Covıd 19ındia, New-Delhi-City-Jagran-Special, Forest Department, 14 Days Quarantine By Catching Monkeys, Know What İs The Reason Behind İt, Radha Swami Satsang Vyas, Chattarpur, Coronavirus, Covid Care Center, Itbp Center, Monkey, Quarantine Period, क्वारंटाइन, बंदरों को 14 दिन क्वारंटाइन, छतरपुर स्थित राधा स्वामी सत्संग ब्यास परिसर, सरदार पटेल केयर सेंटर, संक्रमण का खतरा, दिल्ली वन विभाग, Delhi News

Covıd 19ındia, New-Delhi-City-Jagran-Special

बंदरों को पकड़कर वन विभाग को क्यों करना पड़ रहा 14 दिन क्वारंटाइन, जानिए इसके पीछे क्या है वजह

बंदरों को पकड़कर वन विभाग को क्यों करना पड़ रहा 14 दिन क्वारंटाइन, जानिए इसके पीछे क्या है वजह #COVID19India

20-05-2021 12:30:00

बंदरों को पकड़कर वन विभाग को क्यों करना पड़ रहा 14 दिन क्वारंटाइन , जानिए इसके पीछे क्या है वजह COVID19India

छतरपुर स्थित राधा स्वामी सत्संग ब्यास परिसर में सरदार पटेल केयर सेंटर में पकड़े गए 58 बंदरों को 14 दिन के लिए क्वारंटाइन कर दिया है। विभाग को आशंका थी कि बंदर कोरोना मरीज का भोजन और कपड़े इत्यादि उठा रहे थे उनमें संक्रमण का खतरा हो सकता है।

दिल्ली वन विभाग ने हाल ही में छतरपुर स्थित राधा स्वामी सत्संग ब्यास परिसर में चल रहे सरदार पटेल केयर सेंटर में पकड़े गए 58 बंदरों को 14 दिन के लिए क्वारंटाइन कर दिया है। दरअसल, विभाग को आशंका थी कि बंदर कोरोना मरीज का भोजन और कपड़े इत्यादि उठा रहे थे, जिससे उनमें संक्रमण का खतरा हो सकता है। इसके कारण वन विभाग ने एहतियात के तौर पर उन्हें अलग रखने के लिए यह कदम उठाया है, ताकि अभ्यारण्य के अन्य जानवरों में कोरोना का संक्रमण न फैल पाए।

सोनू सूद से हर्ष मंदर तक- इन कार्रवाइयों का क्या मतलब है? विराट कोहली छोड़ेंगे टी20 की कप्तानी, लेकिन कौन बनेगा उत्तराधिकारी? - BBC News हिंदी बिहार में हैरान करने वाला मामला: कटिहार के 2 छात्रों के बैंक खाते में आ गए 911 करोड़, गांव में हर कोई चेक करा रहा अपना अकाउंट

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि पकड़े गए इनमें से किसी भी बंदर में कोरोना का कोई लक्षण नहीं पाया गया है। विभाग ने अब तक 20 बंदरों के एंटिजन टेस्ट किए हैं, जिसमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वन विभाग के अधिकारी के मुताबिक, दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की टीम में सरदार पटेल कोविड-19 केयर सेंटर और दक्षिणी जिले के अन्य हाटस्पाट इलाकों से कुल 58 बंदरों को पकड़कर वन विभाग को सौंपा था।

यह भी पढ़ेंअत्यधिक संक्रमित इलाकों से पकड़े जाने के कारण विभाग को यह आशंका थी कि बंदरों में भी कोरोना संक्रमण हो सकता है। इसलिए वन विभाग की टीम ने इन बंदरों को तुगलकाबाद के पशु बचाव केंद्र में क्वारंटाइन किया है। इनमें से कुछ बंदरों का 14 दिन का आइसोलेशन पूरा हो चुका है जिन्हें अब असोला भाटी वन्यजीव अभ्यारण्य में छोड़ा जाएगा। बाकी के 30 बंदर अभी भी आइसोलेशन में ही हैं। आगे भी जो बंदर इस परिसर से पकड़े जाएंगे उन्हें भी जंगल में छोड़ने से पहले क्वारंटाइन किया जाएगा। असोला भाटी वन्य जीव अभ्यारण्य में तेंदुए, नीलगाय, सियार और साही आदि जानवर रहते हैं। headtopics.com

यह भी पढ़ेंबंदरों से बचने के लिए लगाए लंगूर के कटआउट और पढो: Dainik jagran »

