Madhyapradesh, Hospital, Pregnantwoman, Makeshiftstrecher, Madhya Pradesh News, Mp News, Pregnant Woman, Barwani District, Madhya Pradesh Cm, Shivraj Singh Chouhan, मध्यप्रदेश, Madhya Pradesh News İn Hindi, Latest Madhya Pradesh News İn Hindi, Madhya Pradesh Hindi Samachar

Madhyapradesh, Hospital

मध्यप्रदेश: गर्भवती महिला को स्ट्रेचर पर लादकर 8 किमी दूर अस्पताल पहुंचे परिजन

मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले में एक 20 साल की गर्भवती महिला को उसके रिश्तेदार आठ किमी चलकर एक अस्थायी स्ट्रेचर पर अस्पताल

24-07-2021 21:52:00

मध्यप्रदेश : गर्भवती महिला को स्ट्रेचर पर लादकर 8 किमी दूर अस्पताल पहुंचे परिजन MadhyaPradesh Hospital Pregnantwoman Makeshiftstrecher ChouhanShivraj

मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले में एक 20 साल की गर्भवती महिला को उसके रिश्तेदार आठ किमी चलकर एक अस्थायी स्ट्रेचर पर अस्पताल

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कुछ लोग जिले के खमघाट गांव से रानीकाजल तक कपड़े और बांस की डंडियों से बने स्ट्रेचर को महिला के कंधों पर लिए हुए दिखाई दे रहे हैं। बाद में उनकी पहचान महिला के परिवार के सदस्यों और ग्रामीणों के रूप में हुई। यह घटना गुरुवार की है।

सोनू सूद ने 20 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी की: आयकर विभाग - BBC News हिंदी कैप्टन अमरिंदर सिंह क्या पंजाब कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी चुनौती बन सकते हैं - BBC News हिंदी कैप्टन अमरिंदर सिंह ने NDTV से कहा- सिद्धू पाकिस्तान समर्थक, उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता

एक ग्रामीण राय सिंह ने कहा कि महिला को इलाज के लिए खमघाट से रानीकाजल तक आठ किमी तक ले जाना पड़ा। हमारे यहां से पनसेमल अस्पताल करीब 20 किमी दूर है।आगे ग्रामीण राय सिंह ने बताया कि हम लंबे समय से अपने गांव से सड़क के निर्माण के लिए आवेदन कर रहे हैं, लेकिन किसी ने भी हमारी कोई बात नहीं सुनी है और न कोई कार्रवाई आगे बढ़ी है। सड़क के अभाव में, वाहन गांव तक नहीं पहुंच पाते और एक अस्पताल तक पहुंचना मुश्किल है।

पनसेमल के ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर (बीएमओ) डॉ अरविंद किराडे ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों ने महिला के परिवार को उसे सरकारी अस्पताल ले जाने के लिए प्रोत्साहित किया था।महिला के इलाज के बारे में पूछने पर डॉ किराडे ने कहा खमघाट से रानीकाजल तक मोटर योग्य सड़क नहीं होने के कारण ग्रामीणों और परिवार के सदस्यों को उसे ले जाना पड़ा। उसका पनसेमल अस्पताल में इलाज चल रहा है। headtopics.com

जब वायरल वीडियो के बारे में जिला पंचायत के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) ऋतुराज सिंह से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह संबंधित विभाग के साथ सड़कों का मुद्दा उठाएंगे।सीईओ ऋतुराज सिंह ने कहा कि वन गांवों में सड़क निर्माण के लिए संबंधित अधिकारियों से अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) प्राप्त करना मुख्य समस्या है। मैं प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत सड़क निर्माण के लिए संबंधित विभाग से बात करूंगा।

विस्तार लेकर आए। अजीब बात ये रही सड़क मोटर वाहन चलने के योग्य नहीं है। इस कारण महिला को बांस और कपड़े के स्ट्रेचर पर अस्पताल लाया गया।विज्ञापनसोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कुछ लोग जिले के खमघाट गांव से रानीकाजल तक कपड़े और बांस की डंडियों से बने स्ट्रेचर को महिला के कंधों पर लिए हुए दिखाई दे रहे हैं। बाद में उनकी पहचान महिला के परिवार के सदस्यों और ग्रामीणों के रूप में हुई। यह घटना गुरुवार की है।

एक ग्रामीण राय सिंह ने कहा कि महिला को इलाज के लिए खमघाट से रानीकाजल तक आठ किमी तक ले जाना पड़ा। हमारे यहां से पनसेमल अस्पताल करीब 20 किमी दूर है।आगे ग्रामीण राय सिंह ने बताया कि हम लंबे समय से अपने गांव से सड़क के निर्माण के लिए आवेदन कर रहे हैं, लेकिन किसी ने भी हमारी कोई बात नहीं सुनी है और न कोई कार्रवाई आगे बढ़ी है। सड़क के अभाव में, वाहन गांव तक नहीं पहुंच पाते और एक अस्पताल तक पहुंचना मुश्किल है।

