Loksabha, Loksabha 2019

Loksabha, Loksabha 2019

बुलंदशहर लोकसभा सीट: कौन-कौन है उम्मीदवार, किसके बीच होगी कड़ी टक्कर

बुलंदशहर लोकसभा सीट पर होगा कड़ा मुकाबला #Loksabha #Loksabha2019

03-04-2019 06:05:00

बुलंदशहर लोकसभा सीट पर होगा कड़ा मुकाबला Loksabha Loksabha 2019

बुलंदशहर संसदीय सीट से फिलहाल बीजेपी के भोला सिंह ही सांसद हैं. पिछले चुनाव में उन्होंने यहां से प्रचंड जीत हासिल की थी. बुलंदशहर का संसदीय इतिहास 1952 से ही कायम है और 1952 से लेकर 1971 तक यहां हुए पांच चुनाव में कांग्रेस ने लगातार जीत दर्ज की.

अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित बुलंदशहर लोकसभा सीट से 2019 में कड़ा मुकाबला देखने को मिल सकता है. यहां पर दूसरे चरण में 18 अप्रैल को मतदान होने वाला है. इस चुनावी समर में 13 उम्मीदवार मैदान में हैं. मुख्य मुकाबला बीजेपी के निवर्तमान सांसद भोला सिंह, कांग्रेस के बंशी सिंह और बसपा के योगेश वर्मा के बीच है. 4 निर्दलीय प्रत्याशियों के अलावा मैदान में 6 अन्य छोटे दलों के उम्मीदवार भी हैं.

असम-मिज़ोरम विवाद में क्या-क्या हुआ और क्या है पूरा मामला? - BBC News हिंदी देश के एक तिहाई से अधिक स्कूलों और आंगनबाड़ी केंद्रों तक नल से जलापूर्ति नहीं हो सकी टोक्यो ओलंपिक: हॉकी में भारत ने स्पेन को 3-0 से हराया - BBC Hindi

1952 से कांग्रेस की धमाकेदार शुरुआत बुलंदशहर संसदीय सीट से फिलहाल बीजेपी के भोला सिंह ही सांसद हैं. पिछले चुनाव में उन्होंने यहां से प्रचंड जीत हासिल की थी. बुलंदशहर का संसदीय इतिहास 1952 से ही कायम है और 1952 से लेकर 1971 तक यहां हुए पांच चुनाव में कांग्रेस ने लगातार जीत दर्ज की, लेकिन उसके बाद यहां पर मतदाताओं ने लगातार हुए चुनावों में अलग-अलग पार्टियों को तवज्जो दी. 1977 में भारतीय लोक दल, 1980 में जनता दल ने यहां कांग्रेस को करारी मात दी थी. लेकिन 1984 में कांग्रेस वापसी करने में कामयाब रही.

हालांकि 1989 के बाद से कांग्रेस यहां पर वापसी के लिए संघर्ष कर रही है. 1989 चुनाव में जनता दल के जीत दर्ज करने के बाद 90 के दशक में राम लहर के दौर में 1991 से लेकर 2004 तक लगातार पांच बार भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने चुनाव हासिल की. इस दौरान 1991 से 1999 तक बीजेपी के छतरपाल सिंह ने इस सीट पर अपना दबदबा बनाए रखा. 2004 में भी बीजेपी को यहां से जीत मिली थी. 2009 में यहां समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार कमलेश वाल्मिकी ने बड़ी जीत दर्ज की, लेकिन 2014 में देश में चली मोदी लहर का असर यहां भी दिखा और बीजेपी ने जीत हासिल की. headtopics.com

बुलंदशहर में 77 फीसदी आबादी हिंदू2014 में लोकसभा चुनाव के अनुसार इस सीट पर 17 लाख से अधिक वोटर हैं. इनमें 9 लाख से अधिक पुरुष और करीब 8 लाख महिला वोटर हैं. बुलंदशहर में करीब 77 फीसदी हिंदू और 22 फीसदी मुस्लिम आबादी रहती हैं. बुलंदशहर लोकसभा के अंतर्गत कुल 5 विधानसभा अनूपशहर, बुलंदशहर, डिबाई, शिकारपुर और स्याना विधानसभा सीटें आती हैं. 2017 विधानसभा चुनाव में इन सभी 5 सीटों पर बीजेपी ने जीत हासिल की है.

