Delhi Assembly Elections 2020, Assembly Elections 2020, Delhi Elections 2020, Delhi Elections, Manoj Tiwari, Manoj Tiwari Profile, Bhojpuri, Purvanchal

Delhi Assembly Elections 2020, Assembly Elections 2020

मनोज तिवारी: एक 'भोजपुरी' चेहरा जो दिल्ली की राजनीति में वजूद की लड़ाई लड़ रहा है

नवंबर 2016 में मनोज को सौंपी गई थी दिल्ली की जिम्मेदारी

23.1.2020

नवंबर 2016 में मनोज को सौंपी गई थी दिल्ली की जिम्मेदारी

मनोज तिवारी दिल्ली का राजनीति का वह नाम हैं जिसे उनके गानों के जरिए पूरे भारत में सुना जाता है. फिलहाल पिछले कुछ सालों से यह भोजपुरी चेहरा दिल्ली की राजनीति में अपने वजूद की लड़ाई रहा है. वह उत्तरी-पूर्वी दिल्ली सीट से दूसरी बार लोकसभा पहुंचे हैं.

मनोज तिवारी बीजेपी की दिल्ली इकाई का वह नाम है जिसने राज्य में नेतृत्व संकट को तो दूर किया ही, साथ ही साथ संगठन को भी काफी मजबूत किया. मनोज तिवारी फिलहाल दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष हैं और उत्तरी-पूर्वी दिल्ली से दूसरी बार लोकसभा पहुंचे हैं. मनोज तिवारी ने कांग्रेस की दिवंगत नेता और दिल्ली की तीन बार की मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित को हराकर 2019 के लोकसभा चुनाव में अपना परचम लहराया है. 2016 में राज्य की कमान मिलने के बाद बीजेपी राज्य में काफी मजबूत हुई है लेकिन तिवारी खुद कितने मजबूत हुए हैं यह एक बड़ा सवाल है. इस सवाल के जवाब का अंदाजा आप सिर्फ इस बात से निकाल सकते हैं कि पिछले सालों की मेहनत के बावजूद भी बीजेपी ने उन्हें सीएम का चेहरा घोषित नहीं किया. शीर्ष नेतृत्व इसे अपनी रणनीति बताते हैं लेकिन अंदरखाने यह चर्चा भी है कि इससे पंजाबी और जाट वोट बीजेपी से बिदक सकते थे. भोजपुरी ही मनोज तिवारी की पहचान है राजनीति के इतर वह एक भोजपुरी गायक और अभिनेता के रूप में जाने-पहचाने जाते हैं. विरोधी कई बार उनकी इस प्रतिभा का मजाक उड़ाते भी नजर आते रहे हैं. आपको बता दें कि मनोज तिवारी का जन्म 1 फरवरी, 1971 को हुआ था. उन्होंने काशी हिंदू विश्वविद्यालय से शारीरिक शिक्षा में परास्नातक किया है. मनोज तिवारी ने अपनी पहली फिल्म 'ससुरा बड़ा पैसावाला' से भोजपुरी फिल्म को पूरे देश में एक नई पहचान दिलाई थी. इसके अलावा इनमें सबसे बड़ी बात यह है कि वे जहां भी जाते हैं वहां भोजपुरी रंग में ही लोगों को मनोरंजन करते हैं और लोग इन्हें उतना ही प्यार भी करते हैं. बीजेपी का 'मेरी दिल्ली मेरा सुझाव' कैंपेन लॉन्च करते मनोज तिवारी 4 हजार गाने और 17 फिल्में, मिले हैं कई पुरस्कार फिल्मों में काम करने से पूर्व मनोज तिवारी ने तकरीबन दस साल तक भोजपुरी गायक के रूप में काम किया. इसका अंदाजा आप इस बात से ही लगा सकते हैं कि भोजपुरी और हिंदी भाषाओं में मनोज तिवारी ने 4,000 से अधिक गाने गाए हैं. 2003 में मनोज ने अभिनय में भी हाथ आजमाया और उनकी पहली फिल्म ने ही रिकॉर्ड तोड़ दिया. यह भी पढ़ें: IIT, IRS, आंदोलन से फिर CM, बेहद फिल्मी है केजरीवाल का सफर एक मुख्य अभिनेता के रूप में उन्होंने करीब 75 भोजपुरी फिल्मों और कुछ हिंदी फिल्मों में भी काम किया है. अनुराग कश्यप द्वारा निर्देशित फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर का सबसे ज्यादा पसंद किया गया गाना 'जिया हो बिहार के लाला' भी मनोज तिवारी ने ही गाया था. फिल्मों में योगदान के लिए मनोज तिवारी को कई पुरस्कारों से सम्मानित भी किया गया है. बिग बॉस में लड़ाई और नजदीकी दोनों बनी सुर्खियां बड़े परदे पर ही नहीं मनोज ने छोटे पर्दे पर भी दमदार प्रस्तुतियां दी हैं. मनोज ने कई टीवी-शो की मेजबानी की है. 