प्रधानमंत्री से लेकर रक्षा मंत्री तक...देखें तालिबान की सरकार में कौन-कौन शामिल

तालिबान ने अंतरिम सरकार की घोषणा कर दी है. इस अंतरिम सरकार में प्रधानमंत्री यानी सरकार के प्रमुख की भूमिका में मुल्ला हसन अखुंद होंगे. मुल्ला हसन अखुंद तालिबान की रहबरी शूरा यानी लीडरशिप काउंसिल का चीफ है और तालिबान प्रमुख मुल्ला हिब्तुल्लाह अखुंदजादा के बेहद करीबियों में शामिल हैं. मुल्ला बरादर को तालिबान सरकार में डिप्टी पीएम बनाया गया है. डिप्टी पीएम की भूमिका में मुल्ला हन्नाफी की भी भूमिका रहेगी. इसके अलावा मुल्ला याकूब तालिबान सरकार में रक्षा मंत्री होगा और सिराजुद्दीन हक्कानी तालिबान सरकार में आंतरिक मामलों का मंत्री होगा. शेर मोहम्मद अब्बास स्तनकजई तालिबान सरकार में उपविदेश मंत्री होगा. खैरुल्लाह खैरख्वा तालिबान सरकार में सूचना मंत्री होगा. जबकि तालिबान प्रवक्ता जैबुल्लाह मुजाहिद को उप सूचना मंत्री की जिम्मेदारी मिल रही है. अब्दुल हकीम को तालिबान सरकार का न्याय मंत्री बनाया गया है. ज्यादा जानकारी के लिए देखें खबरदार.

ये भी अजीब बात हो गई।क्वारन्टईन किया तो दस दिनों की दवा का कोर्स भी हो जाना था..?

कोविड केयर सेंटर में बंदरों को भगाने के लिए लंगूर के कटआउट लगाएबंदरों के खतरे का मुकाबला करने के लिए भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) ने 500 बिस्तरों वाले सरदार पटेल कोविड केयर सेंटर, (Sardar Patel Cocid Care Center) राधा स्वामी ब्यास, छतरपुर, नई दिल्ली में लंगूरों के कट आउट लगाए हैं. पिछले दिनों यह देखा गया है कि बंदरों के समूह इस केंद्र के इर्द गिर्द घूमते रहते हैं और कभी-कभी केंद्र की देखभाल के लिए तैनात कर्मियों के कामकाज में बाधा भी डालते हैं. I will not be surprised if soon coronavirus cutouts will be placed in every nook snd corner of the country to ward off the virus🤣

केंद्र ने व्हाट्सअप को भेजा नोटिस, कहा- कंपनी अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को करे रद्दमौजूदा साल में यह दूसरी बार है जब सरकार ने फेसबुक की कंपनी को नोटिस भेजा है। इससे पहले प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर ही व्हाट्सएप के सीईओ विल कैचकर्ट को पत्र लिख कहा गया था कि कंपनी इसमें तत्काल परिवर्तन करे।

शेफाली वर्मा का हुआ प्रमोशन, मां-बहन को खोने वाली वेदा को बोर्ड ने किया बाहरBCCI contract list 2021: शेफाली वर्मा का हुआ प्रमोशन, मां-बहन को खोने वाली वेदा कृष्णमूर्ति को बोर्ड ने किया बाहर BCCI ShafaliVerma VedaKrishnamurthy JhulanGoswami MithaliRaj HarmanpreetKaur SmritiMandhana

बॉलीवुड एक्टर ने PM मोदी को बताया कंफ्यूज, बोले- देश को कर दो माफपीएम मोदी को कंफ्यूज बता कहने लगे बॉलीवुड एक्टर- देश को कर दो माफ, देखें लोग करने लगे कैसे कमेंट kamaalrkhan KRKBoxOffice PMNarendraModi Coronavirus India CoronaSecondWave kamaalrkhan KRKBoxOffice Iska fuse box khali h kamaalrkhan KRKBoxOffice No one can troll modi better than krk

कोरोना में माता-पिता को खोने वाले बच्चों को 2500 रुपये प्रति माह और मुफ्त शिक्षा देंगे : अरविंद केजरीवालसीएम केजरीवाल ने कहा कि कोरोना से जिनकी मौत हुई, उनके परिवार को 50 हज़ार का मुआवजा दिया जाएगा. इसके अलावा जिस परिवार में कमाने वाले व्यक्ति की कोरोना से मौत हुई, उस परिवार को ₹50000 मुआवजे के साथ साथ 2500 रुपये महीना पेंशन दी जाएगी. ऐसे बच्चे जिनके मां-बाप, दोनों की मौत हो गई चाहे कोरोना से मौत, यानी दोनों में से किसी एक की कोरोना से मौत हुई उनके बच्चों को हर महीने 2500 रुपये, 25 साल तक मिलेंगे. इसके अलावा शिक्षा का सारा खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी. Who will be care taker? They might be home alone as well. LambaAlka दिदी सच है 😂🤣 ये सब अव्वल दर्जे का नाटक है ।

कोरोना की तीसरी लहर क्‍यों बच्‍चों को करेगी प्रभावित, तैयारी करने के लिए कितना है वक्‍त?भारत न्यूज़: देश अभी कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है। जानकार कह चुके हैं कि तीसरी लहर का आना तय है। इस लहर में बच्‍चों के चपेट में आने की ज्‍यादा आशंका है। देश के टॉप वायरोलॉजिस्‍ट डॉ वी रवि ने इसकी वजह बताई है। साथ ही यह भी बताया है कि कब तक इसके लिए तैयारी कर लेने की जरूरत है।