बांग्लादेश से सटे त्रिपुरा में क्यों हो रहे हैं मुसलमानों पर हमले? - BBC News हिंदी

बांग्लादेश से सटे त्रिपुरा में क्यों हो रहे हैं मुसलमानों पर हमले?

28-10-2021 08:51:00

बांग्लादेश से सटे त्रिपुरा में क्यों हो रहे हैं मुसलमानों पर हमले?

बांग्लादेश में हिंसा के बाद सीमा से सटे त्रिपुरा में मुसलमानों के ख़िलाफ़ हिंसा देखने को मिली है. इस हिंसा के लिए ज़िम्मेदार कौन है.

इमेज कैप्शन,बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के समय कई पूजा मंडपों पर हमला हुआ था. नोआखाली ज़िले के बेगमगंज की तस्वीरबांग्लादेश के कुमिल्ला ज़िले में एक पूजा पंडाल में कथित तौर पर मुसलमानों की पवित्र पुस्तक क़ुरान की बेअदबी के बाद हिंसा भड़क गई थी जिसमें देशभर में हिंदुओं के धर्मस्थलों, घरों और कारोबार को निशाना बनाया गया था.

विनोद दुआ: आने वाली नस्लें याद रखेंगी, एक ऐंकर ऐसा भी था - BBC News हिंदी एजाज पटेल का टेस्ट क्रिकेट में ऐतिहासिक कारनामा, चकमा खाए सभी 10 भारतीय बल्लेबाज़ - BBC News हिंदी अखिलेश यादव का दावा, बीयर गोदाम के पते पर छपा यूपी टीईटी का पेपर - BBC Hindi

बांग्लादेश ने हिंसा में शामिल लोगों के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की है. हिंसा के तुरंत बाद बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख़ हसीना ने देश के हिंदू समुदाय से मुलाक़ात की. सरकार ने कई गिरफ़्तारियां भी कीं और सरकार के मंत्री प्रभावित हिंदुओं से भी मिले.त्रिपुरा में हिंसा का शिकार बने अब्दुल मन्नान ने सीसीटीवी फ़ुटेज को जांच के लिए पुलिस को सौंप दिया है, लेकिन वह अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं.

वो कहते हैं, "मैं 44 साल का हूं, लेकिन मैंने यहां कभी ऐसा कुछ नहीं देखा, अब जीना मुश्किल हो गया है.?'मामला क्या है?हमले से एक रात पहले, विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के सदस्यों ने कथित तौर पर उनके घर पर भगवा झंडा लगाया था.अब्दुल मन्नान एक जाने-माने कारोबारी हैं और राज्य की विधानसभा के एक सदस्य के ख़ास रिश्तेदार हैं. बावजूद इसके वो अपने घर पर हमले को रोक नहीं पाए. headtopics.com

वो कहते हैं, ''जहां हम रहते हैं वहां मुसलमानों के सिर्फ़ 5-10 घर ही हैं. अगर हमले नहीं रुके तो हमें ऐसी जगह जाकर रहना पड़ेगा जहां मुसलमानों की अच्छी आबादी हो."त्रिपुरा में मुसलमानों की आबादी दस प्रतिशत से भी कम है. यहां मुसलमान किसी एक जगह नहीं रहते हैं बल्कि पूरे प्रांत में फैले हुए हैं.

त्रिपुरा पिछले कई सालों से शांतिपूर्ण रहा है लेकिन यहां स्थानीय हिंदू आबादी और शरणार्थियों के बीच हिंसा का इतिहास रहा है.वीडियो कैप्शन,Cover Story: बांग्लादेश में हिंसा के बीच हिंदू समुदाय का हालपिछले कुछ सालों से क़ायम शांति और क़ानून और व्यवस्था की स्थिति ने राज्य को अपनी आर्थिक स्थिति सुधारने में मदद की है. भारत की 'ऐक्ट ईस्ट पॉलिसी' में त्रिपुरा की भूमिका अहम रही है क्योंकि इससे बांग्लादेश और म्यांमार के साथ दोस्ताना संबंध बेहतर हुए हैं.