बुलंदशहर की ही स्याना विधानसभा सीट वही जगह है जहां पर 2018 के आखिर में गोहत्या के शक में हिंसा हुई थी. इस हिंसा में एक पुलिसकर्मी और एक युवक की मौत हो गई थी. बुलंदशहर हिंसा ने राजनीतिक तौर पर काफी सुर्खियां बटोरी थीं. और पढो: आज तक »

जानिए UP Cabinet Expansion में किन-किन समीकरणों का रखा जा सकता है ध्यान? देखें शंखनाद

संगठन की ओर से 25,26 और 30 जुलाई की तारीख का प्रस्ताव भी दिया गया है. जिस पर योगी आदित्यनाथ फैसला करेंगे .जाहिर सी बात है कि मंत्रिमंडल विस्तार में उन सारे समीकरण को ध्यान में रखा जाएगा, जिसे साधकर यूपी में जीत की राह आसान हो सके. संजय निषाद के सांसद बेटे प्रवीण निषाद को मोदी कैबिनेट में शामिल किए जाने की चर्चा थी,लेकिन उन्हें जगह नहीं मिली तो अब निषाद वोटों को जोड़े रखने के लिए संजय निषाद कैबिनेट में शामिल किए जा सकते हैं. निषाद समाज के अलावा राजभर समाज पर भी योगी सरकार की नजर है, जिसका पूर्वांचल में काफी दबदबा है. देखें वीडियो.

🌷🌷🌷 *'कौन पूरी तरह काबिल है...* *कौन पूरी तरह पूरा है..* *हर एक शख्स कहीं न कहीं...* *किसी जगह थोड़ा सा अधूरा है.......* Gud morning जरुरी नही की आप जमीन पर ही थुके ! हर बात पे हिन्दु - मुस्लिम करने वालो के मुँह पर भी थुक सकते हैं !! 🤷

मुलायम सिंह ने मैनपुरी से भरा पर्चा, साथ में थे अखिलेश और राम गोपाल यादव, नहीं दिखे शिवपालमुलायम सिंह यादव मैनपुरी सीट से चार बार सांसद रह चुके हैं. साल 2014 में उन्होंने मैनपुरी के साथ ही आजमगढ़ सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा था. मुलायम ने दोनों ही सीटों से जीत हासिल कर ली थी, बाद में उन्होंने मैनपुरी सीट छोड़ दी. इसके बाद इस सीट पर उपचुनाव हुए, जिसमें समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार तेज प्रताप यादव जीतने में कामयाब रहे. मैनपुरी सीट से मुलायम 1996, 2004 और 2009 से चुनाव जीत चुके हैं. राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि मैनपुरी लोकसभा सीट समाजवादी पार्टी के लिये काफी सुरक्षित सीट है. इस सीट पर पिछली बार मुलायम साढ़े तीन लाख से अधिक वोटो से जीते थे. achcha hai nahi dikhe जिसका जलवा आज भी कायम है! उसका नाम धरती पुत्र मुलायम सिंह यादव है! yadavakhilesh

लोकसभा चुनाव: इस एक सीट पर EVM से नहीं, बैलेट पेपर से डाले जाएंगे वोटतेलंगाना के निजामाबाद लोकसभा सीट को वीवाईपी सीटों में गिना जाता है. यहां से टीआरएस प्रमुख के चंद्रशेखर राव की बेटी के कविता उम्मीदवार हैं. कौन सी

कंधमाल लोकसभा सीट: BJD ने मौजूदा MP का टिकट काटा2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेडी ने इस सीट पर अत्युतानंद सामंता को अपना उम्मीदवार बनाया है. कांग्रेस के मनोज कुमार आचार्य इस सीट से उम्मीदवार हैं. जबकि बीजेपी ने आयरा खारबेला स्वैन को मैदान में उतारा है. इस सीट से बहुजन समाज पार्टी के आमिर नायक भी मैदान में हैं. टुना मल्लिक इस सीट से कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (एमएल) के कैंडिडेट हैं. खास बात ये हैं कि इस सीट से कोई भी निर्दलीय उम्मीदवार मैदान में नहीं है. Jitega कोई अगर मुफ्त दे तो भी मत लेना दिल अभी और भी सस्ते होंगे Fuck u B.J.D.........salo ko bhar pheko......chor hai sab ke sab ...... aab ki bar sirf modi srkr......

