भारत सरकार राहत पैकेज के जरिए एक नागरिक पर औसतन 1200 रुपए खर्च करेगी, अमेरिकी सरकार पैकेज से एक नागरिक पर औसतन 4.55 लाख खर्च करेगी

Coronavirusoutbreak, Coronaviruslockdown, Lockdown 21, Coronapackage, Indiacoronavirus News, Novel Coronavirus Covid-, Narendra Modi Govt, Covid, India, Narendra Modi Govt, Novel Coronavirus Covid-19, India Covid-19 Relief Package - कोरोनावायरस न्यूज़, कोरोनावायरस समाचार

कोरोना पैकेज : भारत सरकार राहत पैकेज के जरिए एक नागरिक पर औसतन 1200 रुपए खर्च करेगी, अमेरिकी सरकार पैकेज से एक नागरिक पर औसतन 4.55 लाख खर्च करेगी #CoronavirusOutbreak #CoronavirusLockdown #Lockdown21 @PMOIndia @nsitharaman #coronapackage

Coronavirusoutbreak, Coronaviruslockdown

26.3.2020

कोरोना पैकेज : भारत सरकार राहत पैकेज के जरिए एक नागरिक पर औसतन 1200 रुपए खर्च करेगी, अमेरिकी सरकार पैकेज से एक नागरिक पर औसतन 4.55 लाख खर्च करेगी CoronavirusOutbreak CoronavirusLockdown Lockdown21 PMO India nsitharaman coronapackage

कोरोनावायरस के चलते भारत सरकार ने 1.7 लाख करोड़ रुपए का पैकेज दिया एक दिन पहले अमेरिका ने 151 लाख करोड़ रुपए का राहत पैकेज जारी किया था अमेरिकी राहत पैकेज की तुलना में भारत का पैकेज महज 1.1% है | India Coronavirus News, Narendra Modi Govt , Novel Coronavirus Covid- 19, India Covid-19 Relief Package

