Manipurjournalist, Kishorechandrawangkhem, Nsa, Cowdung, मणिपुरपत्रकार, किशोरचंद्रवांगखेम, एनएसए, गोबर

Manipurjournalist, Kishorechandrawangkhem

मणिपुर: ‘गोबर से कोविड का इलाज न होने’ की बात कहने के चलते जेल में डाले गए पत्रकार रिहा

मणिपुर: ‘गोबर से कोविड का इलाज न होने’ की बात कहने के चलते जेल में डाले गए पत्रकार रिहा #ManipurJournalist #KishorechandraWangkhem #NSA #CowDung #मणिपुरपत्रकार #किशोरचंद्रवांगखेम #एनएसए #गोबर

24-07-2021 04:00:00

मणिपुर: ‘ गोबर से कोविड का इलाज न होने’ की बात कहने के चलते जेल में डाले गए पत्रकार रिहा ManipurJournalist KishorechandraWangkhem NSA CowDung मणिपुरपत्रकार किशोरचंद्रवांगखेम एनएसए गोबर

मणिपुर के पत्रकार किशोरचंद्र वांगखेम ने भाजपा अध्यक्ष एस. टिकेंद्र सिंह की कोविड-19 महामारी से निधन के बाद फेसबुक पर एक व्यंगात्मक पोस्ट करते हुए लिखा था कि गोमूत्र और गोबर काम नहीं आया. बीते मई महीने में गिरफ़्तारी के तुरंत बाद उन्हें ज़मानत मिल गई थी, लेकिन प्रशासन ने उन्हें जेल में डालकर एनएसए लगा दिया था.

था कि ‘गोमूत्र और गाय का गोबर कोई काम नहीं आया.’वहीं जाने-माने कार्यकर्ता लीचोम्बाम ने भाजपा नेता के निधन पर शोक व्यक्त किया, लेकिन साथ ही उन्होंने कोरोना के इलाज के लिए ‘गोमूत्र और गोबर’ जैसी चीजों को बढ़ावा देने के लिए पार्टी पर हमला भी बोला.उन्होंने लिखा, ‘कोरोना का इलाज गोमूत्र और गाय के गोबर से नहीं होगा. इसका इलाज विज्ञान और कॉमन सेंस है.’

Corona काल में बंद थी कोचिंग, IAS टॉपर Shubham Kumar ने बताया अपनी तैयारी का मंत्र राजस्थान: REET परीक्षा में डमी कैंडिडेट बिठाने वाले गिरोह का खुलासा, 2 सरकारी शिक्षक अरेस्ट महाराष्ट्र: पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने किया बड़ा दावा, बोले- सत्ता में आने के लिए भाजपा को मिलेगा एक और मौका

वांगखेम की पत्नी रंजीता एलेंगबाम ने 22 जुलाई को मणिपुर हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश संजय कुमार के सामने याचिका दायर कर मांग की थी कि एरेन्द्रो लीचोम्बाम की तरह उनके पति को भी रिहा किया जाए, क्योंकि दोनों एक ही मामले में जेल भेजे गए थे.इसे लेकर जस्टिस कुमार की अगुवाई वाली दो जजों की पीठ ने 23 जुलाई को मामले की सुनवाई की और कहा कि लीचोम्बाम और वांगखेम मामले में कोई अंतर नहीं है. दोनों एक ही तरह के फेसबुक पोस्ट के लिए गिरफ्तार किए गए थे, इसलिए सुप्रीम कोर्ट के अंतरिम आदेश को ध्यान में रखते हुए वांगखेम को भी रिहा किया जाए.

न्यायालय ने कहा कि याचिकाकर्ता के पति को अभी भी जेल में रखना संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत जीवन के अधिकार का उल्लंघन होगा.हाईकोर्ट ने यह भी कहा कि वैसे तो ऐसे मामलों में पहले वे नोटिस जारी करते हैं, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने पहले इस मामले पर अपनी राय दे दी है, इसलिए इस प्रक्रिया के पालन की जरूरत नहीं है. headtopics.com

इस आधार पर कोर्ट न 17 मई को मणिपुर सरकार द्वारा वांगखेम के खिलाफ लगाए गए एनएसए के आरोप को अगली सुनवाई तक के लिए खारिज कर दिया.यह पहली बार नहीं है जब एन. बीरेन सिंह की सरकार एरेन्द्रो या किशोरचंद्र के पीछे पड़ी है. जुलाई 2020 में, राज्य पुलिस ने फेसबुक टिप्पणी के लिए एरेन्द्रो के खिलाफ राजद्रोह (124 ए) का मामला दर्ज किया था.

