Election, Lok Sabha Election Result 2019, Lok Sabha Chunav Result 2019, West Bengal, 2021 Assembly Election West Bengal, Mamata Banerjee

Election, Lok Sabha Election Result 2019

बंगाल: क्या 2019 की 'मोदी आंधी' 2021 में उड़ा देगी ममता की कुर्सी?

भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत हासिल किया है। पश्चिम बंगाल में हिंसा और आगजनी के साये में बीते

25.5.2019

2019 लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने प्रचंड बहुमत हासिल किया है। पश्चिम बंगाल में हिंसा और आगजनी के साये में बीते चुनाव में भाजपा ने तृणमूल कांग्रेस को कड़ी चुनौती देते हुए 42 सीटों में से 18 जीती हैं।

भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत हासिल किया है। पश्चिम बंगाल में हिंसा और आगजनी के साये में बीते

2019 लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने प्रचंड बहुमत हासिल किया है। पश्चिम बंगाल में हिंसा और आगजनी के साये में बीते चुनाव में भाजपा ने तृणमूल कांग्रेस को कड़ी चुनौती देते हुए 42 लोकसभा सीटों में से 18 सीटें जीती हैं। यह 2014 की ही तरह 2019 में भी आई 'मोदी आंधी' की बदौलत संभव हुआ है। पश्चिम बंगाल के नतीजे देखने के बाद सवाल उठ रहा है कि जिस तरह से सूबे में भाजपा ने लोकसभा चुनावों में दमदार प्रदर्शन किया है, उसका 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव में क्या असर होगा? कहीं ऐसा तो नहीं की 'मोदी आंधी' आने वाले विधानसभा चुनाव में ममता दीदी की कुर्सी ही छीन ले।

इससे साफ है कि आने वाले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी का बढ़ता कद सूबे में ममता बनर्जी के लिए खतरा बन सकता है। पश्चिम बंगाल में जहां किसी जमाने में मुख्य मुकाबला तृणमूल कांग्रेस और वाम दलों के बीच हुआ करता था। इस बार वाम दलों को सूबे में सबसे ज्यादा निराशा हाथ लगी , क्योंकि चुनाव में सीधी चुनौती भाजपा और टीएमसी के बीच थी जबकि वाम दल दूर-दूर तक कहीं नहीं थे। यही वजह है कि भाजपा की इस बढ़त ने तृणमूल कांग्रेस के माथे पर अभी से बल खींच दिया है।

ऐसा भी कहा जा रहा है कि पश्चिम बंगाल में 2021 से पहले विधानसभा चुनाव हो सकते हैं। नरेंद्र मोदी पहले ही सूबे में अपने चुनाव प्रचार के दौरान दावा कर चुके हैं कि टीएमसी के 40 विधायक उनके संपर्क में हैं। उनका यह दावा ममता बनर्जी सरकार को संकट में खड़ा कर सकता है। इतना ही नहीं टीएमसी से भाजपा में गए अर्जुन सिंह भी हाल ही में दावा कर चुके हैं कि ममता सरकार तीन से छह महीने के भीतर गिर जाएगी क्योंकि टीएमसी के कई विधायक भाजपा के संपर्क में हैं।

इससे साफ है कि आने वाले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी का बढ़ता कद सूबे में ममता बनर्जी के लिए खतरा बन सकता है। पश्चिम बंगाल में जहां किसी जमाने में मुख्य मुकाबला तृणमूल कांग्रेस और वाम दलों के बीच हुआ करता था। इस बार वाम दलों को सूबे में सबसे ज्यादा निराशा हाथ लगी , क्योंकि चुनाव में सीधी चुनौती भाजपा और टीएमसी के बीच थी जबकि वाम दल दूर-दूर तक कहीं नहीं थे। यही वजह है कि भाजपा की इस बढ़त ने तृणमूल कांग्रेस के माथे पर अभी से बल खींच दिया है।

अगर वामदलों की बात करें तो वे एक भी विधानसभा क्षेत्र जीतने में नाकाम रहे। वामदलों ने सूबे की जिन 40 सीटों पर चुनाव लड़ा उनमें से 39 सीटों पर उनके प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई। यह पश्चिम बंगाल के लिए बड़ा बदलाव है। 2014 में सीपीएम ने सूबे की 4 सीटें जीती थीं। पार्टी का वोट शेयर 22.7 फीसदी रहा था जो कि 2019 में सिमटकर 6.3 फीसदी हो गया। सूबे में कांग्रेस के 37 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हुई। इससे साफ है कि विधानसभा चुनाव में टीएमसी को भाजपा से कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ सकता है।