X कोरोनावायरस के चलते भारत सरकार ने 1.7 लाख करोड़ रुपए का पैकेज दिया एक दिन पहले अमेरिका ने 151 लाख करोड़ रुपए का राहत पैकेज जारी किया था अमेरिकी राहत पैकेज की तुलना में भारत का पैकेज महज 1.1% है दैनिक भास्कर Mar 26, 2020, 08:32 PM IST बिजनेस डेस्क. कोरोना वायरस महामारी के कारण देश में इस समय लॉकडाउन की स्थिति है। गरीबों और कमजोर तबके की मदद के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को 1.70 लाख करोड़ रुपए के राहत पैकेज की घोषणा की है। इसके जरिए गरीबों के लिए खाने का प्रबंध किया जाएगा। डीबीटी के जरिए जरूरतमंदों के अकाउंट में पैसे भी ट्रांसफर भी किए जाएंगे। इससे पहले अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस सहित कई देशों ने भी राहत पैकेज जारी किया है। राहत पैकेजे जारी करतीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण। भारत सरकार इस पैकेज के जरिए एक नागरिक पर औसतन करीब 1200 रुपए खर्च करेगी। यह पैकेज अमेरिकी राहत पैकेज के एक दिन बाद आया है। बुधवार को अमेरिकी संसद सीनेट ने कोरोना संकट के बीच देश के करीब 30 करोड़ लोगों के लिए 2 ट्रिलियन डॉलर(151 लाख करोड़ रुपए) का राहत पैकेज जारी किया था। इसके जरिए ट्रम्प सरकार एक नागररिक पर औसतन 4.55 लाख खर्च करेगी। यह अमेरिकी इतिहास का सबसे बड़ा राहत पैकेज है। यही नहीं, यह दुनिया में किसी भी देश द्वारा जारी किया गया सबसे बड़ा राहत पैकेज भी है। इसका असर भी देखने को मिला, बुधवार को अमेरिकी स्टॉक मार्केट डाउ जोंस में 1929 के सबसे बड़ी तेजी भी दर्ज की गई। हालांकि भारत सरकार का राहत पैकेज अमेरिका की तुलना में कहीं नहीं ठहरता है। रकम के लिहाज से अमेरिका का राहत पैकेज सबसे बड़ा (151 लाख करोड़ रुपए या 2 लाख करोड़ डॉलर) है। वहीं, अगर देशों की आबादी और प्रति व्यक्ति मदद के हिसाब से देखें तो कतर का पैकेज सबसे बड़ा हो जाता है। करीब 28 लाख की आबादी वाले कतर ने 2300 करोड़ डॉलर का पैकेज जारी किया है। इस तरह यह पैकेज प्रति व्यक्ति 8214 डॉलर (करीब 6.18 लाख रुपए) का हो जाता है। इसके बाद जर्मनी (5.48 लाख रुपए) का नंबर आता है। यूरोपियन यूनियन ने सदस्य देशों के लिए 82,000 करोड़ डॉलर का पैकेज जारी किया है। फ्रांस सहित ईयू के कई देशों ने अपने यहां अलग पैकेज भी दिए हैं। भारत में अभी और हो सकती हैं घोषणाएं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि गुरुवार को जारी राहत पैकेज आखिरी नहीं होगा। सरकार कोरोनावायरस के कारण संकट से जूझ रही कंपनियों और अन्य वित्तीय संस्थानों की मदद के लिए भविष्य में घोषणाएं कर सकती हैं। ऐसा होने पर भारत का राहत पैकेज बड़ा हो जाएगा और प्रति व्यक्ति मदद का आंकड़ा भी बेहतर होगा। अमेरिका की तुलना में भारत का राहत पैकेज रुपए के लिहाज से: भारत सरकार का राहत पैकेज अमेरिकी पैकेज का महज 1.1% ही है। अमेरिका की कुल इकोनॉमी 21.44 ट्रिलियन डॉलर है। ट्रम्प सरकार ने 2 ट्रिलियन रकम जारी की। यह रकम कुल इकोनॉमी का 10.72% है। भारत में प्रति व्यक्ति आय 7,060 डॉलर है, जबकि अमेरिका में प्रति व्यक्ति आय 60,200 डॉलर है। भारत की कुल इकोनॉमी 2.94 ट्रिलियन डॉलर है। यानी भारत की जीडीपी अमेरिकी राहत पैकेज से महज 0.94 ट्रिलियन डॉलर ही ज्यादा है। आबादी के लिहाज से: भारत की आबादी 138 करोड़ है। मोदी सरकार राहत पैकेजे के जरिए एक नागरिक पर औसतन करीब 1200 