बिहार: 16 लोगों की आंखें क्यों निकाली गईं, अब क्या है उनका हाल - BBC News हिंदी

बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर में 16 लोगों की आंखें किस वजह से निकाली गईं?

03-12-2021 17:47:00

बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर में 16 लोगों की आंखें किस वजह से निकाली गईं?

बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर ज़िले के 'मुज़फ़्फ़रपुर आई हॉस्पिटल' में 22 नवंबर को 65 लोगों का मोतियाबिंद का ऑपरेशन हुआ जिसके बाद 16 लोगों की आंख निकालनी पड़ी.

एपिसोड्ससमाप्तराज्य की जाँच टीम ऑपरेशन में हुई ख़ामी की जाँच में जुटी है. इस टीम के एक सदस्य हरीश चंद्र ओझा का कहना है, "प्रथमदृष्टया ऐसा प्रतीत हो रहा है कि अस्पताल की टीम से कहीं न कहीं चूक तो हुई है यह तो तय है. इस मामले में अस्पताल को मरीज़ों का तय आंकड़ा तो देना था लेकिन उसके असहयोग की वजह से ही एफ़आईआर दर्ज करने की नौबत आई है. यह तो तय है कि अस्पताल अगर जाँच में दोषी पाया जाता है तो उसके ख़िलाफ़ कार्रवाई होगी. जितने लोगों की आंखें ख़राब हुईं, उनका उचित इलाज सरकार कराएगी और सरकार की तरफ़ से जो अनुदान देना होगा, वह सरकार देगी.''

नेस्ले ने भगवान जगन्नाथ की तस्वीर वाले किटकैट वापस लिए, जताया अफ़सोस - BBC Hindi

इस जाँच के बीच मुज़फ़्फ़रपुर आई हॉस्पिटल के सहायक प्रशासक पद पर कार्यरत दीपक कुमार ने अस्पताल का पक्ष रखते हुए कहा, "21 नवंबर को इस अस्पताल में शिविर लगा, जिसमें 105 मरीज़ भर्ती हुए और इनमें से 65 लोगों का ऑपरेशन सोमवार (22 नवंबर) को किया गया."

"ऑपरेशन डॉक्टर एनडी साहू ने किया. 23 तारीख़ को मरीज़ों को छुट्टी दे दी गई. 25 तारीख़ को कुछ मरीज़ आंख में दर्द की शिकायत के साथ आए और इसके बाद उन्हें डॉक्टर से दिखाया गया. डॉक्टर ने उन मरीज़ों को बताया कि उनकी आंख में इंफ़ेक्शन हो गया है, जो काफ़ी तेज़ी से फैल रहा है." headtopics.com

इमेज स्रोत,Vishnu Narayanइमेज कैप्शन,मुज़फ़्फ़रपुर आई हॉस्पिटल के सहायक प्रशासक पद पर कार्यरत दीपक कुमार"इस पर हम लोगों ने राय-विचार किया, जिस पर रेटिना सर्जन से इलाज कराने की बात हुई. हमारे यहां के रेटिना सर्जन छुट्टी पर थे तो हमने मरीज़ों को तुरंत पटना भेज दिया, वहां उनका इलाज हुआ और मरीज़ फिर अस्पताल वापस आए. जिसमें से कई लोग ठीक हुए और चार मरीज़ ऐसे थे, जो ठीक नहीं हो सकते थे और चिकित्सक के अनुसार ऐसे मरीज़ों की सुरक्षा को देखते हुए और उनकी मर्ज़ी से डॉक्टर ने उनकी आंख निकाली."

भारत-चीन सीमा विवाद: अरुणाचल प्रदेश से 'अपहृत किशोर' का पता लगाने में जुटी भारतीय सेना - BBC News हिंदी

दीपक कुमार यह भी बताते हैं कि अस्पताल में ऑपरेशन के दिन कोई सर्जन नहीं था और सहयोग के लिए डॉक्टर एनडी साहू को बुलाया गया था.वह इस आरोप को ख़ारिज करते हैं कि मरीज़ से आंख निकालने के बारे में नहीं पूछा गया था.

और पढो: BBC News Hindi »

चुनावों का सबसे बड़ा Opinion Poll: देखिए #DNA LIVE Sudhir Chaudhary के साथ

मेडिकल कॉलेज गरीबों के ईलाज के लिये नही डॉक्टरों को ट्रेनिंग के लिये है,ग़रीब मरीज़ो को य सिर्फ ट्रेनिंग का साधन समझते हैं सरकारी मेडिकल कालेजों में सैकड़ों ग़रीब मरीजों की जान लेने के बाद एक ट्रेनी डॉक्टर अनुभवी डॉक्टर बन कर हजारों अमीरों की जान बचाता है, Horrific. Judicial inquiry is needed find out truth and book the culprits. CM should visit the place n give a statement.

