Gst, Petrolprice, Dieselprice, Gst Council, Petroleum Products, Petrol-Diesel Prices, Petroleum Products Gst, Petroleum Products Under Gst, Petroleum Products Comes Under Gst, Petro Products Under Gst, Goods And Services Tax, Gst Collection Updates, Latest Gst Announcements

Gst, Petrolprice

भास्कर एक्सप्लेनर: GST काउंसिल कर सकती है पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने पर विचार, ऐसा हुआ तो आपको कितना फायदा? सरकार को कितना नुकसान? जानें सबकुछ

भास्कर एक्सप्लेनर: #GST काउंसिल कर सकती है पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने पर विचार, ऐसा हुआ तो आपको कितना फायदा? सरकार को कितना नुकसान? जानें सबकुछ #petrolPrice #DieselPrice

16-09-2021 09:51:00

भास्कर एक्सप्लेनर: GST काउंसिल कर सकती है पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने पर विचार, ऐसा हुआ तो आपको कितना फायदा? सरकार को कितना नुकसान? जानें सबकुछ petrolPrice DieselPrice

कल लखनऊ में GST काउंसिल की मीटिंग है। कयास लगाए जा रहे हैं कि इस मीटिंग में पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स को GST के दायरे में लाए जाने पर विचार किया जा सकता है। कोरोना महामारी के बाद GST काउंसिल की यह पहली फिजिकल बैठक है। GST काउंसिल की इस 45वीं बैठक की अध्यक्षता वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी। | Petroleum Products (Petrol Diesel) Under Gst ; GST के दायरे में आने से केंद्र, राज्य और जनता पर क्या असर होगा? अगर पेट्रोलियम प्रोडक्ट GST के दायरे में आते हैं, तो किस तरह की व्यवस्था अपनाई जा सकती है?

भास्कर एक्सप्लेनर:GST काउंसिल कर सकती है पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने पर विचार, ऐसा हुआ तो आपको कितना फायदा? सरकार को कितना नुकसान? जानें सबकुछ3 घंटे पहलेलेखक: आबिद खानकॉपी लिंकवीडियोकल लखनऊ में GST काउंसिल की मीटिंग है। कयास लगाए जा रहे हैं कि इस मीटिंग में पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स को GST के दायरे में लाए जाने पर विचार किया जा सकता है। कोरोना महामारी के बाद GST काउंसिल की यह पहली फिजिकल बैठक है। GST काउंसिल की इस 45वीं बैठक की अध्यक्षता वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी।

‘मेरे कोविड वैक्सीन सर्टिफ़िकेट पर पीएम मोदी की तस्वीर क्यों है?’ - BBC News हिंदी Petrol-Diesel Price : तीन हफ्ते में पेट्रोल लगभग 5 रुपये और डीजल 6 रुपये तक हुआ है महंगा, देखें ताजा रेट आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल, NCB पर गभीर आरोप

जून में केरल हाईकोर्ट ने काउंसिल से आग्रह किया था कि वो पेट्रोलियम प्रोडक्ट को GST के दायरे में लाने पर विचार करें। हाईकोर्ट के आग्रह के बाद GST मंत्री समूह ने एक प्रस्ताव तैयार किया है। यदि मंत्री समूह में सहमति बनती है तो इस प्रस्ताव को GST काउंसिल को सौंपा जाएगा। फिर काउंसिल इस पर फैसला लेगी।

समझते हैं, अभी पेट्रोल-डीजल की कीमतें कैसे तय होती हैं? GST के दायरे में आने से केंद्र, राज्य और जनता पर क्या असर होगा? अगर पेट्रोलियम प्रोडक्ट GST के दायरे में आते हैं, तो किस तरह की व्यवस्था अपनाई जा सकती है? और इस फैसले को लागू करने में अड़चनें क्या हैं... headtopics.com

अभी कैसे तय होती हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें?जून 2010 तक सरकार पेट्रोल की कीमत निर्धारित करती थी और हर 15 दिन में इसे बदला जाता था, लेकिन 26 जून 2010 के बाद सरकार ने पेट्रोल को कीमतों का निर्धारण ऑइल कंपनियों के ऊपर छोड़ दिया।इसी तरह अक्टूबर 2014 तक डीजल की कीमत भी सरकार निर्धारित करती थी, लेकिन 19 अक्टूबर 2014 से सरकार ने ये काम भी ऑइल कंपनियों को सौंप दिया।