रुपए खर्च करेगी। अमेरिका की आबादी 33 करोड़ है। ट्रम्प सरकार राहत पैकेज से हर एक नागरिक पर औसतन 4.55 लाख रुपए खर्च कर रही। भारत सरकार के पैकेज से किसे क्या राहत मिलेगी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 80 करोड़ गरीब लोगों को कवर किया जाएगा, 8.3 बीपीएल करोड़ परिवारों को फ्री एलपीजी सिलेंडर मिलेगा 3 महीने तक एम्प्लॉयी और एम्प्लॉयर दोनों के हिस्से का ईपीएफ का योगदान सरकार करेगी। यह वहां लागू होगा, जहां 100 से कम कर्मचारी हैं और 90% कर्मचारी 15 हजार से कम वेतन पाते हैं। इससे 80 लाख मजदूरों और 4 लाख संगठित इकाइयों को फायदा मिलेगा। जो लोग कोरोना की लड़ाई में साथ दे रहे हैं, उनके लिए 50 लाख का इंश्योरेंस कवर सरकार देगी। इनमें आशा वर्कर्स, डॉक्टर, नर्स और अन्य मेडिकल स्टॉफ शामिल हैं। इससे 20 लाख मेडिकल कर्मचारियों को इसका लाभ मिलेगा। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 80 करोड़ गरीब लोगों को कवर किया जाएगा। इसमें अगले तीन महीने तक 5 किलो चावल/गेहूं मुफ्त में दिया जाएगा। इसके अलावा एक किलो दाल हर परिवार को मुफ्त में मिलेगा। किसान, मनरेगा, गरीब विधवा-पेंशनर्स-दिव्यांग, जनधन योजना-उज्ज्वला स्कीम, सेल्फ हेल्प ग्रुप (वुमन), ऑर्गेनाइज्ड सेक्टर वर्कर्स, कंस्ट्रक्शन वर्कर्स को डीबीटी का लाभ मिलेगा। बुजुर्ग, दिव्यांग और विधवा को एकमुश्त 1000 रुपए दो किस्तों मे दी जाएगी। यह अगले तीन महीने तक दिया जाएगा। 8.7 करोड़ किसानों के अकाउंट में अप्रैल के पहले हफ्ते में 2000 रुपए की किस्त डाल दी जाएगी, ताकि उनको तुरंत फायदा मिलना शुरू हो जाए। मनरेगा योजना का लाभ 5 करोड़ परिवारों को मिलता है। मनरेगा दिहाड़ी अब 182 से बढ़ाकर 202 रुपए कर दी गई है। जनधन योजना के जरिए 20.5 करोड़ महिलाओं के खाते में अगले 3 महीने तक डीबीटी के जरिए हर महीने 500 रुपए ट्रांसफर किए जाएंगे। करीब 8.3 बीपीएल करोड़ परिवारों को उज्जवला स्कीम के तहत 3 महीने तक फ्री एलपीजी सिलेंडर दिए जाएंगे। अमेरिका के पैकेज से किसे क्या राहत मिलेगी अगर कोरोना के कारण नौकरी गई है तो पति-पत्नी को 2400 डॉलर, हर बच्चे को 500 डॉलर मिलेगा 25,000 करोड़ डॉलर का फंड ऐसे लोगों के लिए जिनकी नौकरी कोरोनावायरस के कारण चली गई या जिनका रोजगार प्रभावित हुआ है। ऐसे लोगों तक सरकार सीधे चेक भेजेगी। सालाना 75 हजार डॉलर या इससे कम ग्रॉस कमाई करने वाले व्यक्ति को 1200 डॉलर का सहयोग मिलेगा। मौजूदा दरों के अनुसार यह रकम भारतीय रुपए में 90 हजार के करीब होती है। 1,50,000 डॉलर सालाना ग्रॉस कमाई करने वाली दंपत्ति को 2400 डॉलर का सहयोग मिलेगा। साथ ही हर बच्चे के लिए 500 डॉलर अलग से मिलेंगे। 35 हजार करोड़ डॉलर का एमरजेंसी लोन फंड अमेरिका की छोटी कंपनियों के लिए, ताकि उनका बिजनेस बंद न हो। 25 हजार करोड़ डॉलर का फंड एम्प्लॉयमेंट इंश्योरेंस बेनिफिट के तौर पर जारी किया जाएगा। 50 हजार करोड़ डॉलर का फंड संकटग्रस्त कंपनियों को लोन के तौर पर दिया जाएगा। डील में एक विशेष प्रावधान किया है। इससे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, उनके परिवार का कोई सदस्य, कांग्रेस का कोई सदस्य इस पैकेज की राशि से कोई लोन या निवेश हासिल नहीं कर पाएंगे। अगर कोरोना के कारण नौकरी चली गई है तो पति-पत्नी को 2400 डॉलर, हर बच्चे को 500 डॉलर मिलेगा Recommended News और पढो: Dainik Bhaskar