टीएमसी ने साल 2009 का लोकसभा चुनाव सूबे में कांग्रेस के साथ मिलकर लड़ा था और 26 सीटें जीती थीं। उस वक्त वामदलों के खाते में 15 सीटें आई थी। अगर तब के विधानसभा क्षेत्र में जीत की बात करें तो टीएमसी-कांग्रेस गठबंधन ने उस वक्त 190 विधानसभा क्षेत्र में जीत दर्ज की थी। दो साल बाद यानी की 2011 में टीएमसी ने कांग्रेस के साथ मिलकर सूबे में विधानसभा चुनाव लड़ा और पश्चिम बंगाल में 34 साल के लेफ्ट राज का अंत हुआ। लेकिन 2021 में तृणमूल कांग्रेस के लिए भाजपा सूबे में सबसे बड़ा खतरा बन सकती है।

और पढो: Amar Ujala

Yes.... हाँ हो सकता है। हिंदुत्व की आंधी आने वाली हें दीदी जाने वाली हें निश्चित रूप से कोई संदेह नही बंगाल मे भाजपा अपना परचम अवश्य लहरायेगी दीदी तो गई

लोकसभा चुनाव LIVE: पश्चिम बंगाल में वोटिंग के दौरान हिंसा, दमदम में रो पड़े मतदान अधिकारीLok Sabha Election s 2019: आज सातवें और आखिरी चरण में पंजाब में 13, उत्तर प्रदेश में 13, पश्चिम बंगाल में 9, बिहार और मध्य प्रदेश में आठ-आठ, हिमाचल प्रदेश में चार, झारखंड में तीन और चंडीगढ़ की एकमात्र लोकसभा सीट पर मतदान हो रहा है. राष्ट्रपति शासन लगाओ बस bangladeshi rohingya ke gunde hey jo mamata banerjee ke under me gunda giri karte hai vsarthak21

बंगाल में चुनाव बाद भी हिंसा, बैरकपुर में ट्रेन पर बम फेंकेकोलकाता। पश्चिम बंगाल में हुए लोकसभा चुनावों के आखिरी चरण के मतदान 19 मई के बाद ताजा हिंसक घटना में मंगलवार को बैरकपुर इलाके में काकिनाड़ा स्टेशन पर असामाजिक तत्वों ने सियालदह जाने वाली स्थानीय ट्रेन पर पत्थरों, बोतलों तथा बमों से हमला कर दिया, जिसमें कई लोग घायल हो गए।

क्या ममता-पटनायक का किला बरकरार रहेगा या भाजपा बंगाल-ओडिशा में सेंध लगाएगी?2014 में तृणमूल ने बंगाल की 42 में से 34 और बीजद ने ओडिशा की 21 में से 20 सीटें जीती थीं भाजपा 2014 में बंगाल में 2 और ओडिशा में 1 सीट जीत पाई थी, इस बार मोदी ने दोनों राज्यों में 25 रैलियां कीं एग्जिट पोल्स सही साबित हुए तो भाजपा ओडिशा और बंगाल में पहली बार दहाई का आंकड़ा छुएगी | West Bengal , Odisha Lok Sabha Election Results 2019 Live Updates, Lok Sabha Chunav Results leads, trails of all 63 seats

लोकसभा चुनाव: आखिरी चरण में पीएम मोदी समेत इन दिग्गजों की किस्मत का होगा फैसला-Navbharat Timesलोकसभा चुनाव के आखिरी रण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं। सातवें चरण के चुनाव में यूपी की 13 सीटों के अलावा हिंसाग्रस्त पश्चिम बंगाल की 9, बिहार की 8, पंजाब की 13, हिमाचल प्रदेश की 4, मध्य प्रदेश की 8, झारखंड की 3 सीटों सहित चंडीगढ़ संसदीय सीट पर कई उम्मीदवार अपना दांव आजमा रहे हैं। आखिरी चरण के मतदान में कई दिग्गजों की किस्मत का फैसला होना है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा शत्रुघ्न सिन्हा, सनी देओल, मीसा भारती और किरण खेर जैसी शख्सियतें शामिल हैं। सातवें चरण का चुनाव बीजेपी, कांग्रेस समेत बाकी दलों के लिए लिटमस पेपर टेस्ट की तरह है। इसके लिए सभी पार्टियों के नेताओं ने चुनाव प्रचार में सारी ताकत झोंक दी तो वहीं पश्चिम बंगाल में अमित शाह के रोड शो में बवाल के बाद चुनाव आयोग ने सख्ती बरतते हुए चुनाव प्रचार का समय कम कर दिया था। एक नजर आखिरी चरण के चुनाव की चर्चित सीटें और दिग्गज उम्मीदवारों पर-

वोटिंग से पहले पश्चिम बंगाल में हिंसा, 24 परगना में उपद्रवियों ने गाड़ियां फूंकी– News18 हिंदीराज्य के 24 परगना जिले के भाटपाड़ा में शनिवार देर रात अनियंत्रित भीड़ ने जमकर तोड़फोड़ की. इस दौरान भीड़ ने दो गाड़ियों पर बम फेंक दिया जिसके चलते अफरा-तफरी मच गई.

