Kisanrail, Kisantrain, Kisan Rail Seva, İndian Railways, Ministry Of Railways, İndian Farmers, Farmers Train İn İndia, किसान रेल

Kisanrail, Kisantrain

भारतीय रेल का किसानों को तोहफा, फल-सब्जियों के लिए आज से दौड़ेगी 'किसान ट्रेन'

फल और सब्जियों के मालवहन के लिए भारतीय रेल सात अगस्त से अपनी पहली ‘किसान रेल’ सेवा शुरू करने जा रही है।

06-08-2020 22:52:00

भारतीय रेल का किसानों को तोहफा... RailMinIndia PiyushGoyalOffc PiyushGoyal IRCTCofficial KisanRail kisantrain

फल और सब्जियों के मालवहन के लिए भारतीय रेल सात अगस्त से अपनी पहली ‘ किसान रेल ’ सेवा शुरू करने जा रही है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल फरवरी में पेश बजट में जल्दी खराब होने वाले फल एवं सब्जियों जैसे उत्पादों के मालवहन के लिए ‘किसान रेल’ चलाने की घोषणा की थी। इस सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) योजना के तहत शीत भंडारण के साथ किसान उपज के परिवहन की व्यवस्था होगी।

रिया चक्रवर्ती की 'औकात' वाला बयान देने वाले बिहार के DGP ने छोड़ी पुलिस की नौकरी, अब बनेंगे नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार को किया आगाह, 'पड़ोस में बिना दोस्तों के रहना खतरनाक' कहीं आपका सैनिटाइज़र नक़ली या मिलावटी तो नहीं? - BBC News हिंदी

रेल मंत्रालय ने एक वक्तव्य में कहा, ‘इस साल के बजट में जल्दी खराब होने वाले कृषि उत्पादों के लिए बेहतर आपूर्ति श्रृंखला स्थापित करने के वास्ते ‘किसान रेल’ चलाने की घोषणा की गई है. रेल मंत्रालय इस प्रकार की पहली किसान रेल सात अगस्त को दिन में 11 बजे देवलाली से दानापुर के लिए चला रहा है। यह रेल साप्ताहिक आधार पर चलेगी।’ वक्तव्य में कहा गया है कि यह रेलगाड़ी 1,519 किलोमीटर का सफर करते हुए अगले दिन करीब 32 घंटे बाद शाम पौने सात बजे दानापुर (बिहार) पहुंचेगी।

मध्य रेलवे का भुसावल डिवीजन प्राथमिक तौर पर कृषि आधारित डिवीजन है और नासिक तथा इसके आसपास के इलाकों में बड़ी मात्रा में ताजी सब्जियों, फलों, फूल, प्याज तथा अन्य कृषि उत्पादों का उत्पादन होता है। इन उत्पादों को यदि ठीक से रखरखाव नहीं हो तो ये जल्दी खराब हो जाते हैं। ये कृषि उत्पाद नासिक के इन इलाकों से बिहार में पटना, उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद, मध्य प्रदेश के कटनी, सतना तथा अन्य क्षेत्रों को भेजे जाते हैं। किसान रेल इन उत्पादों को गंतव्य तक पहुंचाने का काम करेगी। यह रेल नासिक रोड़, मनमाड़, जलगांव, भुसावल, बुरहानपुर, खंडवा, इटारसी, जबलपुर, सतना, कटनी, मणिकपुर, प्रयागराज छेओकी, पं दीनदयाल उपाध्याय नगर और बक्सर में रुकेगी।

वातानुकूलन की सुविधा के साथ फल एवं सब्जियों को लाने ले जाने की सुविधा का प्रस्ताव पहली बार 2009-10 के बजट में उस समय रेल मंत्री रहीं ममता बनर्जी ने किया था, लेकिन इसकी शुरुआत नहीं हो सकी।किसानों को राहत देने के लिए भारतीय रेलवे ने एक नई ट्रेन की शुरुआत की है। रेलवे ने बृहस्पतिवार को कहा कि ऐसी पहली रेलगाड़ी महाराष्ट्र के देवलाली से बिहार के दानापुर के बीच चलेगी।

विज्ञापनवित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल फरवरी में पेश बजट में जल्दी खराब होने वाले फल एवं सब्जियों जैसे उत्पादों के मालवहन के लिए ‘किसान रेल’ चलाने की घोषणा की थी। इस सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) योजना के तहत शीत भंडारण के साथ किसान उपज के परिवहन की व्यवस्था होगी।

रेल मंत्रालय ने एक वक्तव्य में कहा, ‘इस साल के बजट में जल्दी खराब होने वाले कृषि उत्पादों के लिए बेहतर आपूर्ति श्रृंखला स्थापित करने के वास्ते ‘किसान रेल’ चलाने की घोषणा की गई है. रेल मंत्रालय इस प्रकार की पहली किसान रेल सात अगस्त को दिन में 11 बजे देवलाली से दानापुर के लिए चला रहा है। यह रेल साप्ताहिक आधार पर चलेगी।’ वक्तव्य में कहा गया है कि यह रेलगाड़ी 1,519 किलोमीटर का सफर करते हुए अगले दिन करीब 32 घंटे बाद शाम पौने सात बजे दानापुर (बिहार) पहुंचेगी।

मध्य रेलवे का भुसावल डिवीजन प्राथमिक तौर पर कृषि आधारित डिवीजन है और नासिक तथा इसके आसपास के इलाकों में बड़ी मात्रा में ताजी सब्जियों, फलों, फूल, प्याज तथा अन्य कृषि उत्पादों का उत्पादन होता है। इन उत्पादों को यदि ठीक से रखरखाव नहीं हो तो ये जल्दी खराब हो जाते हैं। ये कृषि उत्पाद नासिक के इन इलाकों से बिहार में पटना, उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद, मध्य प्रदेश के कटनी, सतना तथा अन्य क्षेत्रों को भेजे जाते हैं। किसान रेल इन उत्पादों को गंतव्य तक पहुंचाने का काम करेगी। यह रेल नासिक रोड़, मनमाड़, जलगांव, भुसावल, बुरहानपुर, खंडवा, इटारसी, जबलपुर, सतना, कटनी, मणिकपुर, प्रयागराज छेओकी, पं दीनदयाल उपाध्याय नगर और बक्सर में रुकेगी।

बिहार चुनाव: दो और पूर्व डीजी लड़ सकते हैं इलेक्शन, एक ने पिछले महीने ही थामा जेडीयू का दामन किसान बिल को लेकर आज शाम पांच बजे राष्ट्रपति से मिलेंगे विपक्षी पार्टियों के नेता रिया चक्रवर्ती की जमानत याचिका पर कल होगी सुनवाई, भारी बारिश की वजह से आज कोर्ट की छुट्टी और पढो: Amar Ujala »

Delhi Riots 2020 में बड़े नामों पर शिकंजा, चार्जशीट में Yogendra Yadav और Yechury के नाम शामिल

दिल्ली दंगे से फरवरी के महीने में दहक उठी थी. दंगे में 53 लोगों की जान जली गई थी और 581 लोगों घायल हो गए. पीड़ितों के जिस्म से नासूर की तरह ये जख्म ताउम्र रिसता रहेगा. लेकिन इस जख्म पर अब दिल्ली पुलिस ने एडिशनल चार्जशीट का नमक छिड़का है. दिल्ली दंगे से अब जुड़े हैं कई सियासी दिग्गजों के नाम. दिल्ली दंगे में दिल्ली पुलिस के निशाने पर हैं सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी, स्वराज अभियान के कर्ताधर्ता योगेंद्र यादव और दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर अपूर्वानंद समेत कई दिग्गज. देखें वीडियो.

RailMinIndia PiyushGoyalOffc PiyushGoyal IRCTCofficial अपने आप में आश्चर्य नहीं है कि स्वतंत्रता के लम्बे अंतराल के बाद रेलवे को किसानों की याद आई है। चलो देर आय दुरस्त आय। राम_राज्य_का_उदय हो रहा है।

भारतीय रेल का किसानों को तोहफा, फल-सब्जियों के लिए शुरू होगी 'किसान रेल' सेवाभारतीय रेल का किसानों को तोहफा, फल-सब्जियों के लिए शुरू होगी ' किसान रेल ' सेवा KisanRail RailMinIndia PiyushGoyal RailMinIndia PiyushGoyal यह कैसा कानून है जिससे मासूम बच्चों की जान पर खेलकर CBSE compartment exam लेगी। मतलब जान से बढ़कर नियम हो गए इन लोगो के लिए , शर्म आती है हमे भारत की शिक्षा नीति पर 😢 Canclecompartment2020 DrRPNishank cbseindia29 cbseindia29 PMOIndia narendramodi

किसानों के लिए खुशखबरी : कल से शुरू होगी 'किसान रेल', जानिए किन राज्यों को होगा फायदाकोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के बीच किसानों द्वारा उपभोक्ताओं को फल, सब्जी इत्यादि की आपूर्ति करने के लिए मध्य रेल (Central Railway) किसान पार्सल रेल चलाने जा रही है. किसान रेल की शुरुआत 7 अगस्त यानी कल से होगी. पहली किसान रेल सुबह 11 बजे से चलेगी. ऐसे बोल रहे हो जैसे 20लाख करोड़ आ रहे किसानों के लिए😂🤣🤭 किसान को कुछ नहीं मिलता किसान को तो यह भी नही पता होता की उस की फसल का बीमा किस कंपनी ने किया है किसान के तो खाते से बस पैसे काट लिए जाते है फसल बीमा के नाम पर यह बहुत बड़ा घपला हो रहा है जय जवान जय किसान TejasChandrak12

पंजाब के अड़ंगे के बाद बोले कमलनाथ, एमपी के बासमती चावल को मिले जीआई टैगReporterRavish Chutiyo take tution from republic arnab5222

राम मंदिर आंदोलन के वो बड़े चेहरे जो नहीं बन पाएंगे भूमिपूजन के पलों के गवाहप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से भूमि पूजन के साथ ही राम मंदिर निर्माण का काम रफ्तार पकड़ लेगा. अस्सी के दशक के आखिर में और नब्बे की दशक के शुरू में जो कई बड़े चेहरे राम मंदिर आंदोलन की पहचान माने जाते थे, वे बुधवार को अयोध्या के आयोजन में नजर नहीं आएंगे. सब हैं कोरोना के कारण है Unhone kia nahin kia aur naam kisi or ka ho raha hai JaiShriRam

मस्जिद की जगह मंदिर का निर्माण, भारतीय लोकतंत्र के चेहरे पर दाग़: पाकिस्तानप्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने बुधवार को अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमि पूजन किया और आधारशिला रखी. Terrorist ke muh se democrate nahi achhi lagti he PKMKB BBCkmkb

लॉकडाउन के कारण पाकिस्‍तान में फंसे 118 भारतीय 10 अगस्‍त को देश लौटेंगेये लोग कोरोना और लॉकडाउन की वजह से पाकिस्तान के अलग-अलग शहरों में फंसे हुए हैं. पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने इसकी लिखित मंज़ूरी दे दी है. इससे पहले क़रीब 800 भारतीय अलग-अलग जत्थों में भारत लौट चुके हैं. 10 अगस्‍त को लौटने वाले 118 लोग भी वाघा सीमा के ज़रिए भारत लौटेंगे.