कोरोना वायरस: 10 दिन ठेला चलाकर दिल्ली से बिहार पहुंचने वाला शख़्स



LIVE: कोरोना संकट पर PM मोदी की सभी मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा थोड़ी देर में

तबलीग़ी जमात: पूछताछ करने गई पुलिस पर हमला



कोरोना काल में भारत ने दिखाई वैश्विक नेतृत्व क्षमता, अर्थव्यवस्था को सहारा देने में भी रहा अगुआ

अपूर्वी चंदेला ने दिखाया बड़ा दिल, कोरोना वायरस से लड़ने के लिए डोनेट किए 5 लाख रुपये



संयम और अनुशासन की याद दिलाते श्रीराम, धैर्य और सहनशक्ति से हम कोरोना को हरा सकते हैं

कोविड-19: पीएम मोदी ने साझा किया तंदुरुस्त रहने के लिए आयुष मंत्रालय का नुस्खा, कहा- सिर्फ गर्म पानी पीता हूं



PMOIndia nsitharaman समझदारी की उम्मीद नहीं की जा सकती से, डालर को रुपया से कम्पेयर करना मूर्खता है। अमेरिका की अर्थव्यवस्था से भारत की अर्थव्यवस्था कम है तो कैसे बोल सकते है ये राहत पैकेज अमेरिका के राहत पैकेज का 1.1% है। PMOIndia nsitharaman अमेरिका के मुकाबले भारत के 1200 भी बहुत ज्यादा है। भारत और अमेरिका की आबादी और दोनों के भौगोलिक क्षेत्र को बराबर करके फिर एवरेज निकालेंगे तो भारत का प्रति व्यक्ति राहत का पैकेज ज्यादा होगा।

PMOIndia nsitharaman जितनी वहाँ की जनसंख्या है लगभग उतने तो यहाँ माँ के गर्भ में हर समय रहते हैं, तुलना बराबरी बालों से करना चाहिए, 😁😁😁 PMOIndia nsitharaman sarm kar lo both are spending approx. 10% of their GDP.its very bad. news is not just for news.stop manipulating the data ABPNews aajtak ZeeNews ndtvindia

PMOIndia nsitharaman Mtlb kuch bhi kr ke modi ko nicha dikhana hai? PMOIndia nsitharaman Agar paison se jaan kharidi ja sakti,tab ye example thik hota PMOIndia nsitharaman Have some shame . You are posting crabs in newspaper just to defame Our India and Our PM. PMOIndia nsitharaman PMOIndia nsitharaman Gazab ka comparison hai India 130 crores ko palti hai USA 32 crores ko .. death by corona in America over 1000 and in Dia still 13 .. so spending so much money for citizen can’t save there life

PMOIndia nsitharaman hum kush hai modi sarkar se PMOIndia nsitharaman अमेरिका बनने दो इंडिया को फिर इंडिया भी इससे ज्यादा खर्च करेगी।

मोदी सरकार के कोरोना राहत पैकेज पर बोले राहुल गांधी- सही दिशा में पहला कदमLatest Hindi News ताज़ा हिन्दी समाचार, आज तक ख़बरें - india's Best News Channel, Aaj Tak Breaking News, Latest News Headlines and Breaking News ख़बरें, Hindi News Channel website, Today's Headlines, from India and World, Covering Business, Politics,Sports खेल, Entertainment, Bollywood News. Inko inki Nani Ji ke paas chor do Rahul Gandhi your welcome in bjp O to karna hi padega. 🙏

PMOIndia nsitharaman अमेरिका टैक्स, सर्विस चार्ज व जुर्माना कितना वसूल कराता है फिर compare करना. PMOIndia nsitharaman जिसको समस्या है वो देश छोड़कर जा सकता है अमेरिका ,पाकिस्तान या फिर पूरा बुहान ख़ाली है चीन में PMOIndia nsitharaman बस यही अंतर दिखाता है कि हम अमेरिका के आगे क्या है🤔🤔 Lockdown21 CoronaVillains NirmalaSitharaman

PMOIndia nsitharaman Sirji yah to aad modiji ki kabiliyat hai PMOIndia nsitharaman अखबार बेचने से पैसा बना रहे हो वो राहत पैकेज में दान कर दो। PMOIndia nsitharaman भारत में प्रतिव्यक्ति आय 7 हजार डॉलर मतलब 5 लाख रुपये प्रतिव्यक्ति डॉलर को रुपया करना भूल गए क्या भास्कर वालो PMOIndia nsitharaman तुलना मत करो अमेरिका और इंडिया की। दोनों देश बिल्कुल अलग स्थितियों वाले हैं।

PMOIndia nsitharaman ये भास्कर वाले भी भारत सरकार के खिलाफ ही लिखते हैं जबकि पूरी दुनिया इस समय मोदी जी के काम की तारीफ कर रही है PMOIndia nsitharaman हम भारत के नागरिक हैं अमरीका के नहीं, और भारत सरकार बहुत बढ़िया उपाय कर रही है PMOIndia nsitharaman पहले ये तोह देख लो 30 करोड़ ओर 130 करोड़ मैं फ़र्क कितना है।। कुछ बोलने से पहले ये सोच लेना मोदी जी ने गरीबों के लिए बोहोत कुछ कर दिए है और रही बात आज जो लोग Android मोबाइल चल रहे है वो हर चीज़ से सक्षम है।।

