Urbanization, Urbanization Problems İn İndia, Urbanization İn İndia, Random Urbanization, Planned Cities İn India, Nıtı Aayog, Rajiv Kumar, शहरीकरण

Urbanization, Urbanization Problems İn İndia

बेतरतीब शहरीकरण बना जंजाल, आधे से अधिक नियोजित शहरों का कोई मास्टर प्लान तक नहीं

बेतरतीब शहरीकरण बना जंजाल, आधे से अधिक नियोजित शहरों का कोई मास्टर प्लान तक नहीं #urbanization @NITIAayog

16-09-2021 21:25:00

बेतरतीब शहरीकरण बना जंजाल, आधे से अधिक नियोजित शहरों का कोई मास्टर प्लान तक नहीं urbanization NITIAayog

urbanization in india रिपोर्ट जारी करने के बाद योजना आयोग के उपाध्यक्ष डा. राजीव कुमार ने बताया कि देश के ज्यादातर शहरी निकायों के पास अपना कोई टाउन प्लानर तक नहीं है। भला ऐसे में शहरी नियोजन हो तो कैसे?

नीति आयोग ने गुरुवार को 'भारत में शहरी नियोजन क्षमता में सुधार' पर एक विस्तृत रिपोर्ट जारी की। इसके मुताबिक देश के ज्यादातर शहरी क्षेत्रों का न तो कोई मास्टर प्लान है और न ही वहां टाउन प्लानर आदि की नियुक्ति की गई है। ऐसे शहरी निकायों और कस्बाई क्षेत्रों में रहने वालों की हालत तंग है। बुनियादी ढांचे के अभाव के साथ वहां बसने वालों की मूलभूत जरूरतें तक पूरी नहीं हो रही हैं। यही वजह है कि थोड़ी सी बरसात भी शहरवासियों की मुश्किलों का सबब बन जाती है।

बुनियादी ढांचे के अभाव में लोगों की मूलभूत जरूरतें तक नहीं हो रहीं पूरीएक अनुमान के मुताबिक वर्ष 2050 तक शहरों की आबादी बढ़कर 88 करोड़ से अधिक हो जाएगी। विशेषज्ञों को आशंका है कि समय रहते शहरी नियोजन को सही और उचित तरीके से लागू नहीं किया गया तो हालात चिंताजनक और भयावह हो सकते हैं। नीति आयोग की एडवाइजरी कमेटी की सिफारिशों में कोरोना काल के दौरान स्वास्थ्य सुविधाओं की भयावह स्थिति के मद्देनजर स्वास्थ्य सुविधाओं से लैस शहरों की अपेक्षा की गई है। इसके अलावा शहरी भूमि के अधिकतम इस्तेमाल, मानव संसाधन की क्षमताओं को बेहतर बनाने और उसके उपयोगों के साथ नगरीय शासन व्यवस्था को सुदृढ़ करने की सिफारिश की गई है।

यह भी पढ़ेंकमेटी ने अपनी रिपोर्ट में स्थानीय नेतृत्व की क्षमता का निर्माण करने, प्राइवेट सेक्टर की भूमिका को और बढ़ाने, शहरी नियोजन की शिक्षा प्रणाली को प्रगतिशील बनाने के पहलुओं पर विशेष ध्यान दिया गया है। कमेटी की रिपोर्ट के पहले हिस्से में देश के शहरी क्षेत्र की ताजा तस्वीर खींची गई है। इसके मुताबिक देश के 7,933 छोटे बड़े शहरों और कस्बों में 65 फीसद के पास अपना कोई मास्टर प्लान नहीं है। नियोजित 4,041 शहरी निकायों में से 52 फीसद के पास भी मास्टर प्लान नहीं है। headtopics.com

यह भी पढ़ेंरिपोर्ट जारी करने के बाद योजना आयोग के उपाध्यक्ष डा. राजीव कुमार ने बताया कि देश के ज्यादातर शहरी निकायों के पास अपना कोई टाउन प्लानर तक नहीं है। भला ऐसे में शहरी नियोजन हो तो कैसे? उन्होंने शहरी क्षेत्रों की चिंताजनक स्थिति का जिक्र करते हुए इस रिपोर्ट को लागू करने की अपील की है। राजीव कुमार ने बताया कि इस रिपोर्ट को तैयार करने में राज्यों की सहभागिता रही है।

और पढो: Dainik jagran »

दंगल: क्या अब्बाजान और चिलमजीवी ही यूपी चुनाव के मुद्दे हैं?