2010 में मनोज तिवारी ने प्रतिभागी के तौर पर रियलिटी शो 'बिग बॉस' के सीजन 4 में भी हिस्सा लिया था. उस सीजन में डॉली बिन्द्रा से हुई उनकी लड़ाइयां आज तक याद की जाती हैं. डॉली से लड़ाई के अलावा बिग बॉस के दौरान श्वेता तिवारी के साथ उनकी नजदीकियों ने भी काफी सुर्खियां बटोरी थीं. मनोज और उनकी पत्नी रानी तिवारी के बीच अलगाव की यह भी एक सबसे बड़ी वजह बताई जाती रही है. 2009 में अपना पहला चुनाव लड़े थे मनोज तिवारी मनोज तिवारी सन 2011 में बाबा रामदेव द्वारा रामलीला मैदान पर शुरू किए गए भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन और अन्ना आंदोलन में भी सक्रिय रहे. 2009 में मनोज तिवारी ने गोरखपुर लोकसभा सीट से बतौर समाजवादी पार्टी उम्मीदवार हिस्सा लिया लेकिन बीजेपी उम्मीदवार योगी आदित्यनाथ से चुनाव हार गए. दिल्ली के सीएम केजरीवाल पर हमला बोलते मनोज तिवारी इन मतदाताओं को ध्यान में रख बीजेपी में लाए गए थे तिवारी मनोज तिवारी दिल्ली में बीजेपी की वो उम्मीद थे जो विधानसभा चुनाव में बेहद अहम भूमिका निभा सकते थे. इसी वजह से पिछले विधानसभा चुनावों से कुछ महीनों पहले 3 अक्टूबर 2013 को बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व ने उन्हें सदस्यता ग्रहण करवाई. लोगों का मानना था कि ऐशा सिर्फ पूर्वांचल के 30 लाख से ज्यादा मतदाताओं को लुभाने के लिए किया गया था. गौरतलब है कि दिल्ली की 70 विधानसभाओं में करीब 15 सीटों पर पूर्वांचली वोटर निर्णायक भूमिका में रहते हैं. यह भी पढ़ें: केजरीवाल के इस सिपाही ने हैक कर दिखाई थी EVM तिवारी ने तत्कालीन दिल्ली चुनाव प्रभारी नितिन गडकरी की मौजूदगी में बीजेपी ज्वाइन की थी. हालांकि उस विधानसभा चुनावों में बीजेपी कुछ बेहतर नहीं कर पाई लेकिन शाह-मोदी की जोड़ी ने फिर भी मनोज तिवारी की काबलियत पर अपना भरोसा जताया. 2014 के आम चुनावों में मनोज तिवारी उत्तर पूर्वी दिल्ली लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से बीजेपी के उम्मीदवार घोषित किए गए और मोदी लहर और पूर्वांचली वोटर के बदौलत चुनाव जीत गए. 2016 में बीजेपी ने तिवारी को दी दिल्ली की पूरी जिम्मेदारी नवंबर 2016 में तत्कालीन बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने दिल्ली प्रदेश बीजेपी की बागडोर मनोज तिवारी को सौंप दी और राज्य में पार्टी को मजबूत करने का जिम्मा दिया गया. माना जाता है कि पिछले कुछ सालों में जिस तरह पूर्वांचल के लोगों की आबादी दिल्ली में बढ़ी है उसको ध्यान में रखते हुए ही यह फैसला लिया गया था. बीजेपी का यह फैसला काफी हद तक कारगर भी साबित हुआ. यह भी पढ़ें: आंदोलन का वो साथी जिसे केजरीवाल ने दिल्ली में बनाया अपना सारथी इन दो चुनावों में सफल साबित हुई मनोज तिवारी की मेहनत 2017 में हुए एमसीडी चुनावों में बीजेपी ने अपना परचम लहराया. उसके बाद 2019 के चुनावों में बीजेपी ने दिल्ली की सभी सातों लोकसभा सीटें जीत लीं. 2019 में ही मनोज तिवारी भी दूसरी बार सांसद बनकर लोकसभा पहुंचे. इस बात ने यह साबित कर दिया कि कई विधानसभा चुनावों में हार खाकर थक चुकी पार्टी में मनोज तिवारी ने नई जान फूंक दी थी. मनोज तिवारी की असली परीक्षा अब इन दिल्ली विधानसभा चुनावों में है जहां आम आदमी पार्टी हैट्रिक बनाने के लिए पूरी तरह आश्वस्त है तो कांग्रेस सीएए, एनआरसी और एनपीआर को लेकर उपजी नाराजगी को भुनाने की पूरी फिराक में है. और पढो: आज तक