डॉक्टर, नर्स, किसान, मजदूर, महिला और गरीबों के लिए राहत पैकेज, जानें किसको क्या मिलाडॉक्टर, नर्स, किसान, मजदूर, महिला और गरीबों के लिए राहत पैकेज, जानें किसको क्या मिला coronavirus lockusdown nsitharaman narendramodi PMO India nsitharaman narendramodi PMOIndia nsitharaman narendramodi PMOIndia nsitharaman All banks & Hosuing financial institutions shall declare that they will postpone the auto debit by ECS of all types of loans EMI & payment dates for 3 months without charging any penalty because peoples are not having jobs due to CORONA VIRUS.PMOIndia nsitharaman narendramodi PMOIndia मैडम मैने आज तक अपने 36 वर्ष की उम्र ओर 20 साल के करियर में कभी किसी सरकारी लाभ नहीं लिया पर इस वक़्त बेहद जरूरी महसूस हो रही सब तरफ़ से बंद है।

PMOIndia nsitharaman मतलब तुलना करोगे वो भी अमेरिका से 🙏 अपनी आय, और जनसंख्या देखो भाई PMOIndia nsitharaman Whats your contributions PMOIndia nsitharaman Pta nahi sarkar kin logo ko fayeda deti hai hame to 1 rupaye nahi milta sarkari nsitharaman Bharat sarkar Bharat Desh smjkr kaam nhi krti vo India smjkr Kaam krti h , Jo hkikt se bhoot dur h. Asli Bharat ki tsveer chupai jati h or nkli India ko dikhya jata h

PMOIndia nsitharaman क्यों इस तरह की तुलना करके किसी के अजेंडे को परोसा जा रहा है किसी भी देश की तुलना उसके शक्ति के आधार पर प्रतिशत में क्यों नहीं की जाती है इस तरह से अपने को कमजोर दिखाना अच्छी बात तो नहीं PMOIndia nsitharaman परेशान न हो दैनिक भास्कर वालों अगली बार प्रधान मंत्री जी तीन ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी तुम लोगों को ही दे देंगे हद्द है

PMOIndia nsitharaman ज्यादा कैसे ख़र्च करेगी..? मोदी जी के अपने शाही ख़र्चे भी तो हैं और फिर सरकारों को गिराने के लिए MLA खरीदने के लिए भी तो कोष को सुरक्षित रखना है🤦 बहुत जिम्मेदारियां हैं साहेब के कंधों पर🤦 PMOIndia nsitharaman This is not expected from Leading Newspaper like Dainik Bhasker, very shameful, playing politics, why you are not comparing the Population.

PMOIndia nsitharaman Share the tax collection rates for both countries with tax payers % Then u will come to know why they can spend huge amount From lst 3 days I am asking lot of friends to donate Rs100 at this situation n no one having interstate to pay for Mongo ppls. This is our mentality PMOIndia nsitharaman In this crisis they are running their cheap agenda. ShameOnDainikBhaskar

कोरोना से जंग: मोदी सरकार ने किया राहत पैकेज का ऐलान तो राहुल गांधी बोले- सरकार ने यह सही दिशा में कदम उठायावित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कारोना वायरस महामारी और उसके आर्थिक प्रभाव से निपटने को लेकर गुरुवार को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 1.70 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की. Very good announcement by GOI but FM should give relaxation for 3 months to pay EMI’s for Vehicle loan/House loan atleast upto 10 Lakhs. People are not getting salary because of Corona Virus affect. बीच बीच में राहुल गांधी को क्यों लेके आ जाते हो Wow, first time in right way

PMOIndia nsitharaman We all jointly able to get back our economy but ask ppls if they are ready to contribute. 90 %ppls will say that they r not interested n everything needs to be done by govt only and everyone of us seeking for tax saving schemes how shameless we r PMOIndia nsitharaman बहुत प्यार से 1200 रूपये बता दिया। जरा सोचिये 1200 रूपये एक परिवार को भी पहुंच जाये तो बेहतर है।कोई पैकेज पहुंचने वाला नहीं है।

PMOIndia nsitharaman Dainik bhaskar walo aaj se tera akhbar band tumne desh ko majak bana rakha hai ,ese muskil wakt me comparison karne ka kya matlab hai ,tum logo ko sabse pahele goli maar deni chaiye ,yaha hum log raat din kaam karte hai marizo ke liye ,tum kutto ko desh ko jalana hai. PMOIndia nsitharaman Chale jao desh chod kar yaha kutto ki koi jarurat nhi or na hi tumhara illag hoga saalo.

