भारत-बांग्लादेश के बीच रिश्तों में क्यों है कभी प्यार कभी नफ़रत? - BBC News हिंदी

भारत-बांग्लादेश के बीच रिश्तों में क्यों है कभी प्यार कभी नफ़रत?

08-12-2021 04:28:00

भारत-बांग्लादेश के बीच रिश्तों में क्यों है कभी प्यार कभी नफ़रत?

भारत दिसंबर 1971 में बांग्लादेश को एक आज़ाद देश के रूप में मान्यता देने वाला पहला मुल्क़ था. बांग्लादेश के जन्म की कहानी में भारत ने एक अहम रोल अदा किया था. लेकिन बीते 50 वर्षों में दोनों देशों के बीच रिश्ते काफ़ी उतार-चढ़ाव भरे रहे हैं. क्या है इसकी वजह?

इस पर बीना सीकरी कहती हैं कि ऐसी प्रवृत्ति वाले यहां बहुत कम लोग हैं. यहां की सरकार या आम लोगों के आम तौर पर ऐसे विचार नहीं हैं.वो कहती हैं, ''आप पाएंगे कि हर देश में किसी समूह का अलग रुख़ होता है. लेकिन मुझे लगता है कि वह बहुत छोटा हिस्सा होता है. बीना सीकरी के मुताबिक़, बांग्लादेश के प्रति भारत सरकार या आम जनता का कोई नकारात्मक रवैया नहीं है."

दूसरी ओर, बांग्लादेश से भारत आकर बसे लोगों में बांग्लादेश को लेकर पुरानी यादें होती हैं. पश्चिम बंगाल की एक छात्रा रूपकथा चक्रवर्ती ने बीबीसी बांग्ला को इस बारे में बताया.वो कहती हैं, ''हम लोग मूल रूप से बांग्लादेश से हैं, यह बात बचपन से ही मां-पिता से सुनती आई हूं. हमारे घर के खाने, रीति-रिवाज़ों में बांग्लादेश का प्रभाव साफ़ नजर आता है. किसी की आवाज़ में या कहीं और 'आमार शोनार बांग्ला' बजते सुनकर कभी नहीं लगा कि यह किसी और देश का राष्ट्रगान है. इसीलिए दोनों देशों के बीच कांटेदार तारों की बाड़ होने और ख़ुद कभी उस धरती पर पैर रखे बिना भी बांग्लादेश मेरे दिल के बहुत क़रीब है."

भारतीय नागरिक शांतनु रॉय कहते हैं, ''यह गर्व की बात है कि बांग्लादेश की विकास दर दक्षिण एशिया में सबसे अधिक है. फिर एक ही भाषा बोलने वाले लोगों के बीच धार्मिक विभाजन क्यों? हिंदुओं को क्यों देश छोड़कर आना पड़ा? यह मुझे बहुत बुरा लगता है." headtopics.com

UP Election: रामपुर की लड़ाई दो परिवारों के बीच आई, जानिए कौन दे रहा आजम परिवार को चुनौती

इमेज स्रोत,Getty Imagesइमेज कैप्शन,पिछले एक दशक में बांग्लादेश के साथ भारत के रिश्ते काफ़ी मज़बूत हुए हैं.पिछले एक दशक में दोनों केरिश्ते काफ़ी सुधरेहालांकि एक समय था भारत और बांग्लादेश के रिश्तों में एक दूरी कुछ अधिक थी. लेकिन पिछले एक दशक में दोनों देशों के संबंध काफ़ी गहरे हुए हैं.

दोनों देशों की सरकारों के बीच कई मुद्दों पर चर्चा हुई और समस्याओं पर ध्यान दिया गया. हालांकि नौकरशाही की समस्याओं के चलते उठाए गए क़दमों के कार्यान्वयन में समय लग रहा हो.इस पर बीना सीकरी कहती हैं, "बांग्लादेश और भारत के बीच क़रीब 4,000 किमी की सीमा है. भारत कभी भी बांग्लादेश को एक छोटे देश के रूप में नहीं देखता. वह इसे एक बड़े देश के रूप में ही देखता है, जिसकी अर्थव्यवस्था बढ़ रही है और जहां विकास हो रहा है.''

