Coronapandemic, Covıd 19, Coronavirusındia, Corona Epidemic, Corona İnfection, Change İn Lifestyle, Disaster Like Corona

Coronapandemic, Covıd 19

बदलाव की मांग करती जीवनशैली: कोरोना जैसी भयावह आपदा का सामना जीवनशैली में बदलाव से ही संभव

बदलाव की मांग करती जीवनशैली: कोरोना जैसी भयावह आपदा का सामना जीवनशैली में बदलाव से ही संभव #CoronaPandemic #COVID19 #CoronavirusIndia @Speaker_UPLA @drharshvardhan @BJP4India

10-05-2021 04:29:00

बदलाव की मांग करती जीवनशैली: कोरोना जैसी भयावह आपदा का सामना जीवनशैली में बदलाव से ही संभव CoronaPandemic COVID19 CoronavirusIndia Speaker_UPLA drharshvardhan BJP4India

आपदा में मतभेद भुलाकर सबको एकजुट होना चाहिए। दुर्भाग्य से ऐसे लोग जीवनशैली के भारतीय स्वरूप एवं संस्कृति के विरोधी है। संकट के समय सारे मतभेद भुलाकर मिल-जुलकर ही इस आपदा से लड़ना चाहिए। वे इतने भर से ही देश का बहुत भला कर सकते हैं।

जीवनशैली जड़ नहीं होती। इस पर वैज्ञानिक शोध, संस्कृति व दर्शन के प्रभाव पड़ते रहते हैं। युद्ध और दीर्घकालिक सत्ता भी जीवनशैली पर प्रभाव डालते हैं। महामारियों के प्रभाव भी व्यापक होते हैं। दार्शनिक दृष्टिकोण वाले चीन की जीवनशैली पर कम्युनिस्ट सत्ता का बुरा प्रभाव पड़ा है। भारत की जीवनशैली पर मुगल सत्ता का भी गहरा असर पड़ा। स्वाधीनता आंदोलन ने भारत की जीवनपद्धति, कला-साहित्य और रहन-सहन को भी राष्ट्रवादी बनाया था। भारत की जीवनशैली गतिशील और परिवर्तनशील है। इस जीवनपद्धति में गजब की आत्म रूपांतरण शक्ति है। प्लेग, फ्लू जैसी विश्वव्यापी महामारियों से जूझते हुए भारत ने विषम परिस्थितियों का धैर्यपूर्वक सामना किया। अकाल की परिस्थिति भी भयानक थी, लेकिन भारत के लोगों ने धीरज नहीं खोया। संप्रति कोविड-19 की जानलेवा चुनौती है। हम अपने 2.38 लाख से ज्यादा लोगों को खो चुके हैं। अस्पतालों में बेड नहीं। आक्सीजन आपूर्ति तंग है। जरूरी दवाओं की किल्लत है। सरकारें युद्धरत हैं, लेकिन हम सारी जिम्मेदारी सरकार पर डालकर अपने नागरिक कर्तव्य से मुंह नहीं मोड़ सकते। भयावह परिस्थिति का सामना जीवनशैली में बदलाव लाकर ही संभव है।

ट्विटर और मोदी सरकार में बढ़ा टकराव, रविशंकर प्रसाद ने पूछे कई सवाल - BBC Hindi अरब मुर्दाबाद के नारे से अपनों पर ही भड़के इसराइली विदेश मंत्री - BBC Hindi अखिलेश यादव को मायावती ने कहा- दलित विरोधी, जमकर भड़कीं - BBC Hindi

भारत का स्वास्थ्य ढांचा पहले से ही बहुत कमजोर हैभारत में कोरोना का हमला जनवरी 2020 में हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तत्काल सक्रियता दिखाई। उन्होंने लॉकडाउन किया। जनजागरण के हरसंभव प्रयास किए गए। कोरोना से थोड़ी राहत मिली। संयम टूटा। यह संयम जीवनशैली का भाग नहीं था। अन्यथा ऐसी क्षति न होती। दूसरी लहर पहले से ज्यादा प्राणलेवा है। केंद्र पूरी ताकत के साथ जूझ रहा है। वैक्सीन का बड़ी मात्रा में उत्पादन होने लगा। शनिवार को ही रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन द्वारा पेश की गई एक दवा उम्मीद की नई किरण बनकर उभरी है। यहां दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चल रहा है। आक्सीजन आपूर्ति के तमाम उपाय जारी हैं। भारत का स्वास्थ्य ढांचा पहले से ही बहुत कमजोर है। भारत में प्रति 10 हजार व्यक्तियों पर अनुमानित 8.6 चिकित्सक हैं। प्रति 10 हजार पर लगभग 6 बेड हैं। वेंटिलेटर वाले बेड तो और भी कम हैं। स्पष्ट है कि पूर्ववर्ती सरकारों ने जनस्वास्थ्य की घोर उपेक्षा की।

यह भी पढ़ेंसंक्रामक रोगों में दूरी बनाए रखने के फायदे हैं और पढो: Dainik jagran »

दंगल: जानिए किन वजहों से Twitter पर लग रहा है IT नियमों की अनदेखी का आरोप

सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म ट्विटर और सरकार के रिश्तों में तल्खी बढ़ती जा रही है. ताजा मामला सरकार की उस नोटिस को लेकर है जिसमे ट्विटर से आईटी नियमों की अनदेखी पर जवाब मांगा गया है. इससे पहले उपराष्ट्रति वैंकेया नायडू और संघ प्रमुख समेत RSS के कई नेताओं के अकाउंट से भी ब्लूटिक लेकर भी विवाद हुआ. हालांकि बाद में सरकार की सख्ती के बाद ब्लू टिक को वापस कर दिया गया है. देखें दंगल.