उत्तर प्रदेश में चुनाव का माहौल जैसे-जैसे गर्माता जा रहा है, नेताओं की जुबान तीखी होती जा रही है. समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने योगी सरकार को एक बार फिर चिलमजीवी कह के घेरा है. अखिलेश अक्सर चिलम फूंकने का आरोप लगाकर योगी आदित्यनाथ को घेरते रहे हैं. लेकिन चिलम के नाम पर अखिलेश को जवाब संत समाज की ओर से मिला है. कुछ साधु संतों ने इसे संतों का अपमान बताकर अखिलेश से माफी की मांग की है. आज दंगल में देखें क्या चिलम वाले बयान पर अखिलेश ने संतों की नाराजगी मोल ले ली है? और क्या 2022 के चुनाव में इसका असर पड़ेगा? देखें वीडियो.

Delhi School Reopen: दिल्ली में 8वीं तक के बच्चों के लिए अभी नहीं खुलेंगे स्कूलSchool Reopen: DDMA द्वारा जारी आदेश के मुताबिक 8वीं तक के स्कूलों को फिलहाल बंद रखने का फैसला किया गया है. वहीं नौवीं से 12वीं तक की कक्षाएं 50 फीसदी क्षमता के साथ चलती रहेंगी.

कोई पहली बार जीता, कोई है पेशे से बिल्डर, जानें गुजरात के नए मंत्रियों कोगुजरात में भूपेंद्र पटेल के कमान संभालने के बाद अब उनकी नई कैबिनेट शपथ ले रही है. भारतीय जनता पार्टी ने कई युवा चेहरों को इस बार मौका देने का फैसला लिया है और भविष्य पर नज़रें जमाई जा रही हैं. Good Decision Bhupendrapbjp युवाओं की परिभाषा बताने की कृपा करेंगे ? BoycottShahRukhKhan BoycottShahRukhKhan BoycottShahRukhKhan BoycottShahRukhKhan BoycottShahRukhKhan BoycottShahRukhKhan BoycottShahRukhKhan BoycottShahRukhKhan BoycottShahRukhKhan BoycottShahRukhKhan BoycottShahRukhKhan BoycottShahRukhKhan

राकेश टिकैत का तंज: भाजपा के चचाजान हैं ओवैसी, इन पर नहीं होता कभी कोई केसराकेश टिकैत का तंज: भाजपा के चचाजान हैं ओवैसी, इन पर नहीं होता कभी कोई केस upelection2022 RakeshTikat BJP4UP myogioffice RakeshTikaitBKU BJP4UP myogioffice RakeshTikaitBKU ये MKL किसानों का केस लड़ रहा है यां अपनी अम्मी BJP4UP myogioffice RakeshTikaitBKU Yah aadami Kisan Giri se rajniti ke upar utar aaya hai. Farmer se usko kuchh nahin Lena dena he. BJP4UP myogioffice RakeshTikaitBKU आपकी सोच अब जनता सब जानती है कि आप सिर्फ कॉन्ग्रेसी दलाल और वामपंथी विचारधारा से चल रहे हो कोई नहीं आप अपना दलाली चालु रखो, बाकि जय श्री राम

iPhone 13 के लॉन्च के बाद 14,000 रुपये तक सस्ता हो गया iPhone 12iPhone 13 को लॉन्च कर दिया है. Apple ने नए iPhone 13 की कीमत पिछले साल लॉन्च हुए iPhone 12 के लॉन्च कीमत जितनी ही रखी है. इस नए iPhone लॉन्च के बाद iPhone 12 की कीमत को कम कर दिया गया है.

Actress Nupur Alankar के जीजा Afghanistan में फंसे, 19 अगस्त के बाद नहीं हो पाया संपर्कअफगानिस्तान में तालिबान का कब्जा होने के बाद कई दिल दहलाने वाली तस्वीरें सामने आई है। हजारों लोग अफगानिस्तान छोड़कर भाग चुके हैं। वहीं अफगानिस्तान में फंसे कई भारतीय भी देश लौट चुके हैं। लेकिन एक्ट्रेस नूपुर अंलकार के जीजा कौशल अग्रवाल पिछले कई महीनों से अफगानिस्तान में फंसे हुए हैं।

गुजरातः विजय रूपाणी के इस्तीफ़े के बाद बेटी बोलीं- क्या नेताओं को संवेदनशील नहीं होना चाहिएदिसंबर 2017 में दूसरी बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने विजय रूपाणी ने 11 सितंबर को पद से इस्तीफ़ा दे दिया था. रूपाणी की बेटी राधिका ने एक फेसबुक पोस्ट के ज़रिये उन सभी लोगों को जवाब दिया है, जो उनके पिता की सरल छवि को लेकर उन पर निशाना साधे हुए थे. covid me savedna nahin dikhi or bjp ne logo ko apne hal par chod diya nakamyabi thi to hona hi tha NcAsthana khanumarfa pbhushan1 ppbajpai DaminiY26747626 RahulGandhi suryapsingh_IAS ravishndtv rohini_sgh VinodDua7 pathakalok68 DeepalTrevedie vinodkapri RameshSavani10 कोटि कोटि बधाई देने से जीडीपी बढ़ सकती है और समाज के गरीबों का विकास और कल्याण हो जायेगा !