PMOIndia nsitharaman Ye congressi dalal h is samay bhi sarkar ko nicha dikhane ki koshish me lga hua hai Bhagwan kre ise bhi kuch ho jay. PMOIndia nsitharaman वर्षों पहले जनसंख्या नियंत्रण कानून के बारे में ना सोचना आज भारत को बहुत भारी पड़ रहा है बी जे पी और कांग्रेस बराबर जिम्मेदार है। ChouhanShivraj BansalNewsbpl SuPriyoBabul aajtak PIB_India

PMOIndia nsitharaman Population me bhi to difference h PMOIndia nsitharaman Mandir banene me paisa karcha kerega ....keval PMOIndia nsitharaman Wishing for Your Health, keep safe with Your family. Together we all are Human Family. At this point of life everyone is deserving wellness. Be calm and with positive mindset think how to overcome the pandemic how best we can do to make others Happy and Healthy. Be Progressive..

PMOIndia nsitharaman वो हैल्थ में 17% खर्च करता है भारत 2% करता है। अब तुलना मत करना ।

COVID-19 Tracker ऐप पर भारत सरकार कर रही है कामः रिपोर्टCoWin-20 ऐप फिलहाल ट्रायल फेज़ में है, जिसका उद्देश्य लोगों को कोरोना वायरस से प्रभावित जगहों और लोगों से अलर्ट करना है। Lgta hai typing me galti hogyi COVID-19 nahi wo CHINA VIRUS hai WE ALL LOVE OUR INDIA, OUR GREAT INDIA,DEMOCRATIC & SECULAR INDIA! 🙏🏻🙏🏻 Aise baithe hai ki Kaya hoga Kuch mauka de humlogo ko to prevence karta hoo.

PMOIndia nsitharaman Dainik Bhaskar Valo ne bhi kya donkeys ko le rkha h kya team me.. PMOIndia nsitharaman Agar chunav hota to america se bhi jyada deti sarkar PMOIndia nsitharaman Unka to defence budget bhi 750 billion dollars h or India ka 65 billion dollars ......unke economy Ka size 20 trillion dollars h or India ka 3 trillion .....aap is post ke through kya btana chahte ho Indians KO...

PMOIndia nsitharaman Americans do not run away from paying taxes and check the tax rates and collection also. Idiots don't compare with them. Share your contribution for relief fund If everyone from us is able to donate 100 Rs then think how much money will be available with govt for ppls PMOIndia nsitharaman Population of us is about 32 crore and india's population is 130 crore .....do check their revenues and compare with our country ...each country has limitations ..

PMOIndia nsitharaman अमेरिका में $ ही सब कुछ है ।। ऐसे देश $ के सामने इंसान की कोई क़ीमत नही है

कोरोना लॉकडाउन: गरीब, किसान, महिला... सरकार के राहत पैकेज में सबके लिए हुई ये घोषणासरकार को प्रत्येक नगर में डाक्टरों की क्लीनिक पर भी एडवाइजरी जारी करनी चाहिए क्युंकि डाक्टर स्वयं संक्रमित हो गये तो पता नहीं कितनों को संक्रमित कर देंगे । क्लिनिकों पर बहुत भीड़ पड़ रही है। Bahut sundar pahal आभार🙏🙏🙏 मोदी जी का

निर्मला सीतारमण की प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू, एक लाख 70 हजार करोड़ के आर्थिक पैकेज का एलानथोड़ी देर में बड़े आर्थिक पैकेज का एलान संभव, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण करेंगी प्रेस कॉन्फ्रेंस coronavirus nsitharaman nsitharaman Good 🙏🙏 But nichle tbke tak ye aarthik package jb pahuche.. Tbhi yojna safal rahega 🙏🙏👍👍 Pls Stay home 👍👍 nsitharaman Her thinks should be attractive related for recent situation! समाज सेवक nsitharaman 1 rupya nahi milne wala Aam Aadmi ko



#जीवनसंवाद : जिसके होने से फर्क पड़ता है!