दिल्ली में कोरोना वैक्सीन की कमी, तीसरी लहर से टीका ही बचा सकता है: केजरीवालदिल्ली में कोरोना वैक्सीन की कमी पर सीएम केजरीवाल ने कहा कि, 'अभी रोजाना 1 लाख वैक्सीन लगाई जा रही है. बहुत से लोग नोएडा, ग़ाज़ियाबाद से आकर टीका लगवा रहे हैं. 3 महीने में वैक्सीनेशन के लिए, दिल्ली को 3 करोड़ वैक्सीन चाहिए जबकि अब तक सिर्फ 40 लाख वैक्सीन ही मिली हैं. दिल्ली को 2 करोड़ 60 लाख वैक्सीन की ज़रूरत है. PankajJainClick PankajJainClick जिन विरोधीयों ने चीनीयों और WHO का साथ कोरोना वायरस को विश्व व्यापी फैलाने में दिया और तब विरोध न करते हुवे उल्टे सरकार के खिलाफ तरह तरह के ड्रामेबाजी शुरू करी उन गद्दार पार्टीयों से अनुरोध है की Vaccine के मामले में अपनी रोना WHO & चीनीयों के आगे रोवें PMOIndia AamAadmiParty PankajJainClick Pfizer and Moderna vaccines should be allowed to sell in India on commercial rates in private hospitals for affluent who opt for them & can afford to pay, and leave our scarce Covishield and Covaxin for others in government hospitals.

आपदा में मुनाफाखोरी ने बढ़ाई समस्या: मेडिकल आक्सीजन की किल्लत उत्पादन से कहीं अधिक वितरण तंत्र से जुड़ीआक्सीजन के तात्कालिक संकट की अहम वजह देश में संसाधनों की कमी से कहीं अधिक विपत्ति के समय भी मुनाफे की तिकड़म और कुछ राज्यों की प्रशासनिक अकर्मण्यता है। ये कभी तीन-चार सौ रुपये के पीपीई किट के नाम पर मरीजों से हजारों रुपये वसूलते हैं। arvindmbj BJP4India INCIndia सभी कलाबाजारियों को फाँसी की सजा फास्ट ट्रैक कोर्ट में दी जानी चाहिए।

दिल्ली : कोरोना से डीयू के 25 से अधिक शिक्षकों की मौत, कुलपति को लिखा पत्रदिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेजों में कार्यरत एडहॉक शिक्षकों को भी दिल्ली विश्वविद्यालय टीचर वेलफेयर फंड से जोड़ने College to band Hain Ye log kyu mar rahe

गुजरात में 'गौशाला' में कोविड केंद्र, दूध, घी-गोमूत्र से बनीं दवा से इलाजगुजरात के बनासकांठा के गौशाला में बनाए गए कोविड केयर को 'वेदालक्षन पंचगव्य आयुर्वेद कोविड आइसोलेशन सेंटर' का नाम दिया गया है। इस सेंटर को बीते 5 मई को शुरू किया गया है।

गुजरात: गौशाला में खुला कोविड सेंटर, दूध-घी-गोमूत्र से बनी दवा से इलाज का दावाबनासकांठा ज़िले में एक गौशाला में ‘वेदालक्षणा पंचगव्य आयुर्वेद कोविड आइसोलेशन सेंटर’ शुरू हुआ है, जहां हल्के लक्षण वाले कोरोना मरीज़ों का दूध, घी और गोमूत्र से बनी दवाइयों से इलाज करने का दावा किया गया है. वहीं एक भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने दावा किया है कि हर सुबह खाली पेट गोमूत्र पीने से कोरोना वायरस ख़त्म हो जाएगा, हालांकि इस बात का कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है.

फिर बैन होने के डर से कंपनी ने PUBG Mobile कंटेंट क्रिएटर्स से की ये रिक्वेस्टPUBG Mobile को भारत में पिछले साल लॉन्च किया गया था. PUBG Mobile के साथ कई चीनी ऐप्स को भी देश में ब्लॉक कर दिया गया था. अब अच्छी बात है कंपनी वापस एक गेम भारत में ला रही है. पहले कंपनी ने कहा था PUBG Mobile India के नाम से ये वापसी करेगी. अब ऑफिशियली कन्फर्म हो चुका है Krafton भारत में Battlegrounds Mobile India ला रहा है.