Corona Virus, Laborers, Students, Landlords, Rent

Corona Virus, Laborers

मजदूरों-छात्रों से एक माह तक किराया नहीं ले सकेंगे मकान मालिक, गृह मंत्रालय का आदेश

आदेश में कहा गया है कि अगर किसी मकान मालिक ने ऐसे कामगारों या छात्रों पर किराया देने के लिए दबाव बनाया या फिर उनसे जबरन मकान खाली कराने की कोशिश की तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी

29-03-2020 19:58:00

आदेश में कहा गया है कि अगर किसी मकान मालिक ने ऐसे कामगारों या छात्रों पर किराया देने के लिए दबाव बनाया या फिर उनसे जबरन मकान खाली कराने की कोशिश की तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी

दिल्ली, नोएडा जैसे शहरों में रहने वाले गरीब तबके के मजदूरों और कामगारों को लेकर सरकार ने यह महत्वपूर्ण फैसला किया है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आदेश जारी कर कहा है कि कोरोना वायरस से महामारी फैलने के दौरान ऐसे लोगों से कोई भी मकान मालिक एक महीने तक किराया नहीं ले सकेंगे.

दिल्ली, नोएडा जैसे देश के अन्य शहरों में रहने वाले गरीब तबके के मजदूरों और कामगारों को लेकर केंद्र सरकार ने महत्वपूर्ण फैसला किया है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आदेश जारी कर कहा है कि कोरोना वायरस से महामारी फैलने के दौरान ऐसे लोगों से कोई भी मकान मालिक एक महीने तक किराया नहीं ले सकेंगे.

योगी आदित्यनाथ का वो बयान जिस पर मच रहा है सियासी घमासान 2 महीने बाद शुरु हुई घरेलू उड़ान, देखें कैसा था पहला दिन कोरोना: क्या मुंबई बन जाएगा ग्लोबल हॉटस्पॉट? देखें स्पेशल रिपोर्ट

आदेश में आगे कहा गया है कि अगर किसी मकान मालिक ने ऐसे कामगारों या छात्रों पर किराया देने के लिए दबाव बनाया या फिर उनसे जबरन मकान खाली कराने की कोशिश की तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.बता दें कि शनिवार को दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर अपने-अपने गांव और शहर जाने के लिए ऐसे लोगों की भारी भीड़ इकट्ठी हो गई थी जिससे प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए थे. लोगों से जब इसका कारण पूछा गया तो ज्यादातर लोगों ने कहा कि काम बंद हो जाने की वजह से उनके पास किराया देने और खाने के लिए पैसा नहीं है इसलिए वो अपने गांव लौट जाना चाहते हैं.

और पढो: आज तक »

Varanasi me rhne walo ke liye v h ye Ye real news h ya fake The thing is, this information should reach to these people who actually don't have smart phone or even phone.We should install information boot to guide them in there local language and suggest them govt provide all necessary help which they want.But stay at home,do not migrate.

Kejriwal 3 month tk mana kar rahe hain wo bol rahe hain ki garib nahi denge kiraya thum denge 3 mahine ka kiraya or amit shah sirf ek mahine ka mana kar rahe hain yehi antar hai padhe likhe logo me😔😔 कुछ भी अनाप शनाप बोल कर दिल्ली में भीड़ भाड़ करा दिया था अब कृपया स्टूडेंट्स के लिए कुछ रकम दीजिए, मकान मालिक सबल है जो भगा देगा। स्टूडेंट्स के खाते में ट्रांसफर कर दीजिए चैन से जीने दीजिए। तुगलकी फरमान मत करिए।

Thanks Good step !! Thora inke us kha na khilane wale jagah par bhi jayen..... Aur 4 lakh ko bhaga diya... Chal chal ke..... All government servants ko salary nahi leni chahiye ek mahine ki aur na politicians ko salary milni chahiye tum government wale tyag karo pehle 😠😠😠 electricity bill mt lo ek mahine ki !!!!water bill mt lo !!!! Makan ka tax mt lo !!! Aaj Tak news channel ne kitna donation diya?