वो कहती हैं, "दोनों देशों के बीच कई अनसुलझे मुद्दे हो सकते हैं, लेकिन उन पर भी चर्चा हो रही है. उन्हें भी हल करने की कोशिश हो रही है. वास्तव में, मुझे दोनों देशों के बीच ऐसी कोई समस्या नहीं दिख रही, जिसे हल न किया जा सके."हालांकि, इस बारे में प्रोफ़ेसर अमीना मोहसिन का कहना है कि 1975 के बाद की सरकारों की गतिविधियों और बांग्लादेश के नागरिकों के बीच इतिहास की विकृति ने भी भारत के बारे में नकारात्मक भावना पैदा करने में मदद की है.

मौसम : 26 जनवरी के बाद और बढ़ेगी ठिठुरन, यूपी समेत आठ राज्यों में पांच डिग्री तक गिरेगा पारा

उनका कहना है कि बांग्लादेश की आज़ादी की लड़ाई में भारत ने जिस तरह से मदद की और बांग्लादेश के लोगों को अपने यहां पनाह दी, वास्तव में उसके लिए बांग्लादेश के लोग बहुत आभारी हैं. इस तथ्य से इनकार नहीं किया जा सकता. लेकिन उसके बाद कई ऐसी घटनाएं हुईं, जिनसे बहुत लोगों के मन में भारत विरोधी भावना पैदा हुई. headtopics.com

और पढो: BBC News Hindi »

इंडिया गेट से 'जय हिंद'... देखें बोस की मूर्ति पर सियासत का जोर!

आज बात होगी देश के पराक्रम की, उस महान क्रांतिकारी नेता की, जिनसे अंग्रेज सबसे ज्यादा डरते थे. आज उसी योद्धा की 125 वीं जयंती है. नेताजी सुभाष चंद्र की जन्म जंयती पर देश श्रद्धांजलि दे रहा है. इस मौके पर थोड़ी देर में इंडिया गेट पर पीएम मोदी नेताजी के होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण करने जा रहे हैं. इसी होलोग्राम प्रतिमा की जगह बाद में ग्रेनाइट से बनी भव्य प्रतिमा स्थापित की जाएगी. बता दें कि पहले 24 जनवरी से गणतंत्र दिवस समारोह की शुरुआत होती थी. लेकिन नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन को गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल करने के लिए पीएम मोदी ने ये फैसला लिया. हालांकि ऐसे मौके पर भी देश की सियासी पार्टियों की सियासत कम नहीं हुई है. आज बात सियासत पर तो होगी ही लेकिन उससे एक कदम आगे हम इतिहास के उन पन्नों को भी पलटेंगे और जानेंगे कि आखिर सुभाषचंद्र बोस के इतिहास में क्या मायने हैं. और पढो >>

Bhi ghar me bhi to jagdtee hai PAR musibat me sath sath Bdaee bhi chotee bhi jassi batt hai EK wajah chin bhi hai ek wajah dharam Is there another example in world history where a nation went to war to protect HumanRights of Millions poor muslim refugees & let them hv their own nation to live with dignity? narendramodi nytimes UN_HRC WIONews ihcdhaka WSJ PMOIndia OIC_OCI india Pakistan WIONews

जब से देश के पीएम बना है। लोग मर रहे हैं जवान शहीद हो रहे हैं। किसान शाहिद हो रहे हैं और रोड पर है। देश रोड पर है। गरीबी हद पार कर दी है। Bangladeshi Haraami Hansheri Ki Wajah Se... Hindu Muslim distrust is rooted in history of Islamic invasion, brutality & destruction. Muslims of this sub-continent r forced convertee, brain washed & fail to c real roots in Hinduism/India. Creation of Bdesh was biggest HumanRights efforts for refugees in hsitory nytimes

धर्म! इस्लामी कट्टरपंथियों का गढ़ बन चुका है बांग्लादेश। कट्टरपंथियों को मुस्लिम देशों से चंदा लेने के लिए आए दिन बांग्लादेश के हिंदुओं पर अपना जोर आजमाइश करते हैं। बांग्लादेश का प्यार धोखा और नफरत मे सच्चाई है। Aditya Birla Sunlife insurance is a fraud company and looting the people through their insurance policies. I request to all Indians not to purchase the insurance policies of Aditya Birla Sunlife insurance. Otherwise, you have to weep for your this decision.