जमात-ए-उलेमा (हिंद) की तरफ़ से त्रिपुरा के मुख्यमंत्री को दी गई एक याचिका के मुताबिक़ पिछले कुछ दिनों में 'विश्व हिंदू परिषद' (विहिप) और हिंदू जागरण मंच जैसे रूढ़िवादी हिंदू संगठनों ने राजधानी त्रिपुरा और राज्य के अन्य शहरों और क़स्बों में विरोध प्रदर्शन किए हैं जो कथित तौर पर स्थानीय मुसलमानों के ख़िलाफ़ आक्रोश में बदल गए. जमात ने प्रदर्शनकारियों पर मस्जिदों और मुसलमानों के घरों को निशाना बनाने का भी आरोप लगाया है.

इस पर वीएचपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल का कहना है कि हमला उनके कार्यकर्ताओं की तरफ़ से नहीं हुआ बल्कि उलटे मस्जिद और पास के घरों से उन पर पत्थर फेंके गए. उनका दावा है कि कुछ लोग तलवार लेकर भी प्रदर्शन कर रहे लोगों की तरफ़ दौड़े और पास के दुकानों को आग भी लगा दी गई. headtopics.com

भारत में 'Omicron'का एक और केस आया, जिम्बाब्वे से लौटा था शख्स, कुल संख्या हुई तीन Omicron : केंद्र ने छह राज्यों को किया अलर्ट, चिट्ठी लिखकर दी हिदायतें सियासी किस्सा- 5 : UP का एक ऐसा मुख्यमंत्री जिसका पता ढूंढने में पुलिस को लग गए थे 2 घंटे

उनका कहना था कि ''वीएचपी-बजरंग दल स्थानीय लोगों के खिलाफ़ नहीं है बल्कि उनका प्रदर्शन बांग्लादेश में हिंदुओं की आस्था पर जिस तरह से प्रहार हुए उसके खिलाफ़ था. प्रशासन को पूरे मामले पर जिहादियों के खिलाफ़ कार्रवाई करनी चाहिए.''उन्होंने ये बी कहा कि बीते एक सप्ताह से वीएचपी सिर्फ़ त्रिपुरा में ही नहीं बल्कि समूचे देश में बांग्लादेश में हिंदुओं के ख़िलाफ़ हुए हमले के विरोध में रैलियां निकाल रही है. ये रैली निकालना उनका अधिकार है.

त्रिपुरा में हुई हिंसा में अभी तक किसी के हताहत होने की ख़बर नहीं है, लेकिन कई जगहों पर तनाव है. राज्य के उत्तरी हिस्से में हिंसा का हवाला देते हुए पुलिस ने दावा किया है कि स्थिति "नियंत्रण में" है.बांग्लादेश: मंदिरों और पूजा पंडालों पर हमला करने वालों पर अब तक क्या कार्रवाई हुई

नगर निकाय चुनावप्रशासन ने कई इलाक़ों में भारतीय दंड संहिता की धारा 144 लागू कर दी है जिसके तहत एक जगह चार से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकते हैं.त्रिपुरा स्टूडेंट्स ऑर्गनाइज़ेशन ऑफ़ इंडिया (एसआईओ) के अध्यक्ष शफ़ीकुल रहमान का मानना है कि त्रिपुरा में जारी हिंसा और तनाव की वजह सिर्फ़ बांग्लादेश में हुई हिंसा ही नहीं बल्कि अगले महीने होने वाले नगर निकाय चुनाव भी है.

