, Mahendra Singh Dhoni, Deval Sahay, Deval Sahay Death News, Ranchi News

Devalsahay, Deval Sahay Passes Away

माही को धोनी बनाने वाले मेंटर नहीं रहे: देवल दा ने स्कूल मैच में ही धोनी का टैलेंट पहचान लिया था, उनके लिए सीनियर्स से बॉलिंग करवाते थे

माही को धोनी बनाने वाले मेंटर नहीं रहे:देवल दा ने स्कूल मैच में ही धोनी का टैलेंट पहचान लिया था, उनके लिए सीनियर्स से बॉलिंग करवाते थे @msdhoni #DevalSahay

24-11-2020 16:10:00

माही को धोनी बनाने वाले मेंटर नहीं रहे:देवल दा ने स्कूल मैच में ही धोनी का टैलेंट पहचान लिया था, उनके लिए सीनियर्स से बॉलिंग करवाते थे msdhoni DevalSahay

देवल दा ने 1997 में धोनी का टेलेंट पहचानकर उन्हें टीम का स्टाइपेंड प्लेयर बनाया था,देवल दा धोनी के लिए सीनियर प्लेयर्स से बॉलिंग कराते थे और उन्हें टर्फ पर खिलाते थे | Deval Sahay Passes Away ; Ranchi | Know Everything About Mahendra Singh Dhoni Mentor Deval Sahay

Deval Sahay Passes Away; Ranchi | Know Everything About Mahendra Singh Dhoni Mentor Deval SahayAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपमाही को धोनी बनाने वाले मेंटर नहीं रहे:देवल दा ने स्कूल मैच में ही धोनी का टैलेंट पहचान लिया था, उनके लिए सीनियर्स से बॉलिंग करवाते थे

आजतक सबसे तेज: समाचार तमाशा नहीं, भरोसा है फैक्ट चेक: अक्षय कुमार ने सरकार से नहीं की रोजगार देने की मांग, फर्जी है ये तस्वीर भारत-इंग्लैंड टेस्ट: पिच की किच-किच से जीत हुई बेस्वाद - BBC News हिंदी

रांचीलेखक: शंभू नाथकॉपी लिंकएक कार्यक्रम के दौरान महेंद्र सिंह धोनी और उनके मेंटर देवल सहाय। -फाइल फोटो।देवल दा ने 1997 में धोनी का टेलेंट पहचानकर उन्हें टीम का स्टाइपेंड प्लेयर बनाया थादेवल दा धोनी के लिए सीनियर प्लेयर्स से बॉलिंग कराते थे और उन्हें टर्फ पर खिलाते थे

टीम इंडिया के धुरंधर बेट्समैन महेंद्रसिंह धोनी को तराशने वाले देवल सहाय का मंगलवार को निधन हो गया। प्यार से उन्हें लोग देवल दा कहते थे। वे लंबे समय से बीमार थे। उन्होंने ही रांची में टर्फ क्रिकेट ग्राउंड बनवाया था।देवल दा के बेहद करीबी रहे आदिल हुसैन बताते हैं कि देवल दा ने धोनी की प्रतिभा को स्कूल के मैच में ही पहचान लिया था। धोनी के लिए वे सीनियर प्लेयर्स से बॉलिंग कराते थे। उन्हें टर्फ पर खिलाते थे और बड़े टूर्नामेंट में भी साथ ले जाते थे। headtopics.com

एक कार्यक्रम में देवल सहाय (देवल दा) के साथ धोनी। -फाइल फोटो।जूनियर होने पर भी सीनियर्स के साथ कराते थे प्रैक्टिसआदिल बताते हैं कि देवल दा ने शुरू में ही कह दिया था कि धोनी एक शानदार प्लेयर बनेगा। धोनी 1997 से 2003 तक आदिल की कप्तानी में ही खेले। देवल दा ने ही 1997 में धोनी को CCL से एक स्टाइपेंड प्लेयर के रूप में जोड़ा था। तब धोनी एक जूनियर खिलाड़ी हुआ करते थे। CCL में राज्य स्तर तक के खिलाड़ी थे। जूनियर होने के बावजूद वे सीनियर प्लेयर्स से धोनी को बॉलिंग कराते थे। उनसे टर्फ के मैदान पर प्रैक्टिस कराते थे। CCL की टीम के साथ धोनी को राष्ट्रीय स्तर के टूर्नामेंट में ले जाया करते थे।

देवल दा के कहने पर धोनी ने बदल ली थी टीमदेवल दा से जुड़ा एक किस्सा सुनाते हुए आदिल हुसैन कहते हैं कि उस समय रांची क्रिकेट क्लब के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू हुआ था। इसी दौरान, धोनी ने सेल की टीम के साथ खेलने के लिए हामी भर दी। वे सेल की टीम के साथ रजिस्टर्ड भी हो गए। देवल दा को इस बात की जानकारी मिली। तब उन्होंने धोनी से कहा कि तुम्हें CCL की टीम से खेलना है। देवल दा के निर्देश पर धोनी बिना सोचे-समझे CCL के लिए मैदान में उतर गए। इसके लिए बाकी फॉर्मेलिटीज भी बाद में पूरी की गईं।

टूर के बीच में देवल दा के पास पहुंचे धोनी और पढो: Dainik Bhaskar »

'एक लड़की को पिलाना चाहता था जहर', देखें उन्नाव केस के बड़े खुलासे

उन्नाव में दलित परिवार की दो लड़कियों की संदिग्ध मौत के मामले में यूपी पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. उन्होंने बताया कि शुक्रवार को दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. मुख्य आरोपी का नाम विनय उर्फ लंबू है. वहीं दूसरा आरोपी विनय का दोस्त है जो नाबालिग है. पुलिस ने बताया कि विनय एक लड़की से प्रेम करता था. उसने उसके सामने प्रस्ताव भी रखा था. लेकिन उसने ठुकरा दिया.

msdhoni Its very sad. Om Shanti. 🙏🇮🇳 msdhoni Thanks for his contribution by giving us MSD. Rest in peace sir.