शुरुआती रुझानों में बंगाल में तृणमूल कांग्रेस और ओडिशा में भाजपा आगेपश्चिम बंगाल की आसनसोल सीट से भाजपा के बाबुल सुप्रियो तृणमूल की मुनमुन सेन से आगे कोलकाता दक्षिण से तृणमूल की माला रॉय भाजपा के चंद्र कुमार बोस से आगे | West Bengal , Odisha Lok Sabha Election Results 2019 Live Updates, Lok Sabha Chunav Results leads, trails of all 63 seats

पश्चिम बंगाल : TMC की माला रॉय ने नेताजी के भतीजे को लोकसभा चुनाव हरायालोकसभा चुनाव में बीजेपी ने पश्चिम बंगाल में शानदार प्रदर्शन किया है. इस चुनाव में बीजेपी पश्चिम बंगाल में 18 सीटें जीत है. 2014 के चुनाव में महज दो सांसद थे.

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा, भारत में बीजेपी वाट्सएप चुनाव में माहिर हैशशि थरूर ने कहा, 'सत्ताधारी भाजपा देशभर में अंदाजन 5 लाख वाट्सएप समूहों तक पहुंच बनाने की तकनीक में माहिर है. इसके आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने मार्च में घोषणा की थी कि आने वाले चुनाव मोबाइल फोन पर लड़े जाएंगे. ShashiTharoor Aap ko kisne roka he sir ShashiTharoor Aap bhi seekhiye ShashiTharoor सभी विपक्ष के प्रिय साथियों एवं पत्रकार बंधुओं, कांग्रेस के व भारत के मूल्यों की लड़ाई लड़ते हुए, चुनाव प्रचार की गर्मी में यदि मेरे मुँह से कोई ऐसी बात निकल गई हो जिस से आपको ठेस पहुँची हो तो मैं क्षमा चाहता हूँ। 🙏

क्या बंगाल में बहेगी बदलाव की बयारतमाम एग्ज़िट पोलों में बीजेपी को बंगाल में 10 से ज़्यादा सीटें मिलने का दावा किया गया है. बंगाल मे परिवर्तन निश्चित है! BJP भले 8 सीटें जीते ,,,,इस तरह साबित होता है कि लेफ्ट,टीएमसी के बाद बदलाव आ रहा है भले टीएमसी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरे 23 मई को रिजल्ट मैं तो NDTV पर ही देखूंगा.. मजा आयेगा..वो मुरझाए चेहरे, वो बौखलाया कांग्रेसी चमचा रविश, वो उदास आँखें,वो खन-खन टूटती चूड़ियाँ🤣😂😂😂😂💐💐

बंगाल में बजा बीजेपी का बिगुल, अब 'दीदी' क्या करेंगी?पश्चिम बंगाल में बीजेपी की जीत को तृणमूल कांग्रेस के वर्चस्व के लिए बड़े ख़तरे के तौर पर देखा जा रहा है. narendramodi नमस्कार नरेंद्र मोदी जी एक आम नागरिक की ओर से भी आपको बधाई हम बिहार मुज़फ़्फ़रपुर लोकसभा क्षेत्र से हैं आशा करते हैं कि इस बार हमारे लोकसभा की बहुत सारी समस्याओं को समाधान करेंगे। बालिका गृह कांड पर जरूर कुछ करें। आपका धीरज कुमार NishadSri Bbc आप क्या करेंगे ममता दीदी , जय श्री राम

PM मोदी ने जताया देश का आभार, कहा- देश के नागरिकों ने इस फकीर की झोली को भर दिया हैप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि लोकतंत्र के इतिहास में ये जीत सबसे बड़ी घटना है. सबसे अधिक मतदान इस चुनाव में हुआ है. इसके लिए मैं आप सबका बेहद आभार व्यक्त करता हूं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि लोगों ने इस फकीर की झोली भर दी है. चुनाव आयोग को इन चुनावों को सफलतापूर्व और उत्तम तरीके से पूरे कराने के लिए मैं बधाई देता हूं. इस चुनाव में मैं पहले दिन से कह रहा था कि ये चुनाव जनता का मतदान है. इस चुनाव में जनता की जीत हुई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं जीतने वाले सभी प्रतिनिधियों को बधाई देता हूं और आने वाले समय में वो देश की जनता की, इस कर्मभूमि की सेवा करेंगे. इसके लिए मैं उन्हें बहुत बहुत शुभकामनाएं देता हूं. जनता ने किसी एक व्यक्ति के लिए मतदान नहीं किया था और पूरे भारत के लिए ये मतदान किया था. narendramodi और अब यह फकीर देशवासियों को फकीर बनाएगा । भारत की जनता बेवकूफ है झोली भरते रहो narendramodi हर हर मोदी narendramodi नमो नमो

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

25 मई 2019, शनिवार समाचार

पिछली खबर

World Cup 2019: इन 10 स्टेडियमों में सुनाई देगी विश्व कप की गूंज, यहां होगा उद्घाटन मैच

अगली खबर

लोकसभा चुनाव परिणाम पर बोले शिवराज: वंशवाद और आतंकवाद पर 'मोदीवाद' की जीत
पिछली खबर अगली खबर