यानी कि पेट्रोलियम प्रोडक्ट की कीमत निर्धारित करने में सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है। ये काम ऑइल मार्केटिंग कंपनियां करती हैं। ऑइल कंपनियां अंतरराष्ट्रीय मार्केट में कच्चे तेल की कीमत, एक्सचेंज रेट, टैक्स, पेट्रोल-डीजल के ट्रांसपोर्टेशन का खर्च और बाकी कई चीजों को ध्यान में रखते हुए रोजाना पेट्रोल-डीजल की कीमत निर्धारित करती हैं।

राजस्व में कमी का डर पेट्रोल-डीजल को GST में नहीं लाने की सबसे बड़ी वजहएक बड़ी वजह राज्य सरकारों और केंद्र में इच्छाशक्ति की कमी है। दरअसल, पेट्रोल-डीजल को GST में लाने से सरकारों को राजस्व का नुकसान होगा और सरकार अपनी कमाई के किसी भी सोर्स में कोई बदलाव नहीं करना चाहती।

किसी भी सामान या सेवा पर GST रेट तय करने से पहले यह देखा जाता है कि वर्तमान व्यवस्था में उस पर केंद्र और राज्य मिलाकर कितना टैक्स लगा रहे थे। तकनीकी भाषा में इसे Revenue Neutral Rate (RNR) कहते हैं। इसका कैलकुलेशन इसलिए किया जाता है ताकि केंद्र और राज्यों को किसी तरह का नुकसान नहीं उठाना पड़े। पेट्रोल-डीजल पर GST नहीं लागू करने में यह भी एक बड़ी बाधा है। headtopics.com

बांग्लादेश में पूजा मंडपों पर हमला: हिन्दुओं में विश्वास का कितना संकट पैदा कर रहा है? - BBC News हिंदी कश्मीर में लौट रहा 1990 का दौर? इस महीने 11 लोगों की हत्या, आतंकियों के डर से पलायन शुरू Share Market Today: फेस्ट‍िव मूड में शेयर बाजार, BSE सेंसेक्स पहली बार 62 हजार के पार और पढो: Dainik Bhaskar »

सियासी बवाल के बीच राहुल गांधी का दिल्ली से लखीमपुर का सफर, देखें टाइमलाइन

लखीमपुर खीरी में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत के बाद का विवाद अबतक शांत नहीं हुआ है. लखनऊ एयरपोर्ट पर धरने के बाद आखिरकार राहुल गांधी को वहां से बाहर निकलने दिया गया है. एयरपोर्ट पर राहुल अपनी गाड़ी से जाएंगे या प्रशासन की गाड़ियों से इस पर विवाद हुआ था. अब राहुल गांधी और प्रियंका गांधी सीतापुर से लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हुए और लखीमपुर में मृतक किसानों के परिवार से मिलने पहुंच चुके हैं. देखें राहुल गांधी के दिल्ली से लखीमपुर के सफर की पूरी टाइमलाइन.

Esse nehi hoga. Jhoota sapna nehi dikhao. Fidaa to doooor ki baat hai. अभी तक लूटमार की, उसका क्या....? जब फाइनल हो जाए तभी बताइए। They will not do anything.. Just a googly before UP elections because they know what they are dealing in UP शेड्यूल कास्ट की फाइनेंशियल अधिकारों की हत्या बंद करो ,आरक्षण और लक्ष्य की खानापूर्ति के लिए 👉 Equifax Report NUMBER (ERN) 201371405 कॉमेंट 👉 SUIT_ FIELD _WILFUl_DEFAULT_WRITTN_OFF_SATLD दिखाया गया है ,दस हजार चुकता ऋण पर यूको बैंक शर्म करो रिजर्व बैंक दंड पारित करो ।।

Bhai UP ke chunav hai Kuch bhi ho sakta hai अरे पगला गए हो क्या कुछ भी छाप देते हो कोई काम नहीं बचा है क्या Petrol-Diesel under GST 😅😅 यह होना चाहिए विचार तो कई बार हुआ लेकिन अमल कभी नहीं। Kuchh nahi hone bala he ye sab jumle hen aur kuchh bhi nahi jo fas gaya so gaya