पुलिस ने संबंधित पोस्ट का खुलासा नहीं किया था, लेकिन यह संदेह है कि एरेन्द्रो लीचोम्बाम को उस पोस्ट के कारण निशाना बनाया गया था, जिसमें मणिपुर के पूर्व राजा और भाजपा के समर्थन से नवनिर्वाचित राज्यसभा सदस्य संजौबा लिसेम्बा की तस्वीर थी.उस तस्वीर में लिसेम्बा झुककर शीर्ष भाजपा नेता अमित शाह का अभिवादन करते नजर आ रहे थे और उसके साथ एरेन्द्रो ने ‘मिनाई माचा’ लिखा था, जिसका अर्थ है ‘नौकर का बेटा.’

इससे पहले मणिपुर में भाजपा नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार के तीखे आलोचक एरेन्द्रो कोमई 2018 में फेसबुक पेज पर एक वीडियो पोस्ट करने के कारण गिरफ्तार कर लिया गया था.पुलिस ने दावा किया था कि वीडियो विभिन्न समूहों बीच दुश्मनी और आपराधिक धमकी को बढ़ावा देने वाला है. इसके बाद जून 2018 के पहले सप्ताह में उन्हें एक स्थानीय अदालत से जमानत मिल गई थी.

वहीं, यह तीसरा मौका है जब वांगखेम को गिरफ्तार किया गया था. इससे पहले उन्हें दो बार जेल हो चुकी है. उन पर राजद्रोह और एसएसए कानून के तहत भी धाराएं लगाई गई हैं.किशोरचंद्र को नवंबर 2018 में एक यूट्यूब वीडियो के लिए गिरफ्तार किया गया था जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आरएसएस की आलोचना की थी. मणिपुर हाईकोर्ट ने उन्हें अप्रैल 2019 के पहले सप्ताह में headtopics.com

PM Modi-Joe Biden की मुलाकात, White House के बाहर उत्सव जैसा माहौल, देखें IPL 2021 RR vs DC Match Live Score: राजस्थान की बेहतरीन शुरुआत, धवन के बाद शॉ भी सस्ते में आउट हैवानियत: महिला पुलिस कांस्टेबल से नीमच में सामूहिक दुष्कर्म, पांच के खिलाफ केस दर्ज, दो गिरफ्तार

रिहा कर दिया था.फिर दिसंबर 2020 में, उन्हें एक सोशल मीडिया पोस्ट में राजद्रोह और विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने के आरोप में दो महीने जेल में रहने के बाद एक बार फिर जेल से रिहा कर दिया गया था. और पढो: द वायर हिंदी »

टेम्पो ड्राइवर की बेटी बनीं ओपनर बल्लेबाज: नागौर की संध्या 7 साल पहले पिता के साथ पहुंची हैदराबाद, स्टेडियम में मैच देखा तो क्रिकेट खेलना शुरू किया, अब हैदराबाद टीम के लिए खेलेगी

नागौर जिले के छोटे से गांव तामड़ोली की 14 साल की संध्या गौरा का बीसीसीआई के अंडर-19 विमन वनडे टूर्नामेंट में चयन हुआ है। संध्या हैदराबाद टीम के लिए खेलेगी। 3 सितंबर को हैदराबाद स्थित राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में हुए ट्रायल में संध्या का सिलेक्शन बतौर ओपनर बल्लेबाज किया गया। | Nagaur's evening reached Hyderabad with father 7 years ago, sat in the auto and watched the match, only then I would play in Thana too; Now the 28th match will land on the pitch

महाराष्ट्र में बारिश से 41 की मौत: रायगढ़ में लैंडस्लाइड से 36 लोगों की जान गई, 70 से ज्यादा लापता; मुंबई में इमारत गिरने से 5 मरेभारी बारिश की वजह से महाराष्ट्र के कोल्हापुर, रायगढ़, रत्नागिरी, पालघर, ठाणे और नागपुर के कुछ हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है। बारिश के चलते हुए हादसों में 41 लोगों की जान गई है। रायगढ़ के तलई गांव में भारी बारिश की वजह से पहाड़ का मलबा गिर पड़ा। इसके नीचे 35 घर दब गए। इस हादसे में 36 लोगों की मौत हो गई है, 70 से ज्यादा लोग लापता हैं। | Maharashtra Rain Flood Pune Mumbai Raigadh Ratnagiri Kolhapur Latest news and Updates

कोरोना वायरस: केंद्र के ही अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से मरने वालों का रिकॉर्ड नहींकोरोना वायरस: केंद्र के ही अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से मरने वालों का रिकॉर्ड नहीं Coronavirus OxygenShortage Covid19Deaths mansukhmandviya MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI mansukhmandviya MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI This is the way, the government manipulates the things. mansukhmandviya MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI सच को कितना भी छुपाने की कोशिश कर ले हिटलर सरकार सच कभी दब नही सकता चौकीदार झूठा है DainikBhaskar bstvlive brajeshlive priyankagandhi SoniaGhandhiIND SoniaGandhiIND AcharyaPramodk narendramodi 09LJTVSDFjPwncR RahulGandhi ravishndtv BBCWorld BBCNews mansukhmandviya MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI BJP का एक-एक कदम BJP की भविष्य की राजनीति तय करेगा। निजीकरण-UP में 1600 शिक्षकों की मौत,700 किसानों की मौत। Oxygen की कमी से कोई मौत नहीं हुई, Father Stan Swamy की मौत, अयोध्या ज़मीन घोटाला, Pegasus जासूसी कांड, Danik Bhaskar अखबार पर छापा।

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान की जीत के पीछे जंग से ज़्यादा राजनीति, बोले अफ़ग़ान सलाहकार - BBC Hindiअफ़ग़ानिस्तान सरकार के एक बड़े सलाहकार ने कहा है हाल के समय में तालिबान की लगातार जीत की वजह लड़ाई नहीं बल्कि राजनीति है. 👍 तो जाओ UNO पाक पर लगवाओ परतिबनध!

फोन से डूम स्क्रोलिंग की बीमारी: कोरोना के दौर में बुरी खबरें लगातार देखने की लत से डिप्रेशन का शिकार हो रहे लोग, जानिए इस मनोरोग से बचने के तरीकेकोरोना महामारी लोगों को आर्थिक और मानसिक दोनों तरह से प्रभावित कर रही है। इंटरनेट पर कोरोना से जुड़ी खबरें लगातार देखने का असर लोगों की मेंटल हेल्थ पर भी हो रहा है। महामारी का मेंटल हेल्थ से जुड़ा एक प्रभाव है डूम स्क्रोलिंग या डूम सर्फिंग। | Continuously Watching News Related To Covid Impact Mental Health Amid Pandemic हम में से बहुत से लोग महामारी से संबंधित खबरों और इससे जूझ रहे लोगों से जुड़ी खबरें लगातार पढ़ने या देखने से खुद को रोक नहीं पाते हैं। कुछ नई इंफॉर्मेशन जानने के लिए लोग लगातार दूसरी वेबसाइट और चैनल चेक करते रहते हैं।

असर: कोरोना महामारी से दुनियाभर में 15 लाख से अधिक बच्चे हुए अनाथअसर: कोरोना महामारी से दुनियाभर में 15 लाख से अधिक बच्चे हुए अनाथ Coronavirus OrphanedChildrens Covid19Deaths ICMRDELHI mansukhmandviya MoHFW_INDIA ICMRDELHI mansukhmandviya MoHFW_INDIA 💔

रिपोर्ट में खुलासा: इस वर्ष तकनीक के जरिये धोखाधड़ी के सबसे ज्यादा शिकार बने भारतीयमाइक्रोसॉफ्ट की ग्लोबल टेक सपोर्ट स्कैम रिसर्च की रिपोर्ट के अनुसार भारत में 2021 में ऐसे मामलों की संख्या 69 प्रतिशत के