Maharashtra, Parambirsingh, Highcourt, महाराष्ट्र, परमबीरसिंह, हाईकोर्ट

Maharashtra, Parambirsingh

महाराष्ट्र: राज्य सरकार ने कोर्ट से कहा- आईपीएस अधिकारी परमबीर सिंह का पता नहीं चल पाया

महाराष्ट्र: राज्य सरकार ने कोर्ट से कहा- आईपीएस अधिकारी परमबीर सिंह का पता नहीं चल पाया #Maharashtra #ParambirSingh #Highcourt #महाराष्ट्र #परमबीरसिंह #हाईकोर्ट

22-10-2021 05:30:00

महाराष्ट्र : राज्य सरकार ने कोर्ट से कहा- आईपीएस अधिकारी परमबीर सिंह का पता नहीं चल पाया Maharashtra ParambirSingh Highcourt महाराष्ट्र परमबीरसिंह हाईकोर्ट

बॉम्बे हाईकोर्ट परमबीर सिंह की उस याचिका पर सुनवाई कर रहा था जिसमें पुलिस निरीक्षक भीमराव घाडगे की एक शिकायत पर उनके ख़िलाफ़ एससी-एसटी एक्ट समेत विभिन्न धाराओं के तहत दर्ज प्राथमिकी को रद्द करने का अनुरोध किया गया है. राज्य सरकार ने सुनवाई में कहा कि परिस्थितियों को देखते हुए अब वह अपने आश्वासन पर क़ायम नहीं रहना चाहती कि सिंह के ख़िलाफ़ कोई दंडात्मक कार्रवाई नहीं की जाएगी.

मुंबई:महाराष्ट्र सरकार ने बुधवार को बंबई उच्च न्यायालय में कहा कि मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह का पता नहीं चल पाया है.इसके साथ ही सरकार ने कहा कि भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) अधिकारी का पता नहीं चल रहा है, इसलिए वह अपने आश्वासन पर कायम नहीं रहना चाहती कि उत्पीड़न कानून संबंधी एक मामले में उनके खिलाफ कोई दंडात्मक कार्रवाई (जैसे गिरफ्तारी) नहीं की जाएगी.

वसीम रिज़वी अब हैं जितेंद्र त्यागी, इस्लाम छोड़ने के बाद बोले-मंदिर से मिली ऊर्जा - BBC News हिंदी ओमिक्रॉन की दहशत : न्यूयॉर्क में सभी निजी कंपनियों के कर्मचारियों के लिए वैक्सीन अनिवार्य मुंबई में ओमिक्रॉन के दो और नए मामले, महाराष्‍ट्र में अब तक मिले कुल 10 संक्रमित

राज्य सरकार की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता डेरियस खंबाटा ने जस्टिस नितिन जामदार और जस्टिस सारंग कोतवाल की खंडपीठ से कहा कि अब परिस्थितियां बदल गई हैं.खंबाटा ने कहा, ‘उनका पता नहीं चल पा रहा है. इन परिस्थितियों में हम अपने पहले के बयान पर कायम नहीं रहना चाहते हैं, जब सरकार ने कहा था कि वह उनके खिलाफ कोई दंडात्मक कार्रवाई नहीं करेगी.’

परमबीर सिंह की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता महेश जेठमलानी ने कहा कि उन्हें अभी तक भगोड़ा नहीं घोषित किया गया है. जेठमलानी ने कहा, ‘इस मामले में उन्हें दो बार समन जारी किया गया और दोनों बार उन्होंने जवाब दिया.’उल्लेखनीय है कि इस महीने की शुरुआत में मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त के देश छोड़कर फरार होने की खबरों के बीच उनके खिलाफ headtopics.com

लुकआउट नोटिस जारी किया गया था.सिंह के अपने घर पर नहीं पाए जाने और केंद्र और राज्य की एजेंसियों द्वारा कई बार समन दिए जाने के बावजूद पेश न होने के बाद यह नोटिस जारी किया गया था. उस समय ऐसी अपुष्ट ख़बरें सामने आई थीं कि गिरफ़्तारी से डर से सिंह देश छोड़कर भाग गए हैं.