GST के दायरे में आ सकता है डीजल और पेट्रोल: 17 सितंबर को लखनऊ में GST काउंसिल की बैठक, एक देश-एक दाम की तैयारी; कई और बड़े फैसले हो सकते हैंअगले साल देश के 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले केंद्र सरकार बड़ा फैसला कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक, सरकार ने 'एक देश -एक दाम' के अंतर्गत पेट्रोल-डीजल, प्राकृतिक गैस और एविएशन टर्बाइन फ्यूल (विमान ईंधन) को GST के दायरे में लाने पर विचार शुरू किया है। 17 सितंबर को लखनऊ में GST काउंसिल की होने वाली बैठक में इस पर चर्चा हो सकती है। कोरोना महामारी के प्रकोप के बाद से GST काउंसिल की यह... | Preparations to bring diesel and petrol under the ambit of GST , may be decided in the meeting of the GST Council in Lucknow on September 17.

NCRB 2020: लॉकडाउन के दौरान क्राइम ग्राफ में गिरावट, कोरोना नियमों के उल्लंघन में वृद्धिफेक करेंसी के मामलों पर अगर नजर डाली जाए तो साल 2020 के दौरान नकली भारतीय मुद्रा नोटों (FICN) के तहत 92,17,80,480 मूल्य के कुल 8,34,947 नोट जब्त किए गए, जबकि वर्ष 2019 में ₹ 25,39,09,130 ​​मूल्य के 2,87,404 नोट जब्त किए गए थे.

GST Council Meeting: पेट्रोल-डीजल के दाम में कैसे हो भारी कमी? GST में लाने पर होगा विचार GST Council Meeting: वस्तु एवं सेवा कर परिषद की 17 सितंबर को लखनऊ में होने जा रही बैठक में पेट्रोल और डीजल को भी जीएसटी के दायरे में लाने पर विचार हो सकता है. अभी आंखे खुली कभी तो बेरोजगारी,बढ़ती महंगाई ,देश में बढ़ती भुखमरी का ,कभी तो मुद्दा उठाया करो ,लेकिन नही सुबह से लेकर शाम तक मोदी मोदी करते समय गुजर जाता है । ये बस विचार ही करेगे। यदि 80rs के करीब हो जाता है पेट्रोल और डीसील भी और GST के अंदर आ जाये तो , मुझे लगता है कांग्रेस भी बोलने लगेगी अगली बार BJP सरकार 😂। RohitSe78239250

Actress Nupur Alankar के जीजा Afghanistan में फंसे, 19 अगस्त के बाद नहीं हो पाया संपर्कअफगानिस्तान में तालिबान का कब्जा होने के बाद कई दिल दहलाने वाली तस्वीरें सामने आई है। हजारों लोग अफगानिस्तान छोड़कर भाग चुके हैं। वहीं अफगानिस्तान में फंसे कई भारतीय भी देश लौट चुके हैं। लेकिन एक्ट्रेस नूपुर अंलकार के जीजा कौशल अग्रवाल पिछले कई महीनों से अफगानिस्तान में फंसे हुए हैं।

Delhi School Reopen: दिल्ली में 8वीं तक के बच्चों के लिए अभी नहीं खुलेंगे स्कूलSchool Reopen: DDMA द्वारा जारी आदेश के मुताबिक 8वीं तक के स्कूलों को फिलहाल बंद रखने का फैसला किया गया है. वहीं नौवीं से 12वीं तक की कक्षाएं 50 फीसदी क्षमता के साथ चलती रहेंगी.

IPL 2021: फैंस के लिए खुशखबरी, आईपीएल मैच के दौरान स्टेडियम में होगी दर्शकों की एंट्रीIPL 2021 का दूसरा दौर 19 सितंबर से यूएई (IPL 2021 in UAE) में शुरू होगा. आईपीएल के दूसरे फेज से पहले क्रिकेट फैन्स के लिए ब़ड़ी खुशखबरी है. अब क्रिकेट फैन्स (Cricket Fans) स्टेडियम में जाकर मैच का लुत्फ उठा सकते हैं.