रहमान कहते हैं, "नगरपालिका चुनाव ऐसे समय में होने वाले थे जब कोरोना महामारी अपने चरम पर थी. लेकिन सरकार महामारी फैलने के तुरंत बाद चुनाव नहीं कराना चाहती थी. लेकिन जैसे ही हिंसा शुरू हुई सरकार ने चुनाव की तारीखों का एलान कर दिया है."उनका दावा है कि हालिया घटनाक्रम के बाद राज्य की पूरी हिंदू आबादी इस तरह एक साथ आ गई है कि कोई भी पार्टी हिंसा पर बोलने को तैयार नहीं है. इनमें विपक्षी पार्टियां भी शामिल हैं. headtopics.com

और पढो: BBC News Hindi »

शंखनाद: Samajwadi Party की साइकिल पर बैठेंगी कितनी सवारी?

जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं, उत्तर प्रदेश का रण धारदार होता जा रहा है, सत्ता पक्ष और विपक्ष अपने-अपने दल को बढ़ाने में लगे हुए हैं, गठबंधनों का दौर चल रहा है. इसी कड़ी में आज कांग्रेस की बागी नेता अदिति सिंह आज बीजेपी में शामिल हुईं तो दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने अखिलेश यादव से मुलाकात की. साथ ही कृष्णा पटेल वाली अपना दल पार्टी ने भी समाजवादी का दामन थाम लिया. यूं समझिए कि गठबंधन वाली राजनीति बहुत तेजी से विस्तारित हो गई है, ताकि पार्टियां अपने विरोधियों को मात दे सकें. देखिए शंखनाद का ये एपिसोड.

Hold On, dear Muslims of Tripura. We are with you. SaveTripuraMuslims Pass It On... धर्म के नाम पर लड़ाई करने वाले लोग अपश में क्यों लड़ रहे है Worst BBCNewsAsia पाकिस्तान से सटे भारत में क्यों बढ़ रहे हैं पेट्रोल-डीज़ल, दाम,भूख,आतंकवादी,चोरी डकैती,रेप,गुंडागर्दी,रिश्वत खोर ? भारत लिखने में तुम्हारी अम्मा मर रही थी का बे रहोगे मोदी के नीचे ही गजब दोगला पना है

वो महफ़िल को फिर से सजाने लगे है, भूले बिसरे गीत फिर गुनगुनाने लगे है। जब खिसकने लगी है सियासत की कुर्सी, वो हिन्दू मुस्लिम को लड़ाने लगे है। UP election, kabhi hindu pe humla hoga to kabhi musalman pe.. election ka chakkar TripuraAntiMuslimsRiots RSSTerroristOrganisation Tum sant to me bhi sant Bangladesh

बंगला देश में फसाद हुए उनकी sarkar देख रही है सेंकड़ों लोग पकड़े गए हैं, त्रिपुरा में क्या हो रहा है? दूसरों के घर जलता देख कर अपना घर जलाने की हमारी आदत कब जाएगी, राज्य और केन्द्र sarkar को सख्ती से अपना राजधर्म निभाना चाहिए दुनियां में सुख शांति के लिए धर्म की स्थापना हुई थी. India ke tripura me kyu ho raha musalmano pe zulm

बंगाल में चुनाव-बाद हिंसा, बांग्लादेश में हुई सांप्रदायिक हिंसा का कारण: आरएसएसबांग्लादेश में दुर्गा पूजा समारोह के दौरान कुछ अज्ञात कट्टरपंथियों द्वारा पूजा पंडालों और एक दर्जन से ज्यादा हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ की गई थी और मूर्तियों को भी तोड़ा गया था। कुछ लोगों की हत्या भी कर दी गई थी। और मुखपत्र को ये बात सही लगी ?

क्योंकि तुम जैसे लोग आवाज नहीं उठाते। परोसी देश में कुछ भी उसका अपोजिट अपने देश में होना ही है। क्युकी दंगाई पार्टी की सरकार है। कुछ भी हो सकता है। It's not Tripura, its soul of India set ablaze...smouldering. A secular land of Buddha nd Gandhi, a land of farmers, of peace nd brotherhood. My beloved country suffering hex of hatred, hex of violence!