पनसेमल के ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर (बीएमओ) डॉ अरविंद किराडे ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों ने महिला के परिवार को उसे सरकारी अस्पताल ले जाने के लिए प्रोत्साहित किया था।महिला के इलाज के बारे में पूछने पर डॉ किराडे ने कहा खमघाट से रानीकाजल तक मोटर योग्य सड़क नहीं होने के कारण ग्रामीणों और परिवार के सदस्यों को उसे ले जाना पड़ा। उसका पनसेमल अस्पताल में इलाज चल रहा है। headtopics.com

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी के डीजीपी से क्यों कहा कि तैयारी करिए और फिर अदालत आइये - BBC News हिंदी MP: फिर बोलीं उमा भारती, 'मध्य प्रदेश में शराबबंदी करवा कर रहूंगी' UP Tak Baithak: आप सांसद संजय सिंह बोले- दिल्ली में हमने गुड गवर्नेंस पर चुनाव जीता था, यहां भी ऐसे ही जीतेंगे

जब वायरल वीडियो के बारे में जिला पंचायत के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) ऋतुराज सिंह से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह संबंधित विभाग के साथ सड़कों का मुद्दा उठाएंगे।सीईओ ऋतुराज सिंह ने कहा कि वन गांवों में सड़क निर्माण के लिए संबंधित अधिकारियों से अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) प्राप्त करना मुख्य समस्या है। मैं प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत सड़क निर्माण के लिए संबंधित विभाग से बात करूंगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

अलका लांबा के बोल: पति की संपत्ति हड़पने वाली, बाजारू औरत और न जाने क्या-क्या सुनना पड़ा, पर पॉलिटिक्स में डटी रही

मैं महिला थी इसलिए सदन में बाजारू कहा गया, मैं महिला थी इसलिए पति की संपत्ति हड़पने वाली कहा गया, मैं सिंगल मदर हूं, इसलिए दुनिया के सामने मातृत्व का सबूत देना पड़ता है, पुरुषों से भरी राजनीति से तंग आई तो घर में खुद को सिकोड़ने की कोशिश भी की, लेकिन पार्टी ने मुझे घर में रहने नहीं दिया और फिर से कांग्रेस में सक्रिय हुई। पिछले 27 सालों से राजनीति में सक्रिय अलका लांबा ने ये बातें भास्कर वुमन से सा... | अलका लांबा राजनीति में एक बड़ा नाम हैं, लेकिन यहां तक पहुंचने का सफर कांटों से भरा रहा। आज बात अलका लांबा के निजी और राजनीतिक सफर की।

ChouhanShivraj Ye hai Mama ji ke MP mei Pregnant woman ka Hal

Fact Check: 'RSS की महिला द्वारा पाकिस्तानी पहलवान को चित करने' का वीडियो फिर हुआ वायरल, जानिए सच्चाईसोशल मीडिया पर महिला रेसलिंग का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में रेसलिंग रिंग में एक महिला पहलवान कुछ चिल्लाती नजर आ रही है। उसकी आवाज साफ सुनाई तो नहीं दे रही है, लेकिन वह शायद दूसरों को ललकार रही है। इसके बाद दर्शकों के बीच से केसरिया रंग की सलवार-सूट पहने एक लड़की अखाड़े में उतरती है और चंद मिनटों में ललकारने वाली महिला पहलवान को धूल चटा देती है। दावा किया जा रहा है कि वीडियो में दिख रही महिला रेसलर पाकिस्तानी है। इसने RSS की दुर्गा वाहिनी की महिला संध्या फडके को रिसलिंग के लिए चैलेंज किया, जिसके बाद उसे मुंह की खानी पड़ी।