दिल्ली में हिंसा पर भारत के ख़िलाफ़ बोले कई विदेशी नेता



बांग्लादेश में PM मोदी का बुलावा रद्द करने की माँग

प्रयागराज में पीएम मोदी ने कहा- 5 साल में दिव्यांगों को बांटे 900 करोड़ से ज्यादा के उपकरण



कन्हैया के समर्थन में चिदंबरम, कहा- दिल्ली सरकार को भी राजद्रोह कानून की समझ नहीं

महिला T20 वर्ल्ड कप: भारतीय शेरनियों का जलवा, आखिरी ग्रुप मैच में श्रीलंका को हराया



जातीय जनगणना का मुद्दा बिहार के बाद महाराष्ट्र में गर्म

Zomato का डिलीवरी बॉय 'सोनू' बना इंटरनेट सेंसेशन, कंपनी ने ट्विटर पर लगाई DP, लोग बोले- इसकी सैलरी बढ़ा दो प्लीज



क्यों भाई भोजपुरियोंसे क्या परहेजहै।समयकालका प्रभाव पड़ताहै लेकिन इस पावन धराका सनातन संपदाकी समृद्धिमें बहुतही सक्रिय योगदान सतयुगसे लेकर संप्रति तक रहा है। अनेक ज्ञात अज्ञात ऋषियों मुनियोंकी तपोभूमि कर्मभूमिसे सुरसरी गंगा के दोकूल आच्छादित रहेहैं आजभी कम मात्रा में किंतु हैं। अब २०२० में छिनने वाली है !

वो दिल्ली का जनता मु्र्ख ही होगा जो केजरीवाल को वोट ना देकर किसी और को देगा अबकी बार 67 पार

दिल्ली विधानसभा चुनावः झुग्गी में प्रवास कर भाजपा नेता खोलेंगे दिल्ली सरकार की पोलदिल्ली विधानसभा चुनावः झुग्गी में प्रवास कर भाजपा नेता खोलेंगे दिल्ली सरकार की पोल DelhiElections2020 DelhiAssemblyPolls BJP4India INCIndia AamAadmiParty BJP4India INCIndia AamAadmiParty मनोज तिवारी की पार्टी ने काम किया होता तो वे अपना काम गिनाते दूसरों की पोल खोलने और झुग्गी प्रवास की जरूरत नहीं पड़ती। BJP4India INCIndia AamAadmiParty नचनिया को झुग्गी में रहना सिखा दिया है केजरीवाल ने वाह।

