मनरेगा का क्रेडिट लेना है तो उसकी धांधलियों का भी श्रेय ले यूपीएः निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि विपक्ष अगर मनरेगा (MNREGA) का क्रेडिट लेना चाहता है, तो उसकी धांधलियों का भी श्रेय ले. #AgendaAajTak21

Agendaaajtak 21, Nirmala Sitharaman

03-12-2021 18:40:00

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि विपक्ष अगर मनरेगा (MNREGA) का क्रेडिट लेना चाहता है, तो उसकी धांधलियों का भी श्रेय ले. AgendaAajTak21

Agenda Aajtak 2021 : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 9वें एजेंडा आजतक में कहा कि विपक्ष अगर मनरेगा का क्रेडिट लेना चाहता है, तो उसकी धांधलियों का भी श्रेय ले.

स्टोरी हाइलाइट्स‘यूपीए का मनरेगा गलतियों का ही नमूना’‘खुद के लोगों का पेट भरने का उदाहरण’वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 9वें एजेंडा आजतक में कहा कि विपक्ष अगर मनरेगा (MNREGA) का क्रेडिट लेना चाहता है, तो उसकी धांधलियों का भी श्रेय ले. उन्होंने कहा कि उनका मनरेगा गलतियों का नमूना था और हमने इसे ठीक किया.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से पूछा गया था कि सरकार ने हाल में मनरेगा में 22,000 करोड़ रुपये का आवंटन बढ़ाया है. निचले स्तर पर रोजगार है नहीं इसलिए सरकार मनरेगा के माध्यम से इसे साधने की कोशिश कर रही है. विपक्ष का कहना है कि मोदी सरकार उनकी लाई मनरेगा को उनकी ‘नाकामियों का नमूना’ कहती थी, लेकिन अब सरकार को इसे ही आगे बढ़ाना पड़ रहा है.

‘यूपीए का मनरेगा गलतियों का ही नमूना’इस पर तीखा वार करते हुए निर्मला सीतारमण ने कहा, ‘यूपीए का मनरेगा, उस समय पर जितनी भी गलतियां थीं सरकार की उसका सच में नमूना था. अगर ऐसा नहीं होता तो कैग (CAG) अपनी रिपोर्ट में क्यों इतना विस्तृत रूप से अदृश्य खातों (Ghost Account), किसको पैसा जा रहा है उसके कोई अता-पता नहीं होने और जिसको पैसा गया उसके अयोग्य होने के बारे में बात करता. headtopics.com

जज पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली पूर्व अधिकारी की बहाली की मांग, विरोध में हाईकोर्ट

‘खुद के लोगों का पेट भरने का उदाहरण’उन्होंने कहा कि इस तरह मनरेगा अच्छा उदाहरण है कि एक सिस्टम बनाओ, उससे अपने लोगों का फायदा कराओ और उसके बाद चले जाओ और जो नुकसान हुआ है उसका भरपाई अगली सरकार करे. विपक्ष या यूपीए को इसका श्रेय तो लेना है कि मनरेगा वो लाए, लेकिन उसकी गलतियों और उसमें हुए भ्रष्टाचार को अपनाने से वो बचते हैं. अगर उन्हें मनरेगा का श्रेय लेना है तो उसकी धांधलियों को भी स्वीकार करें.

‘कोविड आने तक कर चुके थे मनरेगा की सफाई’वित्त मंत्री ने कहा कि कोविड महामारी के आने तक हम मनरेगा की सफाई कर चुके थे. पेमेंट डीबीटी से हो रहा था, बिचौलियों को हटाया जा चुका था. तो कोरोना काल में हम उसका उपयोग सिर्फ इसलिए नहीं कर सकते क्योंकि वो यूपीए लेकर आया. नहीं तो हम उसका उपयोग कर सकते हैं, लेकिन बिना उनकी गलतियों को अपनाए.

और पढो: AajTak »

अगला राष्ट्रपति कौन: फिर सरप्राइज कर सकते हैं पीएम मोदी, 4 नाम सबसे ज्यादा चर्चा में

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 25 जुलाई 2022 को खत्म हो रहा है। पांच महीने बाद राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इससे पहले BJP और RSS के भीतर राष्ट्रपति पद के प्रत्याशियों के नामों को लेकर मंथन शुरू हो चुका है। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर के विधानसभा चुनाव के बाद नामों पर मंथन और तेज हो जाएगा। | Presidential Election Candidate 2022; राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 25 जुलाई 2022 को खत्म हो रहा है। पांच महीने बाद राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। और पढो >>

मीडिया 12 घंटों के लिए “ईमानदार” हो जाए तो भाजपा की “तेरहवीं” हो जाएगी! 🤔🤔 क्यो आपने रोक दिया क्या मैडम। Notebandi ka corona ka chowkidaar chor hai k Ghapla ki jimmedaari le rhe ho aap

आत्मनिरीक्षण का अवसर का भी है भारत की आजादी का अमृत महोत्सववर्तमान की उपलब्धियों और सीमाओं को ध्यान में रखकर देश के भविष्य पर विचार करते समय हमारा ध्यान देश को आत्मनिर्भर बनाने पर जाता है। इस लक्ष्य को पाने के लिए स्वदेशी का विचार स्वधर्म के रूप में उभर कर आता है जो सकारात्मक कार्यसंस्कृति को संभव कर सकता है।

BSNL की 4G लॉन्चिंग का हुआ एलान, क्या प्राइवेट कंपनियों का साथ छोड़ेंगे ग्राहकBSNL ने कहा है कि वह सितंबर 2022 तक पूरे देश में 4G लॉन्च करेगा। BSNL की ओर से ये बातें संसद में कही गई है। BSNL को अपनी 4जी सर्विस से Bsnl Lao Desh Bachao जल्दी करो भाई Bsnl में आना है फिर 4g se kya hota he itne bure network he inke

ओमिक्रॉन का खतरा: 12 माह, 20 बैठकें, फिर भी जीनोम सीक्वेंसिंग पर राज्यों का ध्यान नहींओमिक्रॉन का खतरा: 12 माह, 20 बैठकें, फिर भी जीनोम सीक्वेंसिंग पर राज्यों का ध्यान नहीं Omicron Covid19 MoHFW_INDIA

आज का इंफोग्राफिक: पेरिस या सिंगापुर नहीं, इजराइल का तेल अवीव है दुनिया सबसे महंगा शहरWhat Is The Most Expensive City In The World 2021? पेरिस या सिंगापुर नहीं, इजराइल का तेल अवीव है दुनिया सबसे महंगा शहर, सीरिया की राजधानी दमिश्क रहने के लिहाज से दुनिया का सबसे सस्ता शहर है।

देश का सबसे लंबा गंगा-एक्सप्रेसवे का निर्माण करेगा अडानी समूहजानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस महीने के अंत में इस एक्सप्रेसवे का शिलान्यास कर सकते हैं। वहीं उत्तर प्रदेश में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव भी होने हैं। मालिक के मालिक को कैसे मना कर सकते हैं जोगी ?

कोविड-19 का ओमीक्रॉन प्रकार अभी बड़ी चिंता का विषय नहीं: दक्षिण अफ्रीकी मेडिकल एसोसिएशन अध्यक्षदक्षिण अफ्रीकी मेडिकल एसोसिएशन की अध्यक्ष एंजेलिक कोएट्ज़ी ने कहा कि कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रॉन के मरीज़ों में हल्के लक्षण दिखाई दे रहे हैं. हालांकि इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता है कि इसके गंभीर मामले भी आ सकते हैं.