Narasimha Rao Govt, Narasimha Rao Wanted Netaji Ashes, Netaji Subhash Chandra Bose, Bose Ashes İn Japan, Netaji Grandson, Netaji Daughter, सुभाष चंद्र बोस अस्थियां, नरसिम्हा राव सरकार, बोस, आजाद हिंद फौज

Narasimha Rao Govt, Narasimha Rao Wanted Netaji Ashes

बोस की अस्थियां लाना चाहती थी राव सरकार, दंगे की आशंका से पीछे खींच लिए थे कदम- नेताजी के प्रपौत्र का दावा

सुभाष चंद्र बोस के प्रपौत्र ने ये दावा किया है।

22-10-2021 18:24:00

सुभाष चंद्र बोस के प्रपौत्र ने ये दावा किया है।

नरसिम्हा राव की सरकार ने नेताजी की अस्थियां भारत लाने की योजना बनाई थी, लेकिन खुफिया रिपोर्ट के बाद इस योजना को रोक दिया गया था। सुभाष चंद्र बोस के प्रपौत्र ने ये दावा किया है।

पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव और नेताजी सुभाष चंद्र बोस (फोटो-एक्सप्रेस आर्काइव)नेताजी सुभाष चंद्र बोस के प्रपौत्र ने दावा किया है कि नेताजी की अस्थियों को नरसिम्हा राव की सरकार भारत लाना चाहती है, लेकिन खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट के बाद सरकार ने अपने कदम वापस खींच लिए थे। खुफिया रिपोर्ट के अनुसार सरकार के इस कदम से देश में दंगे भड़कने की आशंका थी।

'अयोध्या-काशी जारी है, मथुरा की तैयारी है', UP चुनाव से पहले हिन्दुत्व एजेंडे पर लौटी BJP BSNL की 4G लॉन्चिंग का हुआ एलान, क्या प्राइवेट कंपनियों का साथ छोड़ेंगे ग्राहक हरियाणा: विदाई के बाद ससुराल जा रही थी दुल्हन, पूर्व प्रेमी ने रास्ते में मारी गोली

नेतीजी के प्रपौत्र ने कहा कि 1990 के दशक में तत्कालीन पीवी नरसिम्हा राव की सरकार ने अस्थियां लाने की योजना बनाई थी, जो जापान के रेंकोजी मंदिर में रखे हुए हैं। लेकिन एक खुफिया रिपोर्ट के कारण ऐसा करने से मना कर दिया गया था। इसमें चेतावनी दी थी कि इस मुद्दे पर विवाद से कोलकाता में दंगे हो सकते हैं।

जापान की राजधानी टोक्यो के एक बौद्ध मंदिर में रखे गए इन अस्थियों को लेकर लेखक आशीष रॉय ने कहा किसुभाष चंद्र बोसकी राख उनकी बेटी अनिता घोष के पास होनी चाहिए। उन्हीं के पास इसका कानूनी अधिकार है। अनीता बोस इस समय जर्मनी में रहती हैं। आजाद हिंद सरकार की स्थापना की 78वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में गुरुवार को भारत-जापान समुराई केंद्र द्वारा विदेश मंत्रालय के सहयोग से आयोजित एक वर्चुअल सेमिनार में बोलते हुए आशीष रॉय ने ये बातें कही। headtopics.com

रॉय द्वारा लिखी किताब ‘Laid to Rest’ में उन्होंने दावा किया गया है कि उस वक्त पीएम नरसिम्हा राव ने इन अस्थियों को लाने के लिए एक हाई लेवल कमेटी बनाई थी। इस कमेटी में कांग्रेस नेता प्रणब मुखर्जी को भी शामिल किया गया था। इस कमेटी की जिम्मेदारी नेताजी की अस्थियों को वापस लाने की थी।

Also Readजब भेष बदलकर भाग गए थे सुभाष तो हिटलर से भी की थी मुलाकात..लेकिन तब देश के लोग नेताजी की मौत को लेकर ये विश्वास नहीं करते थे कि उनकी मौत 18 अगस्त, 1945 को ताइपे में एक विमान दुर्घटना में हो गई थी। ऐसे में राख के लाने पर विवाद हो सकता था और दंगे भड़क सकते थे। यह रिपोर्ट खुफिया ब्यूरों ने सरकार को दी थी। जिसके बाद सरकार ने इस योजना को रोक दिया था।

कहा जाता है कि नेताजी दुर्घटना में बच गए थे। या फिर वो विमान में थे ही नहीं। एक और थ्योरी के अनुसार उन्हें सोवियत जेल में बंद कर दिया गया था। इसके साथ ही ये भी कहा जाता रहा है कि बोस भारत लौट आए थे और एक साधु रूप में रहने लगे थे। हालांकि सरकार ने 2017 में ये मान लिया था कि नेताजी की मृत्यु विमान दुर्घटना में ही हुई थी।

और पढो: Jansatta »

वारदात: तेज हो गई समीर-नवाब की तकरार, क्या है स्कूल सर्टिफिकेट की सच्चाई?