दिल्ली विधानसभा चुनावः केजरीवाल बोले...बड़ा बेटा हूं तो दिल्ली की जिम्मेदारी भी मेरी ही हैदिल्ली विधानसभा चुनावः केजरीवाल बोले...बड़ा बेटा हूं तो दिल्ली की जिम्मेदारी भी मेरी ही है DelhiElections2020 DelhiAssemblyPolls BJP4India INCIndia AamAadmiParty ArvindKejriwal BJP4India INCIndia AamAadmiParty ArvindKejriwal Makkar BJP4India INCIndia AamAadmiParty ArvindKejriwal दिल्ली की महान जनता को पहले 49 दिन- फिर 5 वर्षों तक मुर्ख बनाने के बाद फिर से AamAadmiParty मासूम_मुसलमानों के सहयोग से 2020 में मुफ्त की सौगातों के वादों के साथ मुर्ख बनाने को आ गई स्वागत तो बनता है।क्यों? AmitShah ManojTiwariMP BJP4Delhi KapilMishra_IND

बैंक धोखाधड़ी मामले में कोलकाता की कंपनी पर ईडी की कार्रवाई, 107 करोड़ की संपत्ति अटैचप्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बैंक धोखाधड़ी से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कोलकाता की एक कंपनी की 107 करोड़ की संपत्ति

बिहार में पोस्टर की राजनीति, RJD ने यूं बोला नीतीश-मोदी पर हमलाराजधानी पटना में लालू यादव की पार्टी आरजेडी (RJD) की ओर से बिहार की BJP-JDU पर निशाना साधा गया है। इस बार पोस्टर के जरिए 'डबल इंजन' की सरकार को ट्रबल इंजन की सरकार बताते हुए बिहार को बर्बाद करने का आरोप नीतीश कुमार और सुशील मोदी सरकार पर लगाया गया है।

प्रदूषण की 'राजधानी' दिल्ली में पर्यावरण चुनावी मुद्दा क्यों नहीं | DW | 22.01.2020गैस चैंबर बनती दिल्ली में इस बार के विधानसभा चुनाव में पर्यावरण लोगों के बीच प्रमुख मुद्दा है. पर्चे भरे जा चुके हैं, लेकिन अभी तक राजनीतिक पार्टियों ने इस पर इतना ध्यान नहीं दिया है जितना उनसे उम्मीद की जा रही है.

दिल्ली चुनाव में भी पाकिस्तान की एंट्री, बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने बताया सीधा मुकाबलाकपिल मिश्रा पहले आम आदमी पार्टी सरकार में मंत्री रहे हैं, लेकिन इस बार वो बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. कपिल तमाम मुद्दों पर आक्रामक रुख अख्तियार किए हुए हैं. हाल ही में उन्होंने जनसंख्या की समस्या को मुस्लिम समाज से जोड़कर दिखाया था, जिस पर काफी विवाद हुआ था. सीएए के मसले पर विरोध कर रहे लोगों के खिलाफ भी उनका एक वीडियो विवाद का केंद्र बना था. अब उन्होंने दिल्ली चुनाव में पाकिस्तान को घसीट लिया है. Yehi inki sachai hai Divide and Rule बगलाइल बा बुड़बक



'जावेद अख्तर की बुद्धि पर पड़ा पर्दा, बुद्धिजीवी कहलाने लायक नहीं'

दिल्ली हिंसा : राष्ट्रपति से मिले कांग्रेस के नेता, 'राजधर्म' बचाने की अपील, अमित शाह को हटाने की मांग

दिल्ली हिंसा: नरेंद्र मोदी पर क्या कह रहा है विदेशी मीडिया

मनोज तिवारी का हमला- 'ताहिर हुसैन ने काफी पहले कर ली थी दिल्ली के दंगों के लिए तैयारी'

दिल्‍ली हिंसा: जावेद अख्‍तर ने कर दिया ऐसा ट्वीट, लोग पूछ रहे सवाल

मुस्लिमों की गरीबी और बेरोजगारी की समस्या को खत्म कर रहे हैं पीएम मोदी : उमा भारती

दिल्ली दंगे: पुलिस की भूमिका की जाँच कैसे होगी?