बीबीसी को रोम में नहीं देखा या पढ़ा जाता? PMOIndia मोदी हैं तो मुमकिन है। जो रियासत शहरो को तबाह और बर्बाद करती हैं फायदा नहीं होती उस रियासत का इक दिन बिल-आख़िर खात्मा मुकद्दर है Dalal hai BBC. Anti India, anti Hindu, anti BJP and Anti Modi & Yogi... My bhakt friend who love to raise voice for minorities in Pakistan and Bangladesh is upset when someone do same in India.

Brahmin media BBC Tripura_Police do read

बांग्लादेश में मंदिरों पर हमले के बाद डर के साए में जीते हिंदू - BBC News हिंदीबांग्लादेश में सिलसिलेवार तरीक़े से अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के ख़िलाफ़ शुरू हुई हिंसा अब थम गई है लेकिन वहां पर हिंदू अभी भी डर के साए में जी रहे हैं. Why it is happening in Bangladesh and Pakistan, is there no human rights and other laws made for this. Only Hindustan have the regressed law to punish Hindus. Why not the same ther kaum. What about tripura Anti-Muslim violence across Tripura, a northeast Indian state following Bangladesh violence Series of violent attacks by large Hindutva groups continue to target different mosques, houses and shops of Muslims in Tripura. Here is what we know so far

कभी कभी चाटुकारिता से सटी है? bbc Keo ho raha bbc ko pata nahe ka keo hmla ho raha ha कोई बात नहीं अगर हमारी जमीर नहीं मरे तो जुल्म हमारे ऊपर बिरासत में मिली है नवी के दौर से कयामत तक रहेगा हमारी अच्छी किरदार ही हमारा शमसीर होगा Taniakhanam1 stophinduterrorism हिंदू विरोधी चैनल Fake news Aditya Birla Sunlife insurance is a fraud company and looting the people through their insurance policies. I request to all Indians not to purchase the insurance policies of Aditya Birla Sunlife insurance. Otherwise, you have to weep for your this decision.

Right Because BBC want to hide atrocities on Hindu in Bangladesh,so they have come up with small issues...Shame on you atrocitiesinbangladesh BangladeshiHinduWantSafety Hindus_Attacked_In_Bangladesh Hindus bbc Tripura_Police kuch sharm karo jhoot bolo rahe ho kuch nahi hua kisi masjid ko nuksaan nahi hua

Aryan Khan ड्रग्स केस में गवाह KP Gosavi पुणे से गिरफ्तार, कई दिनों से था फरारक्रूज ड्रग्स केस में जांच तेजी से आगे बढ़ रही है. तो दूसरी ओर कोर्ट में आर्यन खान के जमानत याचिका पर आज भी सुनवाई होगी. तो पुणे में आर्यन केस के गवाह केपी गोसावी को गिरफ्तार कर लिया गया है. गोसावी पर या कार्रवाई 2018 के धोखाधड़ी मामले में की गई है. गोसावी पर तीन लाख रुपये ठगने के आरोप हैं. इस मामले में पुलिस आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकती है. गोसावी एनसीबी पर वसूली के आरोपों के बाद फरार था. गोसावी वही शख्स है जिसकी सेल्फी वायरल हुई थी. आर्यन के साथ सेल्फी पर गोसावी चर्चा में आया था. देखें वीडियो. तीन साल बाद गिरफ्तार किया ऐसा बोलिये...2018 का केस है। और 2021 में NCB का पंच है इसलिए अब अरेस्ट किया गया है।। आज सुबह का खेल शूरु हो चुका है, पहली गेंद पर एक रन लेकर नवाब मलिक साहब ने स्ट्राईक पुणे पुलीस को दी है, अब बॅटिंग पुणे पुलीस करेंगी

चुनावी ऐजेंडा चला रहे हैं। और ये कौन करवाता, बताने की जरुरत नहीं है। कभी बांग्लादेशी zehadion पर nazar daalo इस कटरपंथ कोई एक्शन नहीं लिया जाता है भारत में त्रिपुरा में जो भारतीय मुसलमानों के साथ हो रहा है, उस पर खामोशी क्यों है? ये खामोशी देश के हित में नहीं है! आतंकियों से आतंकियों की तरह ही निपटा जा सकता है