सुशासन की सरकार कहां सो रही है आरक्षण धारी अनपढ़ों की। संविधान के आर्टिकल 16 की तौहीन करके दिए जा आरक्षण के रुझान हमेशा भयावह ही रहे हैं, लेकिन नेताओं ने इसे अब तक राजनैतिक हथियार के रूप में जारी रखा है। डॉक्टर, अध्यापक, वैज्ञानिक और इंजीनियर योग्यता से बनने चाहिए अन्यथा विनाश को रोकना नामुमकिन है। साले सब के सब दोगला हो गया है अपना काम दोगले तरीके से करता है ऐसे लोगो को भी एक आंख , एक पैर और एक हाथ काट के शरीर से अलग कर देना चाहिए

जिस देश में पढ़े लिखे और समझदार व्यक्ति ही अँधा हो वहां सूरज को भी दिन में नजर अंदाज किया जा सकता हैं! नीतीश सरकार पहले गरीबों के शिक्षा को अंधा किये और अब गरीब को ही अंधा करना शुरू कर दिया। Lelo ache din salo Laparwahi kiski nuksan gareebon ka If you are going to vote for BJP then these things will happen normally

Bihar Vidhan Sabha : 'विधायकों की पिटाई हो गई, मंत्रियों की बाकी', बिहार विधानसभा में भारी बवालबिहार सरकार में बीजेपी कोटे से मंत्री जीवेश मिश्रा ने सदन के अंदर अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। विधानसभा में मंत्री जीवेश मिश्रा ने पटना के डीएम और एसएसपी पर उनका अपमान करने का आरोप लगाया। मंत्री ने सदन में खड़े होकर कहा है कि पटना के एसपी और डीएम की वजह से उनकी गाड़ी को विधानसभा में आने से रोका गया।

My country’s health infrastructure and governance at its worst. Such inhuman acts describe that my country is instead of progressing is going backwards. Kya hoga duniya ka so sad news 😑 BBC... पाकिस्तानी आतंक और नृशंस हत्याओं को 1971 बंगलादेश की भीषण त्रासदी के टाईम से ही हमेशा नजरंदाज कर रहा है 👉🏾 आज़ पाकिस्तान पुलिस के सामने ये काण्ड हुआ, बीबी सी जी, फिर चुप?

किडनी निकालने वाले आंख पर आ गए मौत के सौदागर की सरकार होगी बहुत ही दुःखद ये जिला अस्पताल मेरे पास है। बहुत दुःख हुआ हूं। बिहार सरकार मुआबजा भरे बिहार सरकार और केंद्र सरकार Netflix पर फिल्म देखने में अभी व्यस्त है तभी तो इस तरह का अपराध देश प्रदेश में बढ़ रहा है NitishKumar officecmbihar PMOIndia narendramodi

ये हमारी स्वास्थ्य सेवाओं की हकीकत हैं आज भी हम बहुत पीछे हैं लोगो को अच्छी स्वास्थ्य सेवा देने में आज भी सक्षम नहीं हैं। हमें इस क्षेत्र में मेहनत करना होगा। नहीं तो हम विकसित देश बनने का सपना ही देखते रहेंगे। PMOIndia narendramodi mansukhmandviya NitishKumar Are bihar goverment sleeping are public it should be happened to any minsiter wife

बरेली: शादी कार्ड पर छपवा दी अखिलेश यादव की फोटो, लोगों से की वोट अपीलशादी कार्ड पर अखिलेश यादव और सपा के पूर्व जिला अध्यक्ष सुभलेश यादव की बड़ी फोटो लगवा दी गई. सोशल मीडिया पर ये शादी कार्ड तेजी से वायरल हो रहा है.

There is a mysterious disease spreading in cows in Bihar's Samastipur district. My family also lost one cow and a calf in last two days. Please help get the attention of Govt's please help DM_Samastipur nityanandraibjp officecmbihar Ye to pata lagane ka kaam media ka hai par sachhai samne aani chahiye

बिहार: नि:शुल्क शिविर में कर दिए मोतियाबिंद के ऑपरेशन, कई लोगों की गई आंख की रोशनी, एफआईआर दर्जबिहार: नि:शुल्क शिविर में कर दिए मोतियाबिंद के ऑपरेशन, कई लोगों की गई आंख की रोशनी, एफआईआर दर्ज bihar operation cataract eyesight India knows what is happening to Hindus in Kashmir, Bengal, Assam, Tripura & Kerala. Don't allow them to convert into 'Hindu Mukt Bharat'

बीते एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 9,216 नए मामले और 391 लोगों की मौतभारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 3,46,15,757 हो गई है और अब तक यह महामारी 4,70,115 लोगों की मौत का कारण बन चुकी है. विश्व में संक्रमण के 26.42 करोड़ से ज़्यादा मामले दर्ज किए गए हैं और 52.34 लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है.

मुजफ्फरपुर में मोतियाबिंद के ऑपरेशन में गड़बड़ी, 65 में से 15 लोगों की निकालनी पड़ी आंखजानकारी के लिए बता दें कि बीते 22 नवंबर को मुजफ्फरपुर के आई हॉस्पिटल में 65 लोगों का मोतियाबिंद का ऑपरेशन हुआ था. जिसमें ज्यादातर लोगों की आंखों में इंफेक्शन हो गया.

जरूरत की खबर: देश में ओमिक्रॉन की दस्तक, लेकिन यहां 10 करोड़ लोगों ने नहीं लिया दूसरा डोज; जानिए नए वैरिएंट से इन्हें कितना खतराएक तरफ पूरी दुनिया में ओमिक्रॉन तेजी से फैल रहा है वहीं दूसरी तरफ भारत में वैक्सीन की दूसरी डोज लेने वालों की रफ्तार बहुत धीमी। देश में 10 करोड़ ऐसे लोग हैं जिन्होंने वैक्सीन की पहली डोज तो लगवाई लेकिन दूसरी डोज लगवाने नहीं आए। एक्सपर्ट्स का मानना है की ओमिक्रॉन डेल्टा वैरिएंट से कहीं ज्यादा खतरनाक है, लेकिन अभी इसके बारे में पूरी जानकारी नहीं है। | Only 30% of the people in the country are fully vaccinated; Single-dose or unvaccinated people at higher risk of Omicron