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

23 जनवरी 2020, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

BJP अध्यक्ष बनने के बाद नड्डा की पहली सभा, बोले- कांग्रेस सरकारों के फैसले 'घातक'

अगली खबर

2024 तक मैनेजर्स की जगह पूरी तरह से ले लेंगे AI रोबोट
दिल्ली में हिंसा पर भारत के ख़िलाफ़ बोले कई विदेशी नेता बांग्लादेश में PM मोदी का बुलावा रद्द करने की माँग प्रयागराज में पीएम मोदी ने कहा- 5 साल में दिव्यांगों को बांटे 900 करोड़ से ज्यादा के उपकरण कन्हैया के समर्थन में चिदंबरम, कहा- दिल्ली सरकार को भी राजद्रोह कानून की समझ नहीं महिला T20 वर्ल्ड कप: भारतीय शेरनियों का जलवा, आखिरी ग्रुप मैच में श्रीलंका को हराया जातीय जनगणना का मुद्दा बिहार के बाद महाराष्ट्र में गर्म Zomato का डिलीवरी बॉय 'सोनू' बना इंटरनेट सेंसेशन, कंपनी ने ट्विटर पर लगाई DP, लोग बोले- इसकी सैलरी बढ़ा दो प्लीज मुर्गे से कोरोना वायरस का फैला डर, तो तेलंगाना के मंत्रियों ने स्टेज पर खाया चिकन T20 महिला वर्ल्ड कप: भारत ने श्रीलंका को सात विकेट से हराया Delhi Violence: हिंसाग्रस्त इलाकों में कुछ दुकानें खुलीं, बड़ी संख्या में लोगों के इकट्ठा होने पर रोक- 10 खास बातें दिल्ली दंगों के ये 10 हथियार, जिनसे देश की राजधानी में मचाया गया कत्लेआम दिल्ली: ताहिर हुसैन के घर पहुंचकर पुलिस ने जुटाए सबूत, हिंसा में इस्तेमाल सामान जब्त
'जावेद अख्तर की बुद्धि पर पड़ा पर्दा, बुद्धिजीवी कहलाने लायक नहीं' दिल्ली हिंसा : राष्ट्रपति से मिले कांग्रेस के नेता, 'राजधर्म' बचाने की अपील, अमित शाह को हटाने की मांग दिल्ली हिंसा: नरेंद्र मोदी पर क्या कह रहा है विदेशी मीडिया मनोज तिवारी का हमला- 'ताहिर हुसैन ने काफी पहले कर ली थी दिल्ली के दंगों के लिए तैयारी' दिल्‍ली हिंसा: जावेद अख्‍तर ने कर दिया ऐसा ट्वीट, लोग पूछ रहे सवाल मुस्लिमों की गरीबी और बेरोजगारी की समस्या को खत्म कर रहे हैं पीएम मोदी : उमा भारती दिल्ली दंगे: पुलिस की भूमिका की जाँच कैसे होगी? ताहिर हुसैन ने कहा- मैं तो दंगे रोक रहा था 'मैंने सिर्फ रास्‍ता खुलवाने का अनुरोध किया था, जिसके घर से हिंसा हुई उससे कोई सवाल नहीं' एक साल में रेलवे NTPC भर्ती परीक्षा की तारीख तय नहीं कर सकी आर्टिकल 370 हटाने और CAA लाने वाली सरकार पुलिस के जवानों पर गर्भवती महिला सहित छह की बेरहमी से पिटाई का आरोप, एक की हालत गंभीर दिल्ली हिंसा: इस फ़ोटो वाले मोहम्मद ज़ुबैर की आपबीती