किशनगंज लोकसभा सीटः चुनाव मैदान में 14 उम्मीदवार, कौन मारेगा बाजी?बिहार की किशनगंज लोकसभा सीट पर बहुजन समाज पार्टी से इंद्र देव पासवान, तृणमूल कांग्रेस से जावेद अख्तर, कांग्रेस पार्टी से डॉ. मोहम्मद जावेद, आम आदमी पार्टी से अलीमुद्दीन अंसारी, जनता दल (युनाइटेड) से सईद महमूद अशरफ, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन से अख्तरुल इमान, शिवसेना के टिकट से प्रदीप कुमार सिंह, झारखंड मुक्ति मोर्चा से शुकल मुरमू और बहुजन मुक्ति पार्टी के टिकट से राजेंद्र पासवान चुनाव मैदान में हैं. इस सीट पर दूसरे चरण में 18 अप्रैल को वोटिंग होगी. इसके बाद 23 मई को मतगणना होगी और चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे. Journalist_Ram जय हिंद मै हूँ न Journalist_Ram Why talking about only one cast ? India has not one cast it has many. Do not make them so important. Journalist_Ram २१वीं सदी का मीडिया बात देश & राष्ट्रीयता की करता है लेकिन लोकसभा की हर सीट को धर्म & जाति के विषाक्त चश्मों से समीक्षा करता है ना कि वहां के लोगो की मूल समस्याओं की समीक्षा करे

बीजेपी नेता की मांग- दिग्विजय के खिलाफ भोपाल से लोकसभा चुनाव लड़ें पीएम मोदीबीजेपी अनुसूचित जाति मोर्चा के पूर्व राष्ट्रीय प्रभारी और अखिल भारतीय एससी एसटी अधिकार परिषद के अध्यक्ष इन्द्रेश गजभिये ने बीजेपी आलाकमान से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भोपाल लोकसभा सीट से चुनाव लड़ाने की मांग की है. मालूम हो कि कांग्रेस ने भोपाल लोकसभा सीट से वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को उम्मीदवार बनाया है. गजभिये ने कहा कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और संसदीय बोर्ड के सदस्यों को पत्र लिखकर भोपाल लोकसभा सीट से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चुनाव लड़ाने की मांग की गयी है. BJP4India चुनाव जीतने के लिए कुछ भी बोल दीजिये भक्त ताली बजायेंगे लेकिन सत्य यही है आपके पास कोई मुद्दा नही जनता के लिए सिर्फ बकवास ModiScamCentury IndiaWithNaMo BJP4India मोदी ही क्यों,दिग्विजयसिंह के खिलाफ भाजपा से कोई गुमनाम प्रत्याशी भी खड़ा हो जाये तो दिग्विजयसिंह 5 लाख वोटों के अंतर से हार जाएगा BJP4India 😂😂😂😂😂😂😂😂who is chacha chatur lala who married a reporter 😂😂😂😂

सपा ने 5 और प्रत्याशियों का किया ऐलान, बरेली से भगवत शरण गंगवार को टिकटसमाजवादी पार्टी ने मुरादाबाद सीट से नासिर कुरैशी, बरेली सीट से भगवत शरण गंगवार, उन्नाव सीट से पूजा पाल, झांसी सीट से श्याम सुंदर सिंह यादव और कुशीनगर सीट से नथुनी प्रसाद कुशवाहा को प्रत्याशी बनाया है. 8 times M.P a good portfolio in central government..bt for bareilly he did nothing. Again kahi takkar kahi jung, ye news channel hai ya wwf 😱WTF😂🙏🏻

खम्माम लोकसभा सीट से 23 प्रत्याशी चुनाव मैदान में, क्या वापसी करेगी कांग्रेस?तेलंगाना की खम्माम (Khammam) लोकसभा सीट पर भारतीय जनता पार्टी के टिकट से देवकी वसुदेव राव, तेलंगाना राष्ट्र समिति के टिकट से नामा नागेश्वर राव सीपीआई (एम) से वोडा वेंकट, कांग्रेस पार्टी के टिकट से रेनुका चौधरी, तेलंगाना युवा शक्ति से उमामहेश्वर राव चेरुकुपल्ली, एकीकृत संक्षेम राष्ट्रीय प्रजा पार्टी से कट्टा श्रीनिवास, तेलंगाना कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया से गोपोजू रमेश बाबू, बहुजन मुक्ति पार्टी से नागेश्वर राव लकावथ, जनसेना पार्टी से नरला सत्यनारायण और पिरामिड पार्टी ऑफ इंडिया से वेंकटेश्वर राव चुनाव मैदान में हैं. यहां 11 अप्रैल को पहले चरण के तहत वोटिंग होगी. फिलहाल खम्माम लोकसभा सीट से वाईएसआरसीपी के पी. श्रीनिवास रेड्डी सांसद हैं.

कटिहार लोकसभा सीट पर तारिक अनवर को टक्कर देंगे ये दिग्गजबिहार की कटिहार लोकसभा सीट पर कांग्रेस पार्टी से शाह तारिक अनवर, जनता दल (युनाइटेड) से दुलाल चंद्र गोस्वामी, नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी से मुहम्मद शाकुर, बहुजन समाज पार्टी से शिवनंदन मंडल, पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया (डेमोक्रेटिक) से अब्दुर रहमान, राष्ट्रीय जनसंभावना पार्टी से गंगा केबट और भारतीय बहुजन कांग्रेस से बसुकीनाथ चुनाव मैदान में हैं. इस बार यहां से कुल नौ प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. इस सीट पर दूसरे चरण में 18 अप्रैल को वोटिंग होगी. Journalist_Ram ये दुनीया किसी की जागीर नही यहां सभी चौकीदार🙏MainBhiChowkidar Journalist_Ram बेरोजगार युवाओं को मोदी ने बना दिया चौकीदार Journalist_Ram ये भी चमचे दरबारी औऱ कोन्ग्रेसी गुलाम के अलावे कुछ नही।विदेशी के मामले पर पवार के साथ अलग हुए थे।अब क्या खुद दोगले हो गए इंडियन/,इटैलियन

राहुल गांधी की मौजूदगी में कल कांग्रेस ज्वाइन करेंगे शत्रुघ्न सिन्हा, पटना साहिब से उम्मीदवार होंगेकरीब तीन दशक से बीजेपी से जुड़े रहे दिग्गज नेता और हिंदी सिनेमा के जाने-माने अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा कल यानी 28 मार्च को कांग्रेस में शामिल होंगे. कल सुबह 11.30 बजे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर पार्टी में शामिल होंगे. इसके बाद कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस कांफ्रेन्स हो सकती है. शत्रुघ्न सिन्हा पटना साहिब लोकसभा सीट से कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार होंगे. उनका पटना साहिब सीट से दूसरा लोकसभा कार्यकाल है और इस बार बीजेपी ने इस संसदीय क्षेत्र से उनके बजाए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को अपना उम्मीदवार घोषित किया है. INCIndia ShatruganSinha बहुत अच्छा लगा INCIndia ShatruganSinha जो बीजेपी है वही कांग्रेस हैं yadavakhilesh INCIndia ShatruganSinha पटना साहिब की सीट भी कांग्रेस के हाथ से गई

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी यूपी की अमेठी और केरल की वायनाड सीट से लड़ेंगे लोकसभा चुनावकांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी यूपी की अमेठी और केरल की वायनाड सीट से लोकसभा चुनाव का चुनाव लड़ेंगे. कांग्रेस ने इसकी घोषणा की है. Jai ho Now dts what we call OVER CONFIDENCE!! *BEST JOKE OF TODAY* 😆😆👇🏼 *कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता से किसी ने कांग्रेस की इतनी ख़राब हालत का कारण पूछा तो उन्होंने उसके 2 कारण बताए :--* *1--जब सत्ता में थे तो एक समझदार को मुंह नहीँ खोलने दिया,,,* *2-- जब विपक्ष में हैं तो एक बेवकूफ का मुंह बंद नहीँ करवा पा रहे !

केरल की वायनाड लोकसभा सीट की 11 बड़ी बातें जहां से राहुल गांधी लड़ेंगे चुनाव- Amarujalaकांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अमेठी के साथ-साथ केरल की वायनाड लोकसभा सीट से भी लड़ने के फैसले ने इसे चर्चा का विषय बना दिया है। RahulGandhi INCIndia lok sabha election 2019 VoteKaro वोटकरो Mahasangram2019 RahulGandhi INCIndia RahulGandhi जी केरल की वायनाड और उत्तर प्रदेश की अमेठी सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे क्योंकि जो दो सीट मे हारने का मजा है वह एक सीट मे नहीं बजाओ ताली ! 👏👏👏😉😜🤣😂 RahulGandhi INCIndia RahulGandhi INCIndia मतदाता को 1 जगह से वोट का अधिकार जबकि नेता कई जगह से चुनाव लड़ सकते हैं waaaaah जी ,,, क्या कानून है मगर क्यों मिलार्ड चुनाव आयोग शांत हैं कानून सब के लिए बराबर कैसे हुआ,,,,?