भारत के किस-किस मेहमान को गुजरात ले गए नरेंद्र मोदी

नरेंद्र मोदी भारत के किस-किस मेहमान को गुजरात ले गए

19-02-2020 04:59:00

नरेंद्र मोदी भारत के किस-किस मेहमान को गुजरात ले गए

डोनल्ड ट्रंप पहले राष्ट्राध्यक्ष नहीं हैं जो पीएम मोदी के साथ गुजरात जाएंगे. देखें, क्या कहता है रिकॉर्ड.

Image captionसाबरमती आश्रम में नरेंद्र मोदी के साथ जापानी PM और उनकी पत्नी10. शिंज़ो आबेपद: जापान के प्रधानमंत्रीदौरा: 13 से 14 सितंबर, 2017वाराणसी के बाद अब शिंज़ो आबे की गुजरात दौरा करने की बारी थी. इस बार वह दिल्ली के बजाय सीधे अहमदाबाद पहुंचे थे. एयरपोर्ट पर खुद प्रधानमंत्री मोदी ने उनकी अगवानी की.

चिराग पासवान ने उड़ा दी नीतीश खेमे की नींद, तीन दिन तक कराया था इंतज़ार - BBC News हिंदी तेजस्वी यादव ''कैबिनेट'' की सही स्पेलिंग तक नहीं बता सकते : अश्विनी चौबे बिहार NDA में सबकुछ ठीक नहीं? नीतीश की आबादी अनुसार आरक्षण की माँग पर BJP की असहमति

फिर दोनों ने एयरपोर्ट से साबरमती आश्रम तक रोड-शो किया था. यह नरेंद्र मोदी का किसी विदेशी नेता के साथ पहला रोड-शो था.इस दौरे पर आबे साबरमती आश्रम, सिद्दी सैयद की जाली, गांधीनगर में महात्मा गांधी को समर्पित म्यूज़ियम दांडी कुटीर गए थे. साथ ही, नरेंद्र मोदी ने आबे के साथ मुंबई-अहमदाबाद हाईस्पीड रेल प्रॉजेक्ट का भूमि-पूजन किया था.

इमेज कॉपीरइटभारतीय विदेश मंत्रालयImage captionगुजरात की पारंपरिक छतरी के साथ बिन्यामिन नेतन्याहू11. बिन्यामिन नेतन्याहूपद: इसराइल के प्रधानमंत्रीदौरा: 14 से 19 जनवरी, 2018दिल्ली आने और आगरा में ताज महल का दीदार करने के बाद नेतन्याहू अहमदाबाद पहुंचे थे. नरेंद्र मोदी ने नेतन्याहू के साथ एयरपोर्ट से साबरमती आश्रम तक 14 किमी लंबा रोड-शो किया था.

इसके बाद मोदी नेतन्याहू को साबरमती आश्रम ले गए. वहां नेतन्याहू ने अपनी पत्नी के साथ चरखा चलाया था. इस मौके पर मोदी और नेतन्याहू ने साथ में पतंग भी उड़ाई थी.कई कार्यक्रमों में शिरकत के बाद मोदी नेतन्याहू को वरदाद स्थित 'आई क्रिएट सेंटर' ले गए थे. इस दौरे पर भारत-इसराइल के बीच रक्षा, कृषि, अंतरिक्ष विज्ञान समेत कुल 9 समझौतों पर दस्तखत हुए थे.

इमेज कॉपीरइटभारतीय विदेश मंत्रालयImage captionभारतीय परिधानों में परिवार समेत अहमदाबाद एयरपोर्ट पर जस्टिन ट्रूडो12. जस्टिन ट्रूडोपद: कनाडा के प्रधानमंत्रीदौरा: 17 से 24 फरवरी, 2018जस्टिन ट्रूडो के इस दौरे की शुरुआत दिल्ली से हुई थी. इसके बाद वह आगरा, अहमदाबाद, मुंबई और अमृतसर भी गए. हालांकि, ट्रूडो के इस दौरे पर कनाडाई मीडिया द्वारा 'फीके स्वागत' के आरोप ने खूब सुर्खियां बटोरी थीं.