बांग्लादेश से जबतक घुसपैठ होता रहेगा भारत में, तब तक भारत-बांग्लादेश के बीच तल्खी बनी रहेगी। बांग्लादेश को इसपर संज्ञान लेना चाहिए कि अगर भारत से रिश्ते सुधारने है तो अपने तरफ से घुसपैठ बंद करवाओ।

एक दिन में ओमिक्रॉन के 18 केस: राजस्थान में एक परिवार के 4 सदस्यों समेत 9 लोगों में नए वैरिएंट की पुष्टि, महाराष्ट्र में 8 और दिल्ली में एक केस मिलादेश में रविवार को ओमिक्रॉन के एक साथ 18 केस मिले हैं। इनमें राजस्थान में सबसे ज्यादा 9 मरीज हैं। यहां एक परिवार के 4 सदस्य हाल में दक्षिण अफ्रीका से लौटे थे। उनके संपर्क में आए 5 और लोगों में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है। इससे पहले पुणे में एक और इससे सटे जिले पिंपरी चिंचवाड़ में 7 लोगों में नया वैरिएंट मिला था। दिल्ली में भी एक मरीज इससे संक्रमित मिला है। इसके साथ ही देश में इस वैरिएंट के 5 राज्यों ... | Corona new Variant| Omicron variant in India| 5th omicron case found in Indian in Delhi|तंजानिया से लौटे यात्री में मिला संक्रमण, 4 दिन में देश में 5वां केस मिला MoHFW_INDIA PMOIndia MoHFW_INDIA PMOIndia ashokgehlot51 गहलोत जी क्या करवा रहे हो राजस्थान में MoHFW_INDIA PMOIndia

जो भी रिश्ते भावनात्मक होते हैं वो बेकार बेफिजूल और दुखदाई होते हैं! संबंध सदा वाणिज्यिक व्यापारिक राजनीतिक एवं कूटनीतिक ही टिकाऊ और ठोस होते हैं! इस दुनिया में प्यार को नफ़रत में बदलते वक्त नहीं लगता! Chuslims hmesha se gaddar rahe hai .. to ye bhi gaddari dikhayenge hi naa aakhirr ek hi hai sb chuslims worldwide .. !!!

पूरी तरह सरकार पर निर्भर है। आम जनता को सिवाय अमन शांति के कुछ नही चाहिए पूरी दुनिया नफ़रतों में जल रही है, शायद इसीलिए इस बार ठण्ड कम पड़ रही है।

टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में भारत की सबसे बड़ी जीत, न्यूजीलैंड को विशाल अंतर से हरायाभारतीय क्रिकेट टीम ने टेस्ट क्रिकेट में इतिहास रच दिया है। भारत ने अपने टेस्ट इतिहास की सबसे बड़ी जीत दर्ज की है। भारत की टीम ने न्यूजीलैंड की टीम को 372 रनों के अंतर से हराया है। Very good

Moto G51 5G की भारत में लॉन्चिंग हुई कंफर्म, 50MP कैमरे के साथ आएगा फोनMoto G51 5G की कीमत भारतीय बाजार में 20 हजार रुपये के करीब हो सकती है। Moto G51 5G की बिक्री फ्लिपकार्ट से होगी। Moto G51 5G को एक्वा ब्लू, ब्राइट

भारत के 5 सबसे सस्ते Smartphones, कीमत और फीचर्स में देते हैं JioPhone Next को टक्करCheapest Smartphones in India आज की खबर उन ग्राहकों के लिए है जो इस वक्त अपने लिए किफायती Smartphone की तलाश कर रहे हैं। हम आपको यहां 7000 रुपये से कम कीमत वाले डिवाइस के बारे में बताएंगे जिनमें आपको दमदार बैटरी से लेकर पावफुल कैमरा तक मिलेगा।

राष्ट्रपति पुतिन के दौरे से पहले भारत और रूस के बीच हुआ रक्षा समझौता - BBC Hindiरूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगू और भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दोनों देशों के बीच रक्षा समझौतों पर हस्ताक्षर किए. आप लोग के लिए तो ये न्यूज़ अच्छी नही है। दिल पे पत्थर रख कर न्यूज़ लिखी होगी। असल मुद्दा तो 'सौदा' ही हैं..! बाकी तो विज्ञापन बाजी होगी,फोटोशूट के साथ..!! क्या यह समझौता इदिरा युग जैसी विश्वास बहाली व सहयोग कायम रखेगा या सिर्फ ब्यौहारिक ब्यवसायिक ही रह जायेगा।

Omicron Effect: भारत में फरवरी में आ सकती है Corona की तीसरी लहर, लेकिन...मुंबई। सॉर्स-कोवी-2 के नए स्वरूप ओमिक्रोन (Omicron) से कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी की तीसरी लहर फरवरी में चरम पर पहुंच सकती है, जब देश में प्रतिदिन एक लाख से डेढ़ लाख तक मामले सामने आने की संभावना है। उल्लेखनीय है कि भारत में नए वैरिएंट ओमिक्रोन के 20 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं।