बिहार, हरघरनलकाजलयोजना, उपमुख्यमंत्री, नीतीशसरकार, Bihar, Hargharnalkajalscheme, Deputycm, Nitishgovt

बिहार, हरघरनलकाजलयोजना

बिहार: 'हर घर नल का जल' योजना के तहत उपमुख्यमंत्री के परिजनों को मिले करोड़ों के ठेके- रिपोर्ट

बिहार: 'हर घर नल का जल' योजना के तहत उपमुख्यमंत्री के परिजनों को मिले करोड़ों के ठेके- रिपोर्ट #बिहार #हरघरनलकाजलयोजना #उपमुख्यमंत्री #नीतीशसरकार #Bihar #HarGharNalKaJalScheme #DeputyCM #NitishGovt

23-09-2021 06:30:00

बिहार : 'हर घर नल का जल' योजना के तहत उपमुख्यमंत्री के परिजनों को मिले करोड़ों के ठेके- रिपोर्ट बिहार हरघरनलकाजलयोजना उपमुख्यमंत्री नीतीशसरकार Bihar HarGharNalKaJalScheme DeputyCM NitishGovt

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, बिहार में भाजपा के विधायक दल के नेता और राज्य के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद के परिवार के सदस्यों और क़रीबियों को 'हर घर नल का जल' योजना के तहत 53 करोड़ रुपये से अधिक का ठेका दिया गया, जिसमें उनकी बहू पूजा कुमारी और उनके साले प्रदीप कुमार भगत भी शामिल हैं.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, बिहार में भाजपा के विधायक दल के नेता और राज्य के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद के परिवार के सदस्यों और क़रीबियों को ‘हर घर नल का जल’ योजना के तहत 53 करोड़ रुपये से अधिक का ठेका दिया गया, जिसमें उनकी बहू पूजा कुमारी और उनके साले प्रदीप कुमार भगत भी शामिल हैं.

तालिबान की तिजोरी खाली, अमेरिका सख़्त; पाकिस्तान, तुर्की, यूरोप तक आँच, चीन-रूस से बनेगी बात - BBC News हिंदी VIDEO: ''खबर आ रही है कि इस तस्वीर से योगी जी इतने व्यथित हो गए कि..'' प्रियंका गांधी का CM योगी पर हमला तालिबान ने भारत की मौजूदगी में दुनिया से की ये अपील - BBC Hindi

बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद. (फाइल फोटो: पीटीआई)नई दिल्ली:बिहार में नीतीश सरकार की बहुचर्चित एवं महत्वाकांक्षी ‘हर घर नल का जल’ योजना के तहत करोड़ों रुपये का बंदरबाट और सत्ताधारी दल से जुड़े नेताओं के रिश्तेदारों तथा करीबियों को ठेका देने का मामला सामने आया है.

इंडियन एक्सप्रेसकी विशेष रिपोर्ट के मुताबिक, बिहार में भाजपा के विधायक दल के नेता और राज्य के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद के परिवार के सदस्यों को 53 करोड़ रुपये से अधिक का ठेका मिला था.प्रसाद की बहू पूजा कुमारी और उनके साले प्रदीप कुमार भगत की दो कंपनियों को प्रोजेक्ट का कॉन्ट्रैक्ट मिला था. वहीं उपमुख्यमंत्री के करीबियों- प्रशांत चंद्र जायसवाल, ललित किशोर प्रसाद और संतोष कुमार को भी योजना के तहत कई प्रोजेक्ट आवंटित किए गए थे. headtopics.com

बिहार के कटिहार जिले में भवदा पंचायत के सभी 13 वार्डों में पूजा कुमारी और प्रदीप कुमार भगत की कंपनी को ठेका दिया गया था.करीब पांच साल पहले नीतीश कुमार सरकार ने हर घर के लिए पेयजल की सुविधा देने के लिए ‘हर घर नल का जल’ योजना शुरू की थी. दावा है कि इस योजना ने अपना 95 फीसदी लक्ष्य हासिल कर लिया है और राज्य के 1.08 लाख पंचायत वॉर्डों में नल से पानी दिया जा रहा है.

हालांकि दस्तावेज दर्शाते हैं कि योजना का काफी लाभ राजनेताओं और उनके परिजनों को ही मिला है.इंडियन एक्सप्रेस ने बिहार के 20 जिलों में योजना के तहत बोली लगाने से संबंधित दस्तावेजों की पड़ताल की और उन्हें फिर रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (आरओसी) और बिहार के सार्वजनिक स्वास्थ्य इंजीनियरिंग विभाग (पीएचईडी) के रिकॉर्ड्स से मिलान किया, जिसके बाद ये जानकारी सामने आई है.

पीएचईडी राज्य के पंचायती राज और शहरी विकास विभागों के साथ मिलकर योजना को लागू कर रहा है.रिपोर्ट के मुताबि पीएचईडी ने कटिहार जिले के कम से कम नौ पंचायतों के कई वार्डों में पेयजल की सुविधा मुहैया कराने के लिए 36 प्रोजेक्ट्स आवंटित किए थे, जिसमें से भवदा पंजायत के सभी 13 वार्डों में योजना का काम पूजा कुमारी और भगत की कंपनी को दिया गया. यह वही क्षेत्र है जहां से उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद चार बार विधायक भी रहे हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक, भवदा पंचायत के चार वार्ड में पूजा कुमारी को 1.6 करोड़ रुपये का ठेका मिला था. कटिहार में योजना से जुड़े अधिकारियों ने नाम न लिखने की शर्त पर बताया कि इस क्षेत्र में पूजा कुमारी के पास पहले से कोई अनुभव नहीं था.जून 2016 से जून 2021 तक कटिहार में पीएचईडी के कार्यकारी अभियंता के रूप में इन ठेकों की मंजूरी देने वाले सुबोध शंकर ने कहा कि परियोजना पूरी हो चुकी है और लगभग 63 प्रतिशत राशि पूजा कुमारी को दी जा चुकी है. headtopics.com

महंगे पेट्रोल-डीजल पर हरकत में PMO, तेल कंपनियों के CEO के साथ PM मोदी की हाई लेवल मीटिंग जारी मोदी सरकार हो या कांग्रेस, नहीं ख़त्म हुआ इस क़ानून का मोह - BBC News हिंदी कोरोना वैक्सीन की 100 करोड़ डोज.. देश में होगा बड़ा जश्न, लाल किले पर फहराएगा दुनिया का सबसे बड़ा राष्ट्रीय ध्वज

यहां के कई लाभार्थियों ने योजना का स्वागत किया जबकि कुछ अन्य ने दोषपूर्ण कार्यान्वयन और अधूरे काम की शिकायत की.इसी तरह भवदा पंचायत के ही अन्य नौ वार्डों के लिए दीपकिरन इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी को 3.6 करोड़ रुपये का ठेका दिया गया. इस कंपनी में तारकिशोर प्रसाद के साले प्रदीप कुमार भगत और उनकी पत्नी किरण भगत निदेशक हैं.

भगत ने कहा कि कुल आवंटित राशि में से 1.8 करोड़ रुपये मिल गया और काम पूरा हो चुका है. हालांकि यहां भी कार्यों में कई कमियां देखने को मिलती हैं.रिपोर्ट के मुताबिक, कटिहार जिले के आठ पंचायतों के 110 वार्डों में हर घर नल का जल योजना लागू करने के लिए जीवनश्री इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी को 48 करोड़ रुपये का ठेका दिया गया था.

इस कंपनी में डिप्टी सीएम प्रसाद के करीबी सहयोगी प्रशांत चंद्र जायसवाल, ललित किशोर प्रसाद और संतोष कुमार को निदेशक हैं. इन्हें जिन पंजायतों में काम करना था, उनमें धेरुआ, गढ़मेली, पूर्वी डालान, डालान पश्चिम, दंदखोरा, अमरैली, रायपुर और सहया की पंचायतें शामिल हैं.

इस मामले को लेकर जायसवाल ने कहा, ‘मैं पटना में रहता हूं. बबलू (गुप्ता), एक स्टाफ सदस्य, कटिहार में कंपनी का काम देखते हैं.’ जायसवाल ने इस बात की पुष्टि की कि वह डिप्टी सीएम प्रसाद से जुड़े हैं.बबलू गुप्ता ने कहा कि पीएचईडी द्वारा अब तक परियोजना लागत का 33 करोड़ रुपये कंपनी को भेजा जा चुका है. गुप्ता ने कहा, ‘हम पहले रियल एस्टेट कारोबार में थे और हम कटिहार में गुणवत्तापूर्ण काम प्रदान कर रहे हैं.’ headtopics.com

एक अन्य निदेशक ललित किशोर प्रसाद ने कहा कि वह ‘पटना में स्थित हैं’ लेकिन उन्होंने नल जल योजना में कंपनी की भागीदारी के बारे में कोई विवरण नहीं दिया.यह पूछे जाने पर कि क्या वह डिप्टी सीएम प्रसाद से जुड़े हैं, उन्होंने कहा, ‘नहीं’.बिहार के पीएचईडी मंत्री और भाजपा नेता रामप्रीत पासवान ने कहा कि उन्होंने ‘ऐसे मामलों के बारे में सुना है’, लेकिन डिप्टी सीएम के परिवार और सहयोगियों को दिए गए ठेकों के बारे में उन्हें जानकारी नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘लोगों को आगे आने और इसके बारे में शिकायत करने की आवश्यकता है. यदि ठेकेदारों के पास इस बात का पर्याप्त प्रमाण है कि नौकरशाही या राजनीतिक प्रभाव वाले किसी अन्य व्यक्ति को ठेका मिला है, तो वे हमसे शिकायत कर सकते हैं. मेरे पीएचईडी मंत्री बनने से पहले सभी कॉन्ट्रैक्ट दिए गए थे. कुछ इंजीनियरों द्वारा अपने पसंदीदा व्यक्तियों को ठेका देने की भी शिकायतें आई हैं.’

प्रियंका गांधी के साथ सेल्फी लेने वाली पुलिसकर्मियों के खिलाफ जांच, कांग्रेस नेता बोलीं- मुझे मिले सजा कैप्टन अमरिंदर की BJP से नजदीकियों पर बोले कांग्रेस नेता, CM पद से हटाकर पार्टी ने ठीक किया जेल में रोता रहता है मंत्री का बेटा: लखीमपुर हिंसा का आरोपी बार-बार गद्दा और बाहर के खाने की लगा रहा गुहार; 8 दिन से क्वारैंटाइन बैरक है ठिकाना

वहीं पीएचईडी सचिव जितेंद्र श्रीवास्तव ने कहा, ‘निविदा और बोली लगाने की एक मानक प्रक्रिया है. कोई कंपनी या ठेकेदार, जो एल-1 (सबसे कम बोली लगाने वाले) के रूप में अर्हता प्राप्त करता है, उसे ठेका मिलता है.’यह पूछे जाने पर कि क्या विभाग को ठेके देने में राजनीतिक तरफदारी के बारे में कोई शिकायत मिली है, श्रीवास्तव ने कहा, ‘नहीं. हमें इसके बारे में पहली बार पता चल रहा है. यदि ठेके देने में अनियमितता हुई है तो अभी भी कार्रवाई की जा सकती है.’

उपमुख्यमंत्री ने आरोपों को किया खारिजइस मामले में जब उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि क्या बिजनेस करने में कुछ गलत है?उन्होंने कहा, ‘हमारे पास केवल एक ठेका है और वह है बहू का. इसका काम अब तक पूरा हो चुका है. क्या हम कारोबार नहीं कर सकते? इसके अलावा हर घर नल का जल योजना में और कौन काम कर रहा है, इसके बारे में मुझे जानकारी नहीं है. मेरी बहू के पास चार यूनिट (वॉर्ड) का काम था.’

इस योजना के तहत दीपकिरन इन्फ्रासंट्रक्चर को भी ठेका मिला था, जिसके डायरेक्टर प्रसाद के साले प्रदीप कुमार भगत हैं. इस बारे में सवाल किए जाने पर उन्होंने कहा, ‘हां ठीक है, ये भी उसी सोशल कैटेगरी से हैं और योजना के साथ जुड़े हुए हैं.’दीपकरन इंफ्रास्ट्रक्चर और जीवनश्री इंफ्रास्ट्रक्चर के बारे में सवाल किए जाने पर उन्होंने कहा कि ये सभी बड़ी कंपनियां हैं और इनसे हमारा कोई दूर-दूर तक नाता नहीं है.

तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि कटिहार जिले में ही 2800 वॉर्ड हैं और इनमें से केवल चार के ठेके उनके परिवार को मिले हैं. बिजनेस करना कोई गलत काम नहीं है. हां, यह जरूर सुनिश्चित करना चाहिए कि कोई गड़बड़ी न होने पाए.उन्होंने कहा, ‘मैंने अपने बेटे से कहा है कि कोई भी सरकारी काम न करे, इससे केवल फालतू की समस्याएं पैदा होती हैं.’

और पढो: द वायर हिंदी »

20 तस्वीरों में देखें...कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट: 3600 वर्ग मीटर में फैला है एयरपोर्ट, नए टर्मिनल से 300 यात्री आने-जाने की सुविधा होगी

भगवान बुद्ध की महापरिनिर्वाण स्थली कुशीनगर में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शुभारंभ करेंगे। इसके बाद पीएम मोदी महापरिनिर्वाण मंदिर में दर्शन, पूजन के बाद यहां तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय बौद्ध कॉन्क्लेव व अधिधम्म दिवस का शुभारंभ करेंगे। रामकोला रोड स्थित नारायणपुर (बरवा फॉर्म) में होने वाली जनसभा के दौरान ही वह मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास व 12 अन्य विकास परियोजनाओं का शिलान्यास व ... | 20 तस्वीरों में देखें...कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट: आज PM देंगे UP को तीसरे इंटरनेशनल एयरपोर्ट की सौगात, अतिथि देवो भव की भावना से श्रीलंकाई प्रतिनधिमंडल का होगा स्वागत, See in 20 pictures...Kushinagar International Airport: Today PM will give the gift of third international airport to UP, Sri Lankan delegation will be welcomed in the spirit of guest God

yadavtejashwi MisaBharti Divya_Bhaskar DainikBhaskar JagranNews AmarUjalaNews IndiaToday laluprasadrjd yadavteju Kaun sa galat hua tender online hota hai.koi bhi dal skta hai

बिहार के पूर्व CM मांझी के बोल- 'श्रीराम महापुरुष या जीवित व्यक्ति थे, ऐसा नहीं मानता'जीतन राम मांझी ने एक ओर श्रीराम को काल्पनिक बताने वाली बातें कहीं, वहीं दूसरी तरफ उनकी ओर से इस बात की भी वकालत की गई कि रामायण को बिहार के स्कूली शिक्षा के पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए. rohit_manas एक लात कबर मैं और दूसरी उठाकर वो बोला, श्री राम ने जनम नहीं लिया, क्या इसको यह पता है के इसने जनम लिया है के नहीं। कल तो इसकी औलाद भी यह सवाल करेगी, बाप पैदा हुआ था के नहीं। जय श्री राम। rohit_manas इनकी गलती नही है ये सोचते होंगें की इनके अब्बाजान के अब्बाजान भी कल्पनिक है। rohit_manas jeetanrammanjhi ढपोरशंख नाम से विख्यात हो ही जायेंगे। नाम क्या जान गये कुछ लोग, दिमाग़ सातवें आसमान पर ?

मह‍िलाओं के हकों पर Taliban का डाका, महिला मामलों के मंत्रालय पर भी तालातालिबान की सरकार आने के बाद महिलाओं पर जोर जुल्म का सिलसिला पहले हफ्ते में ही शुरू हो गया था. साफ हो गया था कि तालिबान महिलाओं के हकों को लेकर बातें चाहे बड़ी-बड़ी करे लेकिन उसके असल इरादे कुछ और हैं. इसके बावजूद अफगानिस्तान में महिलाएं दम साधे इस बात का इंतजार करती रहीं कि तालिबान को अक्ल आएगी और वो अपने वादों के मुताबिक महिलाओं के लिए कुछ नरमी दिखाएगा. लेकिन अब ये उम्मीद धुंधला रही है और यही वजह है कि काबुल की सड़कों पर नारेबाजी करने के बाद ये महिलाएं महिला मामलों के मंत्रालय की उस इमारत के बाहर पहुंची जिस पर अब ताला जडा जा चुका है.ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो.

PBKS vs RR Live Score: यशस्वी जायसवाल फिफ्टी के करीब, राजस्थान का स्कोर 100 के पारPBKS vs RR Live Score: सैमसन चार रन बनाकर आउट, 10 ओवर्स के बाद राजस्थान का स्कोर 94/2 IPL2021 PBKSvRR RRvsPBKS

सुप्रीम कोर्ट: दो व्यक्तियों के बीच शैक्षिक योग्यता का अंतर प्रोन्नति चयन के लिए वैध आधारसुप्रीम कोर्ट: दो व्यक्तियों के बीच शैक्षिक योग्यता का अंतर प्रोन्नति चयन के लिए वैध आधार SupremeCourt Qualification Promotion

कार्तिक त्यागी के पिता हैं किसान, बेटे के करियर के लिए बेचनी पड़ी थी जमीनकार्तिक त्यागी अचानक से क्रिकेट जगत में एक जाना माना नाम बन गया है। पंजाब किंग्स के खिलाफ आखिरी ओवर में 4 रन बचाने वाले कार्तिक त्यागी का जन्म हापुड़ (उत्तर प्रदेश) में 8 नवम्बर 2001 को हुआ था।

अफगानिस्तान पर कतर के अमीर की वैश्विक नेताओं से अपील, तालिबान का ना करें बहिष्कारसंयुक्त राष्ट्र महासभा के मंच से कतर के शासक शेख तमीम बिन हमद अल थानी ने तालिबान के साथ बातचीत जारी रखने की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि बहिष्कार से केवल ध्रुवीकरण और अन्य प्रतिक्रियाएं होती हैं जबकि बातचीत सकारात्मक परिणाम ला सकती है। Dhire dhire CURTAIN HT rha h pic. Duniya k smne clear ho rhi h g , om ji The Taliban are always against freedom of women. When war started,Afghan Government should increase d numbers of female soldiers,so that Taliban could not win.तालिबानी महिलाओंकी आज़ादी के खिलाफ रहते है।जब तालिबानियों से लड़ाई चल रही थी तभी अफगान सरकार को महिला फ़ौज बढ़ा लेनी थी जिन्दा मक्खी कौन निगलता है?