बुधवार को उच्च न्यायालय इन वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी की उस याचिका पर सुनवाई कर रहा था जिसमें पुलिस निरीक्षक भीमराव घाडगे की एक शिकायत पर उनके खिलाफ अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) कानून तथा भादंसं की विभिन्न धाराओं के तहत दर्ज प्राथमिकी को रद्द करने का अनुरोध किया गया है. अदालत ने सुनवाई अगले सप्ताह के लिए स्थगित कर दी.

समाचार एजेंसीपीटीआईके अनुसार, वर्तमान में अकोला जिले में तैनात घाडगे ने परमबीर सिंह और कुछ अन्य अधिकारियों के खिलाफ सिंह के ठाणे के पुलिस आयुक्त रहने के दौरान भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं.घडगे ने दावा किया कि सिंह ने उन पर एक मामले से कुछ लोगों के नाम हटाने के लिए दबाव डाला और जब उन्होंने इनकार किया तो उनके खिलाफ झूठे मामले तैयार किए गए.

उनकी प्राथमिकी अत्याचार अधिनियम के तहत दर्ज की गई थी क्योंकि शिकायतकर्ता एक अनुसूचित जाति से आते हैं, साथ ही सिंह पर जबरन वसूली और कुछ अपराधों की धाराएं भी लगाई गई हैं.उधर, सिंह के वकील ने दावा किया कि यह एफआईआर महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ सिंह के भ्रष्टाचार के आरोपों पर आई प्रतिक्रिया थी. headtopics.com

धर्म परिवर्तन के बाद रिजवी बोले: इस्लाम का दूसरा नाम ही आतंक है, जिसकी शुरुआत 1400 साल पहले अरब के रेगिस्तान में हुई मोदी से मुलाक़ात में पुतिन ने कहा- भारत एक बड़ी शक्ति और परखा हुआ दोस्त - BBC Hindi Omicron भारत के लिए कितना बड़ा खतरा, इन 5 राज्यों के हालात से समझिए

परमबीर सिंह पर ठाणे और मुंबई में कम से कम चार जबरन वसूली के मामले भी चल रहे हैं.गौरतलब है कि इस साल मार्च महीने में मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने राज्य के पूर्व गृहमंत्रीअनिल देशमुख के खिलाफ रिश्वत के आरोपलगाए थे और अदालत ने जांच एजेंसी को इन आरोपों की जांच करने का निर्देश दिया था.

देशमुख ने इन आरोपों के बाद अप्रैल में अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने इन आरोपों को खारिज किया था. और पढो: द वायर हिंदी »

भारत में #OmicronVariant के 21 केस

भारत में #OmicronVariant के 21 केस. #ATLivestream | Sayeed Ansari

मोदी सरकार हो या कांग्रेस, नहीं ख़त्म हुआ इस क़ानून का मोह - BBC News हिंदी1978 में संविधान संशोधन करके एहतियात के नाम पर लोगों को हिरासत में लेने को मुश्किल बनाया गया लेकिन उसके बाद आने वाली सरकारों ने इसे नज़रअंदाज़ कर दिया. जो काम इंदिरा गांधी देश में इमरजेंसी लगा कर नही कर सकी, उससे भी ज्यादा क्रुरूर काम मोदी बिना इमरजेंसी घोषित किये ही कर रहा है। It's shame for so called the biggest democracy in the world that these law still exists. 😡🤬 जनपद प्रयागराज थाना सराय ममरेज एसआई अरविन्द कुमार यादव और रंग बहादुर पांडे दोनों मिलकर मेरी माता जी को गन्दी गन्दी गालियां दिया और मरे हैं कृपा मेरी मदद कीजिए