Bihar Crime : जहानाबाद में भारी बवाल, पब्लिक की पुलिस से आमने-सामने भिड़ंत, महिला हवलदार की गई जानजहानाबाद जहानाबाद-अरवल रोड रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। परसबिगहा थाना क्षेत्र के नेहालपुर के पास लोगों ने जमकर बवाल किया। उग्र भीड़ ने पुलिस पर हमला बोल दिया। पत्थरबाजी के साथ फायरिंग भी की गई। आखिरकार पुलिस को भागना पड़ा। इस अफरा-तफरी में एक महिला हवलदार भीड़ में फंस गई। वहां से निकलने के दौरान किसी गाड़ी की चपेट में आ गईं, जिससे उनकी मौत हो गई। महिला हवलदार की मौतएक कैदी की मौत के बाद लोग इतने गुस्से में थे कि सबकुछ बर्बाद करने पर तुले थे। आखिरकार एक महिला हवलदार की जान चली गई। पत्थर से लेकर गोली तक बरसाए गए। पुलिस ने वहां से पीछे हटना ज्यादा मुनासिब समझा। इस दौरान भीड़ में फंसी एक महिला हवलदार पर गुस्साए लोग पत्‍थर चलाने लगे। भागने के दौरान किसी गाड़ी से दुर्घटना में हवलदार की मौत हो गई। महिला हवलदार खगड़‍िया जिले की रहने वाली थीं। उग्र भीड़ ने पुलिस की गाड़ी को भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्‍त कर दिया। घटना से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। पूरा एरिया छावनी में तब्‍दील कर दिया गया है। कैदी की मौत से गुस्सादरअसल परस बीघा थाने के सरसा गांव के रहनेवाले गोविंद मांझी को शराब मामले में 19 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था। उसे औरंगाबाद जिले के दाउदनगर जेल में रखा गया था। वहां शुक्रवार देर रात उसकी मौत हो गई। बताया गया कि गुरुवार को गोविंद की तबीयत खराब होने के बाद दाउदनगर अस्पताल में इलाज चल रहा था। लेकिन शुक्रवार को आधीरात के बाद उसकी तबीयत अचानक बिगड़ने लगी और मौत हो गई। परिजन जब शव लेकर गांव पहुंचे तो रोड को जाम कर दिया। इसके बाद पूरा बवाल जानलेवा साबित हुआ। पुलिस ने की हवाई फायरिंगपुलिस जाम को हटाने और लोगों को समझाने-बुझाने में लगी थी। तभी भीड़ ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। पुलिसवाले वहां से भागने में अपनी भलाई समझे। मगर हवलदार शांति देवी भीड़ में फंस गईं। महिला पुलिस कर्मी पर भीड़ ने हमला बोल दिया। जान बचाकर भागने के दौरान किसी गाड़ी की चपेट में आ गईं। एसडीपीओ एके पाण्डेय ने मीडिया को बताया कि उग्र भीड़ ने ईंट-पत्‍थर के साथ हथियारों से हमला किया है। भीड़ ने फायरिंग भी की थी, जिसके बाद पुलिस को भी हवाई फायरिंग करनी पड़ी। इस बवाल में हमले में कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। एसपी दीपक रंजन के मुताबिक पांच उपद्रवियों को गिरफ्तार किया गया है। वीडियो फुटेज को खंगाला जा रहा है। किसी को NBT Hindi News सोशल मीडिया के मेरे फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पेज को लाइक और फॉलो करे फेसबुक - इंस्टाग्राम - ट्विटर - व्हाट्सएप्प - समीर श्रीवास्तव रिहायशी इलाको में खुली लाइब्रेरी जहा सब स्टूडेंट्स व लाइब्रेरी के मालिक बिना किसी कोरोना गाइडलाइन्स की अनुपालना करे स्वयं व आस पास के लोगो को ला रहे कोरोना के चंगुल में , महेश नगर सैनी कॉलोनी -II में खुल रही है , निवेदन है की इस पर सख्त कारवाई की जावे.

'प्रेस रौंदने को हर दिन कदम बढ़ा रही सरकार, ये संकेत इसका है कि क्या-क्या खत्म हो चुका'रवीश कुमार ने फेसबुक पर लिखा कि सरकार प्रेस को रौंदने की तरफ आगे बढ़ रही है। उन्होंने दैनिक भास्कर और भारत समाचार पर रेड को गलत ठहराया। बताइए मोदी जी ज़ी न्यूज़ को भी नहीं छोड़े सोशल मीडिया में लिबरल रो रहा है ज़ी न्यूज के छापे पर सोशल मीडिया में लिबरल ओं का उबाल कहीं कोई उबाल नहीं है सब चील्ड व कुल है। अपने चश्मे का नंबर बदलो

ऑस्कर फर्नांडीस को देखने हॉस्पिटल पहुंचे सिद्धारमैया और शिवकुमार, योग करते वक्त घर में गिरे थेऑस्कर फर्नांडीस की सेहत (Oscar Fernandes Health News) का हाल जानकर कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा था कि डॉक्टर्स ने कहा है कि वे दो से तीन दिनों तक उनकी स्थिति को देखने के बाद आगे का इलाज तय करेंगे.

महिला बन फ़्लाइट पर चढ़ा कोरोना संक्रमित, फिर क्या हुआ? - BBC News हिंदीकोरोना पॉज़िटिव एक शख़्स सिक्योरिटी को चकमा देने के लिए भेस बदलकर एयरपोर्ट पहुंच गया. एलिजाबेथ पर चढ गया बुर्का मुक्त विश्व हो

दलाई लामा के घर पहुंचे चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, अगले लामा पर तिब्बतियों को साधने की कोशिश?नए दलाई लामा को चयन को लेकर तिब्बतियों को मनाने के लिए शी जिनपिंग ने ल्हासा का अचानक दौरा किया है। इस दौरान वे दलाई लामा का घर कहे जाने वाले पोटाला पैलेस भी गए। नए दलाई लामा के चयन पर चीन का अमेरिका और भारत के साथ विवाद है। Another Communist Fraud is in the making in Tibet.Every Communist fraud is destroying Tibet every day. Most of the Tibet cultural traditions have been decimated by force. Chinese Prisoners are either forced to work free in factories or marry Tibetan women to change the demography Dangerous Dragon