दाढ़ी ट्रिम करवा कर नए लुक में दिखे उमर अब्दुल्ला, JK डोमिसाइल नीति पर उठाए सवाल

तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की

कोरोना वायरस: निज़ामुद्दीन मरकज़ के मरीज़ों की बाढ़ से कैसे निपटेगी दिल्ली

कोरोना वायरस: मरकज पर बोले केजरीवाल- चाहे अधिकारी हो या कोई और, सख्त कार्रवाई होगी

तबलीगी जमात पर बैन की मांग, यूपी अल्पसंख्यक आयोग का पीएम मोदी को खत

अहमदनगर के बाद अब ठाणे की दो मस्जिदों से मिले 21 विदेशी नागरिक, क्वारनटीन में भेजा गया

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

26 मार्च 2020, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

इटली के डॉक्टर का दावा- चैम्पियंस लीग के मैच के कारण बर्गामो शहर बना कोरोनावायरस का केंद्र, मैच के 2 दिन बाद संक्रमण से हुई पहली मौत

अगली खबर

कमल हासन ने कहा- घर को अस्पताल बना दो; एक्टर महेश बाबू और पवन कल्याण ने एक-एक करोड़ रुपए देने का ऐलान किया
कोरोना वायरस: 10 दिन ठेला चलाकर दिल्ली से बिहार पहुंचने वाला शख़्स LIVE: कोरोना संकट पर PM मोदी की सभी मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा थोड़ी देर में तबलीग़ी जमात: पूछताछ करने गई पुलिस पर हमला कोरोना काल में भारत ने दिखाई वैश्विक नेतृत्व क्षमता, अर्थव्यवस्था को सहारा देने में भी रहा अगुआ अपूर्वी चंदेला ने दिखाया बड़ा दिल, कोरोना वायरस से लड़ने के लिए डोनेट किए 5 लाख रुपये संयम और अनुशासन की याद दिलाते श्रीराम, धैर्य और सहनशक्ति से हम कोरोना को हरा सकते हैं कोविड-19: पीएम मोदी ने साझा किया तंदुरुस्त रहने के लिए आयुष मंत्रालय का नुस्खा, कहा- सिर्फ गर्म पानी पीता हूं FIR के बाद तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद का नया ऑडियो- सरकार का साथ दें, घर में ही रहें इंदौर: कोरोना वायरस संदिग्ध की पहचान के लिए पहुंचे स्वास्थ्यकर्मी, हुआ पथराव कोरोना: WHO की चेतावनी, मामले 10 लाख तक पहुंचेंगे - Live - BBC Hindi कोरोना की लड़ाई में डॉक्टरों ने मांगी सीआरपीएफ की सुरक्षा, केंद्रीय गृहमंत्री ले सकते हैं कड़ा फैसला ट्रंप ने ईरान को इराक में अमेरिकी सैनिकों पर हमला करने को लेकर दी चेतावनी, एक हफ्ते में हुए तीन हमले
#जीवनसंवाद : जिसके होने से फर्क पड़ता है! दाढ़ी ट्रिम करवा कर नए लुक में दिखे उमर अब्दुल्ला, JK डोमिसाइल नीति पर उठाए सवाल तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की कोरोना वायरस: निज़ामुद्दीन मरकज़ के मरीज़ों की बाढ़ से कैसे निपटेगी दिल्ली कोरोना वायरस: मरकज पर बोले केजरीवाल- चाहे अधिकारी हो या कोई और, सख्त कार्रवाई होगी तबलीगी जमात पर बैन की मांग, यूपी अल्पसंख्यक आयोग का पीएम मोदी को खत अहमदनगर के बाद अब ठाणे की दो मस्जिदों से मिले 21 विदेशी नागरिक, क्वारनटीन में भेजा गया कोरोना संकट: मोदी सरकार नहीं बच सकती इन सवालों से भारत में कोरोना वायरस के 'हॉटस्पॉट' कैसे बने ये 10 इलाक़े कोरोना वायरसः ममता बनर्जी ने PM मोदी को लिखा पत्र, मांगा 25000 करोड़ का पैकेज निजामुद्दीन मरकज मामला: बिजनौर की एक मस्जिद से मिले 8 इंडोनेशियाई नागरिक, बांग्लादेश के रास्ते पहुंचे थे दिल्ली लॉकडाउन हटने के बाद सबसे पहले क्या करेंगी दीपिका पादुकोण? किया खुलासा