अपनी पार्टी बनाएंगे, भाजपा के साथ सीटों के बंटवारे के लिए बातचीत को तैयार: अमरिंदर सिंहकांग्रेस नेता और पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने अमरिंदर सिंह के एक नई राजनीतिक पार्टी बनाने और भाजपा से साथ सीट बंटवारे को लेकर तैयार होने की बात पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अगर कैप्टन भाजपा के साथ जाना चाहते हैं तो ऐसा कर सकते हैं. उन्हें ‘सर्वधर्म सम्भाव’ का प्रतीक माना जाता था. ऐसा लगता है कि उन्होंने अपने अंदर के ‘धर्मनिरपेक्ष अमरिंदर’ को मार दिया है. इनसे कहो G 23 के बूढों को भी अपने साथ ले लें। 80 साल की उम्र में भी संतोष नहीं। घटिया आदमी निकला ये राजा 70 साल तक कांग्रेस ने सब दिया। एक कुर्सी मांग ली तो राजा की तिवरी चढ़ गई अब समय अमरेन्द्र साहब सत नाम वाये गुरु जपने का है न की पार्टी बनाने का ।

कैप्टन अमरिंदर सिंह की नई पार्टी के साथ BJP गठबंधन को तैयार : पंजाब प्रभारीकैप्टन अमरिंदर सिंह की नई पार्टी के साथ गठबंधन को बीजेपी तैयार. बीजेपी के पंजाब प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव दुष्यंत गौतम ने इस बारे में जानकारी दी है. You make each other for this deal Mubarak ho congress apni khud ki farewell k liye kyonki yeh sajish achchi thi ki akali bahar aapkey sath sath or kewal AAP.safar behtareen. एक 80 साल के व्यक्ति अमरिंदर सिंह को केवल अपना स्वार्थ दिखाई दे रहा है ।

अमृता सिंह के कारण धर्मेंद्र से लड़ पड़े थे विनोद खन्ना, पकड़ लिया था कॉलरधर्मेंद्र ने कई मौकों पर करियर को लेकर विनोद खन्ना की मदद की थी। धर्मेंद्र विनोद खन्ना के लिए शुरू से ही काफी सपोर्टिव भी थे, तो वहीं विनोद खन्ना भी धर्मेंद्र को अपने बड़े भाई की तरह मानते थे।

कृषि क़ानून पर केंद्र सरकार को ही मानना पड़ेगा, किसान नहीं मानेंगे: सत्यपाल मलिक - BBC News हिंदीबीबीसी से ख़ास बातचीत में मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने किसान आंदोलन से लेकर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव, योगी आदित्यनाथ से लेकर जम्मू-कश्मीर में चल रहे मुठभेड़ पर अपनी बात रखी. Lagta hai ese ghar jana hai 🤪 Govt is against farmers bill. सच कहा है। उत्तर प्रदेश चुनाव आने दे, कोई भाजपाई किसी गांव में नही घुस पायेगा । किसानआंदोलन किसानएकताजिन्दाबाद।

भ्रष्टाचार पर बोले पीएम मोदी: देश लूटने वाले लोग कितने भी ताकतवर क्यों न हो, हमारी सरकार उसे नहीं छोड़तीभ्रष्टाचार पर बोले पीएम मोदी: देश लूटने वाले लोग कितने भी ताकतवर क्यों न हो, हमारी सरकार उसे नहीं छोड़ती NarendraModi narendramodi PMOIndia narendramodi PMOIndia Phle pakdo to shi chor sarkar me ho to pakdoge kisko narendramodi PMOIndia Jhumla hai jumla Jumle ke upar jumla SaveIndiaFromBJP narendramodi PMOIndia देश के लूटने वाले मे सब से phle बीजेपी ki sarkar है तो किस को पकड़ने की बात कर रहे है........ तुम लोगों से कुछ नहीं होगा पकौड़े talo bs