ट्रूडो अपने परिवार के साथ गुजरात पहुंचे थे. वहां उन्होंने अक्षरधाम मंदिर के दर्शन किए. फिर वह अहमदाबाद स्थित साबरमती आश्रम गए, जहां ट्रूडो और उनकी पत्नी ने चरखा भी चलाया. और पढो: BBC News Hindi »

अर्जुन बड़े भाई का करते थे सम्मान, लेकिन युद्ध के समय उन्होंने युधिष्ठिर को मारने के लिए उठा ली थी तलवार

श्रीकृष्ण के कहने पर अर्जुन और युधिष्ठिर का विवाद खत्म हुआ | mahabharata facts, arjun and krishna, Arjun used to respect his elder brother, but during the war, Arjun wanted to kill Yudhishthira

What's modi pointing at? Very simple that most of PM become prime minister by default and had no mass Base and had no experience as a CM. Mr modi has made huge changes in Gujarat and has all the right to showcase it.

गुजरात: पीएम मोदी के गृह राज्य में सेना के जवान के घोड़ी चढ़ने पर बवालआरोप है कि अन्य समुदाय के एक समूह ने दूल्हे के घोड़े पर सवार होने पर इतनी नाराजगी जाहिर की पूरी बारात को ही टारगेट किया गया।

गुजरात के वो मुख्यमंत्री जिन्हें छात्रों के गुस्से की वजह से गंवानी पड़ी कुर्सीगुजरात में कई विकास कार्यों की नींव रखने वाली चिमनभाई पटेल (Chiman Bhai Patel) को 1974 में छात्र आंदोलन की वजह से अपनी कुर्सी छोड़नी पड़ी थी. | knowledge News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

ट्रंप के दौरे से पहले गुजरात के कांडला पोर्ट से अब मिला सेटेलाइट फोनगुजरात के कांडला बंदरगाह पर बैलेस्टिक मिसाइल के सामान के बाद अब एक सेटेलाइट फोन मिला है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड

गुजरात के धर्मगुरु का महिलाओं के पीरियड्स को लेकर विवादित बयान, मचा हंगामास्वामी कृष्णस्वरूप ने कहा कि यह निश्चित है कि जो पुरुष पीरियड्स वाली महिलाओं के हाथ का पका हुआ खाना खाता है उसका बैल के रूप में पुनर्जन्म होगा। आक थू ऐसे लोगों पर khatala taka भोसड़ी वाला हरामखोर म****** मर क्यों नहीं जाते हैं ऐसे ढोंगी बाबा कुत्ता कहीं का बाबा हरामखोर साला

गुजरात: छात्राओं के अंडरगारमेंट्स जांचने के मामले में प्रिंसिपल समेत चार निलंबितभुज के श्री सहजानंद गर्ल्स इंस्टिट्यूट के हॉस्टल में छात्राओं के पीरियड्स जांचने के लिए उनके अंडरगारमेंट्स उतारने को मजबूर करने की बात सामने आई थी. संस्था के ट्रस्टी का कहना है कि बरसों से चल रही रुढ़िवादी परंपरा के नियम अब छात्राओं के लिए स्वैच्छिक होंगे, इनके पालन के लिए उन पर दबाव नहीं डाला जाएगा. Gujrat_Model isliye teri rating kam h!!!! AAP ने जीती हुई 63 सीटो मे से 38 सीटो पर EVM से ज्यादा VVPAT मे वोट निकले फिर भी कांग्रेस भाजपा ने उसका विरोध नही किया क्यो

वाराणसी से PM मोदी के निर्वाचन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे पूर्व जवान तेज बहादुरसेना नाम से जाना गया डफली बजा रहा चुनता कोन है Gaddar