प्रयोग हो रहा है खास पार्टियों की इलेक्शन की तैयारी विश्व हिन्दू परिषद राम मंदिर में बड़ा घोटाला कर bjp को चुनाव में मदद किया था। अमरीका इसे गुंडा संगठन मानता है। ये सब भाजपाई शासन वाले राज्यो में ही घाँघरा उठा नांच, नंगाई मचाते है। संघियो का कदम पड़ना मतलब हैवानियत। Bangladeshi PM ne attack karne walo ko saza dene ki baat kahi par apna PM to is se up election main faida kaise utha sakte hai is par sochne main busy hai

Bas ab yehi chalenga. Phir Bangladesh mandir thodenga Phir koi Indian state Mey masjid tootenge. UP Mey election ho jayenge Phir Sab khatam VHP 'विश्व हेट परिषद'

जेल में डाल दो, पत्नी संग घर में अब नहीं रह सकता, पुलिस से बोला शख्ससोशल मीडिया यूजर्स ने इस घटना पर काफी प्रतिक्रियाएं दी हैं. एक यूजर ने लिखा- लगता है कि घर में यह शख्स अपने हिस्से का काम पूरा नहीं कर पाता था, इसलिए छुट्टी चाह रहा था. वहीं एक अन्य यूजर ने शख्स को तलाक लेने की सलाह दे डाली.

अगर ऐसा ही चलता रहा था तोह देश गृहयुद्ध की और चल पड़ेगा फिर अपना भारत पड़ोसी मुल्को से पीछे होजायेगा अगर ऐसा ही चलता रहा तोह विदेशो मे रहने वाले हिन्दुओ का वहीं हाल होगा जो त्रिपुरा मे भगवा आतंकियों द्वारा मुस्लिम का किया जारहा है क्यों कुत्तों बांग्लादेश में हुई हिंसा देखी नहीं क्या... फिर भी पुछ रहे हो...

इन सपोलों का यही एकमात्र सही ईलाज है। WelldoneUPpolice भारत सरकार को बीबीसी हिंदी बंद कर देश बचाना होगा ये खायेंगे इधर का और बोलेंगे देश के खिलाफ ही Tripura_Police kindly check this news portal news. क्योंकि आतंकवादियों को खुली छूट मिली हुई है। Thanks baar baar khne pr aapne akhir kaar kr diya mujhe kewal BBC k news pe hi yakeen hota isiliye maine aap log se kaha tha.

Simple constitution is not respected n enforcement agencies r not their job properly.

भारत में पिछले 24 घंटे में 13,451 नए COVID-19 केस, कल से 8.2 प्रतिशत ज़्यादापिछले 24 घंटे में 14,021 लोग कोरोना से ठीक हुए. वहीं अब तक कुल 3,35,97,339 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं. वहीं देश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या 1,62,661 है. आर्यन खान की ड्रग्स रैकेट की बात भी कर लिया करो,एनडीटीवी बिल्कुल गायनेक तरह है पूरी दुनिया जो मजा ले रही हो उसमे तुम खामियां ही ढूंढते हो😀😀 60 = 200 के बाद खुश हैं ढोंगी उर्फ झोलाछाप 😝😜😁😂🤪🤪😆😆🤑🤑😅😅😄😄🤣🤣 ढोंगी के चेले बहुत खुश हैं क्युकी 60 = 200 😝😜😂😂😂

लखनऊ में फाइलों में हो गया पशुओं का 100 फीसद टीकाकरण, हकीकत में नहीं हुआ पूरालखनऊ के असोहड़ी खुर्दहरी व बिसईपुर समेत बख्शी का तालाब क्षेत्र के कई इलाकों में खुरपका व मुंहपका से बचाव का टीका नहीं लगा है। पशुपालन विभाग की फाइलों में 15 मई को राजधानी में 100 फीसद टीकाकरण का कार्य पूरा हो गया है।