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के मुंबई के जोनल हेड समीर वानखेड़े के बर्थ सर्टिफिकेट और मैरिज सर्टिफिकेट के बाद महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक कथित रूप से उनके ये दो नए सर्टिफिकेट लेकर आए हैं. नवाब मलिक के मुताबिक समीर दादर के सेंट पॉल हाईस्कूल से प्राथमिक शिक्षा ली थी. इस सर्टिफिकेट में समीर वानखेड़े का नाम वानखेड़े समीर दाऊद लिखा है. यहां ये भी लिखा है कि छात्र की जाति और उपजाति तभी बताई जाए जब वो पिछड़े वर्ग, या अनुसूचचित जाति-जनजाति से आए. जबकि धर्म के कॉलम में लिखा है मुस्लिम. इसके बाद समीर वडाला के सेंट जॉसेफ हाईस्कूल में पढने गए. यहां के स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट में समीर का नाम वानखेड़े समीर दाऊद लिखा है. और धर्म के कॉलम में लिखा है मुस्लिम. दरअसल नवाब मलिक समीर वानखेड़े को मुसलमान साबित करने के लिए इसलिए जुटे हैं क्योंकि अगर उनकी बात सही साबित हो गई तो समीर वानखेड़े के नौकरी खतरे में पड़ जाएगी. देखें वीडियो.

दिग्गजों की डुगडुगी : आलिया के फैन रणबीर, सनी देओल के भक्त, फरदीन की वापसीआलिया भट्ट और रणबीर कपूर की निकटता की खूब चर्चा है और यहां तक कहा जा रहा है कि जल्दी ही दोनों शुभमंगल सावधान कर फिल्म इडस्ट्री को दावत दे सकते हैं।

भारतीय पनडुब्बी को अपने जल क्षेत्र में रोकने के पाकिस्तान के दावे की खुली पोलपाकिस्तान के उस दावे की पोल खुल गई है कि उसने पिछले सप्ताह अपने जल क्षेत्र में भारतीय पनडुब्बी को घुसने से रोका था। दरअसल भारतीय नौसेना के सूत्रों ने ऐसे विवरण पेश किए हैं जो बताते हैं कि पनडुब्बी पाकिस्तान के जल क्षेत्र से बहुत दूर मौजूद थी Hijada pakistan

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद महिला अधिकारियों की बड़ी जीत, 39 को मिला परमानेंट कमीशनपरमानेंट कमीशन मिलने के बाद अब ये महिला अधिकारी सेवानिवृत्ति की उम्र तक भारतीय सेना में अपनी सेवाएं दे सकेंगी। जबकि शॉर्ट सर्विस कमीशन के अंतर्गत महिला अधिकारी सिर्फ 10 साल तक ही अपनी सेवाएं दे सकती हैं।

IPL 2022 के ऑक्शन में शामिल होने के लिए मैनचेस्टर यूनाइटेड के मालिक ने जताई दिलचस्पीबीसीसीआई को आईपीएल के अगले पांच साल के टेंडर में तकरीबन पांच अरब डॉलर की कमाई हो सकती है। वहीं आईपीएल 2022 के ऑक्शन में शामिल होने के लिए फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर यूनाइटेड के मालिक ने भी दिलचस्पी जताई है।

IRCTC के इस Flight Package के तहत कर सकते हैं Tirupati Devasthanam के दर्शनपैकेज के जरिये आप Lord Balaji Temple Padmavathi Temple Sri Kalahasti की यात्रा कर सकते हैं। यह यात्रा 1 रात और 2 दिन के लिए होगा। टूर की तारीख 23 अक्टूबर 2021 और 19 नवंबर और 20 नवंबर 2021 है।

जनसंघ के 70 साल: स्कूल के एक कमरे में 2 घंटे की बैठक के दौरान पड़ी जनसंघ की नींव, आज वहां भाजपा का कोई नेता नहीं जाताआज से 70 साल पहले यानी 21 अक्टूबर 1951, दिल्ली के मशहूर गोल मार्केट से करीब आधा किलोमीटर दूर राजा बाजार में एक पब्लिक स्कूल में दो घंटे के लिए कमरा लिया जाता है। इसमें कुछेक लोग शामिल होते हैं और एक नई पार्टी की नींव रखी जाती है। नाम भारतीय जनसंघ पार्टी। उस वक्त कांग्रेस के विकल्प के रूप में उभरी जनसंघ आज भाजपा में तब्दील हो चुकी है। आज उसका हेडक्वार्टर 1.7 लाख स्क्वायर फीट में फैला है। देशभर में ... | The foundation of Jana Sangh was laid after a meeting which lasted for 2 hours in a school, today no BJP leader goes there, even the people around do not know anything. sandhyadwivedi1 RSSorg BJP4India BJP4Delhi ज्यादा तिरछे मत चलो...IT raid का खुमार उतर गया क्या... sandhyadwivedi1 RSSorg BJP4India BJP4Delhi अब जाता तो कोई कालापानी में भी नही टैक्स चोर दैनिकभास्कर क्या कहना चाह रहा है