ये बहुत बड़ा फर्क है मोदी जी और अमित शाह में। मोदी जी को पता है देश वासियो से क्या, कब और कैसे कहना है और लोग बखूबी मान भी लेते है अमित शाह को सीखना चाहिए कुछ जबरजस्ती इस देश मे कुछ करना मुश्किल है। किस कानून के तहर करवाई होगी कोर्ट पूछेगा तो क्या जवाब दीजियेगा? Good decision Kahi tum office ke building owner ko to nhi bata rhi

Namaskar, News m bataya ja rha h ki 3 months tk emi nhi pay krni but Home credit baar baar msg kr rhe h ki amount pay kro 3 apr ko due h emi sir taxi driver paise kha se lae koi strict action lijie emi 3 apr ki h paise kidr se lau sir help plz help AmitShah narendramodi ArvindKejriwal सही है आर्थिक तंगी है मगर मेरा बस एक सवाल है जो कि दिल्ली मुम्बई जौसे शहरों में बहुत से ऐसे लोग भी है जो किराये के पैसों पर ही जिंदा है यानी जिनकी आजीविका का साधन किराया ही हैं तो क्या govt उनके लिये भी कुछ प्रावधान करेगी?

Sanp nikal gaya, abhi lathi peet rahe hai.... Aap media se mera nivedan hai ki kejriwal ji press conference par nahi .Delhi ki janta se jakar inke kam ko dikhaye pls .asaliyat kuch aur hai. Meh vh Keraya makan meh rehta hu.. 😞... बहुत बढ़िया।। Aadesh kha h... दान दे जनता ओर बंटे मोदी किट के नाम से !! वाह अब अपनी वाह वही वोह भी दानी सज्जनो के सिर

पर अब तो दिल्ली खाली हो चुकी है ये अच्छा क़दम है। अच्छा कार्य जरा कैमरा वहा भी ले जाए जहां કેજરીવાલ 4lakh लोगों को खाना खिलाते हे

दंगल: क्या मजबूर मजदूरों के पलायन से भारत जीत पाएगा कोरोना से जंग?कोरोना को हराना है तो लॉकडाउन को मानना है. ये मंत्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बार-बार देशवासियों को समझा रहे हैं. हालांकि पिछले एक दो दिनों में कुछ घटनाएं ऐसी हुई है जिससे लॉकडाउन का लॉक थोड़ा ढीला करने की कोशिश हुई है लेकिन पूरे देश को ये समझना बेहद जरुरी है कि अगर कोरोना को हिंदुस्तान से बाहर खदेड़ना है तो 21 दिन के संपूर्ण लॉकडाउन का पालन करना ही होगा. केंद्र सरकार ने भी आज राज्य सरकारों को निर्देश जारी किया है कि लॉकडाउन के पालन के लिए सख्ती दिखाएं और जो भी इसका उल्लंघन करेगा उसे क्वारंटीन में भेजा जाएगा. कोरोना को हराने के लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग से ज्यादा कुछ भी जरुरी नहीं है क्योंकि कोरोना का कोई मेडिल इलाज इस वक्त दुनिया के पास नहीं है. देखिए दंगल. sardanarohit Majdoor jante h ki sarkar to adani ambani ki mulazim h usse ummeed nahi rk skta Anaj bhi 15 lakh ki treh hi aega sardanarohit अब देखते जाओ 14, 15 दिन में क्या-क्या होता है sardanarohit भक्क बाजी की भी हद होती है

#CoronaPositive: पंजाब में इस एप से हो रही है दवा से लेकर सब्जी तक की डिलीवरीइसी बीच HUMhain नाम एक मोबाइल एप पंजाब में काफी लोकप्रिय हो रहा है। लॉकडाउन के बीच लुधियाना में 'हम हैं' एप से घर-घर लोगों तक

पीएम मोदी से छिपा नहीं है मजदूरों का दर्द, लॉकडाउन पर मांगी माफीIndia News: प्रधानमंत्री मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में देशभर की जनता से इस लॉकडाउन और लोगों को होने वाली परेशानी के लिए माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि 130 करोड़ की आबादी में लोगों की जान बचाने के लिए यह कदम उठाना बेहद जरूरी हो गया था। बीमारी को शुरू में ही रोक लेने से नुकसान कम हो जाता है। Since Govt. Saying “stay where you are”.. why people are leaving !! They must stay where they are residing earlier.. why leaving instantly Govt. says Buses are ready it’s doesn’t mean “leaving”.. Kya fayda maafi mangne ka jb un majduro k liye kuch kr hi nhi rhe

भूख से बेहाल मजदूरों का लॉकडाउन में पलायन मजबूरी!कोरोना के लॉकडाउन में पूरे भारत को घर में रहने को कहा गया है. लेकिन बीते 3 दिनों में हजारों की तादाद में मजदूर सैंकड़ों किलोमीटर पैदल मार्च करके एक राज्य से दूसरे राज्य जाते देखे जा रहे हैं. ये वो दिहाड़ी मजदूर हैं जो रोजी-रोटी कमाने के लिए अपने-अपने गांवों से जाकर महानगरों में बसे हुए थे. लेकिन अब उन्हें लग रहा है कि वो महानगरों में रहे तो पेट कैसे भरेगा? कुछ के सामने तो रहने का संकट भी है क्योंकि कमाई नहीं तो उनका कोई ठिकाना नहीं बचा. भारत में दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, बैंगलुरू में बड़े पैमाने पर मजदूर दूसरे राज्यों से आते हैं. ये मजदूर ज्यादातर बिहार, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों से आते हैं. एक बड़ी आबादी है जो देश में रोजी-रोटी की तलाश में अपने गांव, अपने शहर को छोड़ती है. आज खबरदार में बात कुछ ऐसे ही मजदूरों की. SwetaSinghAT किसानों को राहत पैकेज के थ्रू सरकार किसान को अप्रैल में 2000 रु0 की पहली किश्त देगी, जबकि यह किश्त तो लगभग इस महीने में आने ही वाली थी। यदि सरकार वास्तव में किसानों को राहत दे रही है तो यही निधि 3नो महीने की एक साथ दे। ताकि किसान भी कुछ राहत महसूस करें। SwetaSinghAT बेबसी तो सब पर आ रही है जिसके पास नौकरी नही है उस पर भी आ रही है SwetaSinghAT Ye log ke liye sarkar ko kuch help karna padega

दिल्ली से घर को निकले मजदूरों ने बताया दर्द- कोरोना से बाद में मरते, भूख से पहले मर जाते, इसलिए पैदल ही चल पड़ेकोरोना संकट के बीच बंदी के चलते दिल्ली में दिहाड़ी मजदूरी करने वाले हजारों लोग पैदल ही अपने घरों की ओर रवाना हो गए हैं। यह सरकार और सरकारी सिस्टम से लोगों का उठा भरोसा है वरना साथ तो हर कोई देता

एक डर, जो वुहान से मेरे देश, दिल्ली और फिर सड़क के उस पार से होते हुए मुझ तक पहुंच गयानोएडा.मुश्किल से एक महीने पहले की बात है। मैं एक इंटरनेशनल पब्लिकेशन में छपी एक औरत की डायरी पढ़ रही थी। चीन के वुहान शहर की एक ऊंची इमारत के किसी फ्लैट में रह रही एक सिंगल वुमन की डायरी। | Delhi Coronavirus Latest News Updates On China Wuhan COVID 19 Virus; Know How Novel Virus Spead In Delhi

कोरोना संक्रमण: तब्लीग़ी जमात से जुड़े सवाल पर डॉ. हर्षवर्धन ने कहा- ''बहुत हुआ'' कोरोना वायरस: दिल्ली के सभी निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम्स में 20 प्रतिशत बेड कोविड-19 के लिए - BBC Hindi अपने लोगों को ही राज्य में घुसने नहीं दे रही योगी सरकार, संजय राउत का बीजेपी पर हमला OIC में पाकिस्तान को सऊदी और UAE से भी झटका, भारत को मिला समर्थन मजदूरों की मदद के नाम पर पब्लिस्टी स्टंट के आरोप, सोनू सूद ने द‍िया जवाब एक साल तक सैलरी से 50 हजार रुपये PM-CARES में दान करेंगे CDS बिपिन रावत ईद के दिन फिर दिल्ली की सड़कों पर निकले राहुल, टैक्सी ड्राइवर से जाना हाल कोरोना वायरस: वुहान की लैब में चमगादड़ों में मिले तीन तरह के वायरस- चीनी मीडिया - BBC Hindi Coronavirus India Updates: बीते 24 घंटे में कोरोना के सबसे ज्यादा 6,767 नए मामले, मरीज़ों का आंकड़ा 1,31,868 पहुंचा नांदेड़ में साधु की हत्या, आश्रम के अंदर घुसकर द‍िया गया वारदात को अंजाम बलबीर सिंह सीनियर का 95 की उम्र में निधन, भारत को दिलाए थे 3 ओलंपिक स्वर्ण