Survey, Poorfamilies, Richfamilies, Urban Families, Survey, Poor Families, Assets, Nso Survey, Rural İndia, Urban İndia

Survey, Poorfamilies

बढ़ता फासला: सर्वे में अमीरों और गरीबों के बीच गहरी खाई का हुआ खुलासा, रह जाएंगे हैरान

इस सर्वे में सामने आया कि ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबों की स्थिति शहरी क्षेत्रों के गरीबों से कहीं बेहतर है। और क्या-क्या

15-09-2021 20:23:00

बढ़ता फासला: सर्वे में अमीरों और गरीबों के बीच गहरी खाई का हुआ खुलासा, रह जाएंगे हैरान Survey Poorfamilies RichFamilies

इस सर्वे में सामने आया कि ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबों की स्थिति शहरी क्षेत्रों के गरीबों से कहीं बेहतर है। और क्या-क्या

विज्ञापनअमीर-गरीब के बीच खाई- फोटो : pixabayख़बर सुनेंख़बर सुनेंएक सर्वे में खुलासा हुआ है कि भारत में शीर्ष 10 फीसदी शहरी परिवार 1.5 करोड़ रुपये की संपत्ति के मालिक हैं जबकि गरीबी में जी रहे परिवारों की संपत्ति महज 2,000 रुपये ही है। ये आंकड़ा शहरों में अमीर और गरीब के बीच के गहरे विभाजन को दर्शाता है।

आर्यन खान ड्रग केस: गवाह ने एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े पर लगाए संगीन आरोप - BBC Hindi IND vs PAK Live Updates: भारत ने पाकिस्तान के सामने जीत के लिए रखा 152 का लक्ष्य एक दिसंबर से माचिस की डिब्बी की कीमत एक रुपये से बढ़कर दो रुपये हो जाएगी

हालांकि, ग्रामीण इलाकों स्थिति थोड़ी बेहतर है। यहां शीर्ष 10 फीसदी परिवारों के पास 81.17 लाख रुपये की संपत्ति है जबकि निचले स्तर पर परिवार 41 हजार रुपये की संपत्ति के मालिक हैं। ये आंकड़े ऑल इंडिया डेब्ट एंड इनवेस्टमेंट सर्वे 2019 में आया है जिसे सांख्यिकी मंत्रालय के विभाग एनएसओ ने संचालित किया था।

सर्वे में सामने आया कि ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबों की स्थिति शहरी क्षेत्रों के गरीबों से कहीं बेहतर है। शहरी क्षेत्र के गरीब परिवार महज 2000 रुपये की संपत्ति के मालिक हैं। विभाग ने ये सर्वे नेशनल सैंपल सर्वे के तहत जनवरी-दिसंबर 2019 में किया था।इस सर्वे के का मुख्य उद्देश्य यह पता लगाना था कि जून 2018 तक परिवारों के पास कितनी संपत्ति और कितनी देनदारी है। ये सर्वे बड़े पैमाने पर किया गया था। इसमें 5940 गांवों के 69,455 परिवार शामिल थे। जबकि शहरी क्षेत्रों ते 3995 ब्लॉक के 47006 परिवारों को सर्वे में कवर किया गया था। headtopics.com

विस्तारएक सर्वे में खुलासा हुआ है कि भारत में शीर्ष 10 फीसदी शहरी परिवार 1.5 करोड़ रुपये की संपत्ति के मालिक हैं जबकि गरीबी में जी रहे परिवारों की संपत्ति महज 2,000 रुपये ही है। ये आंकड़ा शहरों में अमीर और गरीब के बीच के गहरे विभाजन को दर्शाता है।विज्ञापन

हालांकि, ग्रामीण इलाकों स्थिति थोड़ी बेहतर है। यहां शीर्ष 10 फीसदी परिवारों के पास 81.17 लाख रुपये की संपत्ति है जबकि निचले स्तर पर परिवार 41 हजार रुपये की संपत्ति के मालिक हैं। ये आंकड़े ऑल इंडिया डेब्ट एंड इनवेस्टमेंट सर्वे 2019 में आया है जिसे सांख्यिकी मंत्रालय के विभाग एनएसओ ने संचालित किया था।

सर्वे में सामने आया कि ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबों की स्थिति शहरी क्षेत्रों के गरीबों से कहीं बेहतर है। शहरी क्षेत्र के गरीब परिवार महज 2000 रुपये की संपत्ति के मालिक हैं। विभाग ने ये सर्वे नेशनल सैंपल सर्वे के तहत जनवरी-दिसंबर 2019 में किया था।इस सर्वे के का मुख्य उद्देश्य यह पता लगाना था कि जून 2018 तक परिवारों के पास कितनी संपत्ति और कितनी देनदारी है। ये सर्वे बड़े पैमाने पर किया गया था। इसमें 5940 गांवों के 69,455 परिवार शामिल थे। जबकि शहरी क्षेत्रों ते 3995 ब्लॉक के 47006 परिवारों को सर्वे में कवर किया गया था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

झूठ के सहारे सावरकर का महिमामंडन क्यों? | Arfa Khanum SHerwani | Savarakar | The Wire Video LIVE

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि विनयाक दामोदर सावरकर के 'दया याचिका' दायर करने को एक ख़ास वर्ग ने ग़लत तरीक़े से फैलाया. उन्होंने दावा किया कि सावरकर न...

झारखंड में बड़ा हादसा: रामगढ़ में बस और वैगन आर में टक्कर, पांच लोग जिंदा जलेझारखंड में बड़ा हादसा: रामगढ़ में बस और वैगन आर में टक्कर, पांच लोग जिंदा जले jharkhand HemantSorenJMM

iPhone 13 और iPhone 13 Pro सीरीज़ भारत में लॉन्च, जानें कीमत और स्पेसिफिकेशन्सiPhone 13 और iPhone 13 mini तीन स्टोरेज वेरिएंट में उपलब्ध होंगे। आईफोन 13 मिनी 128GB की भारत में कीमत 69,900 रुपये, 256GB की कीमत 79,900 और 512GB की कीमत 99,900 रुपये होगी। Maachray bencoo ye iphone...!!!! Ndtv India please save the farmers from looteri banks and looteri corrupt badest looteri modi govt also please looteri banko ko kisano k khet zameene lootne hathiyane se roko please looteri banko ko kisano k khet zameene lootne hathiyane ka koi haq nhi hai please save our farmers

मध्य प्रदेश: कालेजों में रामायण और महाभारत पढ़ेंगे छात्र, इंजीनियरिंग के सलेबस में शामिल होगा रामसेतुमध्य प्रदेश के कालेजों में छात्रों को अब रामायण और महाभारत (Ramayana Mahabharata) पढ़ाया जाएगा। राज्य के उच्च शिक्षा विभाग का कहना है कि इंजीनियरिंग छात्रों के पाठ्यक्रम में रामायण महाभारत और रामचरितमानस को शामिल किया गया हैं। I did read Mahabharata (not completely) in school. Making it compulsory is a good step as Mughals are yet ruling our history books. हमने भी अयोध्या कांड और सुन्दर कांड की पढ़ाई की है पाठ्यक्रमों में.दोहावली, कवितावली, राम विलाप, पुष्प वाटिका वर्णन आदि आदि खण्डों को पढ़ी है.सूरदास, मीराबाई, जायसी तो आज इतिहास हो गये.वर्ग ४ (१९५९)में *ठुमकी चलते रामचंद्र...... *. SintuKu40823718

झारखंड में बड़ा हादसा, बस और कार में सीधी टक्कर, 5 लोगों की जिंदा जलकर मौतझारखंड में बुधवार सुबह बड़ा सड़क हादसा हो गया. हादसा बस और कार की टक्कर से हुआ. टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि बस में आग लग गई. आग की वजह से कार में सवार सभी पांचों लोग जिंदा जल गए, जिससे उनकी मौत हो गई.

भारत में पिछले 24 घंटे में नए COVID-19 केसों में 6.8 फीसदी कमीभारत में पिछले 24 घंटे में नए COVID-19 केसों में 6.8 फीसदी कमी CoronavirusUpdates Cancel_Neet2021 Neet_Paper_Leak_2021 BJP सरकार भरस्टाचार का दूसरा नाम बन गई है कारण यह पेपर लीक पर भी NEET कैंसिल कर दुबारा नही करवा रही। पेपर कहा कहा गया यह जांच का विषय है कारण कोटा कोचिंग से पूरे भारत के छात्र आते है। It's bcoz of Saturday n sunday s rtpcr reports. As maximum govt Institute don't take samples on second Saturday n sunday so low numbers. No testing no covid

Covid-19 & Dengue LIVE Updates: बंगाल में अनजान वायरस की दस्तक, सिलीगुड़ी में 70 बच्चों को बुखार और सांस लेने में दिक्कत, जिला अस्पताल में भर्तीकोरोना वायरस के मामलों में गिरावट का ट्रेंड दिख रहा है। सोमवार सुबह जारी आंकड़ों में 30 हजार से कम नए मामले दर्ज किए गए थे। पिछले 78 दिन से रोजाना सामने आने वाले मामलों की संख्या 50 हजार से कम देखी गई है। जम्मू-कश्मीर में 50% क्षमता के साथ 10वीं और 12वीं की ऑफलाइन क्लास शुरू कर दी गई हैं। केरल से गोवा आने वाले यात्रियों को पांच दिन क्वारंटीन रहना होगा। इसके बाद RTPCR टेस्ट होगा, तभी निकलने की अनुमति होगी। इस बीच कई राज्‍यों में डेंगू पांव पसार रहा है। दिल्‍ली, उत्‍तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश समेत कई राज्‍यों में डेंगू के मामले तेजी से बढ़े हैं। दिल्ली में इस बार लगातार बारिश हो रही है। मच्छर बढ़ गए हैं और इसकी वजह से डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया का खतरा भी बढ़ गया है। डॉक्टरों का कहना है कि सितंबर से अक्टूबर के बीच डेंगू का पीक सीजन होता है। भारत में कोव‍िड-19 और डेंगू को लेकर ताजा अपडेट्स के लिए बने रहिए हमारे साथ। HUM HAI HINDUSTANI HAMARA HAI HINDUSTAN